गोमिया : विकास से कोसों दूर लुगु पर्वत धाम

Pankaj Pandey | 1 August, 2018 3:29 PM
newscode-image

आस्था व विश्वास का प्रतीक बना है लुगु पर्वत धाम

गोमिया(बोकारो)। गोमिया प्रखंड के ललपनिया में स्थित लुगु पर्वत धाम आस्था व विश्वास का प्रतीक है। तभी तो लुगु पहाड़ एक आस्था का केंद्र बना हुआ है। हजारों फीट की ऊंचाई पर भी महिला, पुरुष, बच्चे, बुजुर्ग व दिव्यांग भी पहुँचते हैं और अपनी मनोकामना बाबा के दरबार में रखते है।

तेनुघाट : तेनुघाट बैंक में चोरी का असफल प्रयास

श्रद्धालुओं का मानना है कि नि:स्वार्थ भाव से पूजा-अर्चना करने से लुगु बाबा की कृपा से उनका संकल्प यहां हर सावन मास में साकार होता है। प्रखंड क्षेत्र में स्थित लुगु पर्वत धाम में पवित्र श्रावन मास बीत जाने तक हजारों का जनसैलाब यहां एकाकार होता है। लुगु पहाड़ की हजारों फीट ऊंचाई चढ़कर लुगु बाबा की पूजा-अर्चना करते हैं।

भक्त सुरंग सी बनी गुफाओं में जाते है और जलाभिषेक करते हैं।

हालाँकि गुफ़ा के अन्दर ऑक्सीजन की थोड़ी कमी के कारण दीपक अथवा कपूर जलाना मुश्किल होता है। प्राकृतिक सौदर्य से घिरा हुआ लुगु पहाड़ लोगों के लिए पर्यटन स्थल के साथ-साथ धार्मिक स्थल भी बन चूका है। इस पर्वत पर पूजा अर्चना के लिए श्रद्धालु सालों भर आते है।

गोमिया : विकास से कोसों दूर लुगु पर्वत धाम

परंतु सावन और शिवरात्रि में हजारों की संख्या में श्रद्धालु लुगु पर्वत धाम में विशेष रूप से पूजा अर्चना करने के लिए आते है।उसके बाद भी शासन और प्रशासन इस पर्वत धाम में उमड़ने वाली भीड़ के लिए अतिरिक्त व्यवस्था प्रबंध नहीं करते, परंतु हर हाल में अव्यवस्था पर आस्था भारी पड़ती है।

बोकारो : पंचों ने बुलायी बैठक, लिया शादी का फैसला

शनिवार से शुरू हो गया सावन मास के एक दिन पूर्व से ही हर-हर महादेव का जयघोष यहां हजारों फीट की ऊंचाई पर गुंजायमान होने लगता है। अनुमान के मुताबिक प्रतिदिन यहां हजारों श्रद्धालु जलाभिषेक करते हैं।गोमिया प्रखंड के बोकारो जिले से नहीं अपितु हजारीबाग, रांची, रामगढ़, धनबाद सहित अन्य जिलों सहित अन्य प्रदेशों के शिव भक्त लुगु पर्वत में हर सावन में यहां जुटते हैं।

क्या विशेषता है इन गुफाओं का

लुगु पर्वत धाम में यहां पर भव्य गुफा मंदिर है तथा पहाड से गिरता झरने का पानी आर्कषण का केन्द्र रहता है। इसके अलावे चिरका-दरार जो चटान दो भाग में फटा होना भी एक प्राकृतिक की संरचना का उल्लेख ही है। ऋषिनाला, साधूडेरा, इंन्द्र गुफा सहित कई स्थान भी मनोहर लगते है। भक्तों का कहना है कि ऋषिनाला की विशेषता है कि इस नाला में स्नान करने से चर्म रोग आदि समाप्त हो जाता है।

बोकारो : रांची से धनबाद जाने के दौरान सड़क हादसे में पत्रकार की मौत

साधु डेरा के नाम से जाने वाला एक भव्य विशाल चटान है जो एक साथ बैठकर सैकड़ों लोग भजन कीर्तन करते है। गुफा पत्थर से ऐसा बना हुआ है कि बारिश के दिनों में सैकड़ों लोग पानी से बच सकते है। इन्द्र गुफा ऐसा गुफा है जो टार्च, मोमबती, दीया सहित कई जलने वाली पदार्थ वस्तुएं नहीं जलती है। यह गुफा कहां तक फैला हुआ है इसका अनुमान आज तक कोई लगा नहीं सका है।

सुविधाओं का  घोर अभाव

लुगु पर्वत धाम उंचाई तक पहुंचने के लिए तीर्थ यात्रियों को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। पर शिव भक्त दुर्गम पथरीले राह की मुश्किलों को शिव की उपासना का एक हिस्सा मानते हैं। हजारों श्रद्धालुओं के लिए प्रखंड अथवा जिला प्रशासन द्वारा न तो रास्ते में सुविधाओं का प्रबंध है, और न ही परिसर में रैनबसेरा व बरसात व धूप से बचने के लिए स्थायी ठौर की ही व्यवस्था करवायी जाती है।

चास : फसल बीमा योजना के तहत किसानों ने अपने फसल का कराया बीमा

लुगु धाम भले ही श्रद्धालुओं के लिए खुबसूरत स्थल हो, लेकिन यहां न बिजली है और न ही पर्वत जाने के लिए सुगम सडक की व्यवस्था है। हजारों फीट की ऊंचाई पर चढ़ कर हजारों लोग हर-हर महादेव का नारा लगते है और रात्रि विश्राम करते है। इस तरह की कई असुविधाओं के कारण श्रद्धालुओं को काफी परेशानी का सामना करना पडता है। लूगु पर्वत धाम में लुगु बुरु पुनय थान सरना धोरोमगाढ़ समिति के कार्यकर्ता पूजा के विभिन्न मौके पर लाईट आदि अन्य सुविधा को व्यवस्था करते है।

गोमिया : विकास से कोसों दूर लुगु पर्वत धाम

विकास के नाम पर सिर्फ स्थानीय सांसद द्वारा एक, दो सोलर लाईट की व्यवस्था की गई है। सरकार द्वारा आजादी के 70 वर्ष बीत जाने के बाबजूद यहाँ विकास के नाम पर कोई सुविधा नहीं दी गई है। हालांकि कुछ माह पूर्व लुगु बुरु घंटा बाड़ी में मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा पूरे क्षेत्र के विकास के वादे किये गए।सरकार इस स्थल को धार्मिक स्थल के साथ-साथ पर्यटक स्थल बनाने, सुगम मार्ग, बिजली व पानी सहित शौचालय की व्यवस्था आदि शामिल है।

बेरमो : 11 अगस्त को देश के 35 हजार स्टेशन मास्टर 11सूत्री मांग को लेकर करेंगे भूख हड़ताल

अंदेशा यही लगाया जा रहा था कि पूरे क्षेत्र का विकास होगा। उक्त संगठन के अध्यक्ष सुरेंद्र टुडू, सचिव आलोक हेम्ब्रम व कोषाध्यक्ष राजेश मुर्मू ने बताया कि सरकार द्वारा विकास कार्य मात्र पहाड़ी की तराई में स्थित घंटा बाड़ी में कराया जा रहा है, जबकि पहाड़ की ऊंचाई लुगु बाबा के दरबार मे शौचालय, भवन निर्माण एवं पीने योग्य पानी के लिए एक चेकडेम का निर्माण कराया जाता है तो बाबा के भक्तों के लिये कुछ सुविधा हो जायेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बोकारो : भाई-बहन को बंधक बनाए रखने के मामले में चिकित्सक पर मामला दर्ज

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 8:22 AM
newscode-image

बोकारो । को-ऑपरेटिव कॉलोनी के प्लांट संख्या 229 के मालिक दीपू घोष व उनकी बहन मंजूश्री घोष को कैद रखने के मामले में नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. डीके गुप्ता पर पूर्णेन्दू सिंह के बयान पर सिटी पुलिस ने हत्या के प्रयास की धारा में मामला दर्ज किया है। दीपू घोष व उसकी बहन मंजूश्री का इलाज फिलहाल बोकारो जेनरल अस्पताल में चल रहा है। दीपू की हालत में काफी सुधार है जबकि मंजूश्री शारीरिक रूप से स्वस्थ्य होने के बावजूद मानसिक यातना के कारण हालत ठीक नहीं है।

 धनबाद : डायरियां से एक व्यक्ति की मौत, दर्जनों लोग बीमार

विदित हो कि पुलिस कप्तान कार्तिक एस ने गुरूवार को स्वयं अस्पताल पहुंचकर भाई-बहन से जानकारी ली थी। मंजू श्री ने एसपी को जो बताया उससे स्पष्ट हुआ कि उसको प्रताड़ित किया गया है। इधर मुकदमा दर्ज होने के बाद डॉ. डीके गुप्ता की मुश्किलें बढ़ गई है। सरकारी चिकित्सक होते हुए किस परिस्थिति में वे बाहर के क्लिनिक में इलाज कर रहे थे ये सवाल उठ रहे हैं। डॉ. गुप्ता चास अनुमंडलीय अस्पताल में पदस्थापित हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गोमिया : उच्च विद्यालय विभागीय उदासीनता का शिकार, पठन-पाठन ठप

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 11:39 AM
newscode-image

आजसू केंद्रीय सचिव लंबोदर महतो ने किया उच्च विद्यालय का निरीक्षण

गोमिया (बोकारो) । तेनुघाट शिविर संख्या दो स्थित नदी घाटी योजना उच्च विद्यालय देखते ही देखते विभागीय उदासीनता का शिकार हो गया। जिसके कारण पिछले कई वर्षों से उक्त विद्यालय में पठन-पाठन पूरी तरह से बंद हो गया। विद्यालय के बंद हो जाने से आस-पास के क्षेत्रों के सैकड़ों बच्चों को मैट्रिक तक की पढ़ाई के लिए काफी परेशानी उत्पन्न हो गई है।

लोगों ने कहा कि पांच किलोमीटर तक एक भी उच्च विद्यालय नहीं है। जिस कारण खास कर लड़कियों के लिए मैट्रिक तक की पढ़ाई करना मुश्किल हो गया है। कहा कि सरकार का बेटी पढ़ाओ का नारा यहां धूमिल होता प्रतित हो रहा है। लोगों ने आजसू के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो से मुलाकात कर इस समस्या से अवगत कराते हुए पुनः उक्त विद्यालय में पठन-पाठन चालू करवाने का अनुरोध किया।

चतरा : गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का हर महीने करें मूल्यांकन- उपायुक्त

वहीं डॉ. महतो ने लोगों के अनुरोध पर नदी घाटी योजना उच्च विद्यालय का निरीक्षण कर लोगों को आश्वासन देते हुए कहा कि निश्चित तौर पर आगामी सेशन से विद्यालय में पठन-पाठन का कार्य शुरू हो जायेगा।

उन्होंने इस बाबत  तेनुघाट बांध के कार्यपालक अभियंता को फटकार लगाते हुए आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि विभागीय उदासीनता के कारण विद्यालय बंद हुआ है। इसलिए अब विभाग की ही जिम्मेवारी है कि पुनः इस विद्यालय को चालू करें। इस अवसर पर विकास झा, नरेन्द्र सिंह, अनादि दे, प्रकाश झा, कमल लोचन सिंह, लक्ष्मी प्रसाद, कुंदन सिंह, सुजीत कुमार पाण्डेय, पंकज पाठक, पांडु कुमार पांडु सहित कई लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गढ़वा : पुलिस ने पूरे गिरोह का किया उद्भेदन, लंबे समय से थी तलाश

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 11:10 AM
newscode-image

बड़े चालाकी से देते थे घटना को अंजाम

गढ़वा। इधर कुछ दिनों से लगातार हो रही मोटरसाइकिल चोरी की घटना से जहां एक तरफ वाहन चालक हलकान थे, वहीं दूसरी ओर पुलिस भी खासा परेशान थी। जिससे निजात पाने के लिए आखिरकार पुलिस ने चोर गिरोह का उद्भेदन कर दिया।

चोर गिरोह के चार सदस्‍य को गिरफ्तार किया है। दूसरी ओर पलामू से बाकि के चार चोरों को गिरफ्तार किया। जानकारी देते हुए डीएसपी ने बताया कि ये चोर गाड़ी के लॉक को आसानी से खोल कर वारदात को अंजाम दिया करते थे।

गोमिया : दोषी लोगों पर होगा कानूनी कार्रवाई- अध्यक्ष

फिर उस गाड़ी के पार्ट्स को गैराज में देकर अलग अलग कर दिया जाता था। पुलिस बहुत दिनों से इनके तलाश में थी। गुप्त सूचना के आलोक में पहले गिरोह के एक सदस्य की गिरफ्तारी हुई। फिर उसके निशानदेही पर पूरे गिरोह का उद्भेदन किया। चोरी किया हुआ मोटरसाइकिल भी बरामद किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

पाकिस्तान के नए कप्तान बने इमरान खान, देश के 22वें...

more-story-image

पलामू : व्यवसायी के घर में लगी आग से लाखों...