रेलवे स्टेशन पर वेटिंग रूम में इंतजार करना पड़ेगा महंगा, घंटे के हिसाब से लगेगा चार्ज

NewsCode | 2 July, 2018 2:06 PM
newscode-image

नई दिल्ली। रेलवे स्टेशनों के वेटिंग रूम में बैठकर ट्रेनों का इंतजार करना भी यात्रियों को महंगा पड़ेगा। जी हाँ, अब प्रतीक्षालय का इस्तेमाल करने लिए भी पैसे खर्च करने पड़ेंगे। वेटिंग रूम में आपको तभी प्रवेश मिलेगा, जब आप प्रति घंटे 10 रुपये का शुल्क चुकाएंगे। बतौर पायलट प्रोजेक्ट रेलवे बोर्ड ने नई दिल्ली और निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन को प्रीमियम लाउंज बनाने के लिए चुना है।

रेलवे की यह योजना यदि सफल रही तो देशभर के स्टेशनों के वेटिंग रूम में यात्रियों को शुल्क चुकाना पड़ेगा। रेलवे अधिकारी दावा कर रहे हैं कि इन वेटिंग रूम की सर्विस प्राइवेट रेस्त्रां जैसी होगी। यहा यात्रियों के आराम करने के लिए सबसे पहले पूरा फर्नीचर बदलने की तैयारी की जाएगी। मॉडर्न लुक वाले फर्नीचर लगाने की योजना है। महिलाओं के लिए अलग से पार्टिशन किया जाएगा और बेबी केयर रूम बनाया जाएगा। इसमें कैफेटेरिया भी बनाया जाएगा। हर 30 मिनट में वेटिंग रूम और टॉइलट की सफाई की जाएगी। रूम फ्रेशनर का इस्तेमाल किया जाएगा।

दरअसल रेलवे स्टेशन के प्रतीक्षालय का पीपीपी मॉडल के तहत कायाकल्प करने की योजना है। इसके लिए रेलवे में जल्द टेंडर अलॉट करने की प्रक्रिया चल रही है। उम्मीद है कि अगले एक-दो महीने के भीतर रेनोवेशन का काम शुरू हो जाएगा। यह दोनों देश के पहले ऐसे स्टेशन होंगे जहाँ प्रतीक्षालय प्राइवेट कंपनी संभालेगी। यह एक पायलट प्रॉजेक्ट भी है।

प्रॉजेक्ट के कामयाब होने के बाद देश के अन्य रेलवे स्टेशनों पर भी इसी तरह की व्यवस्था को लागू किया जाएगा। एक अधिकारिक सूत्र ने पुष्टि की है कि वेटिंग रूम में रुकने के लिए यात्रियों से चार्ज लिया जाएगा। फिलहाल चार्ज तय नहीं किया गया, लेकिन चार्ज बहुत कम रखा जाएगा। प्रतीक्षालय का कायाकल्प पहले दिल्ली से बदला जाएगा फिर बाद में अन्य रेलवे स्टेशनों पर वेटिंग रूम का स्वरूप बदला जाएगा।

रेलवे में निकली एक और भर्ती, 10वीं पास भी कर सकते हैं आवेदन

रेलवे का बड़ा फैसला, मिलेंगे पहले से चार गुना ज्यादा साफ कंबल

आम आदमी पार्टी का एक दिवसीय उपवास सह धरना प्रदर्शन

Om Prakash | 18 November, 2018 4:42 PM
newscode-image

रांची: 15 नवंबर को झारखंड स्थापना दिवस समारोह के दौरान पारा शिक्षकों पर लाठीचार्ज, मुकदमा और बर्खास्तगी के विरोध में तथा मीडियाकर्मियों पर लाठी चार्ज की घटना की न्यायिक जांच कराने, दोषी पुलिस कर्मियों और अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई और झारखंड में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने की मांगों को लेकर आम आदमी पार्टी ने मोराबादी स्थित गाँधी प्रतिमा के समक्ष  एकदिवसीय उपवास रखा और धरणा दिया।

मौके पर पार्टी के प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरा ने कहा कि  अमर शहीद बिरसा मुंडा की पुण्यतिथि और झारखंड राज्य के स्थापना दिवस के दिन राज्य के पारा शिक्षकों के आंदोलन पर पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्वक दमन, लाठीचार्ज, अश्रुगैस फायरिंग किया जाना राज्य की रघुवर सरकार का तानाशाही होने का परिचायक है। ये सरकार जन आंदोलनों-शिक्षक-कर्मचारियों के आंदोलनों और कई तरह के न्यायपूर्ण मांगो को लेकर आंदोलनरत संगठनों को लाठी गोली से दबाना चाहती है। उन्होंने कहा कि एक कमजोर, डरपोक, अलोकप्रिय , जनविरोधी सरकार ही ऐसा कर सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार संवेदनहीन हो गयी है इसलिए संवाद के बजाय संगीनों के साये में शासन चला रही है। यह घोर अलोकतांत्रिक कदम है। यह कॉर्पोरेटों कि सरकार है। पारा शिक्षकों पर मुकदमा दर्ज करना और उनको बर्खास्त करना काफि दुर्भाग्यपूर्ण है तथा रघुवर सरकार के निम्ममेपन और तानाशाही का जीता जागता उदाहारण है। यह सरकार कहती है कि उनके पास शिक्षकों को द़ेने के लिए पैसे नहीं है किन्तु झुठी और भ्रष्ट सरकार बाहर के कलाकारों से नाच गाना करवाने के लिए कई करोड़ देती है और यह झारखंड कि माटी और यहाँ के कलाकारों का अपमान है।

पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष लक्ष्मी नारायण मुंडा ने कहा कि पारा शिक्षकों और घटना क़ो कवर कर रहे मीडिया के साथियों पर लाठीचार्ज करवाना नाकाम रघुवर सरकार कि कायरतापूर्ण व घिन्नौनी  हरकत है। पारा शिक्षकों की न्यायोचित माँगों को पुरा करने की जगह उन पर लाठीचार्ज करवाना रघुवर सरकार कि असंवेनशीलता का परिचायक है। प्रदेश उपाध्यक्ष  पवन पांडे ने कहा कि रघुवर सरकार ने हक व विरोध कि आवाज को दबाने के लिए डंडे व पुलिस को अपना हथियार बना लिया है। अपना हक व अधिकार माँग रहे पारा शिक्षकों पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किया जाना काफि दुर्भाग्यपूर्ण व शर्मनाक है।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रदेश सचिव राजन कुमार सिंह, हरदयाल यादव, अविनाश नारायण, आलोक शरण,  यास्मिन लाल,  संचारी सेन,जाबिर हुसैन, पियूष झा, मनोज चौरसिया, राहूल कुमार, पुनम कुमारी, रवि टोप्पो, कृष्ण किशोर,  संतोष विश्वकर्मा,अश्विनी कुमार, अनिर्बान सरकार, नवीन प्रभाकर, अमन साहू, विकास पाठक, अंजन वर्मा, सोमा लिंडा, राशिद जामिल व अन्य उपस्थित रहे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची: ईद मिलादुन्नबी पर समाजसेवियों ने लगाया शिविर

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 7:47 PM
newscode-image

रांची। झारखंड मुस्लिम युवा मंच एवम सर्वधर्म समभाव युवा मंच के संयुक्त तत्वाधान में ईद मिलादुन्नबी के अवसर पर राजेंद्र चौक पर शिविर लगाया गया । इस दौरान अकीदतमंदों को माला व पगड़ी पहनाकर स्वागत किया गया। साथ ही वहां से गुजर रहे जुलूस के दौरान लोगों को पानी पिलाया गया।

झारखंड मुस्लिम युवा मंच के केंद्रीय अध्यक्ष मोहम्मद शाहिद ने कहा इस शिविर के आयोजन का  मुख्य उद्देश्य जुलूस ए मोहम्मदी में शामिल तमाम अकीदतमंदों का इस्तकबाल करना था। उन्होंने कहा कि मंच पिछले कई वर्षों से इस तरह के शिविर का आयोजन करता आ रहा है और भविष्य में हमेशा करता रहेगा। अध्यक्ष मोहम्मद शाहिद ने कहा कि हजरत मुहम्मद सल्ला अलैही वसल्लम सबसे आखरी पैगंबर हैं अल्लाह ने आपको सारी मानव जाति के लिए रहमत बनाकर भेजा है । आज दुनिया में जो भी तरक्की और तहजीब नज़र आ रहा है वह उसी इंकलाब का नतीजा है जो आपने बताया। अल्लाह ने आपको तमाम मानव जाति के लिए आदर्श बनाया आप की सबसे महत्वपूर्ण विशेषता यह है कि आपका जीवन और आपके जीवन का एक-एक पल इतिहास के पन्नों में सुरक्षित है जो सारे इंसानियत के लिए है। आप का सबसे बड़ा विशेषता यह है कि आपने इंसानों को हर तरह की गुलामी से आजादी दिलाई। मौके पर उपस्थित सर्वधर्म समभाव युवा मंच के कार्यकारी अध्यक्ष आदर्श कुमार ने कहा कि इस दौरान मंच के तरफ से जुलूस ए मोहम्मदी में शामिल लोगों में शांति प्रेम व सद्भावना बनाए रखने की एक पहल की गई जिसमें  तमाम शहर वासियों ने भरपूर साथ दिया एवं हिंदू मुस्लिम भाइयों ने मिलकर जुलूस का स्वागत किया व समाज में एक अनोखा मिसाल पेश किया इस दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री सुबोध कांत सहाय व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विनय सिन्हा दीपू उपस्थित थे। रांची की एसडीओ गरिमा सिंह ने मंच पर आकर मंच के तमाम पदाधिकारियों को इस आयोजन के लिए बधाई दी एवं मंच के इस कार्य की काफी सराहना अदालत सरिया  नाजीमें आला मंच पर उपस्थित होकर आप सल्लल्लाहू अलैहि वसल्लम की विशेषताएं और खूबियां बयान  किए।

कार्यक्रम में मुख्य तौर पर झारखंड मुस्लिम युवा मंच के  अध्यक्ष मोहम्मद शाहिद ,झारखंड विकास मोर्चा के वरिष्ठ नेता राजीव रंजन मिश्रा ,सर्वधर्म समभाव युवा मंच के कार्यकारी अध्यक्ष आदर्श कुमार, समाजसेवी दीपक ओझा, गुलाम जावेद ,सेंट्रल मोहर्रम कमेटी के अकील उर रहमान , डोरंडा थाना प्रभारी आम जनता हेल्पलाइन के संस्थापक एजाज गद्दी ,नदीम इकबाल, शाहबाज हुसैन इमाम अहमद , मो लतीफ आलम, मो अंजर, मो हसन वारिस, सोनू हिमांशु नवाब चिश्ती तौफीक खान आदि उपस्थित थे।

रांची: गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व पर गुरूद्वारा में सजा दीवान

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची : वडा तेरा दरबार सचा तुधु तखतु…। गुरु गोबिंद सिंह के प्रकाश पर्व पर बुधवार  को शहर में तीन स्थान पर दीवान सजाया गया। मुख्य समारोह  मेट्रो गली बिरला मैदान में हुआ। गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा की ओर से सहज पाठ के समापन पर दिन के दस बजे से विशेष दीवान सजाया गया। हुजूरी रागी जत्था भाई सनदीप सिंह के कीर्तन गायन से दीवान शुरू हुआ।
शबद गायन कर निहाल किया
दीवान में पंथ के उच्च कोटि के रागी भाई मेहताब सिंह जालंधर वाले ने वडा तेरा दरबारू सचा तुधु तखतु से शबद गायन की शुरुआत की। खालसा अकाल पुरख की फौज, प्रकट्यो खालसा परमातम की मौज… के साथ उन्होंने कई शबद गाए। भाई जीवन सिंह लुधियाना वाले, हुजूरी सनदीप सिंह एवं भाई अमरीक सिंह ने वाहो वाहो गोबिंद सिंह, आपे गुर चेला… शबद गायन कर उपस्थित साध संगत को निहाल किया। ज्ञानी प्रो मंजीत सिंह एवं भाई जसविंदर सिंह रूडकी कलां वाले ने संगत को गुरु गोबिंद सिंह के जीवन के बारे में बताया। ढाढ़ी जत्था भाई निशान सिंह खालसा ने ढाढ़ी वार का कीर्तन गायन किया। इस मौके पर गुरुनानक स्कूल के बच्चों ने भी कीर्तन प्रस्तुत किया। हुक्मनामा एवं गुरु के अरदास के बाद दीवान का समापन हुआ। इसके बाद गुरु का अटूट लंगर बरता। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने पांत में बैठ कर गुरु का प्रसाद छका।
मेन रोड एवं रातू रोड में सजा विशेष दीवान
सरवंश दानी गुरु गोबिंद सिंह साहिब के प्रकाश पर्व  के उत्सव  में रातू रोड के श्रीकृष्णनगर कॉलोनी स्थित गुरुद्वारा में दीवान सजाया गया। रातू रोड में श्री गुरुनानक सत्संग सभा की ओर से दीवान सजाया गया। इनकी रही भागीदारीतीन दिनी प्रकाश पर्व के आयोजन में सरदार कुलदीप सिंह, कृपाल सिंह, परमजीत सिंह चाना, गुरमीत सिंह, गुरविंदर सिंह सेठी, महिंदर सिंह, हरजीत, तजिंदर, सुरजीत, हरमिंदर, जयराम दास मिढ्ढा आदि की उल्लेखनीय भागीदारी रही

More Story

more-story-image

रांची: रेलवे अधिकारियों के साथ सीएम ने की बैठक में...

more-story-image

धनबाद: खादान से काले हीरे की बढ़ी चोरी, इलाके में...

X

अपना जिला चुने