कोई और तो नहीं चला रहा आपके आधार कार्ड से मोबाइल ? ऐसे चेक करें

NewsCode | 13 March, 2018 5:14 PM

एक महिला जब अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कराने पहुंची तो उसे पता चला कि उसके मोबाइल नंबर से पहले ही नौ आधार नंबर लिंक हो चुके हैं।

newscode-image

आधार की अनिवार्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पिछले कुछ दिनों से जारी है। कोर्ट के अलावा आधार को लेकर सोशल मीडिया पर भी बहस देखने को मिल रही है। साथ ही आधार को मोबाइल से लिंक कराने की प्रक्रिया भी चल रही है। इसी सिलसिले में अब एक और चौंकाने वाली खबर सामने आयी है। दरअसल, प्रिया नामक एक महिला जब अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कराने पहुंची तो उसे पता चला कि उसके मोबाइल नंबर से पहले ही नौ आधार नंबर लिंक हो चुके हैं।

इसके बाद उसने इस बात की शिकायत आधार से संबंधित संस्था यूआईडीआई और एयरटेल से की। महिला ने दोनों से पूछा कि पिछले 18 साल से वह इस मोबाइल नंबर का इस्तेमाल कर रही है। आधार को ट्विटर पर टैग करते हुए उक्त महिला ने पूछा कि उसे यूआईडीआई के पास शिकायत करनी चाहिए या पुलिस के पास।

गौरतलब है कि महिला की इस शिकायत पर चार दिनों तक यूआईडीआई की ओर से कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद उसने समाधान बताने के बजाए, चौंकाने वाला जवाब दिया। उसने कहा कि कम से कम आधार धारक जानता है कि उनके आधार संख्या से कितने मोबाइल जुड़े हुए हैं। ऐसे मामलों में, मोबाइल कंपनी के खिलाफ ट्राई या डीएटी के टीईआरएम सेल को मोबाइल कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी वाले सिम जारी करने के लिए शिकायत की जा सकती है।

इसके बाद आधार ने कहा कि उसने एयरटेल कंपनी से इस संबंध में बात की है। उनकी तरफ से इस संबंध में जानकारी ली जाएगी। इस बीच वह अपना मोबाइल नंबर और जिस एयरटेल सेंटर से वह आधार लिंक कराने पहुंची थी, उसका डिटेल दें, ताकि इस मामले से संबंधित अपराधियों को पकड़ा जा सके।

ज्ञात हो कि आधार डेटा की सुरक्षा को लेकर लगातार सवाल उठते रहे हैं। हाल ही में मीडिया में ये खबरें आई थी कि कोई भी व्यक्ति महज 500 रुपये देकर सिर्फ 10 मिनट में करोड़ों आधार कार्ड की जानकारी हासिल कर सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने भी सुनवाई के दौरान आधार डेटा की सुरक्षा पर सरकार से सवाल किया था।

बहरहाल, आप अपने पिछले सभी आधार उपयोगों की पूरी हिस्ट्री देखने के लिए यहाँ क्लिक करें।

ये भी पढ़ें :

सरकार के आधार सुरक्षा के दावे पर सुप्रीम कोर्ट का सवाल- धोनी की जानकारी कैसे हुई लीक ?

सिर्फ 500 रुपये में मिल गई करोड़ों आधार कार्ड से जुड़ी जानकारी!

IND vs AFG : टॉस का सिक्का उछालते ही कैप्टन धोनी ने पूरी कर ली अपनी डबल सेंचुरी

NewsCode | 25 September, 2018 5:55 PM
newscode-image

नई दिल्ली। दुबई में चल रहे एशिया कप के सुपर-4 मुकाबले के अंतिम मैच में अफगानिस्तान ने मंगलवार को भारत के खिलाफ टॉस जीत कर बल्लेबाजी का फैसला किया। टॉस के वक्त भारतीय प्रशंसकों के लिए महेंद्र सिंह धोनी खुशखबरी लेकर आए। खुशखबरी ऐसी कि शुरू में तो किसी को इस बात का यकीन ही नहीं हुआ, लेकिन यह सच साबित हुआ। दरअसल, धोनी इस मैच में टीम इंडिया की कप्तानी कर रहे हैं और अफगानिस्तान के खिलाफ इस मैच में टॉस के लिए पहुंचे। टॉस का सिक्का उछालते ही धोनी ने वनडे में अपनी कप्तानी की डबल सेंचुरी पूरी कर ली।

एशिया कप के फाइनल में स्थान पक्का कर चुकी टीम इंडिया ने इस मैच में रोहित शर्मा को आराम दिया और धोनी को अपने 200वें वनडे में कप्तानी का मौका दिया गया।

बता दें कि 37 साल के धोनी ने 696 दिनों के बाद टीम इंडिया की कप्तानी संभाली है। 2017 में धोनी ने कप्तानी (सीमित ओवरों के प्रारूप से) छोड़ने का फैसला किया था और इसके बाद ही विराट कोहली को अपना उत्तराधिकारी बनाने का रास्ता बनाया।

इस मैच में भारतीय टीम में पांच बदलाव किए। नियमित कप्तान रोहित शर्मा और उपकप्तान शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और युजवेंद्र चहल को विश्राम दिया गया है। तेज गेंदबाज दीपक चाहर अपने वनडे करियर का आगाज करने का मौका मिला। टीम में लोकेश राहुल, मनीष पांडे, खलील अहमद और सिद्धार्थ कौल को अंतिम 11 में जगह मिली है।

इस मैच से पहले तक भारतीय कप्तानों का वनडे रिकॉर्डः TOP-7

1. एमएस धोनी (2007-2018) 199 मैच, 110 जीते, 74 हारे

2. मो. अजहरुद्दीन (1990-1999) 174 मैच, 90 जीते, 76 हारे

3. सौरव गांगुली (1999-2005) 146 मैच, 76 जीते, 65 हारे

4. राहुल द्रविड़ (2000-2007) 79 मैच, 42 जीते, 33 हारे

5. कपिल देव (1982-1987) 74 मैच, 39 जीते, 33 हारे

6. सचिन तेंदुलकर (1996-2000) 73 मैच, 23 जीते, 43 हारे

7. विराट कोहली (2013-2018) 52 मैच, 39 जीते, 12 हारे


 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

झरिया : छेड़खानी का विरोध करने पर मारपीट, कई घायल

NewsCode Jharkhand | 25 September, 2018 6:26 PM
newscode-image

झरिया (धनबाद)। बहालगढ़ा में छेड़खानी का विरोध करने पर मारपीट हो गई जिससे कई लोग घायल हो गए। प्राप्‍त जानकारी के अनुसार मुहल्ले में कुछ बाइक सवार युवक छेड़खानी किया। विरोध करने पर युवक घर में घुस गए और मारपीट करने लगे।

भुक्‍तभोगी ने स्‍थानीय थाने में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

वहीं दूसरा मामला झरिया के कोयरीबांध का है जहां आपसी रंजिश में मारपीट होने से एक ऑटो ड्राईवर घायल हो गया। घायल ने मारपीट का आरोप एक स्‍थानीय दबंग वयक्ति के भाई पर लगाया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

रांची : रिटायर्ड जज एसके अग्निहोत्री आजसू में हुए शामिल, कहा- पार्टी को करेंगे मजबूत

NewsCode Jharkhand | 25 September, 2018 6:22 PM
newscode-image

रांची। आजसू पार्टी के सुप्रीमो सुदेश महतो के आवास पर मिलन समारोह के मौके पर रिटायर्ड जज के साथ दूसरी अन्य पार्टी के सेकड़ों कार्यकर्ता मुखिया सहित आजसू पार्टी के विचार से प्रभावित होकर पार्टी में शामिल हुए।

इस मौके पर सुदेश महतो ने रिटायर जज के साथ कार्यकर्ताओं को माला पहनाकर पार्टी में स्वागत किया। 2019 लोकसभा और विधानसभा चुनाव को देखते हुए दूसरे पार्टी के कार्यकर्ता  अपनी जमीन तलाशने को लेकर आजसू पार्टी में शामिल होते नजर आ रहे हैं।

रांची : आयुष्मान भारत मानवता की सेवा का पर्याय, किसी को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए-मुख्यमंत्री

आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने कहा  पार्टी में शामिल हुए रिटायर्ड जज संतोष कुमार अग्निहोत्री का स्वागत करता हूँ।  आजसू पार्टी में शुभ संकेत है। पार्टी में इन्हें बड़ी जिम्मेवारी दी जाएगी। जिससे पार्टी मजबूत हो और जनता के बीच आजसू पार्टी की विचारधारा को पहुंचाया जाए। तीस सालों से न्याययिक सेवा करने के उपरांत इन्होंने समाजसेवा करने का जो फैसला लिये है। वो स्वागत योग्य है। जिनका समाज को जरूर लाभ मिलेगा।

रिटायर्ड जज संतोष कुमार अग्निहोत्री ने कहा कुछ महीनों से आजसू पार्टी को रीड कर रहा था इनकी विचारधारा को जानने की कोशिश कर रहा था जब मैं पूरी तरह से जान पाया तब मैंने  अंतिम फैसला लिया कि मैं आजसू पार्टी में रहकर समाज की सेवा करूंगा और पार्टी को मजबूत करने का काम करूंगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : तीन तलाक कानून से तीन साल सजा के...

more-story-image

बुंडू : प्रेमी संग रंगरेलियाँ मना रही पत्नी की सिपाही...