देवघर : बाबा मंदिर में उमड़ा आस्था का सैलाब, 108 नामों से जाने जाते हैं भगवान शिव

NewsCode Jharkhand | 30 July, 2018 7:22 AM

गंगा जल और बेल पत्र से शिव को जलाभिषेक करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है

newscode-image

देवघर । बाबा मंदिर में आज आस्था का जनसैलाब उमड़ पड़ा है। बिष्णु पुराण में वर्णित है की कलयुग में शिव की पूजा अर्चना करने से मुक्ति मिल जाती है। शिव १०८ नामो से जाने जाते हैं। श्रावण मास में ही समुद्र मंथन हुआ था और सोमवारी को ही एक विशेष फल की प्राप्ति हुई थी। मंथन के पहली सोमवारी को ऐरावत हांथी की उत्पत्ति हुई थी। लिहाजा आज के दिन पूजन करने से भाग्य में तेजी आती है।

सोमवारी काफी कल्याणकारी माना जाता है और आज के दिन गंगा जल और बेल पत्र से शिव को जलाभिषेक करने से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है। माता पार्वती ने भी सोलह सोमवारी का व्रत कर भोले को पाया था।

धनबाद : सिम्फर में सावन महोत्‍सव शुरू

आज सावन की पहली सोमवारी है। बाबा धाम देवघर में कांवारिया भक्तों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। भीड़ का आलम यह है की अहले सुबह से ही दर्शन के लिए श्रद्धालुओ का तांता लगा हुआ है। सावन की सोमवारी के विशेष धार्मिक महत्त्व के कारण भारी संख्या में महिला कवरियों की भी बाबा धाम में भीड़ जुटी है। आज सुबह से ही कवरियों का सैलाब बाबा धाम में उमड़ पड़ा है। चारो तरफ बोल बम के ही नारे गूंज रहे हैं। बाबा मंदिर में जलार्पण और दर्शन का सिलसिला जारी है। इस बार दर्शन के लिए अर्घा सिस्टम से जलार्पण की व्यवस्था कराइ गई है।

वही निशक्त लाचार वृद्ध भक्तों के लिए इस बार जिला प्रशासन ने बाह्य जलार्पण अर्घा सिस्टम की व्यवस्था भी की है। भक्त पहले एक निशुल्क कार्ड लेंगे और तय समय में नेहरू पार्क से होते हुए फुट ओवर ब्रिज और फिर संस्कार मंडप होते हुए गर्भ गृह में अर्घा सिस्टम से पूजा कर सकेंगे।

  (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चक्रधरपुर : नहीं रहे पूर्व रात्रि प्रहरी जीत बहादुर थापा

NewsCode Jharkhand | 12 October, 2018 4:06 PM
newscode-image

श्रद्धांजलि

चक्रधरपुर । गुदरी बाजार में रात्रि प्रहरी के रूप में कार्य कर चुके जीत बहादुर थापा का व्यक्तित्‍‍‍व अपने जीवन काल से ही संघर्षशील रहा। इन्‍‍‍‍‍‍‍‍होंने  जवानी वा बुढ़ापा गुदरी बाजार में  ही गुजार दी।

पूरी तरह से चरमरा गई थी आर्थिक स्थिति

करीब 30 साल की सेवा इन्‍होंने यहां दी। एक दुर्घटना में पीठ की कमर की हड्डी टूट गई। उसके बाद वो बाजार छोड़ चले गये। इस घटना ने इनकी आर्थिक स्थिति पूरी तरीके से चरमरा गई। इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं था। लोगों से पैसे मांग कर अपना गुजर- बसर कर रहे थे।

2 अक्टूबर 2017 को गांधी जयंती के दिन मैं इनके पास पहुंचा, तो पता लगा सरकार से इनको कोई सुविधा नहीं मिल रही । तब हम लोगों ने वादा किया कि जब तक सरकार आपको आपका हक नहीं दे देती, तब तक  संगठन आप को सहायता प्रदान करेगी।

निरंतर प्रयास से  इनको सरकारी मदद दिलायी गई।  जब तक सरकारी मदद नहीं मिली, तब तक आर्थिक सहयोग भी करते रहे।

हम संतुष्ट हैंं कि हमने आखिरी समय में  इनकी आंखों में संतुष्टि का भाव देखा और हम लोगों ने इनसे कहा भी था कि आप जीवित रहेंं, हम आपसे वादा करते हैं कि आपको एक अपना घर सरकार से मुहैया कराने की कोशिश करेंगे।

आज से एक सप्‍ताह पहले इनका देहांत हो गया। आज उनकी सुध लेने के लिए इनके निवास पहुंचा तो वहां के आस -पड़ोस के लोगों ने बताया कि पिछले गुरुवार को उनका देहांत हो गया।अफसोस है कि जीत बहादुर थापा हमारे बीच नहीं रहे।

रामगोपाल जेना

चक्रधरपुर

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

बिहार में 25 अक्टूबर से पॉलीथीन बैन, प्रयोग करने पर 1 लाख तक लगेगा जुर्माना

NewsCode | 23 October, 2018 1:14 PM
newscode-image

पटना। बिहार में प्लास्टिक कैरी बैग के प्रयोग को प्रतिबंधित करने के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है। 25 अक्टूबर से हर प्रकार के कैरी बैग के प्रयोग पर प्रतिबंध रहेगा। पटना हाई कोर्ट के आदेश पर बिहार सरकार ने ये फैसला लिया है।

आपको बता दें कि पहले पटना हाई कोर्ट के निर्देश पर प्रतिबंध 24 सितंबर से लगने वाला था लेकिन सरकार ने तैयारियों के लिए एक महीने का समय लिया था। पर्यावरण और वन मंत्रालय ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है। अधिसूचना के मुताबिक, पॉलीथीन के उत्पादन या बार-बार प्रयोग पर पांच साल की जेल और 1 लाख रुपए जुर्माने का प्रावधान है। हालांकि सरकार ने अबतक के स्टॉक को खपाने के लिए 60 दिनों की मोहलत भी दी है। इसके बाद 15 दिसंबर से पॉलीथीन के प्रयोग पर दंड की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

बैन में सिर्फ प्लास्टिक कैरी बैग को प्रतिबंधित किया गया है जबकि बायो वेस्ट के संग्रहण और भंडारण के लिए प्रयोग होने वाले 50 माइक्रोन से अधिक के कैरी बैग पर प्रतिबंध लागू नहीं होगा। साथ ही सभी प्रकार के खाद्य और अन्य पदार्थ की पैकेजिंग, दूध और पौधे उगाने के प्रयोग में आने वाले बैग भी इस बैन से मुक्त रहेंगे।

इससे पहले राज्य सरकार ने कोर्ट का भरोसा दिलाया था कि जरूरी नियमावली बनाने के बाद पूर्ण प्रतिबंध के लिए अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। इसके अलावा बिहार सरकार ने कोर्ट में यह भी बताया कि 25 अक्टूबर से शहरों में पॉलिथीन के पूर्ण प्रतिबंध के बाद 25 नवंबर को राज्य के ग्रामीण इलाकों में भी इस पर पूर्ण प्रतिबंध लग जाएगा। यानी शहरों के एक महीना बाद गांवों में पॉलिथीन का इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा।

पहले 24 सितंबर से बिहार में पॉलीथीन पर पूर्ण प्रतिबंध का डेडलाईन पटना हाईकोर्ट की तरफ से दिया गया था लेकिन उस समय राज्य सरकार ने कहा था कि अभी इसके लिए पूरी तरह से तैयार नहीं है। इसलिए अब खुद राज्य सरकार ने बिहार के शहरी क्षेत्रों को पॉलिथीन रहित करने के लिए 25 अक्टूबर की तारीख तय की है।


रांची : पॉलीथीन के खिलाफ निगम की कार्रवाई, कई शॉपिंग मॉल में लगाया जुर्माना

जमशेदपुर : अवैध रूप से चल रहे पॉलीथीन फैक्ट्री में छापा, मशीन को किया सील

Paytm के मालिक को ब्लैकमेल कर मांगे 20 करोड़, महिला सेक्रेटरी समेत तीन गिरफ्तार

NewsCode | 23 October, 2018 12:13 PM
newscode-image

नई दिल्ली। मशहूर मोबाइल वॉलेट कंपनी पेटीएम (Paytm) के कुछ खास कर्मचारियों द्वारा कंपनी के सीईओ विजय शेखर का पर्सनल डाटा चुराकर 20 करोड़ रुपए उगाही करने का मामला सामने आया है। मामले में नोएडा की थाना सेक्टर-20 पुलिस ने कंपनी की महिला वाइस प्रेसिडेंट, उसके पति और एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है।

नोएडा के एसएसपी अजय पाल शर्मा के मुताबिक विजय शर्मा ने उनसे शिकायत की थी कि कोई उन्हें ब्लैकमेल कर रहा है। विजय शर्मा ने बताया कि 20 सितंबर को जब वे जापान में थे, उसी समय उनके पास थाइलैंड के एक नंबर से ब्लैकमेलर का फोन आया। उसने दावा किया कि विजय शर्मा के निजी डाटा उसके पास हैं। इसके एवज में ब्लैकमेलर ने 20 करोड़ की मांग की। साथ ही उसने कहा कि अगर उसे पैसे नहीं दिए गए तो वे पर्सनल डाटा सार्वजनिक कर देगा, जिससे विजय शेखर की छवि खराब हो जाएगी।

ब्लैकमेलर ने कहा कि उसके पास ये डाटा कंपनी के ही एडमिन डिपार्टमेंट में काम करने वाले राहुल और देवेंद्र से मिली है। इन दोनों कर्मचारियों को विजय शर्मा के पर्सनल डाटा कंपनी में सेक्रेटरी सोनिया धवन से मिली है। ब्लैकमेलर ने ये भी बताया कि उगाही की रकम का 10 प्रतिशत राहुल और देवेंद्र को दिया जाएगा। विजय शेखर के मुताबिक अपने ही कर्मचारियों की इस कारगुजारी पर उन्हें पहले तो विश्वास ही नहीं हुआ। इससे वे तनाव में आ गए।

दो महीने से चल रही थी ब्लैकमेलिंग

विजय शेखर के भाई अजय शेखर शर्मा ने पुलिस को दी गई शिकायत में लिखा कि उनकी कंपनी में सोनिया धवन और देवेंद्र कुमार काम करते हैं। सोनिया के पति का नाम रूपक जैन है। वह नोएडा में ही प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता है। सोनिया धवन विजय शेखर की निजी सचिव के रूप में कंपनी में काम करती थीं।

सोनिया, रूपक और देवेंद्र कुमार ने ही साजिश करके विजय के निजी कम्प्यूटर से तमाम महत्वपूर्ण जानकारियां चोरी कर लीं। डेटा चोरी करने के बाद इन लोगों को कोई ऐसा आदमी चाहिए था जो इनसे पैसे निकाल सके। इसके लिए कोलकाता में रोहित चोमल को खोजा गया। उसके बाद देवेंद्र ने कोलकाता जाकर रोहित को डेटा दिया।

सच्चाई जांचने के लिए जमा किए 2 लाख रुपये

डेटा मिल जाने के बाद 10 सितंबर 2018 को रोहित चोमल ने विजय शेखर को फोन किया। एक बार फोन करने के बाद फिर उन्हें वॉट्सऐप कॉल की। पहले 10 करोड़ रुपये मांगे। रोहित ने इन पैसों को बैंक में जमा कराने के लिए आईसीआईसीआई बैंक का खाता नंबर भी दिया।

पुलिस को दी शिकायत में अजय शेखर ने बताया कि 10 अक्टूबर को पहले 67 रुपये और फिर 15 अक्टूबर को 2 लाख रुपये इस खाते में ट्रांसफर भी कर दिए गए। पैसे ट्रांसफर हो जाने के बाद रोहित ने फिर 10 करोड़ रुपये की मांग शुरू कर दी। जब रोहित ने फिर से पैसे जमा करने के लिए प्रेशर बनाना शुरू किया तो उसके बाद अजय शेखर ने पुलिस में शिकायत कर दी।

शिकायत मिलने पर नोएडा पुलिस Paytm के सेक्टर पांच स्थित ऑफिस पहुंची और तीनों आरोपियों- सेक्रेटरी सोनिया, राहुल और देवेंद्र को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक इस पूरी साजिश की मास्टरमाइंड सोनिया है। उसे इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस की मदद से दबोचा गया।

बता दें कि पेटीएम साल 2012 में अस्तित्व में आई। आज 7 मिलियन लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। नोटबंदी के बाद अधिकतर लोग Paytm मोबाइल ऐप के जरिये इसी ई-वॉलेट से भुगतान कर रहे थे। साल 2017 में कंपनी का करोड़ों का कारोबार रहा है।


लॉन्च हुआ पेटीएम Payments Bank, मिलेंगे ये सारे फायदे

दिल्ली से आईएसआई एजेंट गिरफ्तार, महिला कर्नल को कर रहा था ब्लैकमेल

More Story

more-story-image

सुप्रीम कोर्ट का फैसला - दिवाली पर सिर्फ 2 घंटे...

more-story-image

कैसा रहेगा आज आपका दिन ? जानें आज दिनांक 23-10-2018...