सलमान खान की बढ़ी मुश्किलें, अब हर बार विदेश जाने के लिए लेनी होगी परमिशन

NewsCode | 4 August, 2018 4:43 PM
newscode-image

जोधपुर। बॉलीवुड ऐक्टर सलमान खान की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। कोर्ट ने एक बार फिर सलमान खान को तगड़ा झटका दिया है। काला हिरण शिकार मामले में जमानत पर चल रहे अभिनेता सलमान खान को अब अपनी हर विदेश यात्रा से पहले कोर्ट की इजाजत लेनी होगी।

बता दें कि सलमान खान की ओर से शुक्रवार को विदेश जाने के लिए अनुमति मांगे जाने को लेकर याचिका दायर की गई थी। शुक्रवार इस मामले पर सनुवाई अधूरी रह गई थी, इसलिए आज इस पर सुनवाई के बाद जोधपुर कोर्ट ने सलमान की अर्जी को खारिज कर दिया।

वहीं, काले हिरण शिकार केस में सलमान के वकील ने दूसरी अर्जी दायर की है। इसमें 10 से 26 अगस्त तक सलमान के आबूधाबी व माल्टा जाने की अनुमति मांगी है। इस अर्जी पर सुनवाई बाकी है।

फारूक अब्दुल्ला के घर जबरन घुसा कार सवार, सुरक्षाबलों ने मार गिराया

आपको बता दें कि इस केस में सलमान को इस साल 05 अप्रैल को दोषी करार देते हुए पांच साल कैद की सजा सुनाई थी। इस मामले में सैफ अली खान, तब्‍बू, नीलम और सोनाली बेन्‍द्रे को सबूतों के अभाव में बरी कर दिया गया था।

हरियाणा में मॉब लिंचिंग: पलवल में पशु चोरी के शक में शख्स की पीट-पीट कर हत्या

लेखक की संवेदना और विभाजन का दर्द बयां करती है नवाजुद्दीन सिद्दीकी की ‘मंटो’, देखें ट्रेलर

NewsCode | 15 August, 2018 2:49 PM
newscode-image

नई दिल्ली। 72वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर नवाजुद्दीन सिद्दीकी की बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘मंटो (Manto)’ का ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है। फिल्म की कहानी भारत-पाकिस्तान विभाजन और विवादित लेखक सआदत हसन मंटो के जीवन पर आधारित है। अभिनेत्री-फिल्मकार नंदिता दास द्वारा निर्देशित मंटो का ट्रेलर काफी दिलचस्प है।

फिल्म की कहानी पाकिस्तानी लेखक मंटो के इर्द-गिर्द घूमती है। ट्रेलर में नवाजुद्दीन इस किरदार को बड़े पर्दे पर जीवंत करते दिखाई दे रहे हैं। साल 1948 के दशक पर आधारित लौहार की इस कहानी में ‘मंटो’ काफी दमदार डायलॉग बोले हैं। पाकिस्तान की पृष्टभूमि पर आधारित इस फिल्म के ट्रेलर में मंटो कहते हैं, “जब गुलाम थे तो आजादी का ख्वाब देखते थे और अब आजाद हैं तो कौन-सा ख्वाब देखें?”

देखें, ‘मंटो’ का ट्रेलर…

विचार से बागी और स्वभाव से घुमक्कड़ लेखक सआदत हसन मंटो के जीवन पर भारतीय फिल्मकार नंदिता दास द्वारा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की अवधारणा के आधार पर बनाई गई फिल्म ‘मंटो’ ने मौजूदा हालात के हिसाब से काफी प्रासंगिक है। इसमें ऐसे ज्वलंत मुद्दे को उठाया गया है जो न सिर्फ भारत बल्कि विश्व भर में अहम है। मंटो का जन्म 11 मई, 1912 को हुआ था और वह बाद में पाकिस्तान चले गए। मंटो का निधन 42 साल की उम्र में 18 जनवरी, 1955 को हुआ।

बता दें कि यह फिल्म लेखक मंटो के 1946 से 1950 तक के जीवन पर केंद्रित है। लेखक भारत-पाक विभाजन पर लिखी गई अपनी कहानियों के लिए दुनिया भर में मशहूर हैं। रिलीज होने से पहले ही फिल्म काफी तारीफ बटोर चुकी है और इसमें नवाजुद्दीन सिद्दीकी के अलावा ऋषि कपूर, परेश रावल और गीतकार जावेद अख्तर जैसे दिग्गज कलाकार नजर आएंगे। मंटो 21 सितंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी।

दीपिका-रणवीर की शादी हुई फिक्स, तारीख, जगह और गेस्ट के बारे में जानें

शादी में ‘कुत्ता’ बन जलील हुए वरुण धवन, तो फूट-फूटकर रोने लगी अनुष्का शर्मा

500 रूपये थी नवाजुद्दीन की पहली कमाई, फैज़ल खान बनने के बाद बदल गयी किस्मत

भारत के साथ ये तीन देश भी आज मना रहे हैं आजादी का जश्न

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बाघमारा : प्रखंड प्रमुख ने किया ध्‍वजारोहण

NewsCode Jharkhand | 15 August, 2018 2:49 PM
newscode-image

बाघमारा (धनबाद)। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बाघमारा प्रखण्ड मुख्यालय में ब्‍लॉक प्रमुख मीनाक्षी रानी गुड़िया ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर प्रखंड के गणमान्‍य लोग उपस्थित थे।

बाघमारा : प्रखंड प्रमुख ने किया ध्वyजारोहण

धनबाद : सांसद आदर्श ग्राम योजना को लेकर जिला समन्वय समिति ने की बैठक

इसके अलावा बाघमारा थाना, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्रखण्ड संसाधन केंद्र, झारखंड बालिका आवासीय विद्यालय, बरोरा थाना समेत विभिन्न शिक्षण संस्थानों एवं सभी पंचायत सचिवालयों में भी झंडोतोलन किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

जमशेदपुर : पक्षी प्रेमियों ने दिखायी संवेदना, सैकड़ों पक्षियों को पिंजरे से किया आजाद

NewsCode Jharkhand | 15 August, 2018 2:46 PM
newscode-image

बेजुबानों को भी होती हैै आजादी प्यारी

जमशेदपुर। आजादी किसे प्यारी नहीं होती… चाहे इंसान हो या जानवर, हर कोई आजाद रहना चाहता है। आज एक ओर जहां पूरा देश  आजादी के जश्न मे डूबा हुआ है, वहीं जमशेदपुर के कुछ पक्षी प्रेमियों ने सौ से भी अधिक विदेशी पक्षियों को पिंजरा से आजाद किया और एक संदेश देने का प्रयास किया कि बेजुबानों को भी आजादी प्यारी होती है।

जमशेदपुर : बहुजन क्रांति मोर्चा ने संविधान जलाने वालाेें पर कार्रवाई को लेकर किया विशाल प्रदर्शन

टाटा जू ने भी लंगूरों को खुले बाड़े में रखने का लिया निर्णय

वहीं इस कड़ी में टाटा जू ने भी एक कदम बढ़ा दिया है और आज से जू के लंगूरों को छोटे बाड़े से निकालकर बड़े और खुले बाड़े में आजाद रखने का निर्णय लिया गया। वहीं लंगूर खुले बाड़े में काफी खुश नजर आए। खुले बाड़े में छोड़े जाने के बाद सभी लंगूर इधर उधर धमा- चौकड़ी करते हुए काफी खुश दिखे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

देवघर : आयुषी ने बहायी देश-प्रेम की गंगा, संस्‍कृत में...

more-story-image

रांची : नन्‍हे देशभक्‍तों ने देश के लिए बलिदान देने...