कटकमसांडी : खेल शारीरिक एवं मानसिक विकास के लिए महत्वपूर्ण : विधायक प्रतिनिधि

Ravindra Kumar | 6 August, 2018 2:45 PM
newscode-image

कटकमसांडी (हजारीबाग) । प्रखंड के सुदूरवर्ती क्षेत्र रेबर पंचायत अंतर्गत नवाखाप में बालकृष्ण क्लब  द्वारा आयोजित फुटबॉल टूर्नामेंट संपन्न हो गया। इस मैच में कटकमसांडी प्रखंड समेत मयूरहंड बरही, पदमा, ईचाक एवं इटखोरी आदि प्रखंडों के लगभग 34 प्रतिभाशाली टीमों ने भाग लिया था।

पुरस्कार वितरण के  दौरान अपने संबोधन में विधायक प्रतिनिधि किशोरी राणा ने कहा कि खेल शारीरिक एवं मानसिक विकास के लिए महत्वपूर्ण है। इस तरह का खेल कटकमसांडी प्रखंड के सभी पंचायतों में होनी चाहिए। जिससे खिलाड़ियों के साथ-साथ दर्शकों का भी मनोरंजन होता रहे। वही मंडल अध्यक्ष रितलाल यादव ने कहा कि मैदान में जिस तरह खिलाड़ी अपने लक्ष्य देखकर गोल मारते हैं उसी तरह से अपने भविष्य को सही लक्ष्य की ओर ले कर जाएं।

कटकमसांडी : सदर विधायक के प्रयास से दो जरूरतमंद मरीजों को मिला रक्त

मौके पर मुखिया प्रतिनिधि हलधर यादव, भाजपा युवा मोर्चा सह बजरंग दल के अध्यक्ष दीपक यादव, मीडिया प्रभारी अनुराग मित्तल, पदमा प्रखंड के भाजपा उपाध्यक्ष अशोक प्रसाद, केसरी भाजपा कार्यसमिति मंत्री मुकुंद राणा, रामचंद्र यादव, सरयू यादव ईश्वर यादव, महेंद्र पासवान, वंशी यादव, जानकी यादव, ताज मोहम्मद, राजेश, सिंह, वीरेंद्र सिंह, असगर अंसारी, मंजीत सिंह, यशमेंद्र यादव समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 रांची : वर्ल्ड वुशु कुंगफू डे समारोह का हुआ समापन

NewsCode Jharkhand | 12 August, 2018 9:49 PM
newscode-image

रांची। इंटरनेशनल वुशु फेडरेशन एवम वुशु एसोसिएशन ऑफ इंडिया के निर्देश पर आयोजित वर्ल्ड वुशु कुंगफू डे झारखंड के विभिन्न जिलों में सम्पन्न हो गया। इस दौरान विभिन्न जिला इकाइयों के वुशु एसोसिएशन द्वारा वुशु का प्रदर्शन किया गया।

रांची : आम आदमी पार्टी ने मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री का फूंका पुतला

रांची के मोराबादी मैदान में वुशु के राष्ट्रीय एवम अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों के साथ साथ वुशु के कोचेस के द्वारा भी वुशु  का प्रदर्शन हुआ।

इस अवसर पर झारखंड वुशु एसोसिएशन के सुनील साहू, उदय साहू, शिवेंद्र दुबे, कृष्ण मुरारी सिंह, मनोज साहू, दीपक गोप, एल प्रदीप कुमार सिंह, शैलेन्द्र दूबे ,सुशील कछप, अनिल कुमार जायसवाल ,शैलेन्द्र पाठक, प्रियदर्शी अमर आदि मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : पक्षी प्रेमियों ने दिखायी संवेदना, सैकड़ों पक्षियों को पिंजरे से किया आजाद

NewsCode Jharkhand | 15 August, 2018 2:46 PM
newscode-image

बेजुबानों को भी होती हैै आजादी प्यारी

जमशेदपुर। आजादी किसे प्यारी नहीं होती… चाहे इंसान हो या जानवर, हर कोई आजाद रहना चाहता है। आज एक ओर जहां पूरा देश  आजादी के जश्न मे डूबा हुआ है, वहीं जमशेदपुर के कुछ पक्षी प्रेमियों ने सौ से भी अधिक विदेशी पक्षियों को पिंजरा से आजाद किया और एक संदेश देने का प्रयास किया कि बेजुबानों को भी आजादी प्यारी होती है।

जमशेदपुर : बहुजन क्रांति मोर्चा ने संविधान जलाने वालाेें पर कार्रवाई को लेकर किया विशाल प्रदर्शन

टाटा जू ने भी लंगूरों को खुले बाड़े में रखने का लिया निर्णय

वहीं इस कड़ी में टाटा जू ने भी एक कदम बढ़ा दिया है और आज से जू के लंगूरों को छोटे बाड़े से निकालकर बड़े और खुले बाड़े में आजाद रखने का निर्णय लिया गया। वहीं लंगूर खुले बाड़े में काफी खुश नजर आए। खुले बाड़े में छोड़े जाने के बाद सभी लंगूर इधर उधर धमा- चौकड़ी करते हुए काफी खुश दिखे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

देवघर : आयुषी ने बहायी देश-प्रेम की गंगा, संस्‍कृत में गाया “ऐ मेरे वतन के लोगों”   

NewsCode Jharkhand | 15 August, 2018 2:25 PM
newscode-image

देवघर। एक ओर जहां युवाओं का रुझान पश्चिमी रहन-सहन, खान-पान और व्यवहार की ओर केंद्रित होता जा रहा है तो वहीं दूसरी ओर देश प्रेम की भावना से ओत-प्रोत, कुछ ऐसे भी बच्‍चे-बच्चियां हैं जिनके भीतर अपने देश की सभ्यता, संस्कृति और मातृभाषा की जननी संस्कृत के प्रति अगाध श्रद्धा और समर्पण देखने को मिलती है। देवघर की आयुषी अनन्‍या भी ऐसे ही लोगों में से एक है। आयुषी डीएवी स्कूल में 9वीं क्लास की छात्रा है।

देवघर : आयुषी ने बहायी देश-प्रेम की गंगा, संस्‍कृत में गाया "ऐ मेरे वतन के लोगों" 

संस्कृत को लोकप्रिय बनाने का प्रयास

विलक्षण प्रतिभा की धनी ये बालिका, बॉलीवुड हो या फिर कोई पाश्‍चात्‍य गीत, सभी का न सिर्फ संस्कृत में अनुवाद करती है बल्कि उसे सस्‍वर खुद गाती भी है। आयुषी ने स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर लता मांगेशकर के गए गीत ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ का संस्कृत में अनुवाद किया और खुद ही गाया भी। आयुषी को इस बात का गर्व है कि वह अपनी मातृभाषा की जननि संस्कृत को, गीतों के माध्‍यम से और भी ज्यादा लोकप्रिय बनाने की न सिर्फ एक छोटी से कोशिश कर रही है बल्कि संस्कृत से दूर हो रहे युवाओं को भी अपनी सभ्यता, संस्‍कृति और भाषा की ओर  वापस लौटने के लिए प्रेरित कर रही है।

स्कूल कैंप से मिली संस्‍कृत भाषा में गाने की प्रेरणा

आयुषी को संस्कृत भाषा में गीत गाने की प्रेरणा उसके स्कूल कैंप के दौरान मिली। जहां आयोजित की गई प्रतियोगिता को संस्कृत भाषा में ही पूरा करना था। जब इस प्रतियोगिता में आयुषी ने खुद को संस्कृत के करीब पाया तो फिर उसने पीछे मुड़कर नहीं देखा। फिर एक के बाद एक हिंदी गानों को संस्कृत में अनुवाद करना शुरू कर दिया। आयुषी ने कई कठिन गीतों का सरल संस्कृत में अनुवाद कर उसे अपनी स्‍वर में गाया भी है।

रांची : नन्‍हे देशभक्‍तों ने देश के लिए बलिदान देने का लिया संकल्‍प

 (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

रांची : नन्‍हे देशभक्‍तों ने देश के लिए बलिदान देने...

more-story-image

चंदनकियारी : हर्षोल्लास के साथ मनाया गया स्वतंत्रता दिवस