चाईबासा : जमीन विवाद में पिता-पुत्र ने रॉड से पीट- पीट कर पड़ोसी को मार डाला

NewsCode Jharkhand | 10 August, 2018 10:03 PM
newscode-image

चाईबासा। पश्चिम सिंहभूम के करायकेला थाना क्षेत्र में जमीन विवाद में एक ग्रामीण ने अपने पड़ोसी की लोहे की रॉड से पीट-पीट कर हत्या कर दी।

मामला बोस्तम्पदा गाँव का है। मृतक सुरेन्द्र महतो के बेटे वाचनदेव महतो ने बताया कि गुरुवार रात पड़ोस में रहनेवाले धीरेन्द्र महतो और सहदेव महतो ने किसी काम का बहाना बनाकर उनके पिता सुरेन्द्र महतो को घर से बाहर निकाला और लोहे के सरिया से पीट-पीट कर उनके पिता को बुरी तरह जख्मी कर दिया।

चाईबासा : सड़क हादसा, दो ट्रक के भीषण टक्कर में चालक की मौत

इसके बाद दोनों ने उस पर भी जानलेवा हमला किया, लेकिन वह किसी तरह जान बचाने में कामयाब रहा, लेकिन बुरी तरह जख्मी पिता को चाईबासा सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ इलाज के दौरान उसके पिता ने दम तोड़ दिया। पुलिस हत्या का मामला दर्ज कर मामले की तफ्तीश में जुटी हुई है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गढ़वा : पुलिस ने पूरे गिरोह का किया उद्भेदन, लंबे समय से थी तलाश

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 11:10 AM
newscode-image

बड़े चालाकी से देते थे घटना को अंजाम

गढ़वा। इधर कुछ दिनों से लगातार हो रही मोटरसाइकिल चोरी की घटना से जहां एक तरफ वाहन चालक हलकान थे, वहीं दूसरी ओर पुलिस भी खासा परेशान थी। जिससे निजात पाने के लिए आखिरकार पुलिस ने चोर गिरोह का उद्भेदन कर दिया।

चोर गिरोह के चार सदस्‍य को गिरफ्तार किया है। दूसरी ओर पलामू से बाकि के चार चोरों को गिरफ्तार किया। जानकारी देते हुए डीएसपी ने बताया कि ये चोर गाड़ी के लॉक को आसानी से खोल कर वारदात को अंजाम दिया करते थे।

गोमिया : दोषी लोगों पर होगा कानूनी कार्रवाई- अध्यक्ष

फिर उस गाड़ी के पार्ट्स को गैराज में देकर अलग अलग कर दिया जाता था। पुलिस बहुत दिनों से इनके तलाश में थी। गुप्त सूचना के आलोक में पहले गिरोह के एक सदस्य की गिरफ्तारी हुई। फिर उसके निशानदेही पर पूरे गिरोह का उद्भेदन किया। चोरी किया हुआ मोटरसाइकिल भी बरामद किया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

LIVE: पीएम मोदी ने किया केरल का हवाई दौरा, 500 करोड़ की आर्थिक मदद का किया ऐलान

NewsCode | 18 August, 2018 11:44 AM
newscode-image

केरल। केरल में मानसूनी बारिश और बाढ़ के कारण शुक्रवार को एक ही दिन में 106 लोगों की मौत के बीच राज्य में ऑक्सीजन की कमी और ईंधन स्टेशनों में ईंधन नहीं होने के कारण आज संकट और गहरा हो गया। राज्य में अबतक 385 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 3 लाख से ज्यादा लोगों को पलायन करना पड़ा है। इस बीच शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केरल पहुंचे और बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई दौरा किया साथ ही 500 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा भी की।

आज सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोच्चि में अधिकारियों के साथ बैठक कर स्थिति का जायजा लिाय और फिर केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया। पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से बाढ़ से मरने वालों के परिजनों को दो लाख के मुआवजे का ऐलान किया। वहीं, गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपये के मुआवजे की घोषणा की गई।

अलग-अलग जगहों पर फंसे 80,000 से ज्यादा लोगों को शुक्रवार को सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया। इनमें 71,000 से ज्यादा लोग बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित एर्नाकुलम जिले के अलुवा क्षेत्र से थे। तीनों सेनाओं के अलावा राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के जवानों ने छतों और ऊंची जगहों पर फंसे लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाने का काम फिर से शुरू किया।

बताया जा रहा है कि करीब तीन लाख से ज़्यादा लोग राहत शिविरों में शरण लिए हैं। राज्य के 14 में से 12 ज़िलों में रेड अलर्ट है।

पहाड़ी इलाकों में पहाड़ के हिस्से जमीन पर गिरने से सड़क जाम हो रहे हैं, जिससे बाकी जगहों से उनका संपर्क टूट जा रहा है। द्वीप की शक्ल ले चुके कई गांवों में फंसे लोगों को निकालने का अभियान भी जारी है।

पाकिस्तान के नए कप्तान बने इमरान खान, देश के 22वें प्रधानमंत्री के रूप में ली थपथ

मौसम विभाग ने आज भी बारिश के आसार जताए हैं, जिससे हालात और बिगड़ने के आसार हैं। इडुक्की और एर्नाकुलम राज्य के बाक़ी हिस्सों से पूरी तरह कट गए हैं। पानी भरने की वजह से कोच्चि एयरपोर्ट को 26 अगस्त तक बंद कर दिया गया है। हज़ारों किलोमीटर सड़कें बह गई हैं। 80 बांधों को खोल दिया गया है। हालंकि, सेना, एयरफ़ोर्स, नेवी, एनडीआरएफ़ की टीमें युद्धस्तर पर राहत और बचाव का अभियान चला रही हैं।

कोडरमा : यहाँ के लोगों के लिए मुश्किल है ‘अटल’ को भूल पाना

गोमिया : उच्च विद्यालय विभागीय उदासीनता का शिकार, पठन-पाठन ठप

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 11:39 AM
newscode-image

आजसू केंद्रीय सचिव लंबोदर महतो ने किया उच्च विद्यालय का निरीक्षण

गोमिया (बोकारो) । तेनुघाट शिविर संख्या दो स्थित नदी घाटी योजना उच्च विद्यालय देखते ही देखते विभागीय उदासीनता का शिकार हो गया। जिसके कारण पिछले कई वर्षों से उक्त विद्यालय में पठन-पाठन पूरी तरह से बंद हो गया। विद्यालय के बंद हो जाने से आस-पास के क्षेत्रों के सैकड़ों बच्चों को मैट्रिक तक की पढ़ाई के लिए काफी परेशानी उत्पन्न हो गई है।

लोगों ने कहा कि पांच किलोमीटर तक एक भी उच्च विद्यालय नहीं है। जिस कारण खास कर लड़कियों के लिए मैट्रिक तक की पढ़ाई करना मुश्किल हो गया है। कहा कि सरकार का बेटी पढ़ाओ का नारा यहां धूमिल होता प्रतित हो रहा है। लोगों ने आजसू के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो से मुलाकात कर इस समस्या से अवगत कराते हुए पुनः उक्त विद्यालय में पठन-पाठन चालू करवाने का अनुरोध किया।

चतरा : गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का हर महीने करें मूल्यांकन- उपायुक्त

वहीं डॉ. महतो ने लोगों के अनुरोध पर नदी घाटी योजना उच्च विद्यालय का निरीक्षण कर लोगों को आश्वासन देते हुए कहा कि निश्चित तौर पर आगामी सेशन से विद्यालय में पठन-पाठन का कार्य शुरू हो जायेगा।

उन्होंने इस बाबत  तेनुघाट बांध के कार्यपालक अभियंता को फटकार लगाते हुए आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि विभागीय उदासीनता के कारण विद्यालय बंद हुआ है। इसलिए अब विभाग की ही जिम्मेवारी है कि पुनः इस विद्यालय को चालू करें। इस अवसर पर विकास झा, नरेन्द्र सिंह, अनादि दे, प्रकाश झा, कमल लोचन सिंह, लक्ष्मी प्रसाद, कुंदन सिंह, सुजीत कुमार पाण्डेय, पंकज पाठक, पांडु कुमार पांडु सहित कई लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

पाकिस्तान के नए कप्तान बने इमरान खान, देश के 22वें...

more-story-image

पलामू : व्यवसायी के घर में लगी आग से लाखों...