मुख्य सोशल मीड़िया प्लेटफार्म जो आपके बिज़नेस को बढ़ाने में मदद करते हैं

NewsCode | 31 October, 2018 12:18 PM
newscode-image

स्मार्टफोन के आज के इस युग में अगर आप अपने बिज़नेस की मार्केटिंग के लिए परेशान हैं और चाहते हैं की आपका बिज़नेस अधिक से अधिक लोगों तक पहुँच सके, तो सोशल मीड़िया एक प्रभावी और गतिशील जरियाँ है। अगर हम आज के युग की बात करें तो हम पाते है कि अधिकतर लोग अपने ज्यातर कार्यों के लिए सोशल मीड़िया प्लेटफार्म से जुड़े है फिर चाहे वो दुनिया में चल रहे गतिविधियों की जानकारी को जानना हो या फिर वेब के विशाल नेटवर्क से खुद को जोड़ना हो। अब बारी आती है अपने बिज़नेस को इस विशाल नेटवर्क पर प्रभावी रूप से गतिशील बनाना। इस प्रक्रिया के लिए सोशल मीड़िया मुख्यत: मोबाइल एप्स एक वरदान से कम नही है।

आइये जानते है, कि किस प्रकार और कौन से सोशल मीड़िया प्लेटफार्म आपके बिज़नेस को उत्पादक बनाते है?

सबसे पहले बात करते है उन लोगो की जिनके बीच आपको अपने बिज़नेस का प्रचार-प्रसार करना है जोकि आपके बिज़नेस के टारगेट आड़ियन्स माने जाते है। क्योंकि अगर आपने अपने बिज़नेस को उन लोगों के बीच में प्रसारित किया जिनको इसकी गहन जरूरत है तो वो आपके लिए आपकी और आपके बिज़नेस की सफलता का मूल कारक होगा।

जानिए कौन है आपके टारगेट आड़ियन्स:

अगर हम सोशल मीड़िया प्लेटफार्म की बात करें तो अधिकतर लोग इसको अपने फ्रेंड्स, फेमिली, फैन, इत्यादि से लगातार जुड़े रहने के लिए इस्तेमाल करते है। अपने बिज़नेस के प्रचार और उसकी उत्पादकता की वृद्धि के लिए यहीं से आपको अपने टारगेट आड़ियन्स को पहचानना होगा। टारगेट आड़ियन्स को पहचानना और भी जरूरी तब हो जाता है जब आप अपने व्यापार को ड़िजिटलाइज करने की प्रकिया में मोबाइल एप ड़ेवलेपमेन्ट(Mobile App Development) करवाते है। यदि आपका बिज़नेस शिक्षा सम्बंधी है तो निश्चित रूप से टीचर्स और स्टूड़ेन्ट आपके टारगेट आड़ियन्स होगे। हालाँकि अगर आपका बिज़नेस टेक्नोलाजी से संबँन्धित है तो यकीन मानिए की पूरी दूनिया आपकी टारगेट आड़ियन्स बन जाती हैं क्योंकि आज का युग तकनीकी युग माना जाता है।

अब बारी आती है कि सोशल मीड़िया प्लेटफार्म पर मार्केटिंग कैसे करे?

सोशल मीड़िया पर मार्केटिंग के मुख्य रूप से तीन तरीके है, जिनके माध्यम से आप अपने प्रोड़क्ट के उद्देश्य को लोगो को समझा सकते हैं। आइये जानते है वो मुख्य तरीके-

1. Text(टेक्स्ट): अपने प्रोड़क्ट की मार्केंटिंग के लिए टेक्स्टिंग एक आसान औऱ प्रभावी माध्यम है। इस माध्यम के जरिए आप इंटरनेट की इस गतिशील दुनिया में अपना प्रोड़क्ट लोगो के बीच टेक्स्ट के रूप में रख सकते है, या इससे सम्बंधित जानकारी को “स्टेट्स अपड़ेट( Status update)” के माध्यम से व्यक्त कर सकते है। आप फेसबुक(Facebook)और ट्विटर(Twitter) जैसे सोशल मीड़िया के जरिये इन कार्यो को पूरा कर सकते है।

2. Images(इमेजस): यह एक बड़ा ही प्रभावी और सक्रिय माध्यम है, अपने प्रोड़क्ट की मार्केटिंग का। जैसे की हम देख सकते है इन्फो-ग्राफिक्स( Infographics) इन दिनों रूझान पर है। मतलब यह है कि किसी भी प्रोड़क्ट का विस्तार उसके पिक्चर के साथ करना। उद्धोगपति अपने प्रोड़क्ट की फोटो खींचकर विभिन्न सोशल मीड़िया साइट्स जैसे Pinterest, Instagram, Facebook, Twitter आदि पर अपलोड़ कर समझा सकता है।

3. Videos(विड़ियोज): इस माध्यम के जरिए आप अपने प्रोड़क्ट की विशेषताएँ औऱ कार्यविधि को एक सिनेमेटोग्राफी(Cinematography) तरीके से लोगो तक पहुँचा सकते है, मतलब यह है कि आप अपने प्रोड़क्ट की एक संक्षिप्त विड़ियो बनाकर Facebook और YouTube जैसे विड़ियो अपलोड़िंग सोशल मीड़िया साइट्स पर ड़ाल सकते है। अब तो लाइव टेलिकास्ट फीचर इन प्लेटफार्मस को औऱ अधिक प्रभावी बना रहा है।

जैसा कि हमने जाना अपने बिज़नेस को आनलाइन नेटवर्क पर किन तरीको से प्रसारित(Broadcast) किया जाता है, चलिए साथ ही साथ यह भी जानते है कि वो कौन से मुख्य पाँच सोशल मीड़िया प्लेटफार्मस है जिन्होनें इस तकनीकि युग मे अपनी पकड़ बनायी हुईं है।

मुख्य चार सोशल मीड़िया प्लेटफार्मस-

1. फेसबुक(Facebook): सोशल मीड़िया प्लेटफार्मस की सूचि में Facebook का अव्वल स्थान हैं। हाल ही के सर्वे से पता चलता है कि Facebook पर 2.23 बिलियन एक्टिव यूजर्स है। अगर आप अपने बिज़नेस के शुरूआती चरण में है तो यकीन मानिए Facebook आपके लिए एक बेहतर प्लेटफार्म हो सकता है। इसके पास सहसे ज्यादा यूजर्स का नेटवर्क होने की वजह से यह अत्यधिक लोकप्रिय है। इस पर आप Text, Images, Videos links इत्यादि अपलोड़ कर सकते है। फेसबक पर आपको लाइव टेलिकास्ट का एक नया फिचर मिल रहा है, जिसमे आप अपने Product Launch Event को Audience के बीच लाइव पहुँचा सकते है।

2. इन्सटाग्राम(Instagram): अगर हम Instagram सोशल मीड़िया एप की बात करे तो इन्सटाग्राम Image Sharing के लिए सर्वाधिक लोकप्रिय प्लेटफार्म है। Instagram पर मार्केटिंग के मुख्य तीन तरीके है। जिनसे Image Upload, Video Upload और Story Update कर सकते है। केवल एक मिनट की विड़ियो अपलोड़ करके Food, Art, Travels, Fashion जैसे उद्धोगो मे मार्केटिंग का आसान तरीका Instagram उपलब्ध कराता है। यूनिक फिल्टर्स और फोटो एड़िटर जैसे फीचर्स Instagram को यूथ के बीच अधिक लोकप्रिय बना रहे है।

3. यूट्यूब(YouTube): यूट्यूब दुनिया के प्रभावी विड़ियो शेयरिंग नेटवर्कों में से एक है। यदि आप अपने प्रोड़क्ट की मार्केटिंग विड़ियों प्रसारण के माध्यम से करना चाहते है तो यह एक सर्वोत्तम विकल्प है। अपने उत्पाद के प्रचार( Image and Text) के समय आप लगभग हर वो तथ्य समझाने मे सफल नही हो पाते जो आपके प्रोड़क्ट की कार्यविधि को दर्शाता हो। इस समय यह काफी जरूरी है कि आप उसको विड़ियो प्रसारण के माध्यम से समझाये ताकि अधिक से अधिक से लोग प्रोड़कट की गुणवत्ता के साथ-साथ उसकी कार्यविधि को भी समझ सकें। ऐसी स्थिति मे कई कम्पनियाँ युट्यूब(YouTube) सोशल मीड़िया ऐप( Social Media App) को इस्तेमाल करते है।

4. लिंकड़िन(LinkedIn): लिंकड़िन एक प्रोफेशनल सोशल मीड़या प्लेटफार्म है जिस पर अधिकाँश रूप से Businessmen, CEOs, Managers, Founders आदि जुड़े हुए होते है। आप यदि अपने प्रोड़क्ट को इन प्रोफेशनल्स के बीच प्रसारित करना चाहते है तो यह प्लेटफार्म बिजनेस लिस्टिंग(Business Listing) के लिए एक प्रभावी विकल्प होगा।

निष्कर्ष :

आज के इस इंटरनेट की दुनिया में कोई भी कार्य इतना मुश्किल नही रहा है, क्योंकि टेक्नोलोजी ने एक अपना अलग और सफल स्तर बना लिया है। बड़े-बडे शोध से लेकर, दुनियो के किसी भी कोने में मौजूद आपके अपने किसी भी सम्बंधी से संवाद करना इंटरनेट के माध्यम से आसान हो गया है। इतना ही नही, बल्कि अगर आप बिजनेस मैन है तो आप अपने प्रोड़कट की मार्केटिंग के लिए इंटरनेट आधारित सोशल मीड़िया प्लेटफार्म को एक प्रभावी माध्यम के रूप में इस्तेमाल कर सकते है।

रांची : छठ महापर्व को लेकर सजकर तैयार हैं घाट, आज देंगे सूर्य को अर्घ

NewsCode Jharkhand | 13 November, 2018 12:54 PM
newscode-image

रांचीमहापर्व छठ को लेकर शहर के छठ घाट सजकर तैयार हैं। सोमवार को रांची नगर निगम के सफाई कर्मचारियों ने सभी छठ घाटों में ब्लीचिंग पाउडर व चूने का छिड़काव किया और साफ-सफाई की।  घाटों की सुरक्षा पर भी विशेष ध्यान दिया गया है। अधिक गहराई वाले तालाबों में जगह जगह बांस से बैरिकेडिंग की गयी है। खतरे के निशान को दर्शाता हुआ लाल रिबन भी लगाया गया है।

छठव्रतियों की सुविधा के लिए रांची नगर निगम ने 40 छठ घाटों पर आकर्षक लाइटिंग की है। इसमें बड़ा तालाब का पूर्वी व पश्चिमी घाट, कांके डैम का पूर्व व पश्चिमी घाट, हटनिया तालाब, जोड़ा तालाब बरियातू, हातमा तालाब, एदलहातु तालाब, बड़गांईं तालाब, तिरिल तालाब कोकर, बनस तालाब, मधुकम तालाब, अरगोड़ा तालाब, आनंद नगर तालाब, स्वर्णरेखा नदी का नामकुम व हटिया घाट, चंद्रशेखर तालाब, हेसाग तालाब, तुपुदाना तालाब, धुर्वा डैम, करमटोली तालाब व लाइन टैंक तालाब आदि शामिल हैं।

नगर निगम ने पिछले वर्ष शहर के 12 तालाबों का सौंदर्यीकरण किया है। इस कारण तालाबों की गहराई भी बढ़ गयी है। दूसरी ओर शहर के सभी तालाब में लगभग पानी लबालब है। इसलिए तालाब में उतरते समय गहराई का खास ध्यान रखें। बैरिकेडिंग के इधर ही पानी में डुबकी लगायें।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची: कांठीटांड़-कांके-विकास तक रिंग रोड 10 साल बाद बन कर हुआ तैयार

NewsCode Jharkhand | 13 November, 2018 1:45 PM
newscode-image

10 साल बाद छह लेन वाले रिंग रोड फेज-7 का काम पूरा

रांची । करीब 10 साल के इंतजार के बाद रांची रिंग रोड सेक्शन सेवन बन कर तैयार हो गया है। छह लेन वाली 23.575 किमी लंबी इस सड़क पर गाड़ियां भी दौड़ने लगी हैं। यह रिंग रोड रांची-डालटनगंज मुख्य मार्ग (एनएच 75) पर कांठीटांड़ से शुरू होकर कांके रोड होते हुए रांची-रामगढ़ मुख्य मार्ग (एनएच 33)  पर विकास (नेवड़ी) से मिलता है। यानी दो महत्वपूर्ण राष्ट्रीय उच्च पथ एनएच 75 व एनएच 33 को यह जोड़ रहा है।

इस सड़क के बन जाने से बड़ी संख्या में गाड़ियां रांची शहर रातू रोड-बरियातू रोड में प्रवेश नहीं करेंगी, बल्कि रिंग रोड के सहारे निकल जायेंगी। इसका औपचारिक उदघाटन जल्द होगा. इस सड़क का निर्माण आइएलएफएस व पथ निर्माण विभाग की ज्वायंट वेंचर कंपनी झारखंड त्वरित पथ विकास कंपनी लिमिटेड (जेएआरडीसीएल) ने कराया है।

रिंग रोड के सेक्शन थ्री, फोर, फाइव व सिक्स का निर्माण भी इसी कंपनी  के माध्यम से कराया गया है।  रिंग रोड सेक्शन -7 (एक नजर में)  सड़क की लंबाई 23.575 किमी कहां से कहां तक कांठीटांड़ से नेवड़ी सड़क की चौड़ाई  छह लेन (30.5 मीटर) निर्माण पर खर्च 452 करोड़ (लगभग) काम करानेवाली कंपनी आइएलएफएस बड़े पुलों की संख्या 3 छोटे पुलों की संख्या 6 फ्लाइओवर की संख्या 01 अंडर पास की संख्या 7 रेलवे ओवर ब्रिज 01 कलवर्ट की संख्या 53 बस पड़ाव की संख्या 16 इस रोड के बन जाने से खास कर बड़े वाहनों व लंबी दूरी वाली गाड़ियां शहर में नहीं घुसेंगी।

बड़ी गाड़ियां शहर में घुस कर लंबे समय तक जाम में फंसी रहती हैं और ईंधन भी अत्यधिक बर्बाद होता है। अब ऐसा नहीं होगा. शहर की मुख्य सड़कों  पर से थोड़ा ट्रैफिक कम होगा। रिंग रोड के माध्यम से 23.5 किमी की दूरी तय करने में अधिकतम 20 मिनट का ही समय लगेगा, जबकि शहर के अंदर घुस कर इतनी दूरी तय करने में एक घंटे का समय लग रहा था. वहीं बड़े वाहनों के साथ नो इंट्री की भी बाध्यता नहीं रहेगी. वे 24 घंटे चल सकेंगे।

रिंग रोड सेक्शन सेवन का शिलान्यास वर्ष 2008 में हुआ था। इसके बाद इसका निर्माण कार्य शुरू हुआ। जिस कंपनी को काम मिला था, उसने इसे पूरा नहीं कराया। काम आधा-अधूरा रह गया था। ऐसे में सरकार ने उसका एग्रीमेंट रद्द कर दिया था। इस दौरान लंबे समय तक काम बंद रहा। बाद में इसका काम जेएआरडीसीएल को दिया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

बोकारो : सॉर्ट सर्किट से लगी आग, घर जलकर खाक

NewsCode Jharkhand | 13 November, 2018 1:34 PM
newscode-image

बोकारो। बिजली के तार में हुए सॉर्ट सर्किट से आग लग गई इस आग की घटना में पूरा घर जलकर खाक हो गया। इस आग लगी से एक लाख से अधिक के नुकसान का अनुमान है। घटना के बाद ग्रामीणों के द्वार आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया लेकिन स्थानीय जिला परिषद के प्रतिनिधि की सूचना पर पहुँची  दमकल की गाड़ी ने आग पर काबू पाया।

आज सुबह चास प्रखण्ड के सोनाबाद पंचायत स्थित गांव आमडीहा टोला बंधुडीह के फूलचंद माहतो के कच्चे मकान में सौभाग्य योजना के तहत बिजली का कनेक्सन तार में अचानक के सर्ट सर्किट में आग लग गई।

इस आगलगी की घटना के बाद घर में रखे पुआल में आग लग गई। इसके बाद आग की तेज लपटों ने पूरे घर को पूरी तरह से जलाकर खाक कर दिया। इस घटना के बाद ग्रामीणों ने आग पर काबू करने का प्रयास किया।स्थानीय लोगों की सूचना पर जिला परिषद संजय कुमार के प्रतिनिधि नरेश माहतो ने दमकल विभाग को इसकी जानकारी दी।

मौके पर पहुँची दमकल की एक गाड़ी ने आग पर काबू पाया। इस आग की घटना में घर में  रखा पुआल, कपड़े, अनाज, नकदी समेत अन्य कागजात जल कर खाक हो गया। मौके पर पहुँची पिंडराजोड़ा थाना पुलिस ने घटना स्थल का जायजा लिया।

जिला परिषद संजय कुमार ने इस घटना की जानकारी चास अंचलाधिकारी वन्दन सेजवालकर को दी और पीड़ित को अर्थित सहायता देने की बात कही।सीओ ने कर्मचारी को मौके पर पहुँच नुकसान का आकलन करने का निर्देश दिया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : स्थापना दिवस- नव चयनित शिक्षक ड्रेस कोड में...

more-story-image

रांची : स्थापना दिवस- राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू होंगी चीफ गेस्ट

X

अपना जिला चुने