करुणानिधि का अंतिम संस्कार शाम 5 बजे, श्रद्धांजलि देने पहुंची ये हस्तियॉं

NewsCode | 8 August, 2018 2:16 PM
newscode-image

चेन्नई। पांच बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री और 50 साल द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के प्रमुख रहे एम करुणानिधि (94 साल) का अंतिम संस्कार चेन्नई के मरीना बीच पर ही होगा। उनके निधन के बाद उनके तमाम प्रशंसकों और चाहने वालों में शोक की लहर है। जिस तरह से मंगलवार शाम को करुणानिधि ने अंतिम सांस ली उसके बाद चेन्नई के कावेरी अस्पताल के बाहर जमा भारी भीड़ शोक में डूब गई।

करुणा निधि के अंतिम संस्कार के लिए चेन्नई के राजाजी हॉल में बड़ी संख्या में लोग आये हैं, जहाँ पर ‘Long live Kalaignar’ और ‘Need Marina! Need Marina!’ का नारे लगाए जा रहे है। शाम 5 बजे उनका अंतिम संस्कार होगा।

राजाजी हॉल में अंतिम दर्शन के दौरान भगदड़ मच गई है। बताया जा रहा है कि भगदड़ में 40 लोग घायल हुए हैं। सभी को अस्पताल ले जाया गया है। चेन्नई के मशहूर मरीना बीच पर उनके अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू हो गई है। DMK समर्थक बड़ी संख्या में मरीना बीच की ओर पहुंच रहे हैं।

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, उप राष्ट्रपति, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी, उप मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम, लोकसभा के उपसभापति एम थंबीदुरई, राज्य के वरिष्ठ मंत्री, एएमएमके नेता और आरके नगर से विधायक टीटीवी दिनाकरण, कमल हासन, सुपरस्टार रजनीकांत और उनके परिवार व अभिनेता शिवकार्तिकेयन ने मंगलवार को द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) नेता एम. करुणानिधि के निधन पर शोक जताया।

पत्रकारों से बातचीत में पलानीस्वामी ने कहा कि करुणानिधि का निधन ‘तमिलनाडु के लिए भारी क्षति’ है। उन्होंने डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष और विपक्ष के नेता एम के स्टालिन, करुणानिधि के परिवार और डीएमके कार्यकर्ताओं के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की। पलानीस्वामी और पनीरसेल्वम ने स्टालिन के साथ थोड़ी देर बात की जिसमें उन्होंने उनके पिता के निधन पर संवेदनाएं जताई।

करुणानिधि का पार्थिव शरीर सीआईटी नगर आवास से राजाजी हॉल लाया गया है ताकि जनता अपने पूर्व मुख्यमंत्री के अंतिम दर्शन कर सके। राष्ट्रीय ध्वज में लिपटे करुणानिधि के पार्थिव शरीर के पास उनकी संतान स्टालिन, एम के सेल्वम और कनिमोझी समेत उनके रिश्तेदार और द्रविड़ नेता मौजूद हैं।

मद्रास HC का फैसला- मरीना बीच पर दफनाये जाएंगे करुणानिधि, अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे मोदी

बुधवार सुबह ही करुणानिधि के दर्शन के लिए दक्षिण की राजनीति और सिनेमा के बड़े सितारे पहुंच रहे हैं। सुपरस्टार रजनीकांत, कमल हासन ने भी करुणानिधि को श्रद्धांजलि दी। इस। दौरान अंतिम दर्शन के लिए चेन्नई पहुंचे समर्थक बेकाबू भी हो गए, जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस बीच विवाद को देखते हुए मरीना बीच पर रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात किया गया है।

 तमिलनाडु सरकार ने बताया कि तिरंगा आधा झुका रहेगा और सारे सरकारी कार्यक्रम रद्द रहेंगे। सभी सरकारी प्रतिष्ठान, स्कूल और कॉलेज आज बंद रहेंगे।

करुणानिधि के निधन पर पीएम मोदी व राष्ट्रपति ने जताया दुख, रजनीकांत बोले- मेरे जीवन का काला दिन

पाकिस्तान के नए कप्तान बने इमरान खान, देश के 22वें प्रधानमंत्री के रूप में ली थपथ

NewsCode | 18 August, 2018 11:07 AM
newscode-image

नई दिल्ली। पाकिस्तान तहरीक-ए इंसाफ के चीफ इमरान खान ने 22वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने 176 सीटें जीती, जबकि उनके विरोधी पाकिस्तान मुस्लिम लीग(नवाज) के अध्यक्ष शहबाज शरीफ को केवल 96 वोट मिले।

इमरान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए पूर्व क्रिकेटर और पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान पहुंचे हैं। वे इमरान को तोहफे के रूप में पश्मीने का शॉल भेंट लेकर गए है। सिद्धू के पास 15 दिनों का वीजा है।

इस्लामाबाद में नवजोत सिंह सिद्धू का पाकिस्तानी आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने आगे बढ़कर गले लगकर स्वागत किया और उन्हें गले लगाया।

इमरान खान की तीसरी पत्नी बुशरा मनेका भी इस्लामाबाद में हो रहे शपथग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए पहुंचीं हैं।

342 सदस्यों वाली पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में सरकार बनाने के लिए 172 वोट की जरूरत होती है। लेकिन शुक्रवार को सियासी उठापटक देखने को मिली। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के छोटे भाई और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष शाहबाज की पीएम पद की उम्मीदवारी को लेकर विपक्ष में दरार साफ नजर आई। बिलावल भुट्टो की नेतृत्व वाली पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया। उसके 54 सांसद हैं। इस कारण पीएम पद के लिए चुनाव मात्र औपचारिक रह गया।

कोडरमा : यहाँ के लोगों के लिए मुश्किल है ‘अटल’ को भूल पाना

केरल बाढ़: अब तक 324 लोगों की मौत, 20 हजार घर ढहे, 8 हजार करोड़ का नुकसान

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गोमिया : उच्च विद्यालय विभागीय उदासीनता का शिकार, पठन-पाठन ठप

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 11:39 AM
newscode-image

आजसू केंद्रीय सचिव लंबोदर महतो ने किया उच्च विद्यालय का निरीक्षण

गोमिया (बोकारो) । तेनुघाट शिविर संख्या दो स्थित नदी घाटी योजना उच्च विद्यालय देखते ही देखते विभागीय उदासीनता का शिकार हो गया। जिसके कारण पिछले कई वर्षों से उक्त विद्यालय में पठन-पाठन पूरी तरह से बंद हो गया। विद्यालय के बंद हो जाने से आस-पास के क्षेत्रों के सैकड़ों बच्चों को मैट्रिक तक की पढ़ाई के लिए काफी परेशानी उत्पन्न हो गई है।

लोगों ने कहा कि पांच किलोमीटर तक एक भी उच्च विद्यालय नहीं है। जिस कारण खास कर लड़कियों के लिए मैट्रिक तक की पढ़ाई करना मुश्किल हो गया है। कहा कि सरकार का बेटी पढ़ाओ का नारा यहां धूमिल होता प्रतित हो रहा है। लोगों ने आजसू के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो से मुलाकात कर इस समस्या से अवगत कराते हुए पुनः उक्त विद्यालय में पठन-पाठन चालू करवाने का अनुरोध किया।

चतरा : गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का हर महीने करें मूल्यांकन- उपायुक्त

वहीं डॉ. महतो ने लोगों के अनुरोध पर नदी घाटी योजना उच्च विद्यालय का निरीक्षण कर लोगों को आश्वासन देते हुए कहा कि निश्चित तौर पर आगामी सेशन से विद्यालय में पठन-पाठन का कार्य शुरू हो जायेगा।

उन्होंने इस बाबत  तेनुघाट बांध के कार्यपालक अभियंता को फटकार लगाते हुए आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि विभागीय उदासीनता के कारण विद्यालय बंद हुआ है। इसलिए अब विभाग की ही जिम्मेवारी है कि पुनः इस विद्यालय को चालू करें। इस अवसर पर विकास झा, नरेन्द्र सिंह, अनादि दे, प्रकाश झा, कमल लोचन सिंह, लक्ष्मी प्रसाद, कुंदन सिंह, सुजीत कुमार पाण्डेय, पंकज पाठक, पांडु कुमार पांडु सहित कई लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गढ़वा : पुलिस ने पूरे गिरोह का किया उद्भेदन, लंबे समय से थी तलाश

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 11:10 AM
newscode-image

बड़े चालाकी से देते थे घटना को अंजाम

गढ़वा। इधर कुछ दिनों से लगातार हो रही मोटरसाइकिल चोरी की घटना से जहां एक तरफ वाहन चालक हलकान थे, वहीं दूसरी ओर पुलिस भी खासा परेशान थी। जिससे निजात पाने के लिए आखिरकार पुलिस ने चोर गिरोह का उद्भेदन कर दिया।

चोर गिरोह के चार सदस्‍य को गिरफ्तार किया है। दूसरी ओर पलामू से बाकि के चार चोरों को गिरफ्तार किया। जानकारी देते हुए डीएसपी ने बताया कि ये चोर गाड़ी के लॉक को आसानी से खोल कर वारदात को अंजाम दिया करते थे।

गोमिया : दोषी लोगों पर होगा कानूनी कार्रवाई- अध्यक्ष

फिर उस गाड़ी के पार्ट्स को गैराज में देकर अलग अलग कर दिया जाता था। पुलिस बहुत दिनों से इनके तलाश में थी। गुप्त सूचना के आलोक में पहले गिरोह के एक सदस्य की गिरफ्तारी हुई। फिर उसके निशानदेही पर पूरे गिरोह का उद्भेदन किया। चोरी किया हुआ मोटरसाइकिल भी बरामद किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

पलामू : व्यवसायी के घर में लगी आग से लाखों...

more-story-image

चाईबासा : आरोपी का साला गांव के मेले में जुआ...