तलाक के बाद बीवी ने घर नहीं छोड़ा तो बंद कमरे में एक महीने रखा भूखा-प्यासा, इलाज के दौरान हुई मौत

NewsCode | 11 July, 2018 2:29 PM
newscode-image

बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली में तीन तलाक से जुड़ा ऐसा मामला सामने आया है, जिसने हर किसी को झकझोर रख दिया है। यहां तीन तलाक पीड़िता रजिया की भूख-प्यास से तड़पकर मौत हो गई। आरोप है कि रजिया के पति ने उसे कमरे में बंद करके एक महीने तक भूखा-प्‍यासा रखा। मायके वालों ने सूचना पाकर उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

दिल्‍ली निवासी उनके पति ने रजिया को फोन पर तलाक दे दिया था। रजिया के परिजनों के मुताबिक इसके बाद नईम बरेली आया और रजिया को बहाना करके अपने साथ ले गया। उसने रजिया को कमरे में बंद करके एक महीने तक भूखा-प्यासा रखा। कई बार उसे लोहे की रॉड से पीटा भी और फिर अपने मामा के घर छिपा दिया।

बेहद गंभीर हालत में रजिया को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में रजिया का लगभग एक महीने से इलाज चल रहा था। उनका एक 6 साल का बेटा भी है। बता दें कि रजिया की शादी 13 साल पहले बस्‍ती जिले के रहने वाले नहीम से हुई थी। रजिया की बहन सारा का आरोप है कि करीब दो महीने पहले शौहर ने रजिया को फोन पर तीन बार तलाक बोला था।

जिया की मौत के बाद किला थाने में दर्ज दहेज उत्पीड़न के एफआईआर को दहेज हत्या में बदल दिया गया है। रजिया की मौत से दुखी उनकी बहन तारा ने बताया कि ससुराल वालों के अलावा नईम का मामू इकबाल भी रजिया की मौत का जिम्मेदार है, क्योंकि उसी के घर में रजिया को भूखा-प्यासा बंधक बनाकर रखा गया था।

केंद्र सरकार ने काटी कन्नी, कहा- सुप्रीम कोर्ट तय करे समलैंगिकता अपराध है या नहीं

जानकारी के मुताबिक, तीन तलाक पीड़िता रजिया की मौत का मामला मेरा हक फाउंडेशन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग तक पहुंचा दिया है, संगठन की अध्यक्ष फरहत नकवी ने बताया कि रजिया के ससुराल वालों पर ठोस कार्रवाई किए जाने और इस तरह के मामलों पर रोक लगाने के लिए आवाज उठाई है।

दिल्ली: फीस जमा न कराने पर 40 बच्चियों को बेसमेंट में किया बंद, दर्ज हुई FIR

रांची : महिला ने हरिओम टावर से कूद कर दी जान

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 5:34 PM
newscode-image

रांची। रांची के लालपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत व्यवसायिक प्रतिष्ठान हरिओम टावर से रविवार को एक महिला ने चौथी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मृतका के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की छानबीन की जा रही है।

प्राप्त जानकारी के आज सुबह शहर के प्रतिष्ठित व्यावसायिक प्रतिष्ठान हरिओम टावर में एक महिला के शव पड़े रहने की सूचना पुलिस को मिली।मृतका की उम्र लगभग 40वर्ष है और घटनास्थल पर खून के धब्बे को देखकर यह आशंका व्यक्त की जा रही है कि महिला ने छत से कूद कर अपनी जान दे दी।

बताया जा रहा है कि हरिओम टावर की तीसरी मंजिल पर मेहता कोचिंग सेंटर के 2 छात्रों ने महिला को देख कर पूछा कि वह रेलिंग के पास क्यों खड़ी है पीछे खड़ी हो जाए। एक बार उसने कूदने की भी कोशिश की दोनों छात्रों ने उसे रोका और दौड़ कर उसके पास जाने लगे, इसी बीच महिला ने छलांग लगा दी। चौथी मंजिल से नीचे गिरने की वजह से महिला की दर्दनाक मौत हो गई।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने किया कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का शुभारंभ

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:38 PM
newscode-image

रांची। राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने आज मोरहाबादी स्थित पार्क प्लाजा के दूसरे तल्ले में कंफर्ट लाइफ सर्विसेज का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने आशा जतायी कि यह सर्विसेज आम जनों के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

कंफर्ट लाइव सर्विसेज में फ्लैट खरीद- बिक्री, स्वास्थ्य बीमा, अवधि बीमा, म्युचुअल फंड, एसआईपी एवं वाहनों की बीमा आदि की सुविधा लोगों को प्राप्त हो सकेगी।

शुभारंभ के मौके पर आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव डॉ. लंबोदर महतो, चंद्रशेखर महतो, संचालक राजेश कुमार, रंजना चौधरी, गीता महतो, कल्पना मुखिया, संतोष  मुखिया, अमित साव एवं अजय श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

भोगनाडीह : झामुमो ने संथाल को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 2 December, 2018 7:36 PM
newscode-image

भोगनाडीह  में भाजपा कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल हुए

भोगनाडीह। राज्य को संथाल परगना ने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा से तीन तीन मुख्यमंत्री दिये,  लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री बनाया वो गरीब आदिवासी, वंचित दलित की अनदेखी कर अर्थपेटी और मतपेटी भरने का कार्य किया।

साथ ही संथाल परगना को भ्रष्टाचार और बिचौलिया दिया। सबसे ज्यादा आदिवासियों की जमीन लूटने का काम सोरेन परिवार ने किया है। आज सीएनटी-एस पीटी एक्ट के उल्लंघन कर विभिन्न शहरों में आदिवासियों की जमीन ले ली।

जबकि संथाल परगना समेत राज्य भर में यह कह कर गुमराह किया गया कि अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तो आदिवासी की जमीन लूट लेगी। क्या 4 साल सरकार द्वारा किसी आदिवासी की जमीन लूटी गई नहीं। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कही।

बरहेट का प्रतिनिधित्व करने वाला कभी विधानसभा में सवाल नहीं उठाया

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरहेट का विधानसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले ने कभी भी विधानसभा में क्षेत्र की समस्याओं को लेकर प्रश्न नहीं रखा, क्योंकि उसे पता ही नहीं है कि क्षेत्र की समस्या क्या है ऐसे में विकास के कार्य कैसे सम्पन्न होंगे।

लोगों को यह सोचना चाहिए और स्थानीय उम्मीदवार को प्राथमिकता देनी चाहिए। चाहे वोकिसी पार्टी का हो।

कार्यकर्ता पार्टी का प्राण, पार्टी के लिए राष्ट्र पहले

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता पार्टी के प्राण हैं। यह एक ऐसी पार्टी है जहां वंशवाद और परिवार नहीं। एक चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री और मजदूर मुख्यमंत्री बन सकता है। मैं भी बूथ स्तर का कार्यकर्ता था।

पार्टी के लिए समर्पण भाव से कार्य करते हुए 1995 में विधायक बना और अब मुख्यमंत्री हूं। आप भी ईमानदारी से कार्य करें। सरकार की योजनाओं को जन जन पहुंचाये। पार्टी के वविभिन्न मोर्चा के लोग इस कार्य में लगे। क्योंकि पार्टी के लिए राष्ट्र पहले है।

इस राष्ट्र को और मजबूत करने के लिए वैश्विक पटल पर अपनी पहचान बना चुके प्रधानमंत्री  के हाथों को मजबूत करें। इस अवसर पर अनंत ओझा,  धर्मपाल सिंह, हेमलाल मुर्मू समेत अन्य मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : अखिल झारखंड छात्र संघ ने चुनाव को लेकर...

more-story-image

धनबाद : बीजेपी सरकार बनने के बाद कृषि विकास दर...

X

अपना जिला चुने