बुंडू : ईमानदारी की मिसाल बने प्रकाश, सड़क पर गिरे रुपए महिला को लौटाया

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 8:24 PM
newscode-image

बुंडू। समाज सेवक प्रकाश महतो ने अपनी ईमानदारी की शानदार मिसाल पेश की है। 20 अप्रैल को प्रकाश को सड़क पर गिरा हुआ एक पर्स मिला। इसमें पहचान पत्र, चार आधार कार्ड और नकद 6500 रूपए थे। प्रकाश ने काफी देर तक पर्स के मालिक की खोज की। लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया। प्रकाश ने पर्स अपने पास रख लिया।

रांची : लोक अदालत में सैकड़ों मामलों का निपटारा

पर्स में रखे हुए आधार कार्ड में जो पता दिया हुआ था, उसके अनुसार पर्स सोनाहातु प्रखंड के बांकु गांव निवासी जोगेश्वरी देवी का था। प्रकाश ने आधार कार्ड में दर्ज पते पर महिला से संपर्क किया। संपर्क होने पर महिला और उसके परिजनों को बुंडू बुलाया गया। उनके बुंडू आने पर प्रकाश ने पैसे सहित सभी सामान महिला को लौटा दिया। प्रकाश की इस ईमानदारी की चर्चा पूरे क्षेत्र में है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

क्रूज पर छुट्टियां मनाने गए 1300 भारतीयों ने की जमकर अय्याशी, कटाई देश की नाक

NewsCode | 5 October, 2018 12:51 AM
newscode-image

नई दिल्ली। जब हम अपने देश में होते हैं तो इसके एक अंश की तरह होते हैं। लेकिन जब हम अपने देश से बाहर जाते हैं तो हम अपने आप में एक पूरे देश होते हैं। हमारी कोशिश रहती है कि दूसरे देशों में जाएँ तो वहां अपनी और अपने देश की अच्छी छाप छोड़ आएं। लेकिन, इसके विपरीत ऑस्ट्रेलिया में क्रूज पर छुट्टियां मनाने गए 1300 भारतीयों ने ऐसा कारनामा किया है जो पूरे देश के लिए शर्मिंदगी का सबब बन गया है।

दरअसल, भारत की एक बड़ी पान मसाला और गुटखा कंपनी के 1300 कर्मचारियों ने एक फैमिली क्रूज पर जमकर उत्पात मचाया और वहां हॉलिडे मनाने आये लोगों की नाक में दम कर दिया। इतना ही नहीं, कर्मचारियों पर अश्लील और आपत्तिजनक हरकतें करने का आरोप लगा है। ऑस्ट्रेलियन मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इन लोगों ने रॉयल कैरिबियन इंटरनैशनल की लग्जरी क्रूज बुक की थी। लगभग 3 हजार की क्षमता वाले इस क्रूज पर एक तिहाई इस कंपनी के कर्मचारी थे। क्रूज पर मौजूद बाकी लोगों ने इन पर गलत हरकत करने का आरोप लगाया।

हर रात बार डांसर लाते थे कर्मचारी

लोगों का कहना है कि पूरे तीन दिन तक स्वीमिंग पूल और बॉर पर इनका कब्जा था। लोगों के अनुसार क्रूज पर मौजूद परिवारों को उनसे बचकर अपने रूम में शरण लेनी पड़ी। वे इस बात से डर गए थे कि बाहर निकलने पर उन्हें क्या नहीं देखना पड़ जाए। भारतीय देर रात तक पार्टी करते रहे। यहीं नहीं, उन्होंने पार्टी में डांस के लिए अर्धनग्न कपड़ों में बार बालाएं भी बुलाई थीं। लोगों के अनुसार भारतीय गुटखा और पान मसाला कंपनी के कर्मचारियों ने इतना खाना खाया कि बाकी लोगों के लिए लंच और डिनर बफे के समय खाना ही नहीं बचा।

कुछ लोगों और खासकर युवा लड़कियों ने शि‍कायत की कि गुटखा और पान मसाला कंपनी के कर्मचारी अपने फोन के कैमरे से उनकी तस्वीर और वीडियोज भी ले रहे थे।उनके अनुसार हर कर्मचारी के हाथ में कैमरा था और वह उनकी तस्वीर उतार रहे थे। वहीं, लोगों के अनुसार क्रूज पर एक आउटडोर सिनेमा स्क्र‍िन भी मौजूद था, जहां हॉलवुड फिल्में दिखाई जाती थी, लेकिन इन कर्मचारियों के सिडनी में सवार होने के बाद वहां भारतीय गुटखा और पान मसाला कंपनी के विज्ञापन फिल्म चल रहे थे।

यह घटना पिछले महीने सितंबर की बताई जा रही है। वहीं शिकायत करने वाले ज्यादातर लोग ऑस्ट्रेलिया के थे। उनके अनुसार इन 1300 कर्मचारियों की वजह से क्रूज के कई डिमांड वाले शो भी कैंसिल करने पड़े क्योंकि पान मसाला कंपनी के कर्मचारियों को बार-बालाओं की डांस देखने में ज्यादा दिलचस्पी थी।

लोगों की शिकायत पर क्रूज ने इस मामले की जांच शुरू की है। ज्यादा शि‍कायत मिलने पर क्रूज ने प्रभावित लोगों के पैसे रिफंड करने पर हामी भरी है। क्रूज कंपनी ने अपने बयान में कहा है कि क्रूज पर आने वाले मेहमान की सुरक्षा उनका परम कर्तव्य होता है ऐसे में अगर लोगों ने शिकायत की है तो वे आश्वस्त करना चाहते हैं कि ऐसी घटना दोबारा नहीं होगी। इस मामले में भारतीय गुटखा और पान मसाला कंपनी की तरफ से अभी कोई बयान नहीं आया है।


हिंद महासागर में फंसे नेवी कमांडर अभिलाष टोमी को 3 दिन बाद सुरक्षित निकाला गया

भारतीय गाना गुनगुनाना पाकिस्तानी महिला को पड़ा महंगा, मिली ये सजा

लगातार 15 घंटे उड़ान के बाद तूफान में फंसा विमान, पायलट ने ऐसे बचाई 370 यात्रियों की जान

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : राजकीय कार्यक्रम में हंगामा करने पर 216 पारा शिक्षक बर्खास्त

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:20 PM
newscode-image

600 अन्य की बर्खास्तगी को लेकर कार्रवाई, गिरफ्तार कर पारा शिक्षकों को कैंप जेल में रखा गया

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस के दिन पूरे राज्य भर से राजधानी रांची में आए पारा शिक्षकों ने सरकारी कार्यक्रम को बाधा पहुंचाने की कोशिश की। साथ ही विधि व्यवस्था को अपने हाथ में लेकर पत्थरबाजी भी की।

विधि व्यवस्था में लगे  पुलिस प्रशासन के पदाधिकारियों, वरीय पुलिस अधीक्षक, सिटी पुलिस अधीक्षक  एवम् ड्यूटी पर तैनात पदाधिकारियों पर  पारा शिक्षकों  ने  हमला किया जिससे कई पुलिसकर्मी और  पदाधिकारी गंभीर रूप से जख्मी हुए।

पारा शिक्षकों द्वारा सरकारी कार्यक्रम में व्यवधान डालने, विधि व्यवस्था को तोड़ने एवम् सरकारी लोगो पर हमला करने की घटना को बेहद अशोभनीय एवम् गंभीर रूप से लेते हुए  वीडियो रिकॉर्डिंग एवम् कार्यक्रम स्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरा से  लिए फुटेज एवम् अन्य प्रमाणों के आधार पर  16 प्रखंड के कुल 216 पर शिक्षकों को बर्खास्त किया गया।

साथ ही लगभग 600 पारा शिक्षकों को जिला प्रशासन द्वारा बनाई गई खेलगांव एवम् रेड क्रॉस अस्थायी जेल में गिरफ़्तार कर रखा गया है। जिन पर सीसीटीवी कैमरा एवम्  वीडियो रिकॉर्डिंग से मिले प्रमाण के आधार पर बर्खास्त करने की कारवाई चल रही है।

अन्य जिलों के जिलाधिकारियों को भी यहां शामिल पारा शिक्षकों की सूची भेजी जा रही है जिसके आधार पर  चिन्हित कर अनुशासनात्मक कारवाई की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है।  स्थापना दिवस एक राजकीय दिवस है जी सम्पूर्ण राजवसियो के लिए सम्मान एवम् गौरव  का दिन है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रांची : झारखंड स्थापना दिवस- संपूर्ण झारखंड खुले में शौच मुक्त घोषित, करीब 2100 को मिला नियुक्ति पत्र

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:02 PM
newscode-image

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस मना रहा है। राज्य स्थापना दिवस के मौके पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री ने संपूर्ण झारखंड को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की। समारोह में राज्य के तीन जिलों देवघर, हजारीबाग और लोहरदगा को पूर्ण विद्युतीकृत किये जाने की घोषणा की गयी।

इस मौके पर अरबों रुपये की योजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन के साथ ही परिसंपत्तियों का वितरण भी किया गया। समारोह में करीब 2100 लोगों को नियुक्ति पत्र का भी वितरण किया गया।

झारखंड स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य की जनता को कई सौगात दी। रांची में आयोजित मुख्य समारोह में उन्होंने राज्य को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की।  उन्होंने कहा कि स्वच्छता को लेकर लोगों की आदतों में भी अब बदलाव आया है।

मुख्यमंत्री ने हर घर तक बिजली पहुंचाने के अपने वायदों को पूरा करते हुए राज्य के तीन जिलों देवघर, लोहरदगा और हजारीबाग को पूर्ण रूप से विद्युतीकृत होने का भी ऐलान किया। इस दौरान श्री दास ने कहा कि वर्तमान सरकार  पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से काम कर रही  है और अब तक इस पर एक भी भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे है।

इस दौरान राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि देश के विकास में झारखंड का अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि जनता को चुनी हुई सरकार से आकांक्षाएं होती है , जिसे पूरा करने में सरकार लगी है।

समारोह के दौरान अरबों रुपये की परिसंपत्तियों का वितरण किया गया और कई नई परियोजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन भी हुआ। करीब 2100 लोगों के बीच नियुक्ति पत्र का वितरण और झारखंड और देश के विकास में अपनी भूमिका निभाने वाले लोगों को सम्मानित भी किया गया। जिला मुख्यालयों में भी परिसंपत्तियों का वितरण हुआ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

विधानसभावार बूथ स्तर तक प्रोजेक्ट शक्ति में लोगों को जोड़ने...

more-story-image

रांची : आम आदमी पार्टी ने निकाली झारखंड नवनिर्माण संकल्प...

X

अपना जिला चुने