धनबाद : तीन माह पूर्व गरीबों ने दिया था आवेदन, तीन इंच भी नहीं खिसकी फाइल !

NewsCode Jharkhand | 25 October, 2017 2:30 PM
newscode-image

टुण्डी (धनबाद)। जब किसी गरीब का भूख से देहान्त होगा तब उनकी नींद टूटेगी। पूर्वी टुण्डी प्रखंड अन्तर्गत मोहलीडीह पंचायत के 80 गरीब पिछले तीन माह से राशन कार्ड का आवेदन प्रखंड कार्यालय लटानी में दे कर इंतजार कर रहे हैं। तीन माह बीतने के बाद भी गरीबों के आवेदन की फाइल तीन इंच भी नहीं खिसकी है और जस के तस कार्यालय में पड़ी है। बड़बाद गाँव के विजय मुर्मू, विभिषण सोरेन, पोखरिया गाँव के हेमलाल टुडू, पियोरसोला गांव की सुनीता मुर्मू, पाण्डुवा गांव की उर्मिला देवी एवं मकराटांड़ गांव की तबसुन बीबी आदि ने राशन कार्ड नहीं होने के कारण जन वितरण दुकान से राशन नहीं मिलता है।

प्रज्ञा केन्द्र संचालक नीलकमल दास ने ये बताया

इस मामले पर जब मंगलवार को प्रखंड कार्यालय जा कर पता किया गया तो प्रज्ञा केन्द्र संचालक नीलकमल दास ने बताया कि किसी भी आवेदन पत्र में जनवितरण दुकानदार का नाम नहीं भरा गया है, जिसके कारण आवेदन कि इंट्री नहीं की गई है। जिसकी सूचना बीडीओ को दे दी गई है।

जेवीएम ने प्रशासन पर लगाया आरोप

इस समस्या को लेकर राशन कार्ड बनाने के लिए झाविमो जिला अध्यक्ष ज्ञान रंजन सिन्हा ने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि पदाधिकारी सोए हुए हैं। के नेतृत्व में पिछले 31 जुलाई को प्रखंड कार्यालय लटानी में पंचायत के विभिन्न गाँव के 80 गरीबों के साथ अपना-अपना आवेदन पत्र भरकर सामुहिक रूप से जमा किया था। झाविमो जिला अध्यक्ष ज्ञान रंजन सिन्हा ने कहा कि स्थिति का जायजा लिया गया तो पता चला कि अभी तक आवेदन पर कोई पहल नहीं हुई है।

जरा बीडीओ साहब की भी सुनिये

इस मामले पर बीडीओ (प्रखंड विकास पदाधिकारी) राजीव कुमार सिंह ने कहा कि आवेदन पत्र में कुछ त्रुटि होने के कारण आगे की कार्यवाई नहीं हो सकी है। आपूर्ति पदाधिकारी को इसे ठीक करने को कहा गया है। आपूर्ति पदाधिकारी भगेन्द्र झा ने बताया कि जब आवेदकों ने राशन कार्ड बनाने के लिए आवेदन दिया था उस समय पंचायत का कोटा पूरा हो चुका था। जिस कारण और कार्ड बनाना संभव नहीं था अब उस पंचायत से कुछ अनावश्यक कार्ड को डिलीट किया जाएगा तब नए कार्ड बनेंगे।

जमशेदपुर : 4 लैंड माइंस गाड़ियों में 3 विगत 2 साल से है खराब, पड़ा है गैरेज में

NewsCode Jharkhand | 17 July, 2018 11:00 AM
newscode-image

जमशेदपुर । नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सलियों से लड़ने के लिये सरकार एन्टी लैंड माइंस गाड़ियां देती है। लेकिन जमशेदपुर जिला का हाल ये है कि 4 लैंड माइंस गाड़ियों में 3 विगत 2 साल से खराब है और गैरेज में पड़ा है।

कोडरमा : पानी की किल्लत से लोग परेशान, पम्प हॉउस के कई मोटरपम्प ख़राब

अधिकारी और गैरेज की माने तो सरकार के पास मरम्मती के लिए खर्च का ब्यौरा भेजा गया है लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। वहीं मजबूरी में पुलिस बिना एन्टी लैंड माइंस गाड़ी के हीं नक्सल इलाकों में घूम रही है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

धनबाद : पत्थर से लदे दो ट्रक को वन विभाग ने किया जब्त

NewsCode Jharkhand | 17 July, 2018 10:58 AM
newscode-image

टुण्डी धनबाद । वन विभाग टुण्डी की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर दो अलग अलग जगहों से सफेद पत्थर से लदे दो ट्रक को जब्त किया।  हालांकि दोनो ही ट्रक के चालक व खलासी भागने मे सफल रहे। टुण्डी क्षेत्र के रेंजर शशिभूषण गुप्ता ने बताया कि उन्हे सूचना मिल रही थी।

 टुण्डी क्षेत्र से सफेद क्वार्टज पत्थर का अवैध रूप से कारोबार चल रहा है और ट्रक के जरिए इन्हे दूसरे राज्य मे भेजा जाता है। एक ट्रक पत्थर की किमत लाखो में होती है।

धनबाद : दलित समाज ने कांग्रेस नेता ददई दुबे का फूंका पुतला

इसी सूचना के आधार पर मुख्य मार्ग पर जांच अभियान चलाया गया। जिसके तहत इन ट्रक को जब्त किया गया । जब्त ट्रक संख्या जेएच 02 जे 2709  एवं जेएच 11 ई 4161 पर वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर परिवहन विभाग से संपर्क कर इसके मालिक का पता लगाया जा रहा है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गिरिडीह : बाबूलाल का भाजपा पर हमला, केस फौजदारियों से नहीं लगता डर

NewsCode Jharkhand | 17 July, 2018 10:39 AM
newscode-image

गिरिडीह। भाजपा न ही लोकतंत्र को मानती है और न ही उसे संविधान की मर्यादा का भान है। सिर्फ जोर जबरजस्ती से बस सत्ता में बने रहना चाहती है। यह कहना है जेवीएम सुप्रीमो सह सूबे के प्रथम मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी का। बाबूलाल मरांडी गिरिडीह में पत्रकारों से भाजपा विधायकों की खरीद बिक्री मुद्दे पर बात कर रहे थे।

हजारीबाग ​​: धड़ल्‍ले से चल रहा कोयले का अवैध कारोबार, 40  से अधिक ट्रक जब्‍त

मौके पर उन्होंने कहा कि सूबे के सबसे ऊंचे ओहदे पर बैठे व्यक्ति के पास शिकायत की है। ऐसे में संबंधित विधायक अगर निर्दोष हैं तो उन्हें जांच की मांग करनी चाहिये थी। लेकिन ये लोग सुर्खियों में बने रहने के लिए थाने की दौड़ लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनता सब कुछ देख समझ रही है।  केस फौजदारियों से उन्हें डर नहीं लगता है। इन्होंने कहा कि अब आर पार की लड़ाई छिड़ गई है। यह लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक वे सभी के असल चाल-चरित्र को बेनकाब नहीं कर देते।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

सरायकेला : बच्चा चोरी अफवाह मामले में 12 दोषियों को...

more-story-image

चाईबासा : बेरोजगारी से पलायन करने वालों के दर्द को...