2019 लोकसभा चुनाव: मायावती-ममता-राहुल सबने ठोकी अपनी-अपनी दावेदारी, महागठबंधन बनेगा या खिचड़ी ?

Tauseef Ahmad | 28 July, 2018 3:15 PM
newscode-image

नई दिल्ली। साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए विपक्षी पार्टियों ने महागठबंधन के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। महागठबंधन में मुख्य चेहरा कौन होगा इसका पता अभी तक नहीं चल पाया है। जहां एक तरफ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) अध्यक्ष ममता बनर्जी अपनी दावेदारी की ताल ठोक रहीं है तो वहीं दूसरी तरफ बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती भी खुद को विपक्ष का असल चेहरा मान रहीं है। इन सबसे अलग राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नाम पर सहमती बनाए हुए हैं।

महागठबंधन के लिए अभी से प्रधानमंत्री उम्मीदवार तय न किया जाए: ममता

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को चुनौती देने के लिए ‘फेडरल फ्रंट’ का खाका तैयार करने में जुटी ममता ने कोलकाता में कल नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के नेता उमर अब्दुल्ला से मुलाकात की। इसी दौरान उन्होंने कहा कि अगले लोकसभा चुनावों के लिए संभावित विपक्षी मोर्चा की ओर से प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर किसी का भी नाम नहीं चुना जाना चाहिए ।

प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार चुनना जल्दबाजी: उमर अब्दुल्ला

2019 के लोकसभा चुनाव के लिए संभावित गठबंधन के लिए उमर अब्दुल्ला कोलकाता में ममता से मिलने पहुंचे थे। मीडिया ने उनसे पूछा कि क्या आगामी लोकसभा चुनाव के लिए तैयार हो रहे गठबंधन की तरफ से ममता बनर्जी प्रधानमंत्री उम्मीदवार हो सकती हैं, इसपर अब्दुल्ला ने कहा कि हम इन्हें दिल्ली ले जाएंगे। उन्होंने कहा, ”हम ममता को राष्ट्रीय राजधानी में ले जाएंगे ताकि वे पूरे देश के लिए बंगाल में किए गए काम को दोहरा सकें।’

उमर ने कहा, “इस समय विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार चुनना जल्दबाजी होगी। हमारा मकसद है कि सभी क्षेत्रीय पार्टियां साथ आएं और भाजपा के खिलाफ एकजुट होकर लड़ें। इसके बाद नाम तय कर लेंगे।”

उमर अब्दुल्ला ने कहा, “ऐसी सभी पार्टियां जो भाजपा विरोधी हैं, वो गठबंधन का हिस्सा रहेंगी। इसके लिए कोई शर्त नहीं रखी जाएगी। ममताजी लगातार बंगाल को बचाने और बेहतर बनाने की कोशिश में जुटी हुई हैं। इसके बाद हम उनका इस्तेमाल देश के विकास के लिए करेंगे। अगर इस समय हम प्रधानमंत्री उम्मीदवार की चर्चा करते हैं तो इससे भाजपा को हराने का मकसद प्रभावित होगा।”

मायावती-पवार की मुलाकात

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बसपा प्रमुख मायावती से मुलाकात की। इस भेंट से दोनों दलों के बीच महाराष्ट्र में गठबंधन की अटकलें लगने लगी हैं। इस बैठक में बसपा से राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा भी मौजूद थे। अपनी मुलाकात को लेकर पवार ने ट्वीट किया कि बसपा प्रमुख मायावती और सतीश चंद्र मिश्रा से मुलाकात अच्छी रही।

महाराष्ट्रः 500 फीट गहरी खाई में गिरी बस, 23 लोगों के मरने की आशंका

मायावती की बसपा आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर यूपी के साथ ही अन्य राज्यों में पार्टियों से गठबंधन पर विचार कर रही है। कर्नाटक में जदएस और हरियाणा में आईएनएलडी के साथ उसका पहले से ही गठबंधन है।

जम्मू-कश्मीर: अब पुलवामा के त्राल में आतंकियों ने पुलिसकर्मी को किया अगवा

रांची : मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने किया कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का शुभारंभ

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची। राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने आज मोरहाबादी स्थित पार्क प्लाजा के दूसरे तल्ले में कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने आशा जतायी कि यह सर्विसेज आम जनों के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

कंफर्ट लाइव सर्विसेज में फ्लैट खरीद- बिक्री, स्वास्थ्य बीमा, अवधि बीमा, म्युचुअल फंड, एसआईपी एवं वाहनों की बीमा आदि की सुविधा लोगों को प्राप्त हो सकेगी।

शुभारंभ के मौके पर आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, चंद्रशेखर महतो, संचालक राजेश कुमार, रंजना चौधरी, गीता महतो, कल्पना मुखिया, संतोष  मुखिया, अमित साव एवं अजय श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

भोगनाडीह : झामुमो ने संथाल को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:36 PM
newscode-image

भोगनाडीह  में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए

भोगनाडीह। राज्य को संथाल परगना ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा से तीन तीन मुख्यमंत्री दिये,  लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री बनाया वो गरीब आदिवासी, वंचित दलित की अनदेखी कर अर्थपेटी और मतपेटी भरने का कार्य किया।

साथ ही संथाल परगना को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया। सबसे ज्यादा आदिवासियों की जमीन लूटने का काम सोरेन परिवार ने किया है। आज सीएनटी-एस पीटी एक्ट के उल्लंघन कर विभिन्न शहरों में आदिवासियों की जमीन ले ली।

जबकि संथाल परगना समेत राज्य भर में यह कह कर गुमराह किया गया कि अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तो आदिवासी की जमीन लूट लेगी। क्या 4 साल सरकार द्वारा किसी आदिवासी की जमीन लूटी गई नहीं। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कही।

बरहेट का प्रतिनिधित्व करने वाला कभी विधानसभा में सवाल नहीं उठाया

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरहेट का विधानसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले ने कभी भी विधानसभा में क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रश्न नहीं रखा, क्योंकि उसे पता ही नहीं है कि क्षेत्र की समस्या क्या है ऐसे में विकास के कार्य कैसे सम्पन्न होंगे।

लोगों को यह सोचना चाहिए और स्थानीय उम्मीदवार को प्राथमिकता देनी चाहिए। चाहे वोकिसी पार्टी का हो।

कार्यकर्ता पार्टी का प्राण, पार्टी के लिए राष्ट्र पहले

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता पार्टी के प्राण हैं। यह एक ऐसी पार्टी है जहां वंशवाद और परिवार नहीं। एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और मजदूर मुख्यमंत्री बन सकता है। मैं भी बूथ स्तर का कार्यकर्ता था।

पार्टी के लिए समर्पण भाव से कार्य करते हुए 1995 में विधायक बना और अब मुख्यमंत्री हूं। आप भी ईमानदारी से कार्य करें। सरकार की योजनाओं को जन जन पहुंचाये। पार्टी के वविभिन्न मोर्चा के लोग इस कार्य में लगे। क्योंकि पार्टी के लिए राष्ट्र पहले है।

इस राष्ट्र को और मजबूत करने के लिए वैश्विक पटल पर अपनी पहचान बना चुके प्रधानमंत्री  के हाथों को मजबूत करें। इस अवसर पर अनंत ओझा,  धर्मपाल सिंह, हेमलाल मुर्मू समेत अन्य मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रांची : अखिल झारखंड छात्र संघ ने चुनाव को लेकर चलाया जनसंपर्क अभियान

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:24 PM
newscode-image

रांची। अखिल झारखंड छात्र संघ ने राजधानी स्थित विभिन्न हॉस्टलों एवं लॉजों में सघन जनसंपर्क अभियान चलाया। इस जनसंपर्क अभियान के दौरान आजसू को मिल रहे शुरुआती रुझान से यह साफ तौर पर प्रतीत होता है कि इस बार रांची विश्वविद्यालय के तमाम सभी कॉलेजों में आजसू का पलड़ा भारी रहेगा।

यह सघन जनसंपर्क अभियान सुबह 8:00 बजे से शुरू होकर शाम 5:00 बजे तक लगातार चला। “वोटर के द्वार” कार्यक्रम के तहत आजसू कि विभिन्न टोलियां विभिन्न क्षेत्रों में अवस्थित करीब करीब 40 हॉस्टलों का दौरा किया।

इस कार्यक्रम की शुरुआत पी. जी. डिपार्टमेंट के चुनाव प्रभारी सौरभ शर्मा के नेतृत्व में मोरहाबादी स्थित पीजी हॉस्टल से की गई। मोरहाबादी क्षेत्र में हॉस्टल भ्रमण के दौरान हरप्रीत सिंह विजय महतो गुलशन तिवारी धीरज कुमार ने अहम योगदान दिया।

एसएस मेमोरियल कॉलेज के प्रत्याशियों के लिए जनसंपर्क अभियान का नेतृत्व अजीत कुमार एकरामुल अंसारी हुसैन अंसारी कर रहे थे। इस दौरान कांके जवाहर नगर चांदनी चौक क्षेत्र का द्वारा किया गया।

आर ए एस वाई कॉलेज के प्रत्याशियों के लिए छात्रों से वोट की अपील करने के अभियान का नेतृत्व चेतन प्रकाश बंटी राय सूरज झा कर रहे थे। इस दौरान कोकर लालपुर कांटा टोली स्थित विभिन्न हॉस्टलों का दौरा किया गया।

महिला कॉलेज के प्रत्याशियों के लिए वोट  की अपील करने के अभियान के तहत गदाधर महतो एवं नीरज वर्मा के नेतृत्व में लालपुर बर्द्धमान कंपाउंड स्थित विभिन्न महिला छात्रावासों में जाकर अधिक से अधिक वोट करने की अपील की गई।

डोरंडा कॉलेज के प्रत्याशियों के पक्ष में वोट मांगते हुए ज्योत्स्ना केरकेट्टा एवं अरविंद कुमार के नेतृत्व डोरंडा, हिनू, शुक्ला कॉलोनी आदि क्षेत्रों के विभिन्न हॉस्टलों में अभियान चलाया गया।

इधर हिंदपीढ़ी स्थित  मारवाड़ी कॉलेज के सैकड़ों छात्र-छात्राओं ने नीतीश सिंह रमेश कपड़िया राहुल तिवारी के संयुक्त नेतृत्व में पूरे जोशो खरोश के साथ हिंदपीरी अपर बाजार मेन रोड किशोरगंज आदि क्षेत्रों का दौरा किया।

वहीं मांडर कॉलेज के प्रत्याशियों ने दीपक साहू, नवीन सिंह, सोहेल अंसारी ,सुक्का उरांव , सौरभ पाठक के नेतृत्व में मांडर आसपास के विभिन्न गांवों का दौरा किया एवं आजसू के प्रत्याशियों के पक्ष में ज्यादा से ज्यादा मतदान करने की अपील की। इनके प्रचार करने का तरीका बेहद अद्भुत एवं भव्य था जिसे देखते बन रहा था।

इस अभियान के दौरान आजसू  के प्रदेश प्रभारी हरीश कुमार ने  कहा कि हमारा लक्ष्य जीत और हार से कहीं ऊपर यह है की इस छात्र संघ चुनाव में छात्र संघ की महत्ता को बढ़ाने हेतु ज्यादा से ज्यादा वोटरों को बूथ तक लाकर वोटिंग कराना है ताकि वोट प्रतिशत औसतन बढ़िया रहे और ज्यादा से ज्यादा वोटर जागरूक हो सके।

आज के इस अभियान को सफल बनाने में मुख्य रूप से आजसू के  प्रदेश प्रभारी हरीश कुमार प्रदेश अध्यक्ष गौतम सिंह प्रदेश वरीय उपाध्यक्ष लाल मनीष नाथ शाहदेव प्रदेश वरीय उपाध्यक्ष जब्बार अंसारी प्रदेश उपाध्यक्ष सौरभ सिंह प्रदेश उपाध्यक्ष नीरज वर्मा प्रदेश कोषाध्यक्ष गदाधर महतो प्रदेश सचिव ओम वर्मा प्रदेश सचिव ज्योत्स्ना केरकेट्टा प्रदेश सचिव चेतन प्रकाश प्रदेश सचिव अजीत कुमार विश्व विद्यालय प्रभारी उस साहू विश्वविद्यालय अध्यक्ष नीतीश सिंह विश्वविद्यालय महासचिव राजकिशोर महतो आदि का सराहनीय योगदान रहा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

धनबाद : बीजेपी सरकार बनने के बाद कृषि विकास दर...

more-story-image

रांची : हड़ताली पारा शिक्षकों के काम पर लौटने का...

X

अपना जिला चुने