PAKUR UPDATE : एक लाख का इनामी नक्सली सुनील मुर्मू मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 29 September, 2018 7:50 PM
newscode-image

पाकुड़। गुप्त सूचना के आधार पर पाकुड़ पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र वर्णवाल ने विशेष टीम गठन कर कुख्यात नक्सली सुनील मुर्मू को गिरफ्तार कर लिया है। इस संबंध में डीआईजी ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि कुख्यात अपराधी सुनील मुर्मू अपने दो साथियों के साथ पाकुड़ जिला में आया है।

महेशपुर थाना क्षेत्र के बामन पोखर गांव के समीप किसी बड़ी नक्सली अपराधी घटना को अंजाम देने की फिराक में है। सूचना प्राप्त होते ही पुलिस अधीक्षक ने विशेष टीम गठन कर महेशपुर पकड़िया मुख्य सड़क पर बामन पोखर पहुंचे। पुलिस को देखते ही सुनील मुरमू ने  फायरिंग शुरू कर दिया, पुलिस ने चारों तरफ से घेराबंदी कर सुनील मुर्मू को गिरफ्तार किया, जबकि अंधेरे का फायदा उठाकर दो साथी भागने में सफल रहे।

पाकुड़ : मुठभेड़ के बाद हार्डकोर नक्सली गिरफ्तार

क्या-क्या आरोप है सुनील मुर्मू पर

डीआईजी ने बताया कि लिट्टीपाड़ा थाना अंतर्गत कुमार भाषा में 11 करोड से लागत से बने रहे आईटी आरडीए योजना अंतर्गत एकल विद्यालय छात्रावास भवन निर्माण के ठेकेदार को बबन कुमार सिंह को जो मोहरा वादी थाना बरियातू के रहने वाले हैं 80000 हजार रूपये रंगदारी मांगी थी, पैसे नहीं देने पर माओवादी के नाम से वहां परचा छोड़ गया।

लिट्टीपाड़ा थाना कांड संख्या 52,17 धारा 384 एवं 387 भारतीय दंड विधान की धारा 17 सेक्टर दर्ज किया गया था। इस घटना के एक अपराधी कुणाल मुर्मू डूमर घाटी बलिया पथरा थाना महेशपुर पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था, जबकि सुनील मुर्मू भागने में सफल रहा था। इस कांड का उद्बोधन 24 घंटे में कर लिया गया था।

पाकुड़ : कांग्रेस ने किया महंगाई के खिलाफ अनोखा प्रदर्शन, घोड़ागाड़ी में बैठकर जताया विरोध

जानकारी के अनुसार कुख्यात सुनील मुर्मू नक्सली अपराधी गिरोह का सरगाना और नेतृत्व करता है। एक प्रश्न के उत्तर में डीआईजी दुमका ने बताया कि मुख्य रूप से नक्सली माओवादी के नाम से लेवी वसूलता  था। पैसा नहीं देने पर काम बंद करने मारने आदि की धमकी देता था। पूरे क्षेत्र में आतंक मचा रखा था इसके पकड़े जाने से पाकुड़ जिला के सीमावर्ती इलाका अपराध मुक्त कहा जा सकता है।

इसके ऊपर 1 लाख का इनाम रखा गया था। इस कार्रवाई में जो भी पुलिसकर्मी शामिल थे उन्हें 5000 हजार रूपये का प्रोत्साहन राशि जिला मुख्यालय की ओर से दी जायेगी।

लिट्टीपाड़ा : बाल दुर्व्यवहार मानवता पर कलंक- मुक्ती करवा

इसके पास से एक देसी कट्टा, दो जिंदा कारतूस एवं एक नोकिया मोबाइल बरामद किया गया है। में मुख्य रूप से पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र वर्णवाल, शशि प्रकाश अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, आशीष कुमार मोहाली पुलिस उपाधीक्षक, मुख्यालय पाकुड़ पुलिस अवर निरीक्षक  खददी खजूर महेशपुर प्रेस वार्ता में मौजूद थे।

कुख्यात नक्सली सुनील मुर्मू के खिलाफ विभिन्न थानों में कुल दर्ज मामला

नलहटी  में थाना कांड संख्या 21/18 धारा 395, शिकारीपाड़ा थाना में कांड संख्या 70/17 धारा 395, शिकारीपाड़ा में कांड संख्या 85/17 धारा 379, 427 387,  395, पाकुड़ नगर थाना में कांड संख्या 66/17 धारा 395, लिट्टीपाड़ा थाना में कांड संख्या 52 /17 धारा 387 एवं 17 के तहत मामला दर्ज है।

अमला पारा थाना में कांड संख्या 51 धारा(25)1बी,/ए,26/27/35आर्म्स एक्ट17, अमला पारा थाना में कांड संख्या 50/17 धारा 307/34 27 आर्म्स एक्ट 17, अमरापुरा थाना में कांड संख्या 46/17 धारा 302/34 आर्म्स एक्ट। अमला पारा थाना कांड संख्या 5/16 धारा 147/341/323 मामला दर्ज है।

पाकुड़ : 29 सितम्बर को मनाया जायेगा सर्जिकल स्ट्राईक दिवस-भाजपा

हिरणपुर थाना में कांड संख्या 18/16 धारा 395/397 कथा पाकुरिया थाना कांड संख्या 6/18 धारा 395/397/412 कुल 12 कांडों में संलिप्त था। सुनील मुर्मू पुलिस के लिए काफी दिनों से सिर दर्द बना हुआ था, इसकी गिरफ्तारी से पुलिस ने राहत की सांस ली है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

पलामू : अर्घ्य देने के लिए नहाने के क्रम में पानी में डूबने से अधेड़ की मौत

NewsCode Jharkhand | 14 November, 2018 8:24 PM
newscode-image

पलामू। लेस्लीगंज तालाब में छठ पर्व पर अर्ध्य देने के लिए नहाने के दौरान डूबने से अधेड़ की मौत हो गयी। तीन से चार घंटे की मशक्कत के बाद तालाब से शव बाहर निकाला जा सका। शव की पहचान लेस्लीगंज निवासी कुंज बिहारी भुइयां (58वर्ष) के रूप में हुई है।

कुंज बिहारी भुइयां की पत्नी छठ व्रत की थी। सुबह करीब पांच बजे उदीयमान सूर्य के अर्ध्य लेने के लिए कुंज बिहारी तालाब में नहा रहा था। तालाब में इस पार से उस पार जाने के क्रम में कुंजबिहारी पानी की गहराई में समा गया। काफी देर तक जब उसका कुछ अता-पता नहीं चला तो उसकी खोजबीन शुरू की गयी। पूर्वाहन में उसका शव तालाब से बरामद किया जा सका।

कल तक छठ व्रत पर खुशी-खुशी भगवान सूर्य को अर्ध्य देने की तैयार में जुटा कुंजबिहारी के परिवार के सदस्यों को उसकी मौत की सूचना जैसे ही मिली, उनके बीच चीख-पुकार मच गयी। पत्नी और बच्चे दहाड़ मारकर रोने लगे।

सूचना मिलने पर लेस्लीगंज बीडीओ विजय प्रकाश मरांडी और थाना प्रभारी वीरेन मिंज मौके पर पहुंचे। बाद में गोताखोरों को बुलाकर तालाब में छानबीन की गयी। शव मिलने के बाद पुलिस ने उसे कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया। कुंजबिहारी भुईयां के तीन लड़के व दो लड़कियां हैं, सभी शादीशुदा हैं।

मौके पर भाजपा नेता अमित उपाध्याय, लेस्लीगंज मुखिया धर्मेंद्र सोनी, कोट पंचायत मुखिया संतोष मिश्रा, तारकेश्वर पासवान सहित कई लोगों ने शव को निकलवाने में पहल की।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

कहीं समारोह तक ही सीमित न रह जाये स्थापना दिवस- योगेन्द्र प्रताप

NewsCode Jharkhand | 14 November, 2018 8:05 PM
newscode-image

रांची। झाविमो के केन्द्रीय प्रवक्ता योगेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि भगवान बिरसा की धरती माने जाने वाला झारखंड आज अपनी 18वीं सालगिरह मना रहा है। कह सकते हैं कि आज हमारा झारखंड बालिग हो गया। झाविमो की ओर से सर्वप्रथम भगवान बिरसा को नमन।

हर साल सरकार स्थापना दिवस तो धूमधाम से मनाती है परंतु अफसोस यह आयोजन महज एक समारोह तक ही सीमित होकर रह जाता है। सरकार जो संकल्प लेती है, जिन योजनाओं की घोषनाएं या शिलान्यास करती है वह धरातल पर कितनी उतर पाती हैं, पूर्व की घोषनाओं का कितना लाभ जनमानस को मिला है, सरकार को कभी उसकी भी समीक्षा कर लेनी चाहिए।

2014 के बाद के भाजपा सरकार द्वारा 2015 से लेकर 2017 यानि तीन स्थापना दिवस के मौके पर की गयी घोषनाओं पर गौर डाला जाय तो उनमें से अधिकांशतः घोषनाएं हवा-हवाई ही साबित हुई है, कुछ धरातल पर उतरी भी तो बाद में उसका हश्र भी बुरा ही हुआ।

मुख्यमंत्री तो घोषणा इतनी कर चुके हैं कि अगर आधी भी सरजमीं पर उतर गई होती तो अब तक झारखंड समृद्ध हो गया होता। 2015 के समारोह में सीएम ने कहा था कि जनता राम-सीता है और वे हनुमान हैं। वे जनता के सेवक हैं तथा जनता और उनके बीच दूरी नहीं होगी।

अब जो सरकार अपने ही गृहनगर के दूसरे पायदान का दर्जा रखने वाले एक मंत्री से चार वर्षो में दूरी नहीं पाट सके, जनता की दूरी भला क्या पाटेंगे। पिछले तीन स्थापना दिवस के दौरान और भी कई बातें हुई।

झारखंड को निवेशकों की पहली पसंद बनाने, औद्योगिक घरानों के लिए एक लाख हेक्टेयर भूमि चिन्ह्ति करने की बात हुई। सरकार को श्वेत पत्र जारी कर बतानी चाहिए कि किन निवेशकों ने राज्य में कितने का निवेश किया है और किस उद्योग को कितनी जमीन आवंटित की गई तथा इससे जनता को क्या लाभ हो रहा है।

एयरपोर्ट से बिरसा चौक तक स्मार्ट सड़क, केन्द्र से 10000 करोड़ की सड़क निर्माण, जोहार योजना, मुख्यमंत्री विद्या लक्ष्मी योजना, जनता के लिए लांच किये 15 मोबाईल एप, कृषि रथ, बेरोजगारी व पलायन रोकने के लिए कौशल विकास योजना, 25 डाइविंग ट्रेनिंग सेंटर, 2017 गरीब कल्याण वर्ष, 37 नदियां जलमार्ग में विकसित की योजना, 108 एंबुलेंस, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, हरमू फ्लाईओवर आदि तमाम योजनाओं का आज क्या हश्र है।

मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा में 50 हजार से लेकर दो लाख तक निःशुल्क इलाज की बात है परंतु यहां रिम्स में महज 50 रूपये के लिए मौत हो रही है। एंबुलेंस के बिना मरीज मर रहे हैं। किसान आत्महत्या कर रहे हैं।

तमाम योजनाएं महज कागजी हैं परंतु सरकार केवल अपनी पीठ खुद थपथपाने की आदी हो चुकी है। झाविमो का मानना है कि राज्य अलग होने की सार्थकता तभी होगी जब राज्य की जनता वास्तव में खुशहाल होगी न कि केवल घोषनाओं से।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : युवा झारखंड प्रगति के पथ पर तेजी से अग्रसर होता रहे- गिलुवा

NewsCode Jharkhand | 14 November, 2018 7:35 PM
newscode-image

रांची। युवा झारखंड प्रगति के पथ पर तेजी से अग्रसर होता रहे। यह बात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद लक्ष्मण गिलुवा ने राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर राज्य की जनता को बधाई एवं शुभकामनायें देते हुए कही।

उन्होंने भगवान बिरसा मुंडा को सादर नमन करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने अटल जी के नेतृत्व में राज्य का गठन किया। इसे सजाने और संवारने का प्रयास चल रहा है।

गिलुवा ने कहा कि भाजपा सरकार प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में भगवान बिरसा मुंडा के सपनों के अनुरूप अटल संकल्प के साथ भयए भूख-भ्रष्टाचार मुक्त विकसित झारखंड का स्वप्न साकार करने का प्रयास कर रही है।

शुभकामना देने वालों में प्रदेश उपाध्यक्ष हेमलाल मुर्मू, विद्युतवरण महतो, उषा पांडेय, सत्येन्द्र तिवारी, समीर उरांव, आदित्य साहू, प्रिया सिंह, प्रदीप वर्मा, प्रदेश महामंत्री सुनील कुमार सिंह, दीपक प्रकाश, अनंत ओझा, प्रदेश मंत्री नवीन जयसवाल, मुनेश्वर साहू, मनोज सिंह, सुबोध कुमार सिंह गुड्डू, नूतन तिवारी, सरिता श्रीवास्तव, प्रशिक्षण प्रमुख गणेश मिश्र, प्रदेश कोषाध्यक्ष, महेश पोद्दार, प्रदेश प्रवक्ता जेबी तुबीद, राजेश शुक्ला, दीनदयाल वर्णवाल, प्रतुल शाहदेव, प्रवीण प्रभाकर, अनिल सिन्हा, मिसफीका हसन, प्रदेश कार्यालय मंत्री हेमंत दास, प्रदेश मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक, सह प्रभारी संजय जयसवाल, सांवरमल अग्रवाल, सतीश सिन्हा, प्रमोद मिश्रा, शिव कुमार शर्मा, मोर्चा अध्यक्ष अमित कुमार, आरती सिंह, ज्योतिरीश्वर सिंह, नीरज पासवान, सोना खान, राम कुमार पाहन, अमरजीत यादव, रविनाथ किशोर सहित अन्य शामिल थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : नेहरू जयंती पर एचईसी कर्मियों ने उन्हें श्रद्धा...

more-story-image

बोकारो : खतियान ही हमारी पहचान- उमाकान्त रजक

X

अपना जिला चुने