ये है दुनिया की सबसे बूढ़ी महिला, यमराज भी भूला इनके घर का रास्ता

NewsCode | 18 May, 2018 4:53 PM
newscode-image

नई दिल्ली। आज हम आपको दुनिया की सबसे बूढ़ी महिला से मिलवाएंगे। महिला की उम्र 128 साल होने का दावा किया गया है। रूस की यह महिला जल्द ही अपना 129वां जन्मदिन मनाने वाली है, इस बात की जानकारी खुद रूसी सरकार ने दी है।

द सन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस महिला का नाम कोकू इस्तामबुलोवा है और वो कहती हैं, मेरी जिंदगी में एक भी दिन ऐसा नहीं रहा जब मैं खुश रही हूं। इसके बावजूद पता नहीं कैसे मैं इतने सालों से जीवत हूं।

उनकी उम्र को लेकर रुस सरकार ने भी माना है कि वह दुनिया कि सबसे उम्रदराज महिला है, सरकार के अनुसार पासपोर्ट में उनके जन्म की तारीख 1 जून 1889 लिखी गई है। उन्होंने बताया कि मुझे द्वितीय विश्व युद्ध याद है वह बहुत ही भयानक दौर था। नाजियों के टैंक हमारे घरों के पास से गुजरते थे।

अपनी उम्र के राज के सवाल पर इस्तामबुलोवा इसे भगवान की मर्जी बताती है। जहां लोग लंबे समय तक जीने के लिए खेलते-कूदते हैं, कुछ अच्छा खाते हैं उधर इस्तामबुलोवा ने इतने समय तक जिंदा रहने के लिए कुछ भी नहीं किया।

जहां लोग लंबे समय तक जीने के लिए खेलते-कूदते हैं, कुछ अच्छा खाते हैं उधर इस्तामबुलोवा ने इतने समय तक जिंदा रहने के लिए कुछ भी नहीं किया। अगर उनेक खाने पीने की बात करें तो वह शाकाहारी हैं और सिर्फ दूध पीती हैं।

इस उम्र में वह खुद खाना बनाती है। उनके सारे बच्चों की मौत हो चुकी है। उन्हें संभालने वाला कोई नहीं है।अपनी जवानी में वह गार्डन की खुदाई किया करती थी। अब तो उनसे वह भी नहीं होती। दरअसल कोको अपनी जिंदगी से पूरी तरह से थक चुकी हूं। उन्हें अब यह लगता है कि भगवान उन्हें सजा दे रहा है।

अजब-गजब: यूट्यूब से पैसे कमाने के लिए पति के साथ मिलकर महिला करती थी ये घिनौना काम

उनके पासपोर्ट में उनके जन्म की तारीख 1 जून 1889 लिखी गई है। इस लिहाज से द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान उनकी उम्र 55 साल और सोवियत संघ के पतन के दौरान 102 साल रही होगी। याद हो सोवियत रूस का पतन 1991 में हो गया था।

अजब-गजब : बोर्ड परीक्षा में 4 विषयों में फेल हुआ बेटा फिर भी परिवार ने मनाया जश्न

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया में कई पदों के लिए नौकरियां, ऐसे करें आवेदन

NewsCode | 18 August, 2018 2:44 PM
newscode-image

नई दिल्ली। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) ने कई पदों पर नियुक्ति के लिए आवेदन मांगे हैं। इस भर्ती के माध्यम से मैनेजर और जूनियर एग्जीक्यूटिव के पदों पर भर्ती की जाएगी। कैंडिडेट्स का सेलेक्शन लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के आधार पर किया जाएगा।

मैनजेर के पदों के लिए अधिकतम 32 साल और जूनियर एग्जिक्युटिव पदों के लिए अधिकतम 27 साल की उम्र सीमा निर्धारित की गई है।

पद का नाम

जूनियर असिस्टेंट, मैनेजर, जूनियर एग्जिक्युटिव

कैसे होगा चयन

ऑनलाइन परीक्षा के आधार पर चयन होगा

सैलरी

मैनेजर- 60000 से 180000 रुपये

जूनियर एक्जुकेटिव- 40000 से 140000 रुपये

अंतिम तारीख

15 सितंबर 2018

आवेदन फीस

जनरल/ ओबीसी उम्मीदवारों के लिए 1000 रुपये और एससी/एसटी उम्मीदवारों के लिए कोई फीस नहीं है

कैसे करें आवेदन

इच्छुक उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट www.aai.aero पर जाकर आवेदन कर सकते हैं

जॉब लोकेशन

ऑल इंडिया


IBPS PO 2018: 4 हजार से ज्यादा पदों पर भर्ती के लिए आवेदन शुरू, ऐसे करें अप्लाई

रेलवे करेगा 1 लाख 30 हजार पदों पर भर्ती, बगैर इंटरव्यू के होगी नियुक्ति

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

बाघमारा : जमीन विवाद को लेकर एसडीएम ने रैयतों संग की बैठक

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 8:12 PM
newscode-image

बाघमारा (धनबाद)। एनएच निर्माण में जमीन विवाद समस्या को लेकर एसडीएम अनन्य मित्तल ने रैयतों के साथ शनिवार को प्रखण्ड सभागार में बैठक की। बैठक में भटमुरना, काको, धावाचीता, कतरास समेत अन्‍य जगहों के रैयत शामिल हुए।

एसडीएम ने रैयतों को भरोसा दिलाया कि किसी के साथ नाइंसाफी नहीं होगी तथा सरकारी जमीन पर बनाए जा चुके घर के मालिक को भी मुआवजा दिया जाएगा।

बाघमारा : छात्रा से छेड़खानी और अपहरण का प्रयास, दोनों आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे

उन्‍होंने कहा कि एनएच निर्माण कार्य में तेजी लाने के लिये सोमवार से सरकारी जमीन पर बनाए गए घरों सहित अन्‍य निर्माणों को तोड़ने का काम शुरू हो जाएगा।

बैठक में रैयतों ने एसडीएम से सवाल किया कि बहुत से लोगों की निजी रैयती जमीन को गैरआबाद खाते का बताया जा रहा है, कई व्‍यक्तियों के जमीन का मुआवजा दूसरे लोगों को दिया गया है। इस सवाल पर एसडीएम ने लोगों से कहा कि न्यायालय जिसके पक्ष में फैसला सुनाएगा उसे मुआवजा मिलेगा। दूसरा कोई भी व्‍यक्ति मुआवजा लेगा तो उसे रुपये लौटाने पड़ेंगे।

बैठक में भूअर्जन पदाधिकारी एजाज अनवर, सीओ दीप्ति प्रियंका कुजूर, एनएच के शेलेन्द्र कुमार सहित सभी रैयत उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

दुमका : बेकाबू ट्रैक्टर ने दो लोगों को रौंदा,एक की मौत, पांच घंटे तक सड़क जाम

NewsCode Jharkhand | 18 August, 2018 8:08 PM
newscode-image

मुआवजा के आश्वासन पर माने लोग

दुमका। जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के रामगढ़-गोड्डा मुख्य मार्ग पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से करीब 5 सौ गज की दूरी पर एक बेकाबू ट्रैक्टर ने दो लोगों को रौंद दिया। जिसमें से गंभीर रूप से घायल थाना क्षेत्र के कुशमाहा गांव निवासी सरजन सोरेन ने इलाज के दौरान अस्पताल में ही दम तोड़ दिया।

दुमका : लूट की योजना बना रहे अंतर्राज्‍यीय गिरोह के सात अपराधी गिरफ्तार

जबकि जरमुंडी थाना क्षेत्र के नोनीहाट निवासी सुखदेव दास गंभीर जख्मी इलाजरत है। घटना के बाद ग्रामीणों की मदद से आनन-फानन में दोनों व्यक्ति को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, रामगढ़ में भर्ती कराया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर रूप से घायल नोनीहाट के सुखदेव दास को सदर अस्पताल, दुमका रेफर कर दिया गया।

श्राद्ध में शामिल होने रामगढ़ आया था सुखदेव

सुखदेव दास अपनी सास के श्राद्ध में शामिल होने रामगढ़ आया था। सरजन सोरेन को डॉक्टर ने जीवित बताकर दुमका रेफर कर रहे थे, लेकिन उसकी सांस चलता नहीं देख परिजन समझ गए कि सरजन की मौत हो चुकी है।

रेफर करनेे को तैयार नहीं थे परिजन

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी संजय कुमार मिश्रा परिजन को बार-बार समझा रहे थे कि युवक कोमा में है, उसे रेफर करना जरूरी है। परिजन किसी की बात सुनने को तैयार नहीं हुए। किसी तरह से सरजन को एंबुलेंस में भी चढ़ाया गया, लेकिन परिजनों ने उसे एंबुलेंस से जबरन उतार लिया।

थोड़ी देर के बाद सरजन को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। इधर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में हंगामा कर रहे परिजन तथा कुशमाहा गांव के ग्रामीणों ने मृतक के शव को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंदर रख मुआवजे की मांग को लेकर रामगढ़-गोड्डा मुख्य मार्ग को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सामने जाम कर दिया।

मौके पर पहुंची रामगढ़ थाना पुलिस  शव को कब्जे में लेना चाह रही थी। लेकिन ग्रामीणों ने पुलिस को शव लेने नहीं दिया। इधर दुर्घटना कर भाग रहे ट्रैक्टर को पुलिस ने जब्त कर लिया है।

ग्रामीणों ने बताया कि सरजन शनिवार को रामगढ़ बाजार से राशन का चावल लेकर वापस अपने घर जा रहा था। जबकि विपरीत दिशा से बाइक पर सवार होकर सुखदेव दास आ रहा था। सुखदेव को बचाने के प्रयास में ट्रैक्टर चालक ने उसे रौंद दिया।

5 पांच घंटे रहा रामगढ़-गोड्डा मुख्य मार्ग जाम

सड़क दुर्घटना में युवक की मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने करीब 5 घंटे तक रामगढ़-गोड्डा मार्ग को अवरुद्ध कर दिया। मौके पर हंसडीहा एवं काठीकुंड सर्किल इंस्पेक्टर सीओ रामा रविदास ने ग्रामीणों को समझाने तथा सरकारी नियमानुसार मुआवजा देने का आश्वासन देकर जाम हटवाया। गौर तलब है कि मृतक के दो छोटे छोटे बच्चे हैं। घटना के बाद से मृतक की पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

बेरमो : सांप्रदायिक सौहार्द के लिए मिशाल होगा नावाडीह-प्रमुख

more-story-image

गुमला : कुएं में डूबने से युवक की मौत, हसुआ...