क्या है म्यूचुअल फंड और इसके हैं कितने प्रकार, जानें कब और कैसे करें निवेश

NewsCode | 16 January, 2018 12:57 PM

अलग अलग श्रेणी के निवेशक अपने जोखिम लेने की क्षमता, निवेश के लक्ष्यों, निवेश की अवधि और निवेश की राशि के अनुसार उनका चयन करते है ।

newscode-image

नई दिल्ली। म्यूचुअल फंड क्या है और यह कितने प्रकार के होते है, इसे लेकर लोगों के मन में कई तरह के प्रश्न उठते हैं। म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले यह जरूरी है कि आप यह जान लें कि यह कितने प्रकार के होते हैं और किस म्यूच्यूअल फण्ड के इन्वेस्टमेंट में कितना रिस्क है।

विभिन्‍न प्रकार की म्यूचुअल फंड कंपनियों द्वारा समय-समय पर विभिन्‍न प्रकार की म्यूचुअल फंड योजनाओं को लांच किया जाता है और एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) तथा भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) द्वारा इन विभिन्‍न प्रकार की म्यूचुअल फंड स्कीमों को रेग्यूलेट व मॉनिटर किया जाता है, ताकि निवेशक को इन स्कीमों में इन्वेस्ट करने पर किसी गलत नियम और शर्तों की वजह से कभी भी किसी भी तरह का वित्तीय घाटा न हो।

अलग अलग श्रेणी के निवेशक अपने जोखिम लेने की क्षमता, निवेश के लक्ष्यों, निवेश की अवधि और निवेश की राशि के अनुसार उनका चयन करते है । आईये जानते है की म्यूच्यूअल फंड्स के कितने प्रकार होते है और इसके क्या फायदे होते है और लोग आजकल कैसे इनका लाभ ले रहें है ।

अलग लोगों की अलग जरूरतों को पूरा करने के लिए विभिन्न प्रकार के म्यूचुअल फंड मौजूद हैं। मोटे तौर पर देखें तो म्यूचुअल फंड मुख्यत: दो प्रकार के होते हैं।

1. ओपन–एंडेड फंड (Open-Ended Funds):

 इन म्यूचुअल फंड योजनाओं में इन्वेस्टर अपनी जरूरत व सुविधानुसार समय-समय पर फंड्स को बेच और खरीद सकता है। यानी इन्वेस्टर के पास जब कुछ अतिरिक्त बचत हो, तो वह अपनी बचत को जब चाहे तब अपनी सुविधानुसार इस प्रकार की म्यूचुअल फंड योजनाओं में इन्वेस्ट करने के लिए लगा सकता है।

मतलब यह है कि इस स्कीम के तहत निवेशक किसी भी समय निवेश कर सकता है, और आवश्कता पड़ने पर कभी भी अपने निवेश को भुना सकता है | अर्थात इस स्कीम में लिक्विडिटी यानि तरलता की कोई कमी नही होती है | लेकिन, कुछ ओपन एंडेड फंड्स में लॉक इन पीरियड रहता है जैसे कि ELSS स्कीम। लॉक इन पीरियड के दौरान आप अपने यूनिट्स को रिडीम नहीं कर सकते.

म्यूचुअल फंडों की ओपन एंडेड फंड्स की श्रेणी निम्न प्रकार है-

लिक्विड फंड (Liquid Fund)- लिक्विड फंड उन निवेशको के लिए निवेश का अच्छा विकल्प हो सकता है, जो कम समय के लिए निवेश करना चाहते है | इस योजना के तहत उन्हें कम समय में बैंक खाते के मुकाबले अधिक ब्याज मिल सकता है और आवश्यकता पड़ने पर अपनी पूंजी को नकदी में बदल सकें |

लिक्विड फंड के पोर्टफोलियो का अधिकतर हिस्सा डेब्ट इंस्ट्रूमेंट की शार्ट मैच्यूरिटी में निवेश किया जाता है | इस फंड को शार्ट टर्म फंड यानि अल्प अवधि फंड भी कह सकते हैं |

ऋण फंड (Debt Fund)- डेब्ट फंड में अधिकतर निवेश डिवेंचर, गवर्नमेंट सिक्योरिटीज, कॉमर्शियल पेपर, कॉल मनी इत्यादि में किया जाता है | इस फंड में इक्विटी फंड के मुकाबले कम रिटर्न मिल सकता है लेकिन इस फंड में रिस्क कम होने के साथ-साथ एक निश्चित रिटर्न देने में भी सफल हो सकते है |

यदि निवेश से कमाई रु.10,000 से अधिक है तो निवेशक कर का भुगतान करने के लिए उत्तरदायी है।

इक्विटी फंड (Equity Fund)- इक्विटी फंड को ग्रोथ फंड भी कहते है | इस फंड में रिटर्न दुसरे अन्य फंड के तुलना में अधिक मिलता है | अधिक रिटर्न के साथ-साथ इस फंड में रिस्क यानि जोखिम भी ज्यादा होता है | यह फंड इक्विटी यानि शेयर बाज़ार से जुड़े होने के कारण इसकी पूंजी का एक बड़ा हिस्सा इक्विटी में निवेशित होता है |

इस फंड का बड़ा हिस्सा शेयर बाजार से जुड़ा होता है, इसलिए स्टॉक मार्किट में जब बढ़त देखने को मिलती है तो इस फंड का औसत रिटर्न भी काफी अच्छा होता है |इक्विटी फंड से मिलने वाला रिटर्न अस्थिर होता है, क्योंकि इस फंड पर ‘शेयर बाज़ार’ की हलचल का सीधा असर होता है |

इक्विटी फंड के श्रेणी में इंडेक्स फंड (INDEX FUND), ईएलएसएस फंड (ELSS FUND), डाइवर्सिफाइड फंड (DIVERSIFIED FUND), मिड कैप स्माल कैप फंड (MID CAP SMALL CAP FUND) इत्यादि आते है |

बैलेंस्ड फंड (Balanced Fund) – बैलेंस्ड फंड यानि संतुलित फंड निवेशकों को नियमित अंतराल पर विकास और आय का आनंद लेने के लिए अनुमति प्रदान करता है। यह योजना संतुलित फंड में इक्विटी के साथ डेब्ट अथवा बांड और सरकारी प्रतिभूतियों में भी निवेश किया जाता है |

इस फंड में इस बात का खास ध्यान दिया जाता है कि दोनों (इक्विटी और डेब्ट) में निवेश संतुलित हो | इक्विटी और डेब्ट का अनुपात कितना है इसके बारे में फंड के ऑफर लेटर से जाना जा सकता है | संतुलित फंड होने के कारण इसमें निवेशक की बाजार से जुडा रिस्क काफी कम हो जाता है |

2. क्लोज एंडेड फंड (CLOSE ENDED FUNDS) :     क्लोज एंडेड फंड में निवेश की एक निश्चित समय-सीम होती है | इस फंड में निवेशक तभी निवेश कर सकता है, जब इसका न्यू फण्ड ऑफर (NFO) मार्किट में उपलब्ध हो | यानि जब NFO जारी किया जाता है तभी इसमें निवेश किया जाता है |

ऑफर की समाप्ति के बाद इसमें निवेश नही किया जा सकता है | लेकिन ‘सेबी’ के गाइड लाइन के अनुसार इस फंड में निवेशकों के लिए एग्जिट का रास्ता भी है | यानि पैसे की आवश्यकता होने पर निवेशक इस स्कीम से अपना पैसा निकाल सकते है | यह फंड लंबे समय निवेश के लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है |

एफआरडीआई विधेयक : आपकी जमा राशि कभी सुरक्षित नहीं रही

क्लोज्ड एंडेड योजनाओं में मुख्य रूप से दो तरह के  फंड होते हैं-

कैपिटल प्रोटेक्शन फंड (Capital Protection )- यदि आप रिस्क फ्री निवेश करना चाहते हैं और अच्छा फायदा लेना चाहते हैं तो कैपिटल प्रोटेक्शन फंड आप के लिए अच्छा विकल्प है। पूंजी संरक्षण फंड निश्चित आय सुरक्षा के अंदर निवेश की जाती है और यही छोटे इक्विटी में भी निवेश की जाती है और छोटी बड़ी सभी निवेश होती है।

इसकी समय-सीमा होने के कारण इस में रिस्क बिलकुल भी नहीं होता है। इस स्कीम के तहत पूंजी का ज्यादातर हिस्सा फिक्स्ड इनकम और सिक्योरिटीज में निवेश के साथ-साथ एक छोटा सा हिस्सा इक्विटी में भी निवेश किया जाता है | इस स्कीम में पूंजी को सुरक्षित रखकर लाभ कमाया जाता है |

फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लान (Fixed Maturity Plan)- फिक्स्ड मैच्योरिटी प्लान में मैच्योरिटी की समय-सीमा तय रहती है | इस स्कीम के तहत ऐसे डेब्ट साधनों में निवेश किया जाता है जो फंड की तय सीमा के साथ मैच्योर होते हों | इस प्रकार के फंड्स में भी चार्जेज कम रहते हैं क्योंकि फण्ड मेनेजर को पहले से निर्धारित इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश करना होता है और फण्ड प्रबंधन के लिए अधिक कुछ करने की संभावना ही नहीं बचती।

कैसा रहेगा आज आपका दिन ? जानें आज दिनांक 14-10-2018 का अपना राशिफल

NewsCode | 14 October, 2018 9:01 AM
newscode-image

सुप्रभात मित्रों! परिवार में प्यार से लेकर तक़रार, व्यापार में मुनाफा से लेकर उधार, सेहत में बुखार से लेकर सुधार, करियर, रोजगार, कार इत्यादि के लिए कैसा रहेगा आज आपका दिन। पढ़ें अपना राशिफल :

मेष/Aries (मार्च 21-अप्रैल 20) – चोट-चपेट से बचना चाहिए, सेहत का भी ध्यान रखें, पारिवारिक समस्याओं के ऊपर ध्यान देना होगा, माता के सेहत का ध्यान रखें।

वृष/Taurus (अप्रैल 21–मई 21) – मानसिक रूप से भावुक रहेंगे, लंबी यात्रा के योग हो सकते हैं, कार्य व्यवसाय उत्तम है, परिवार के साथ समय गुजारना पसंद करेंगे।

मिथुन/Gemini (मई 22–21 जून) – दृढ़तापूर्वक कार्य करने का लाभ मिलेगा, पार्टनर के साथ मिलकर व्यापार बढ़ाने का प्रयास करेंगे, युवाओं के विवाह की बात होगी, नये कार्य की योजना भी बना सकते हैं।

कर्क/Cancer (जून 22–जुलाई 23) – क्रोध करने से बचें, कार्य व्यवसाय उत्तम है, साझेदारी में काम प्रारंभ न करें, दाम्पत्य जीवन में दबाव महसूस करेंगे।

सिंह/Leo (जुलाई 24–अगस्त 23) – परिवार की चिंता होगी, प्रोपर्टी से संबंधित खरीद-बिक्री सावधानी से करें, युवा अपने दोस्तों पर विशेष भरोसा करेंगे, विशिष्ट व्यक्तियों का सहयोग मिलेगा।

कन्या/Virgo (अगस्त 24–सितंबर 23) – सामर्थ्य का विकास होगा, अपने मन के अनुकूल घर लेने में सफल हो सकते हैं, पारिवारिक सदस्यों का सहयोग मिलेगा, कार्य व्यवसाय उत्तम है।

तुला/Libra (सितंबर 24–अक्टूबर 23) – धन निवेश की चिंता होगी, आगे नयी नौकरी की तलाश होगी, शारीरिक रूप से थकान महसूस करेंगे, कार्य व्यवसाय की चिंता होगी।

वृश्चिक/Scorpio (अक्टूबर 24–नवंबर 22) – कार्य क्षेत्र में निवेश की योजना होगी, निवेश पर ध्यान भी रखना होगा, कर्मचारियों का सहयोग नहीं मिलेगा, भाई के साथ मनमुटाव हो सकता है।

धनु/Sagittarius (नवंबर 23–दिसंबर 21) – मानसिक रूप से चिंताग्रस्त हो सकते हैं, वाणी पर नियंत्रण जरूरी है, जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा, ईश्वर भक्ति में मन लगेगा।

मकर/Capricorn (दिसंबर 22–जनवरी 20) – गुस्सा करने से बचें, कार्य व्यसाय पर ध्यान देना होगा, अचानक कार्य क्षेत्र में दबाव महसूस करेंगे, अति आत्मविश्वास में न रहें।

कुंभ/Aquarius  (जनवरी 20–फरवरी 19) – कार्य व्यवसाय उत्तम है, अपेक्षा के अनुकूल लाभ की संभावना है, अनुभवी लोगों का सहयोग मिलेगा, प्रेम संबध प्रगाढ़ होंगे।

मीन/Pisces (फरवरी 20–मार्च 20) – धार्मिक कार्य करने वाले के लिए समय अनुकूल है, घर खरीदने का सपना पूरा हो सकता है, कार्य व्यवसाय सामान्य है, दाम्पत्य सुख उत्तम है।


नवरात्रि में व्रत रखने वालों के लिए इन बातों पर ध्यान देना जरूरी

नवरात्र में भूलकर भी न करें ये काम, इन लोगों को नहीं रखना चाहिए उपवास

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

कैसा रहेगा आज आपका दिन ? जानें आज दिनांक 13-10-2018 का अपना राशिफल

NewsCode | 13 October, 2018 7:20 AM
newscode-image

सुप्रभात मित्रों! परिवार में प्यार से लेकर तक़रार, व्यापार में मुनाफा से लेकर उधार, सेहत में बुखार से लेकर सुधार, करियर, रोजगार, कार इत्यादि के लिए कैसा रहेगा आज आपका दिन। पढ़ें अपना राशिफल :

मेष/Aries (मार्च 21-अप्रैल 20) – वाहन सावधानी से चलाना होगा, अपव्यय से बचना चाहिए, कार्य के क्षेत्र में किसी से लड़ाई-झगड़े न करें, लाभ अपेक्षा के अनुकूल होगा।

वृष/Taurus (अप्रैल 21–मई 21) – भावुकता से बाहर निकल कर कार्य विशेष पर ध्यान देना होगा, यात्रा का लाभ मिलेगा, आसपास के लोगों से सतर्क रहें, ईश्वर भक्ति में आनंद मिलेगा।

मिथुन/Gemini (मई 22–21 जून) – दिनभर कार्य में व्यस्त रहेंगे, शाम को दोस्तों के साथ समय गुजारेंगे, युवाओं को नौकरी की तलाश होगी, कार्य व्यवसाय सामान्य है।

कर्क/Cancer (जून 22–जुलाई 23) – किसी के लिए बुरा न बोलें , माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें, कार्य व्यवसाय उत्तम है, जीवनसाथी की भावनाओं को समझें।

सिंह/Leo (जुलाई 24–अगस्त 23) – नये कार्य के ऊपर ध्यान केन्द्रित रहेगा, विशेष लोगों से मिलने का कार्यक्रम हो सकता है, सामर्थ्य में वृद्धि होगी, भाई–बहन का साथ मिलेगा।

कन्या/Virgo (अगस्त 24–सितंबर 23) – व्यस्त कार्यक्रम के बाद धन की चिंता होगी, खर्च की अधिकता से परेशान हो सकते हैं, अधिकारी वर्ग नाराज हो सकते हैं, युवाओं के विवाह में बाधा के संकेत हैं।

तुला/Libra (सितंबर 24–अक्टूबर 23) – व्यर्थ की चिंताओं से मन अशांत होगा, अपने उन्नति की बात सोचेंगे, धार्मिक कार्यों में रूचि लेंगे, पिता का सहयोग मिलेगा।

वृश्चिक/Scorpio (अक्टूबर 24–नवंबर 22) – निवेश के ऊपर ध्यान केन्द्रित होगा, सोच–समझ कर ही निवेश करना चाहिए, लाभ अपेक्षा के अनुकूल होगा, कार्य क्षेत्र में विशेष परिश्रम करने होंगे।

धनु/Sagittarius (नवंबर 23–दिसंबर 21) – चिंता से मुक्ति मिलेगी, मन प्रसन्न रहेगा, कार्य क्षेत्र में मजबूती से कार्य करेंगे, दाम्पत्य सुख उत्तम है।

मकर/Capricorn (दिसंबर 22–जनवरी 20) – अपने कार्य क्षमता पर विशेष भरोसा होगा, कार्य व्यवसाय उत्तम है, लाभ अपेक्षा से कम होगा, पत्नी बीमार हो सकती है।

कुंभ/Aquarius  (जनवरी 20–फरवरी 19) – बड़े व्यापारी नये कार्य का प्रारंभ करेंगे, सरकारी सहयोग नहीं मिलने से परेशानी होगी, अपने अधिकारियों के साथ मंत्रणा करेंगे, प्रेम करने वाले के लिए दिन अनुकूल है।

मीन/Pisces (फरवरी 20–मार्च 20) – कार्य व्यवसाय की चिंता होगी, नौकरी में परिवर्तन की बात सोचेंगे, वाहन सुख उत्तम है, परिवार का सहयोग मिलेगा।


नवरात्रि में व्रत रखने वालों के लिए इन बातों पर ध्यान देना जरूरी

नवरात्र में भूलकर भी न करें ये काम, इन लोगों को नहीं रखना चाहिए उपवास

चक्रधरपुर : नहीं रहे पूर्व रात्रि प्रहरी जीत बहादुर थापा

NewsCode Jharkhand | 12 October, 2018 4:06 PM
newscode-image

श्रद्धांजलि

चक्रधरपुर । गुदरी बाजार में रात्रि प्रहरी के रूप में कार्य कर चुके जीत बहादुर थापा का व्यक्तित्‍‍‍व अपने जीवन काल से ही संघर्षशील रहा। इन्‍‍‍‍‍‍‍‍होंने  जवानी वा बुढ़ापा गुदरी बाजार में  ही गुजार दी।

पूरी तरह से चरमरा गई थी आर्थिक स्थिति

करीब 30 साल की सेवा इन्‍होंने यहां दी। एक दुर्घटना में पीठ की कमर की हड्डी टूट गई। उसके बाद वो बाजार छोड़ चले गये। इस घटना ने इनकी आर्थिक स्थिति पूरी तरीके से चरमरा गई। इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं था। लोगों से पैसे मांग कर अपना गुजर- बसर कर रहे थे।

2 अक्टूबर 2017 को गांधी जयंती के दिन मैं इनके पास पहुंचा, तो पता लगा सरकार से इनको कोई सुविधा नहीं मिल रही । तब हम लोगों ने वादा किया कि जब तक सरकार आपको आपका हक नहीं दे देती, तब तक  संगठन आप को सहायता प्रदान करेगी।

निरंतर प्रयास से  इनको सरकारी मदद दिलायी गई।  जब तक सरकारी मदद नहीं मिली, तब तक आर्थिक सहयोग भी करते रहे।

हम संतुष्ट हैंं कि हमने आखिरी समय में  इनकी आंखों में संतुष्टि का भाव देखा और हम लोगों ने इनसे कहा भी था कि आप जीवित रहेंं, हम आपसे वादा करते हैं कि आपको एक अपना घर सरकार से मुहैया कराने की कोशिश करेंगे।

आज से एक सप्‍ताह पहले इनका देहांत हो गया। आज उनकी सुध लेने के लिए इनके निवास पहुंचा तो वहां के आस -पड़ोस के लोगों ने बताया कि पिछले गुरुवार को उनका देहांत हो गया।अफसोस है कि जीत बहादुर थापा हमारे बीच नहीं रहे।

रामगोपाल जेना

चक्रधरपुर

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

रांची : व्‍यवसायी नरेंद्र सिंह होरा हत्याकांड का हुआ खुलासा

more-story-image

गिरिडीह : स्वच्छ भारत अभियान की उड़ी धज्जियाँ, सरकारी दफ्तर...