उपराष्ट्रपति चुनाव कल, जानिए क्या है प्रक्रिया और किसका दावा है मजबूत

Tauseef Ahmad | 4 August, 2017 5:00 PM
newscode-image

नई दिल्ली। देश के 15वें उपराष्‍ट्रपति पद के लिए शनिवार को मतदान होने जा रहा है। एनडीए की तरफ से एम वेंकैया नायडू और विपक्षी यूपीए की तरफ से गोपाल कृष्‍ण गांधी मैदान में है।

उपराष्ट्रपति चुनाव सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक होंगे और कल ही नतीजों की घोषणा भी हो जाएगी। बता दें कि मौजूदा उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त को खत्म हो रहा है।

कैसे होता है उपराष्ट्रपति चुनाव-
उपराष्ट्रपति का चुनाव निर्वाचक मंडल यानी इलेक्टोरल कॉलेज करता है। इस पद पर चुना गया व्यक्ति जनप्रतिनिधियों की पसंद होता है।

संसद के दोनों के सभी सदस्य एकल संक्रमणीय मत द्वारा आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के आधार पर मतदान के माध्यम से करते हैं। यह मत गोपनीय होता है। राष्ट्रपति चुनाव के विपरीत राज्य विधानमंडल के सदस्य इसमें भाग नहीं लेते हैं।

राष्ट्रपति पद के लिए अभ्यर्थी का नाम 20 मतदाताओं के द्वारा प्रस्तावित और 20 मतदाताओं के द्वारा समर्थित होना आवश्यक है। साथ ही अभ्यर्थों द्वारा 15,000 रुपए की जमानत राशि जमा करना आवश्यक होता है। प्रत्याशी निर्वाचन अधिकारी को लिखित में नोटिस देकर नाम वापस भी ले सकता है।

कैसे होती है वोटों की गिनती-
राष्ट्रपति चुनाव की तरह ही उपराष्ट्रपति चुनाव में सबसे ज्यादा वोट हासिल करने से ही जीत तय नहीं होती। उपराष्ट्रपति वही बनता है, जो वोटरों के वोटों के कुल वेटेज का आधे से अधिक हिस्सा हासिल करे।

वोटों का गणित
A. राज्‍यसभा
निर्वाचित: 233
नामांकित: 12

B. लोकसभा
निर्वाचित: 543
नामांकित: 2

दोनों सदनों के कुल सदस्‍य: 790

बीजेपी का आंकड़ा-
आंकड़ों को देखें तो एनडीए उम्‍मीदवार वेंकैया नायडू की जीत तय है। इसका कारण यह है कि 545 सदस्‍यीय लोकसभा में बीजेपी के 281 सदस्‍य हैं और पूरे राजग खेमे के पास यहां 338 मत हैं। राज्‍यसभा का आंकड़ा भी अब बीजेपी के पक्ष में हो गया है। वहां बीजेपी के पास अब 58 सदस्‍य हो गए हैं। कांग्रेस के ऊपरी सदन में 57 मत हैं। इस सदन में भी अब एनडीए के पक्ष में आंकड़ा है।

बोकारो : सरकार की नीतियों को जन जन तक पहुंचाएं कार्यकर्ता  – शिवशक्ति

NewsCode Jharkhand | 22 September, 2018 9:51 PM
newscode-image

बेरमो (बोकारो) । कमल संदेश के कार्यकारी संपादक व भारतीय जनता पार्टी की पत्रिकाएं एवं प्रकाशन विभाग के राष्ट्रीय संयोजकडॉ. शिवशक्ति  बक्शी रांची से गिरिडीह जाने के क्रम में गोमिया में रुके। इस दौरान अपनी उपस्तिथि दर्ज कराते हुये उन्होंने अपना पासा फेंक दिया।

गोमिया के सुभाष मार्केट में बक्शी को भाजपा कार्यकर्ताओं ने बुके देकर स्वागत किया। इस दौरान शिवशक्ति बक्शी ने कहा कि इस बार भी केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनेगी और गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र में इस चुनाव में भी भाजपा प्रत्याशी की भारी मतों से जीत हासिल होगी।

मैं भी पूरे क्षेत्र में घूम घूम कर भाजपा कार्यकर्ताओं से मिल रहा हूं और पार्टी के प्रति उनके क्रियाकलापों की जानकारी हासिल कर रहा हूं। कार्यकर्ता भाजपा व सरकार की नीतियों को जन जन तक पहुँचाते हुए उसका लाभ भी दिलाने का कार्य करें।

चुनाव लड़ने की बात पर उन्होंने कहा कि मैं पार्टी की नीतियों से बंधा हूं और पार्टी का जो भी निर्देश होगा वह करूंगा। सिटिंग सीट से प्रत्याशी बदलने के सवाल पर कहा कि केंद्रीय नेतृत्व को सारे प्रत्याशी का बायोडाटा पता है।

पार्टी सब पर विचार कर रही है। समय आने पर पता चल जायेगा। मौके पर गोमिया मंडल भाजपा अध्यक्ष प्रवीण कुमार, बीएचपी के जिला उपाध्यक्ष विनय कुमार, दीपक ठाकुर,  बीस सूत्री सदस्य अमित कुमार, अजय तिवारी, दरबारी मांझी, गजेंद्र सिंह, नसीम अंसारी, राजू अंसारी आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : टाटा स्‍टील ने किया उषा मार्टिन के स्‍टील व्‍यवसाय का अधिग्रहण

NewsCode Jharkhand | 22 September, 2018 10:03 PM
newscode-image

जमशेदपुर। टाटा स्‍टील की ओर से शनिवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि टाटा स्‍टील और उसकी अनुषंगी इकाईयों द्वारा, उषा मार्टिन लिमिटेड के स्‍टील व्‍यवसाय के अधिग्रहण को लेकर एक सुनिश्चित सहमति पत्र पर हस्‍ताक्षर किए गए हैं। दोनों कंपनियों के बीच ये एग्रीमेंट कोलकाता में 22 सितंबर 2018 को किया गया। इस तथ्‍य को सेबी अधिनियम 2015 की धारा 30 के अंतर्गत सार्वजनिक करने के बारे में उल्‍लेख किया गया है। इस प्रेस विज्ञप्ति को टाटा स्‍टील लिमिटेड के मुंबई ऑफिस की ओर से उनके कंपनी सेक्रेटरी ने जारी किया है।    

घाटशिला : जसपाल ढाबा में छापेमारी के दौरान 30 अंग्रेजी शराब की बोतलेें बरामद

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बाघमारा : शराब दुकान में अधिक मूल्य लेने पर बवाल

NewsCode Jharkhand | 22 September, 2018 9:46 PM
newscode-image

बाघमारा (धनबाद )। झारखण्ड सरकार ने शराब दुकानों की सरकारीकरण तो कर दी है लेकिन शराब दुकानदारों की मनमानी थमने का नाम नहीं ले रहा है। शराब दुकानदार आज भी जबरन अधिक मूल्य ग्राहकों से लेते हैं।

बाघमारा के हरिणा स्थित शराब दुकान में अधिक मूल्य लेने पर बवाल हो गया। हंगामा होते देख दुकान का शटर  लगभग 1 घंटे के लिए बंद कर दिया गया।

बाघमारा : शराब दुकान में अधिक मूल्य लेने पर बवाल

धनबाद : डॉक्टरों ने निकाला कैंडल मार्च, जिला प्रशासन के खिलाफ जताई नाराजगी

जिले में अन्‍य जगहों से शराब के दाम ज्‍यादा लेने के मामले सामने आ रहे हैं। इससे पूर्व भी शराब दुकान में ज्‍यादा दाम लेने पर हंगाम हो चुका है।

इसकी खबर उत्पाद आयुक्त को भी मिल चुकी है। उन्‍होंने कार्रवाई का भरोसा दिया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

मसलिया : फरार चल रहा अभियुक्त को पुलिस ने किया...

more-story-image

सिमडेगा : उपायुक्त ने की आयुष्मान भारत योजना का लाभ...