गुमला : मुठभेड़ में कृष्णा  गोप को मार गिराना पुलिस की बड़ी सफलता – डीआईजी

NewsCode Jharkhand | 14 September, 2018 6:16 PM
newscode-image

गुमला। डीआईजी ए.बी. होमकर ने बसिया थाना क्षेत्र के बोडेकेरा में, इनामी नक्सली कृष्णा  गोप को मुठभेड़ में मार गिराने को पुलिस की बड़ी सफलता माना है। गुमला में आयोजित प्रेसवार्ता में डीआईजी होमकर ने कहा कि इस अभियान में शामिल  पुलिस पदाधिकारी व जवानों को पुलिस मुख्यालय में सम्‍मानित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कृष्णा गोप कई कांडो में शामिल था  जिसकी पुलिस को  लंबे अरसे से तलास थी। उन्‍होंने कहा कि एसपी अंशुमान कुमार के नेतृत्व में गुमला पुलिस को लगातार सफलता मिल रही है।

कृष्णा गोप आतंक का पर्याय था। वह विकास योजना में लेवी की मांग करता था। कुछ दिन पहले रोड निर्माण कंपनी के मुंशी की हत्या में भी वह शामिल था। डीआईजी ने बताया कि घटनास्थल से दो देशी पिस्‍टल और कई दस्तावेज भी बरामद हुये हैं। एक नक्सली को भी गिरफ्तार किया गया है जिससे पूछ-ताछ की जा रही है। उन्‍होंने बताया कि मुठभेड़ में शामिल जवानों को सम्मानित करने अभियान आईजी  आशीष बत्रा गुमला आएंगे।

गुमला : भाजयुमो ने कार्यकर्ताओं से की लोक सभा चुनाव की तैयारी में जुटने की अपील

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

गुमला : धर्म प्रचारक ने पाँच वर्षीय अबोध बच्ची के साथ किया दुष्कर्म, गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 16 November, 2018 4:57 PM
newscode-image

गुमला। धर्म व अध्यात्म के नाम पर जो रिश्ते निहायत पवित्र समझे जाते हैं। उसे धर्म प्रचारक की आड़ में दरिंदगी पूर्वक रौंदने का मामला प्रकाश में आया है। पाँच वर्षीय अबोध बच्ची के साथ हैवानियत के मामले में गुमला जिले के चैनपुर प्रखण्ड के कुरूमगढ़ थाना में बसे मनातू गांव के पास्टर चरकु ऊरांव ने मानवता को शर्मशार वाली घटना किया।

जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में प्रस्तुत किया है। कुरूमगढ़ थाना क्षेत्र के जिरमी गांव के पास अवस्थित बिलिवर्स चर्च से जुड़ा पास्टर ने एक किराए के मकान में रहकर धर्म प्रचार का काम करता था।

मौका पाकर उसने अपने घर में अबोध बच्ची को बुलाया और उसके साथ दरिंदगी अख़्तियार करते हुए मुंह काला किया। बच्ची का घर में रो-रो कर बुरा हल हुआ तो घर के लोगों को आप बीती सुनाई तो नानी ने इसकी जानकारी गांव वालों को दी।

जिसके बाद पुलिस  को सुचना दिया गया और गांव वालो ने ही थाना ले जाकर सौप दिया। पुलिस ने दुष्कर्मी पास्टर को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं पास्टर चरकु ने भी अपना जुर्म कबूल लिया है।

आरोपी को गिरफ्तार कर पोक्सो एक्ट के तहत उसे कोर्ट में हाज़िर  किया गया है इस सम्बधं के कुरूमगढ़ थाना में कांड संख्या 5/18 दिनक 15/11/18 आई पी सी एक्ट 376 /एंव पोक्सो एक्ट ¾ के तहत मामला दर्ज किया गया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : 15 दिनों से घर नहीं लौटे तेजप्रताप, लालू प्रसाद तनाव में

NewsCode Jharkhand | 17 November, 2018 1:01 PM
newscode-image

बेहतर इलाज के लिए भेजे जा सकते है बाहर

रांची। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के पुत्र तेजप्रताप अपनी पत्नी ऐश्वर्या के साथ तलाक के मुद्दे पर परिजनों के रवैये से खफा है और एक पखवाड़े से घर नहीं लौटे है।

वहीं चारा घोटाले मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद रांची के रिम्स में इलाजरत है। उनकी लगातार खराब होती तबीयत को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए उन्हें दिल्ली या किसी अन्य उच्चस्तरीय चिकित्सा संस्थान भेजे जाने की संभावना है।

रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्त्ती लालू प्रसाद का इलाज कर रहे चिकित्सकों का कहना है कि लालू प्रसाद पहले से ही कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहे है और हाल के दिनों में बेटे-बहू के बीच विवाद से उनका तनाव बढ़ गया है।

हालांकि जब से उनके छोटे पुत्र तेजस्वी उनसे मिलकर गये है, तब से उन्हें अच्छी नींद भी आ रही है और रक्तचाप भी सामान्य है, लेकिन इस बीच उनके पैर का एक बाल टूट गया था, इस वजह से वहां बलतोड़ हो गया है। इस वजह से उनका दर्द बढ़ गया है। इस वजह से उनके किडनी पर भी असर पड़ रहा है।

डॉक्टर ने कहा कि बालतोड़ को ठीक करने के लिए एंटीबायटिक दिया गया है। डॉक्टरों की टीम लगातार उनकी निगरानी करती है। डॉक्टर उनकी सेहत पर नजर बनाए हुए हैं।  किडनी की जो स्थिति अभी है उसमें अगर कुछ दिनों में सुधार नहीं होगी तो डॉक्टर उन्हें रिम्स से बाहर भी भेजने पर विचार कर सकते हैं।

इधर, बड़े बेटे तेजप्रताप और ऐश्वर्या के तलाक की अर्जी के बाद से हर शनिवार को लालू से उनके बेटे और बेटियां मिलने आ रहे हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रांची : डी ए वी कपिलदेव पब्लिक स्कूल में रक्तदान शिविर का आयोजन 

NewsCode Jharkhand | 16 November, 2018 9:43 PM
newscode-image

रांची । डी ए वी कपिलदेव पब्लिक स्कूल, कडरू, में आज झारखंड,मध्यप्रदेश, सिक्किम, प0 बंगाल, उड़ीसा, उत्तर प्रदेश नेपाल और बिहार में एक सौ अस्सी से ज्यादा संख्या में डी ए वी संस्थानों की स्थापना करनेवाले भूतपूर्व निदेशक स्वर्गीय एन डी ग्रोवर जी के जन्म दिवस के अवसर पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों को पुष्पगुच्छ प्रदान करने से हुई। बाद में अतिथियों ने कार्यक्रम के मुख्य अतिथि झारखंड सरकार के अतिरिक्त प्रधान सचिव के. के खंडेलवाल की उपस्थिति में दीप प्रज्वलन कार्यक्रम में भाग लिया। इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए विद्यालय के प्राचार्य एम के सिन्हा ने अपने स्वागत भाषण में स्वर्गीय एन डी ग्रोवर को याद करते कहा कि श्री ग्रोवर महिला शिक्षा के विशेष रूप से समर्थक थे। वे ग़रीब तथा जरूरत मंद लोगों की सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहते थे। प्राचार्य ने कहा कि एन डी ग्रोवर जी ने झारखंड , बिहार , पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, सिक्किम, मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश में शिक्षा की क्रांति पैदा कर दी। उन्होंने बताया कि गरीब छात्राओं को शिक्षा प्रदान करने में वे हमेशा तत्पर रहते थे। क्षेत्र में विशेषकर सारुबेड़ा में उन्होंने ग़रीब और अशिक्षित महिलाओं के लिए अनौपचारिक शिक्षा केंद्र खुलवाए ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें । प्राकृतिक विपदाओं में उन्होंने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। विशेष रूप से उड़ीसा में आए चक्रवात में चालीस दिनों तक अनवरत बाढ़ पीड़ितों की सेवा में लगे रहे और उन्हें भोजन, कंबल, वस्त्र जैसी आवश्यक चीजें उपलब्ध करायीं। उन्होंने कहा कि उनके आदर्शों पर चलना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

रक्तदान शिविर के मुख्य अतिथि झारखंड सरकार के अतिरिक्त प्रधान सचिव के. के. खंडेलवाल ने स्वर्गीय एन डी ग्रोवर को याद करते हुए उन्हें सामान्य और अति साधारण रहन सहन वाला समाजसेवी बताया। उन्होंने बच्चों का आह्वान करते हुए कहा कि वे अपने मन में स्वप्न रखें और दृढ़ इच्छाशक्ति से उसे पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि मनुष्य अगर ठान ले तो कोई भी चीज असंभव नहीं है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्राचार्य एम.के. सिन्हा के नेतृत्व में विद्यालय नयी उपलब्धियों और ऊँचाइयों को प्राप्त करेगा। बाद में मुख्य अतिथि के. के. खंडेलवाल और प्राचार्य एम के सिन्हा ने सम्मिलित रूप से ब्लड डोनेशन शिविर का  फीता काटकर उद्घाटन किया। रक्तदान शिविर में पचास से ज्यादा शिक्षक-शिक्षिका और शिक्षकेतर कर्मचारियों ने रक्तदान किया।

मौके पर विद्यालय के छात्र छात्राओं ,वरीय शिक्षकों और रिम्स की चिकित्सीय जाँच टीम के अलावा डॉ. वी. के. वर्मा, डॉ. सुहाष तेतरवे, एलएमसी सदस्य आर. के. मिश्रा, बी. डी. तिवारी, डीएवी गांधीनगर के प्राचार्य एस के सिन्हा, डीएवी नीरजा सहाय के प्राचार्य एस. के. मिश्रा, डीएवी हेहल के प्राचार्य एम.के सिन्हा,  समाजसेवी मुकेश तनेजा, विद्यालय के जीवविज्ञान शिक्षक डॉ. एन.के. पाण्डेय, डॉ. आर.बी. शर्मा तथा पी. एन. झा भी उपस्थित थे।

More Story

more-story-image

रांची: विस चुनाव को लेकर कांग्रेस की बैठक, प्रत्येक बूथ...

more-story-image

रांची: कांग्रेस ने शुरू की मिशन 2019 की तैयारी, चुनाव...

X

अपना जिला चुने