पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव: हिंसा में 5 की मौत, पत्नी समेत जिंदा जलाया गया सीपीएम कार्यकर्ता

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में वोटिंग के साथ-साथ राज्य में कई हिस्सों से हिंसा की खबरें आ रही हैं। अब तक की हिंसा में 5 लोगों की मौत हो गई जबकि करीब 20 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। मतदान सुबह 7 बजे चल रहा है जो कि शाम 5 बजे तक चलेगा।

पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में सुबह 11 बजे तक 26.28 फीसदी हुई वोटिंग हुई है।

पश्चम बंगाल के उत्तरी 24 परगना में पिछली रातो को सीपीएम का एक कार्यकर्ता और उसकी पत्नी अपने घर में तब जिंदा जल गई , जह रात को उसके घर में आग लगा दी गई। सीपीएम का आरोप है कि इस हमले के पीछे भी टीएमसी का हाथ है।

कूचबिहार के बूथ संख्या 8/12 पर पश्चिम बंगाल सरकार के मंत्री रबिंद्र नाथ घोष ने बीजेपी के एक कार्यकर्ता को थप्पड़ मार दिया है। यह पूरी घटना कैमरे पर कैद हो गई है। कई इलाकों में बमबारी, मारपीट, मतदान पेटी जलाने और मारपीट जैसी हिंसक घटनाओं हुई हैं।

पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में सोमवार सुबह नौ बजे तक 11 फीसदी मतदान हुआ. लेकिन राज्य के कई हिस्सों में हिंसा की घटनाओं में कई लोग घायल हो गए हैं। दक्षिण 24 परगना जिले के कुलताली क्षेत्र में एक टीएमसी कार्यकर्ता आरिफ गाजी की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

उधर, राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण दिनाजपुर जिले के तपन इलाके में एक मतदान केंद्र के बाहर बम फेंका गया जिसमें एक व्यक्ति की मौत और तीन अन्य के घायल होने की खबर है।

पंचायत चुनाव की कुल 58,692 सीटों में से तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पहले ही 20,163 सीटों पर निर्विरोध जीत चुकी हैं। जब से पंचायती राज शुरू हुआ है अब तक का यह एक रिकॉर्ड है। हालांकि, यह लड़ाई वामपंथी दल और कांग्रेस के लिए जिंदा रहने का संघर्ष है। जबकि, बीजेपी यह उम्मीद करती है कि वे अपने आपको विपक्षी पार्टी के तौर पर स्थापित कर सके।

हमले में घायल लोगों ने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर लगाया है। उन्होंने बताया, ‘हम वहां वोट करने गए थे लेकिन टीएमसी के लोगों ने लाठियों से हम पर हमला कर दिया।’ सभी घायलों को

इसके अलावा एर और वीडियो सामने आई है जिसमें कथित तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) कार्यकर्ता एक पोलिंग बूथ के बाहर लोगों को वोट डालने जाने से रोकते हुए दिख रहे हैं। वहीं, भांगर में टीएमसी पर बूथ कैप्चरिंग के आरोप लगे हैं। इसके अलावा इलाके के दिनाहाटा में देसी बम फटने से टीएमसी कार्यकर्ता को अपना हाथ गंवाना पड़ा है।

20 जिलों में चुनाव

राज्य में 621 जिला परिषदों , 6,157 पंचायत समितियों और 31827 ग्राम पंचायतों में चुनाव हो रहे हैं। चुनाव के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं और असम, ओडिशा, सिक्किम और आंध्र प्रदेश से लगभग 1,500 सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है।

आंधी-तूफान ने उत्तर भारत में मचाई तबाही, देशभर में 62 लोगों ने गंवाई जान, यहाँ अलर्ट जारी

इस बार पंचायत चुनाव में राज्य निर्वाचन आयोग, राज्य सरकार, सत्तारूढ़ टीएमसी और विपक्षी भाजपा, कांग्रेस तथा वाममोर्चा के बीच एक अभूतपूर्व कानूनी लड़ाई देखने को मिली।

ऐश्वर्या के साथ विवाह के बंधन में बंधे तेजप्रताप, देखें लालू के लाल की शाही शादी की तस्वीरें