पितृ पक्ष 2018: श्राद्ध क्रिया में इन खास बातों का रखें ख्याल

NewsCode | 23 September, 2018 5:27 PM
newscode-image

हिंदू कर्मकांड में श्रद्धा और मंत्र के मेल से पूर्वपुरुषों (पितरों) की आत्मा की तृप्ति के निमित्त जो विधि होती है उसे श्राद्ध कहते हैं। हमारे जिन सगे-संबंधियों का देहांत हो गया है, वे पितृलोक में या यत्र-तत्र विचरण करते हैं, उनके लिए पिंडदान किया जाता है। बच्चों एवं संन्यासियों के लिए पिंडदान नहीं किया जाता। गणेश विसर्जन और अनंत चतुर्दशी के बाद शुरू होते हैं श्राद्ध। हर साल श्राद्ध भाद्रपद शुक्लपक्ष पूर्णिमा से शुरू होकर अश्विन कृष्णपक्ष अमावस्या तक चलते हैं।

अगर पंडित से श्राद्ध नहीं करा पाते तो सूर्य नारायण के आगे अपने दोनों हाथ ऊपर करके ये बोलें : “हे सूर्य नारायण ! मेरे पिता (नाम), अमुक (नाम) का बेटा, अमुक जाति (नाम), (अगर जाति, कुल, गोत्र नहीं याद तो ब्रह्म गोत्र बोल दें) को आप संतुष्ट/सुखी रखें। इस निमित्त मैं आपको अर्घ्य व भोजन करता हूं।” इसके पश्चात् आप भगवान सूर्य को अर्घ्य दें और भोग लगायें।

 इन बातों का रखें खास ख्याल –

– श्राद्ध में कपड़े और अनाज दान करना ना भूलें। इससे पूर्वजों की आत्मा को शांति मिलती है।

– बताया जाता है कि श्राद्ध दोपहर उपरांत ही किया जाना चाहिए। जानकारों के अनुसार जब सूर्य की छाया पैरों पर पड़ने लगे तो श्राद्ध का समय हो जाता है। दोपहर या सुबह में किये गए श्राद्ध का कोई मतलब नहीं होता है।

– जिस दिन श्राद्ध करना हो उससे एक दिन पूर्व ही उत्तम ब्राह्मणों को निमंत्रण दे दें। परंतु श्राद्ध के दिन कोई अनिमंत्रित तपस्वी ब्राह्मण घर पर पधारें तो उन्हें भी भोजन कराना चाहिए।  ब्राह्मण भोज के वक्त खाना दोनों हाथों से परोसें, एक हाथ से खाने को पकड़ना अशुभ माना जाता है।

– श्राद्ध के दिन घर में सात्विक भोजन ही बनना चाहिए। इस दिन खाने में लहसुन और प्याज का इस्तेमाल  नहीं होना चाहिए। गौर करने वाली बात यह भी है कि पितरों को जमीन के नीचे पैदा होने वाली सब्जियां नहीं चढ़ाई जाती हैं। इनमें अरबी, आलू, मूली, बैंगन और अन्य कई सब्जियों शामिल हैं।

– पूरे विधान में मंत्र का बड़ा महत्व है। श्राद्धकर्म में आपके द्वारा दी गयी वस्तु कितनी भी बेशकीमती क्यों न हो, आपके द्वारा यदि मंत्र का उच्चारण ठीक न हो तो काम व्यर्थ हो जाता है। मंत्रोच्चारण शुद्ध होना चाहिए और जिसके निमित्त श्राद्ध करते हों उसके नाम का उच्चारण भी शुद्ध करना चाहिए।

– श्राद्ध के दिन अपने पितरों के नाम से ज्यादा से ज्यादा गरीबों को दान करें।

– पिंडदान करते वक्त जनेऊ हमेशा दाएं कंधे पर रखें।

 पिंडदान करते वक्त तुलसी जरूर रखें।

– कभी भी स्टील के पात्र से पिंडदान ना करें, बल्कि कांसे या तांबे या फिर चांदी की पत्तल इस्तेमाल करें।

– पिंडदान हमेशा दक्षिण दिशा की तरफ मुंह करके ही करें।

– पिता का श्राद्ध बेटा ही करे या फिर बहू करे। पोते या पोतियों से पिंडदान ना कराएं।

– श्राद्ध करने वाला व्यक्ति श्राद्ध के 16 दिनों में मन को शांत रखें।

– श्राद्ध हमेशा अपने घर या फिर सार्वजनिक भूमि पर ही करे। किसी और के घर पर श्राद्ध ना करें।


बकरीद में क्यों दी जाती है बकरे की कुर्बानी, जानें पूरी कहानी

रांची : मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना पर विशेष तीर्थयात्री रेलगाड़ी से जाएंगे अजमेर

NewsCode Jharkhand | 14 November, 2018 2:28 PM
newscode-image

रांची। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत बीस नवंबर को हटिया रेलवे स्टेशन से दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के दो सौ बीस चयनित तीर्थयात्री विशेष रेलगाड़ी से अजमेर शरीफ की यात्रा पर जाएंगे।

मुख्यमंत्री तीर्थ योजना के तहत रांची, खूंटी, लोहरदगा, सिमडेगा और गुमला जिले के मुस्लिम धर्मावलंबी तीर्थ यात्रा पर जा रहे हैं। इस संबंध में झारखंड पर्यटन विकास निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक द्वारा भेजे गये पत्र के आलोक में रांची जिले के उपायुक्त ने सभी जिले के प्रखंड विकास पदाधिकारियों को सुयोग्य, बीपीएल कार्डधारी वरिष्ठ मुस्लिम नागरिकों को चिन्हित कर उनका आवेदन भेजने का आदेश दिया है।

सरकार की महत्वकांक्षी मुख्यमंत्री तीर्थयोजना के तहत रांची जिले के 60, खुटी जिले के 40, लोहरदगा जिले  के 40, सिमडेगा जिले के 40 एवम् गुमला जिले के 40  मुस्लिम धर्मावलंबी तीर्थ दर्शन के लिए अजमेर शरीफ जाएगें।

उपरोक्त विषय को लेकर झारखण्ड टुरिजम डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिडेट राँची के प्रबंध निदेशक द्वारा भेजे गए पत्र के आलोक में उपायुक्त रांची ने सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारीयों को निर्देश जारी किया है। जिसमे  सुयोग्य बीपीएल धारी वरिष्ठ मुस्लिम नागरिकों को चयनित कर विहित प्रपत्र में आवेदन समर्पित करने को कहा है।

निर्देश में ये भी कहा गया है  कि विहित प्रपत्र में आवेदन के साथ भेजे जाने वाले नागरिकों का चिकित्सा  प्रमाण पत्र भी संलग्न करना जरूरी है। विदित हो  कि सूची  के आधार पर चयनित रांची जिले के 60  वरिष्ठ मुस्लिम धर्मावलंबी  नागरिकों को 20 नवम्बर 2018 को हटिया स्टेशन से तीर्थ दर्शन के लिए रवाना किया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : मंत्री सरयू राय ने तीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का किया उद्घाटन

NewsCode Jharkhand | 17 November, 2018 7:23 PM
newscode-image

जमशेदपुर। खाद्य आपूर्ति मंत्री सह जमशेदपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र के विधायक सरयू राय ने अपने विधानसभा क्षेत्र के निवासियों के लिए तीन शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का उद्घाटन किया। इन स्वास्थ्य केन्द्रों को विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत कदमा के रामजनम नगर, सोनारी के रूपनगर तथा मानगो स्थित बालीगुमा के गौड़गोड़ा में शुरू किया गया है।

इस अवसर पर मंत्री सरयू राय ने बताया कि बस्ती क्षेत्र में निवास करने वाले गरीब तबके के मरीजों को छोटी-मोटी बीमारी या बुखार जैसी स्थिति में इलाज करवाने के लिए कहीं दूर अस्पताल या प्राईवेट क्लीनिक में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

उन्हें अपने ही क्षेत्र में निःशुल्क इलाज का सुविधा मिल सकेगा जिससे अबतक वे वंचित थे। इन सभी स्वास्थ्य केन्द्रों को जमशेदपुर के सिविल सर्जन के देखरेख में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा संचालित किया जाएगा।

केन्द्रों में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा दवा तथा जरूरी उपकरण उपलब्ध कराये जायेंगे। विभाग की ओर से अभी केन्द्रों में एक-एक चिकित्सक व तीन-तीन नर्स उपलब्ध कराये गये हैं। मंत्री राय ने बताया कि बहुत जल्द वे अपने विधायक निधि से एक एम्बुलेंस उपलब्ध करायेंगे जिसका लाभ यहाँ के जरूरतमंद मरीज ले सकेंगे।

मंत्री राय ने बताया कि भविष्य में लोगों की जरूरत के अनुसार इसमें और भी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायेंगे। स्थानीय लोग भी इसे और बेहतर बनाने के लिए अपना सुझाव दें ताकि आगे चलकर इसका संचालन बेहतर तरीके से किया जा सके।

ज्ञात हो कि अपने क्षेत्र के लोगों को स्थानीय स्तर पर प्राथमिक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से मंत्री सरयू राय ने जमशेदपुर के सिविल सर्जन डॉ महेश्वर प्रसाद के साथ स्थल निरीक्षण कर  स्वास्थ्य केन्द्र संचालित करने के लिए उक्त तीनों स्थलों को उपयुक्त पाया था।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

 आम आदमी पार्टी राज्य कार्यसमिति की आपातकालिन बैठक

Om Prakash | 17 November, 2018 6:55 PM
newscode-image

रांची : राज्य में अराजक स्थिति को लेकर आम आदमी पार्टी झारखंड प्रदेश कार्यसमिति की आपातकालिन बैठक प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरी की अध्यक्षता में राँची में कचहरी स्थित होटल पार्क स्ट्रीट में हुई। बैठक में राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से आये हुए प्रदेश समिति के पदाधिकारी सम्मिलत हुए तथा कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई।

मौके पर मौके पर प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरी ने कहा कि कहा कि आज रघुवर सरकार कि तानाशाही व दमनकारी नीतियों के कारण आज पुरे प्रदेश में अराजक व भयावह स्थिति बनी हुई है। सच्चाई, विरोध व अधिकार की आवाज को दबाने के लिए रघुवर सरकार ने लाठी और गोली को अपना हथियार बना लिया है जहाँ शिक्षक, छात्र, मीडियाकर्मी, किसान, मजदूर, आदिवासी, महिलायें कोई सुरक्षित नहीं है।

आम आदमी पार्टी प्रत्येक जिले और विधानसभा  में पारा शिक्षकोँ व रसोइया-संयोजिकाओं के समर्थन में आंदोलन करेगी एवं उनके माँगो के समर्थन में उनकी आवाज बुलंद करेगी। आम आदमी पार्टी के कार्यकार्यता प्रत्येक विधानसभा के प्रत्येक पंचायत में जाकर लुटेरी, झूठी, भस्टाचारी एवं लाठी गोली वाली रघुवर सरकार का भण्डा फोड़ेंगे। इस बाबत विधानसभा स्तर के सभी पदाधिकारियों  को प्रशिक्षित करने के लिये इस  26-27 नवम्बर को राज्यस्तरीय विधानसभा पदाधिकारी कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है।

बैठक में मुख्य रूप से प्रदेश उपाध्यक्ष -लक्ष्मीनारायण मुंडा, पवन पांडे, प्रेम कुमार, संकेत रंजन एवं व्यास उपाध्याय, प्रदेश सचिव राजन सिंह, छोटानागपुर प्रमंडल प्रभारी विजय सिंह, लोहरदगा प्रभारी रामनरायण भगत, कोषाध्यक्ष – आलोक शरण , सह कोषाध्यक्ष- रवि निरंजन टोप्पो,  संयुक्त सचिव- यास्मीन लाल ,  मंटू पांडेय,  दिगम्बर साहा,  हरदयाल यादव, बिनोद केरकेट्टा, राइस अफरीदी, रसका सोरेन एवं  मदन पांडे, महिला मोर्चा से वन्दना कुमारी एवं मिरु हांसदा, युवा मोर्चा से  प्रितम मिश्रा तथा समिति सदस्य- हर्ष दुबे,  बिनोद सिंह , कृष्णा किशोर एवं राजेश सिंह,  सोशल मीडिया एवं मीडिया प्रभारी सहित कई अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

चतरा : अज्ञात महिला का शव पुलिस ने किया बरामद

more-story-image

झारखंडियों को बेघर करने की साजिश: उमाकान्त रजक 

X

अपना जिला चुने