उत्तराखंड: मुस्लिम युवक की जान बचाने वाले सिख दारोगा पर भड़के बीजेपी विधायक, दी ये चेतावनी

NewsCode | 28 May, 2018 8:20 PM
newscode-image

नई दिल्ली। उत्तराखंड के रामनगर में कुछ दिन पहले एक मुस्लिम युवक को उन्मादी भीड़ से बचाते हुए सिख सब-इंस्पेक्टर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था। युवक की जान बचाने के लिए भीड़ से अकेले भिड़ जाने वाले दारोगा गगनदीप सिंह की काफी सराहना हुई थी और युवक को निशाना बनाने वाले हिंदूवादी संगठन की आलोचना हुई थी। अब भारतीय जनता पार्टी के विधायक हिंदूवादी संगठन के पक्ष में उतर आए हैं। यहां तक कि उन्होंने चेतावनी दे डाली कि इलाके में लव जिहाद फैलाने की कोशिश हो रही है और उससे हिंदू सेना मुकाबला करेगी।

उत्तराखंड के रुद्रपुर से बीजेपी विधायक राजकुमार ठकराल ने कहा, ‘वे (युवक और उसकी मित्र) हिंदू सभ्यता को खराब करने मंदिर में क्यों गए थे।’ ठकराल ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘हम मस्जिदों और मदरसों में नहीं जाते क्योंकि हमें अधिकार नहीं है। वे हिंदू सभ्यता को खराब करने के लिए मंदिर में क्यों गए?’

उन्होंने कहा कि उस इलाके में अराजक तत्व हिंदू धर्म की लड़की के साथ घूम रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया है कि कुछ लोगों ने हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है और आग में घी डालने का काम किया है। उन्होंने हिंदू धर्म को कुचलने, धर्मांतरण और लव जिहाद का आरोप लगाया और चेतावनी दी कि अगर इनके खिलाफ पुलिस और प्रशासन ने कोई कदम नहीं उठाया तो हिंदू सेना ऐसे लोगों की मुकाबला करेगी।

गौरतलब है कि 23 वर्षीय मुस्लिम युवक इरफान अपनी हिंदू गर्लफ्रेंड से मिलने मंदिर गया था। इसी दौरान उसे भीड़ ने घेर लिया। घटनास्थल से कुछ दूर पर मौजूद एसआई गगनदीप सिंह ने फौरन दखल देकर युवक को भीड़ से बचा लिया। मामला शांत होने पर युवक और उसके साथ आई युवती दोनों अपने अपने घर-घर चले गए।

खबरों के मुताबिक रामनगर में घने जंगलों के बीच नदी किनारे स्थित गर्जिया मंदिर के आसपास नवयुवक और युवतियां टहलते रहते हैं। इनकी बढ़ती संख्या को देख हिंदूवादी संगठन भी इस इलाके में खासे सक्रिय हो गए हैं।

VIDEO: भीड़ से भिड़कर सिख पुलिसवाले ने बचाई मुस्लिम लड़के की जान, लोग कर रहे सलाम

VIDEO: उत्तराखंड में बीजेपी विधायक ने दलित महिलाओं को बीच सड़क पर पीटा, दर्ज हुई FIR

रांची : पंकज तिवारी आजसू केंद्रीय समिति के सदस्य मनोनीत

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 1:36 PM
newscode-image

रांची ।आजसू पार्टी केंद्रीय अध्यक्ष  सुदेश कुमार महतो के आदेशानुसार पंकज कुमार तिवारी, जिला-गढ़वा को आजसू पार्टी केंद्रीय समिति का सदस्य मनोनीत किया गया है। पंकज कुमार तिवारी के पार्टी के केंद्रीय समिति सदस्य बनाए जाने पर बनमाली मंडल, नईम अंसारी, अरविंद सिंह, गौतम सिंह, आदिल अजीम, ज्ञान सिन्हा, हरीश कुमार, नितीश सिंह, साहित्य सिंह इत्यादि ने बधाई दी।

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची: भापुसे के 17 अधिकारियों का तबादला,कई जिलों के एसपी बदले

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 2:20 PM
newscode-image

रांची। झारखंड सरकार ने भारतीय पुलिस सेवा (भापुसे) के 17 अधिकारियों का स्थानांतरण और पदस्थापन किया है। इसके साथ ही कई जिलों के पुलिस अधीक्षकों का तबादला हो गया है। इस संबंध में गृह कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा मंगलवार देर शाम अधिसूचना जारी कर दी गयी।

गृह विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार डीआईजी उ.छो. क्षेत्र हजारीबाग पंकज कंबोज को डीआईजी एसीबी का भी अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। जबकि पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा के एसपी क्रांति कुमार गदिदेसी को एसपी विशेष शाखा बनाया गया है। विशेष शाखा के एसपी शैलेंद्र कुमार सिन्हा को जामताड़ा का एसपी बनाया गया है,वहीं रांची के यातायात पुलिस अधीक्षक संजय रंजन सिंह को समादेष्टा जैप-2 के पद पर पदस्थापित किया गया है, वहीं धनबाद के एसएसपी चोथे मनोज रतन को एसपी सीआईडी, सीआईडी के एसपी वाईएस रमेश को एसपी दुमका, विशेष शाखा के एसपी आलोक को खूंटी का एसपी, खूंटी के एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा को गुमला का एसपी, राज्यपाल के परिसहाय चंदन कुमार झा को चाईबासा का एसपी, जामताड़ा की एसपी जया राय को सीआईडी का एसपी, दुमका के एसपी किशोर कौशल को धनबाद का एसएसपी, एसटीएफ के एसपी अंजनी कुमार झा को विशेष शाखा का एसपी, गुमला के एसपी अंशुमन कुमार को राज्यपाल का परिसहाय, रांची के सिटी एसपी अमन कुमार को ग्रामीण एसपी धनबाद, जैप-5 की समादेष्टा सुजाता कुमारी वीणापानी को रांची का सिटी एसपी, धनबाद के ग्रामीण एसपी आशुतोष शेखर को रांची का ग्रामणी एसपी और रांची के ग्रामीण एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग को रांची यातायात का एसपी बनाया गया है।

 

रांची: अन्तराष्ट्रीय व्यापार मेले में भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा बढ़ा रही है कौतुहल

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 2:07 PM
newscode-image

रांची।भगवन बिरसा मुंडा धरती आबा देश के प्रथम स्वतंत्रता सेनानियों में माने जाते हैं। झारखण्ड प्रदेश में भगवान माने जाने वाले इस महान पुरुष को भारतीय जनजातीय स्वतंत्रता सेनानी धार्मिक पुरुष और लोक नायक के रूप में मान्यता प्राप्त है।जिनका जन्म झारखण्ड के खूँटी ज़िले में 15 नवम्बर 1875 को हुआ था। 19 के दशक के शुरूआती सालो में ही अपनी युवा अवस्था 25 वर्ष में उन्होंने ब्रिटिश सरकार के विरुद्ध जो आंदोलन बनाया उसको जनजातीय प्रजातियों में सबसे महत्त्वपूर्ण माना जाता है। उन्होंने अपने समूदाय के लोगो को धार्मिक क्रिया की तरह सोचने को तैयार किया और अपने अधिकारों को मांगने के लिए ब्रिटिश सरकार से लडे। भगवान् बिरसा मुंडा झारखण्ड प्रदेश में किसी भी काम के पहले याद किये जाते हैं। जिस कड़ी में 38वें भारतीय अन्तराष्ट्रीय मेले के झारखण्ड पवेलियन में उनकी विशाल प्रतिमा स्थापित की गई है। मेले में आने वाले लोग इस प्रतिमा को देख उत्सुकता से इनके विषय और कार्य की चर्चा कर रहे है। भगवान बिरसा मुंडा पर देश ही नहीं दुनिया को भी गर्व होता है। उनके जीवन पर कई साहित्य और फिल्मे भी बनाई जा चुकी हैं।

झारखण्ड पवेलियन में उद्योग विभाग के संयुक्त निदेशक श्री अलोक कुमार ने बताया कि मेले में झारखण्ड पवेलियन 22 नवम्बर को प्रगति मैदान स्थित हंसध्वनी थिएटर में झारखण्ड दिवस का आयोजन करेगा जिसमें झारखण्ड के लोक नृत्य कला एवं संस्कृति प्रदर्शित किया जायगा इस अवसर पर झारखण्ड प्रदेश के राजस्व और भूमि सुधार ए कला संस्कृति खेल और युवा मंत्री श्री अमर कुमार बाऊरी उपस्थित रहेंगे साथ ही उद्योग विभाग के अन्य पदाधिकारी भी इस अवसर पर मौजूद रहेंगे

इसके अलावा झारखण्ड पवेलियन से निकले के बाद लोग हॉल नं 7 के सामने लगे फ़ूड स्टाल में झारखण्ड के फ़ूड स्टाल में झारखण्ड के व्यंजन का भी लुफ्त उठा रहे हैं लोगों को लिट्टी चोखा मालपुआ एवं कुल्हड़ चाय काफी पसंद आ रहे हैं स्टाल के संचालक राजेश तिवारी ने बताया कि लोगों की भारी भीड़ झारखण्ड के व्यंजन को पसंद कर रहे है

 

More Story

more-story-image

रांची: पंचायत व नगर निकायों के रिक्त पदों के लिए...

more-story-image

जमशेदपुर : पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा ने लाठी चार्ज और...

X

अपना जिला चुने