बेरमो :  बंद समर्थकों ने विधायक के नेतृत्‍व में किया सड़क जाम

NewsCode Jharkhand | 5 July, 2018 4:12 PM
newscode-image

बेरमो (बोकारो)। भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ डुमरी के झामुमो विधायक जगरनाथ महतो के नेतृत्व  में बंद समर्थकों ने नावाडीह ब्लॉक मोड़ के समीप सड़क जाम कर विरोध जताया।

सुबह के वक्‍त बंद विधायक के साथ बड़ी संख्‍या में बंद समर्थक आए और सड़क पर बैठ गए। सड़क जाम होने पर वाहनों की आवाजाही रुक गई। झारखंड बंद के मद्देनजर विधायक ने कहा कि लोग खुद-ब-खुद सरकार की इस शोषणकारी भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ सड़क पर उतर आए हैं।

बेरमो : चोरी की घटना से परेशान महिलाओं ने किया थाना का घेराव

लोगों की हुजूम बता रहा है कि लोगों में इस बिल के खिलाफ भारी नाराजगी है। जनता खुद समझदार है, बिल से किसान डरे हुए हैं क्‍योंकि किसानों को जमीन छिनने का डर है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चांडिल : विधायक ने बांटेे हाथियों के आतंक से ग्रस्‍त गांवों में टॉर्च व पटाखेे

NewsCode Jharkhand | 10 October, 2018 2:33 PM
newscode-image

चांडिल । ईचागढ़ प्रखंड क्षेत्र के सितु पंचायत सचिवालय प्रांगण मेंं ईचागढ़ के विधायक साधुचरण महतो ने अपने स्तर से हाथी प्रभावित गाँव के ग्रामीणों के बीच सैकड़ों टॉर्च एवं पटाखे का वितरण किया ।

चांडिल : ईचागढ़ थाना परिसर में हुई शांति समिति की बैठक

विधायक ने खेङवन, जामडीह, सितु,  डुुमरा , पिलीद, सालुकडीह, कुटाम सहित दर्जनों गांव के लोगों को हाथी से सुरक्षा के लिए टार्च व पटाखे का वितरण किया ।

विधायक ने वन कर्मियों को हाथी सुरक्षा समिति का गठन एक सप्ताह के अंदर करने का निर्देश भी दिया । उन्ह़ोंंने कहा कि सोङो पंचायत के हाथी प्रभावित गांवों मेंं भी टॉर्च व पटाखेे दियेे जाएंंगेे ।

मौके पर मुखिया पंचानन पातर, नयन सिंह मुंडा, 20 सूूत्री अध्यक्ष विश्वनाथ उरांव, सुभाष महतो , वनपाल राकेश कुमार, सुनील महतो , ठाकुर दास महतो, हलधर दास सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : राजकीय कार्यक्रम में हंगामा करने पर 216 पारा शिक्षक बर्खास्त

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:20 PM
newscode-image

600 अन्य की बर्खास्तगी को लेकर कार्रवाई, गिरफ्तार कर पारा शिक्षकों को कैंप जेल में रखा गया

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस के दिन पूरे राज्य भर से राजधानी रांची में आए पारा शिक्षकों ने सरकारी कार्यक्रम को बाधा पहुंचाने की कोशिश की। साथ ही विधि व्यवस्था को अपने हाथ में लेकर पत्थरबाजी भी की।

विधि व्यवस्था में लगे  पुलिस प्रशासन के पदाधिकारियों, वरीय पुलिस अधीक्षक, सिटी पुलिस अधीक्षक  एवम् ड्यूटी पर तैनात पदाधिकारियों पर  पारा शिक्षकों  ने  हमला किया जिससे कई पुलिसकर्मी और  पदाधिकारी गंभीर रूप से जख्मी हुए।

पारा शिक्षकों द्वारा सरकारी कार्यक्रम में व्यवधान डालने, विधि व्यवस्था को तोड़ने एवम् सरकारी लोगो पर हमला करने की घटना को बेहद अशोभनीय एवम् गंभीर रूप से लेते हुए  वीडियो रिकॉर्डिंग एवम् कार्यक्रम स्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरा से  लिए फुटेज एवम् अन्य प्रमाणों के आधार पर  16 प्रखंड के कुल 216 पर शिक्षकों को बर्खास्त किया गया।

साथ ही लगभग 600 पारा शिक्षकों को जिला प्रशासन द्वारा बनाई गई खेलगांव एवम् रेड क्रॉस अस्थायी जेल में गिरफ़्तार कर रखा गया है। जिन पर सीसीटीवी कैमरा एवम्  वीडियो रिकॉर्डिंग से मिले प्रमाण के आधार पर बर्खास्त करने की कारवाई चल रही है।

अन्य जिलों के जिलाधिकारियों को भी यहां शामिल पारा शिक्षकों की सूची भेजी जा रही है जिसके आधार पर  चिन्हित कर अनुशासनात्मक कारवाई की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है।  स्थापना दिवस एक राजकीय दिवस है जी सम्पूर्ण राजवसियो के लिए सम्मान एवम् गौरव  का दिन है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रांची : झारखंड स्थापना दिवस- संपूर्ण झारखंड खुले में शौच मुक्त घोषित, करीब 2100 को मिला नियुक्ति पत्र

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:02 PM
newscode-image

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस मना रहा है। राज्य स्थापना दिवस के मौके पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री ने संपूर्ण झारखंड को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की। समारोह में राज्य के तीन जिलों देवघर, हजारीबाग और लोहरदगा को पूर्ण विद्युतीकृत किये जाने की घोषणा की गयी।

इस मौके पर अरबों रुपये की योजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन के साथ ही परिसंपत्तियों का वितरण भी किया गया। समारोह में करीब 2100 लोगों को नियुक्ति पत्र का भी वितरण किया गया।

झारखंड स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य की जनता को कई सौगात दी। रांची में आयोजित मुख्य समारोह में उन्होंने राज्य को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की।  उन्होंने कहा कि स्वच्छता को लेकर लोगों की आदतों में भी अब बदलाव आया है।

मुख्यमंत्री ने हर घर तक बिजली पहुंचाने के अपने वायदों को पूरा करते हुए राज्य के तीन जिलों देवघर, लोहरदगा और हजारीबाग को पूर्ण रूप से विद्युतीकृत होने का भी ऐलान किया। इस दौरान श्री दास ने कहा कि वर्तमान सरकार  पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से काम कर रही  है और अब तक इस पर एक भी भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे है।

इस दौरान राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि देश के विकास में झारखंड का अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि जनता को चुनी हुई सरकार से आकांक्षाएं होती है , जिसे पूरा करने में सरकार लगी है।

समारोह के दौरान अरबों रुपये की परिसंपत्तियों का वितरण किया गया और कई नई परियोजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन भी हुआ। करीब 2100 लोगों के बीच नियुक्ति पत्र का वितरण और झारखंड और देश के विकास में अपनी भूमिका निभाने वाले लोगों को सम्मानित भी किया गया। जिला मुख्यालयों में भी परिसंपत्तियों का वितरण हुआ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

विधानसभावार बूथ स्तर तक प्रोजेक्ट शक्ति में लोगों को जोड़ने...

more-story-image

रांची : आम आदमी पार्टी ने निकाली झारखंड नवनिर्माण संकल्प...

X

अपना जिला चुने