रांची : स्वर्गीय आरपी द्विवेदी मेमोरियल एकल बैडमिंटन प्रतियोगिता प्रारंभ

Manish Jha | 5 August, 2018 9:47 PM
newscode-image

रांची : कॉम्बेट स्पोर्ट्स एकेडमी  झारखंड एवं गांधीनगर  बैडमिंटन एकेडमी के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय स्वर्गीय आरपी द्विवेदी मेमोरियल एकल बैडमिंटन प्रतियोगिता का आयोजन गांधीनगर रिक्रिएशन क्लब में प्रारंभ हुआ।

प्रतियोगिता का उद्घाटन  जेएससीए के  आजीवन सदस्य राजीव रंजन, बाल विकास मंच के अध्य्क्ष आशुतोष द्विवेदी, कॉम्बेट  स्पोर्ट्स एकेडमी के निदेशक स्निग्ध गौरव, महासचिव रोहित कुमार, गोविंद झा  ने संयुक्त रूप से खिलाड़ियों का परिचय प्राप्त कर किया।

रांची : फंदे से लटकता मिला शव, ससुरालवालों पर हत्‍या का आरोप

प्रतियोगिता के परिणाम- सब जूनियर वर्ग में  ऋषि ने अर्श को 21-10 से पराजित किया । अभिजीत ने राजन को 21-19 सेे, सारस्वत ने मानस को 21-11 से, लोकेश ने देव को 21-11 से, सार्थक ने अजय को 21-03 से पराजित किया।

जूनियर वर्ग में  आर्यन ने सायन को 15-10, 16-14 से, सत्यम ने सौम्या को 21-1,0 से, संदर्भ ने कौशिक को 21-17 से और विनीत ने सार्थक को 21-11 से हराया।

सीनियर वर्ग में- आदर्श ने  मनस्वी को 15-05,15-03 से केशव ने कनिष्क को 15-10,15-06  से हराया। अंडर 10 वर्ग में अंकित  ने अविराज को 21-13  से हराया।

इस अवसर पर  दिव्यांश, अर्पित, भरत, समृद्ध, अफान  आदि कई खिलाड़ीगण उपस्थित थे। यह जानकारी खेल प्रशिक्षक गोविंद झा ने दी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 रांची : वर्ल्ड वुशु कुंगफू डे समारोह का हुआ समापन

NewsCode Jharkhand | 12 August, 2018 9:49 PM
newscode-image

रांची। इंटरनेशनल वुशु फेडरेशन एवम वुशु एसोसिएशन ऑफ इंडिया के निर्देश पर आयोजित वर्ल्ड वुशु कुंगफू डे झारखंड के विभिन्न जिलों में सम्पन्न हो गया। इस दौरान विभिन्न जिला इकाइयों के वुशु एसोसिएशन द्वारा वुशु का प्रदर्शन किया गया।

रांची : आम आदमी पार्टी ने मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री का फूंका पुतला

रांची के मोराबादी मैदान में वुशु के राष्ट्रीय एवम अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों के साथ साथ वुशु के कोचेस के द्वारा भी वुशु  का प्रदर्शन हुआ।

इस अवसर पर झारखंड वुशु एसोसिएशन के सुनील साहू, उदय साहू, शिवेंद्र दुबे, कृष्ण मुरारी सिंह, मनोज साहू, दीपक गोप, एल प्रदीप कुमार सिंह, शैलेन्द्र दूबे ,सुशील कछप, अनिल कुमार जायसवाल ,शैलेन्द्र पाठक, प्रियदर्शी अमर आदि मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बाघमारा : प्रखंड प्रमुख ने किया ध्‍वजारोहण

NewsCode Jharkhand | 15 August, 2018 2:49 PM
newscode-image

बाघमारा (धनबाद)। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बाघमारा प्रखण्ड मुख्यालय में ब्‍लॉक प्रमुख मीनाक्षी रानी गुड़िया ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर प्रखंड के गणमान्‍य लोग उपस्थित थे।

बाघमारा : प्रखंड प्रमुख ने किया ध्वyजारोहण

धनबाद : सांसद आदर्श ग्राम योजना को लेकर जिला समन्वय समिति ने की बैठक

इसके अलावा बाघमारा थाना, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्रखण्ड संसाधन केंद्र, झारखंड बालिका आवासीय विद्यालय, बरोरा थाना समेत विभिन्न शिक्षण संस्थानों एवं सभी पंचायत सचिवालयों में भी झंडोतोलन किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

लेखक की संवेदना और विभाजन का दर्द बयां करती है नवाजुद्दीन सिद्दीकी की ‘मंटो’, देखें ट्रेलर

NewsCode | 15 August, 2018 2:49 PM
newscode-image

नई दिल्ली। 72वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर नवाजुद्दीन सिद्दीकी की बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘मंटो (Manto)’ का ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है। फिल्म की कहानी भारत-पाकिस्तान विभाजन और विवादित लेखक सआदत हसन मंटो के जीवन पर आधारित है। अभिनेत्री-फिल्मकार नंदिता दास द्वारा निर्देशित मंटो का ट्रेलर काफी दिलचस्प है।

फिल्म की कहानी पाकिस्तानी लेखक मंटो के इर्द-गिर्द घूमती है। ट्रेलर में नवाजुद्दीन इस किरदार को बड़े पर्दे पर जीवंत करते दिखाई दे रहे हैं। साल 1948 के दशक पर आधारित लौहार की इस कहानी में ‘मंटो’ काफी दमदार डायलॉग बोले हैं। पाकिस्तान की पृष्टभूमि पर आधारित इस फिल्म के ट्रेलर में मंटो कहते हैं, “जब गुलाम थे तो आजादी का ख्वाब देखते थे और अब आजाद हैं तो कौन-सा ख्वाब देखें?”

देखें, ‘मंटो’ का ट्रेलर…

विचार से बागी और स्वभाव से घुमक्कड़ लेखक सआदत हसन मंटो के जीवन पर भारतीय फिल्मकार नंदिता दास द्वारा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की अवधारणा के आधार पर बनाई गई फिल्म ‘मंटो’ ने मौजूदा हालात के हिसाब से काफी प्रासंगिक है। इसमें ऐसे ज्वलंत मुद्दे को उठाया गया है जो न सिर्फ भारत बल्कि विश्व भर में अहम है। मंटो का जन्म 11 मई, 1912 को हुआ था और वह बाद में पाकिस्तान चले गए। मंटो का निधन 42 साल की उम्र में 18 जनवरी, 1955 को हुआ।

बता दें कि यह फिल्म लेखक मंटो के 1946 से 1950 तक के जीवन पर केंद्रित है। लेखक भारत-पाक विभाजन पर लिखी गई अपनी कहानियों के लिए दुनिया भर में मशहूर हैं। रिलीज होने से पहले ही फिल्म काफी तारीफ बटोर चुकी है और इसमें नवाजुद्दीन सिद्दीकी के अलावा ऋषि कपूर, परेश रावल और गीतकार जावेद अख्तर जैसे दिग्गज कलाकार नजर आएंगे। मंटो 21 सितंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी।

दीपिका-रणवीर की शादी हुई फिक्स, तारीख, जगह और गेस्ट के बारे में जानें

शादी में ‘कुत्ता’ बन जलील हुए वरुण धवन, तो फूट-फूटकर रोने लगी अनुष्का शर्मा

500 रूपये थी नवाजुद्दीन की पहली कमाई, फैज़ल खान बनने के बाद बदल गयी किस्मत

भारत के साथ ये तीन देश भी आज मना रहे हैं आजादी का जश्न

More Story

more-story-image

जमशेदपुर : पक्षी प्रेमियों ने दिखायी संवेदना, सैकड़ों पक्षियों को...

more-story-image

देवघर : आयुषी ने बहायी देश-प्रेम की गंगा, संस्‍कृत में...