देवघर : बाबा मंदिर से जुड़ी हर कथा निराली है जो मन में शुकून व श्रद्धा की ज्योत जलाती है

Sunil Kumar | 1 August, 2018 12:51 PM

पूजा अर्चना की अपनी अलग परंपरा है, प्रातःकालीन पूजा के समय कच्चा जल चढ़ाने की प्रथा है ...

newscode-image

देवघर । बाबा बैधनाथ की पूजा अर्चना की अपनी अलग परंपरा है। इस परम्परा में प्रातःकालीन पूजा के समय कच्चा जल चढ़ाने की प्रथा है। यहां कच्चा जल चढ़ाने की परम्परा सदियों से चली आ रही है। कच्चा जल पंडा समाज के लोग ही चढ़ा सकते हैं। बाबा के जागने के साथ उन्हें स्नान कराने का अधिकार सिर्फ इन्हें ही मिला है।

बाबा मंदिर से जुड़ी हर कथा निराली है जो मन में शुकून व श्रद्धा की ज्योत जलाती है। प्रातः मंदिर का पट खुलने के साथ सोये हुए बाबा भोलेनाथ को जगाने के बाद शिवलिंग का जिस पवित्र जल से स्नान कराया जाता है वह कच्चा जल है। दर्शन के लिए खड़े श्रद्धालु बाबा की अनुपम व अनमोल कच्चा जल पूजा को देखते रहते हैं व बीच-बीच में बाबा की जयकार करते रहते हैं। यह दृश्य बड़ा ही मनोरम होता है।

कच्चा जल से बाबा भोले की सर्वप्रथम पूजा होती है। इस पूजा की शुरुआत पुरोहित द्वारा विधिवत संकल्प एवं ध्यान से शुरू होता है। इसके बाद बाबा को कच्चा जल से स्नान कराया जाता है। कच्चा जल स्नान के बाद बाबा को ढूध, दही, मधु, गंगाजल आदि से स्नान कराया जाता है। इसके बाद नए वस्त्र से पोछ कर बाबा को इत्र, चन्दन , फुल बेल पत्र, कुमकुम, चावल और नया वस्त्र चढ़ाया जाता है। फिर पुष्पांजलि होती है तत्पश्चात भक्तों द्वारा जलाभिषेक शुरू होता है।

जब से बाबा बैधनाथ की प्राण प्रतिष्ठा हुई है तब से ये पूजा चली आ रही है। ऐसे भी किसी भी द्वादश ज्योतिर्लिंग में ये पूजा की व्यवस्था होती है। इसमें स्थानीय पंडा सभी तीर्थो के जल से बाबा की पूजा करते हैं। जिसने बाबा बैधनाथ के इस पूजन को नहीं देखा उसका जीवन अधुरा माना जाता है। दुनिया में यह दरबार इतना सच्चा है की कोई भी खाली हाथ नहीं लौटता है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बोकारो : भाई-बहन को बंधक बनाए रखने के मामले में चिकित्सक पर मामला दर्ज

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 8:22 AM
newscode-image

बोकारो । को-ऑपरेटिव कॉलोनी के प्लांट संख्या 229 के मालिक दीपू घोष व उनकी बहन मंजूश्री घोष को कैद रखने के मामले में नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. डीके गुप्ता पर पूर्णेन्दू सिंह के बयान पर सिटी पुलिस ने हत्या के प्रयास की धारा में मामला दर्ज किया है। दीपू घोष व उसकी बहन मंजूश्री का इलाज फिलहाल बोकारो जेनरल अस्पताल में चल रहा है। दीपू की हालत में काफी सुधार है जबकि मंजूश्री शारीरिक रूप से स्वस्थ्य होने के बावजूद मानसिक यातना के कारण हालत ठीक नहीं है।

 धनबाद : डायरियां से एक व्यक्ति की मौत, दर्जनों लोग बीमार

विदित हो कि पुलिस कप्तान कार्तिक एस ने गुरूवार को स्वयं अस्पताल पहुंचकर भाई-बहन से जानकारी ली थी। मंजू श्री ने एसपी को जो बताया उससे स्पष्ट हुआ कि उसको प्रताड़ित किया गया है। इधर मुकदमा दर्ज होने के बाद डॉ. डीके गुप्ता की मुश्किलें बढ़ गई है। सरकारी चिकित्सक होते हुए किस परिस्थिति में वे बाहर के क्लिनिक में इलाज कर रहे थे ये सवाल उठ रहे हैं। डॉ. गुप्ता चास अनुमंडलीय अस्पताल में पदस्थापित हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गोमिया : उच्च विद्यालय विभागीय उदासीनता का शिकार, पठन-पाठन ठप

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 11:39 AM
newscode-image

आजसू केंद्रीय सचिव लंबोदर महतो ने किया उच्च विद्यालय का निरीक्षण

गोमिया (बोकारो) । तेनुघाट शिविर संख्या दो स्थित नदी घाटी योजना उच्च विद्यालय देखते ही देखते विभागीय उदासीनता का शिकार हो गया। जिसके कारण पिछले कई वर्षों से उक्त विद्यालय में पठन-पाठन पूरी तरह से बंद हो गया। विद्यालय के बंद हो जाने से आस-पास के क्षेत्रों के सैकड़ों बच्चों को मैट्रिक तक की पढ़ाई के लिए काफी परेशानी उत्पन्न हो गई है।

लोगों ने कहा कि पांच किलोमीटर तक एक भी उच्च विद्यालय नहीं है। जिस कारण खास कर लड़कियों के लिए मैट्रिक तक की पढ़ाई करना मुश्किल हो गया है। कहा कि सरकार का बेटी पढ़ाओ का नारा यहां धूमिल होता प्रतित हो रहा है। लोगों ने आजसू के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो से मुलाकात कर इस समस्या से अवगत कराते हुए पुनः उक्त विद्यालय में पठन-पाठन चालू करवाने का अनुरोध किया।

चतरा : गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का हर महीने करें मूल्यांकन- उपायुक्त

वहीं डॉ. महतो ने लोगों के अनुरोध पर नदी घाटी योजना उच्च विद्यालय का निरीक्षण कर लोगों को आश्वासन देते हुए कहा कि निश्चित तौर पर आगामी सेशन से विद्यालय में पठन-पाठन का कार्य शुरू हो जायेगा।

उन्होंने इस बाबत  तेनुघाट बांध के कार्यपालक अभियंता को फटकार लगाते हुए आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि विभागीय उदासीनता के कारण विद्यालय बंद हुआ है। इसलिए अब विभाग की ही जिम्मेवारी है कि पुनः इस विद्यालय को चालू करें। इस अवसर पर विकास झा, नरेन्द्र सिंह, अनादि दे, प्रकाश झा, कमल लोचन सिंह, लक्ष्मी प्रसाद, कुंदन सिंह, सुजीत कुमार पाण्डेय, पंकज पाठक, पांडु कुमार पांडु सहित कई लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गढ़वा : पुलिस ने पूरे गिरोह का किया उद्भेदन, लंबे समय से थी तलाश

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 11:10 AM
newscode-image

बड़े चालाकी से देते थे घटना को अंजाम

गढ़वा। इधर कुछ दिनों से लगातार हो रही मोटरसाइकिल चोरी की घटना से जहां एक तरफ वाहन चालक हलकान थे, वहीं दूसरी ओर पुलिस भी खासा परेशान थी। जिससे निजात पाने के लिए आखिरकार पुलिस ने चोर गिरोह का उद्भेदन कर दिया।

चोर गिरोह के चार सदस्‍य को गिरफ्तार किया है। दूसरी ओर पलामू से बाकि के चार चोरों को गिरफ्तार किया। जानकारी देते हुए डीएसपी ने बताया कि ये चोर गाड़ी के लॉक को आसानी से खोल कर वारदात को अंजाम दिया करते थे।

गोमिया : दोषी लोगों पर होगा कानूनी कार्रवाई- अध्यक्ष

फिर उस गाड़ी के पार्ट्स को गैराज में देकर अलग अलग कर दिया जाता था। पुलिस बहुत दिनों से इनके तलाश में थी। गुप्त सूचना के आलोक में पहले गिरोह के एक सदस्य की गिरफ्तारी हुई। फिर उसके निशानदेही पर पूरे गिरोह का उद्भेदन किया। चोरी किया हुआ मोटरसाइकिल भी बरामद किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

पाकिस्तान के नए कप्तान बने इमरान खान, देश के 22वें...

more-story-image

पलामू : व्यवसायी के घर में लगी आग से लाखों...