दुमका : 25 अक्टूबर को पर्यटन पर्व मनाया जाना दुमका के लिए ऐतिहासिक होगा – डीसी

NewsCode Jharkhand | 21 October, 2017 8:21 PM
newscode-image

दुमका। देश भर के चुनिंदा स्थानों पर प्रस्तावित पर्यटन पर्व ‘देखो अपना देश’ कार्यक्रम के तहत 25 अक्टूबर को मलूटी एवं मसानजोर में विभिन्न प्रकार के प्रतियोगिता एवं कार्यक्रमों का आयोजन जिला प्रशासन द्वारा आयोजित किया जा रहा है। पर्यटन पर्व में विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया जायेगा। ताकि अपने विरासतों के प्रति उनकी दिलचस्पी और उत्साह बढ़ सके।

डीसी मुकेश कुमार के निर्देशानुसार मलूटी एवं मसानजोर दोनों स्थलों पर अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिससे इन क्षेत्रों में पर्यटकों का आकर्षण बढ़ सके। इन कार्यक्रमों के तहत हैरिटेज वॉक, स्वच्छता जागरुकता अभियान, फोटोग्राफी व पेंटिंग प्रतियोगिता, साईकिल रेस, एडवेंचर स्पोर्टस, क्विज प्रतियोगिता, प्रदर्शनी और सांस्कृतिक कार्यक्रम जैसे इवेंट आयोजन होने है। मंदिरों का गांव मलूटी में सारे कार्यक्रम मां मौलिक्षा मंदिर के आस-पास आयोजित किये जायेंगे। जबकि मसानजोरी में अधिकतर आयोजन नवनिर्मित टूरिस्ट कॉम्पलेक्स में आयोजित होगी।

25 अक्टूबर के कार्यक्रमों का मोबाइल एलईडी वैन पर सीधा प्रसारण किया जायेगा। साथ ही फिल्मों का प्रदर्शन भी किया जायेगा। पर्यटन पर्व के अवसर पर झारखंड के पर्यटन स्थलों पर आधारित फोटोग्राफी एवं पेंटिंग प्रतियोगिता के लिए सूचना भवन में 23 अक्टूबर तक आवेदन जमा करने की तिथि निर्धारित की गई है। प्रतियोगिता में कोई भी व्यक्ति भाग ले सकते हैं। चाहे वह संताल पगरना प्रमंडल से हो या किसी अन्य प्रमंडल से।

फोटोग्राफी प्रतियोगिता के लिए न्यूनतम आकार 12 इंच गुणा 18 इंच का अधिकत्तम दो फोटो एवं पेंटिंग के लिए न्यूनतम आकार 18 इंच गुणा 23 इंच का अधिकत्तम एक पेंटिंग फ्रेमिंग के साथ जमा करना है। फोटोग्राफी एवं पेंटिंग प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु फॉर्म सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की वेबसाईट से डाउनलोड कर सकते हैं।

 

रांची: पंचायत व नगर निकायों के रिक्त पदों के लिए उपचुनाव 19 दिसंबर को  

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 1:27 PM
newscode-image

रांची।  राज्य निर्वाचन आयोग ने मंगलवार को पंचायत और नगर निकायों के रिक्त पदों के लिए होने वाले उपचुनाव को लेकर चुनाव कार्यक्रमों की घोषणा कर दी।
राज्य निर्वाचन आयुक्त एन.एन.पांडेय ने उपचुनाव के कार्यक्रमों की घोषणा करते हुए बताया कि पंचायत और नगर निकायों के रिक्त पदों पर उपचुनाव के लिए 22 नवंबर को सूचना का प्रकाशन किया जाएगा, अभ्यर्थी 30 नवंबर तक नामांकन दाखिल कर सकेंगे, जबकि 1 दिसंबर को नामांकन पत्रों की जांच हो सकेगी। वहीं अभ्यर्थी 3 दिसंबर तक अपना नामांकन वापस ले सकेंगे। 4 दिसंबर को चुनाव चिन्ह का आवंटन किया जाएगा।19 दिसंबर मतदान और 22 दिसंबर को मतगणना की तिथि तय की गयी है। 23 दिसंबर तक चुनाव प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।
उन्होंने बताया कि त्रिस्तरीय पंचायत उपचुनाव के लिए कुल 2104 पद रिक्त है, जिसमें ग्राम पंचायत के सदस्य के 1956, मुखिया के 57, पंचायत सदस्य के 88 और जिला परिषद सदस्य के 3 पद रिक्त है। गढ़वा जिले में कुल 11 रिक्त पदों के लिए उपचुनाव कराएं जाएंगे, जबकि पलामू में 16, लातेहार में 35, चतरा में 29, हजारीबाग में 34, कोडरमा में 17 गिरिडीह में 148, देवघर में 41, गोड्डा में 77, साहेबगंज में 130, पाकुड़ में 84, दुमका में 108, जामताड़ा में 41, धनबाद में 111, बोकारो में 86, लोहरदगा में 16, गुमला में 148, खूंटी में 69, रांची में 180, सिमडेगा में 23, पश्चिमी सिंहभूम में 98, सरायकेला में 170 और पूर्वी सिंहभूम जिले में 325 पदों के लिए उपचुनाव होंगे। इसके लिए कुल 2749 भवनों में 3683 मतदान केंद्र बनाये गये है। इस बार विभिन्न जिलों में कई चलंत मतदान केंद्र भी स्थापित किये गये हैं। आयोग की ओर से जानकारी दी गयी कि 24 जिलों के 228 प्रखंडों के 1254 पंचायतों  में ग्राम पंचायत सदस्य, 57 पंचायतों के मुखिया और पंचायत समिति के 88 सदस्य और जिला परिषद के 3 सदस्यों के लिए उपचुनाव होना है। इस उपचुनाव में कुल 1163091 मतदाता हिस्सा लेंगे, जिसमें 561495 महिला और 601596 पुरूष मतदाता शामिल है। वहीं नगर निकाय उपुचनाव में 24242 मतदाता वोट डाल सकेंगे।
नगर निकाय उपचुनाव के लिए पांच रिक्त पदों के लिए मतदान होना है। जिसमें जामताड़ा जिले के मिहिजाम नगर परिषद के वार्ड संख्या 3, आदित्यपुर नगर निगम के वार्ड संख्या 28, कपाली नगर परिषद में उपाध्यक्ष के अलावा वार्ड  संख्या 10 और तथा सरायकेला नगर पंचायत के वार्ड संख्या 10 के लिए उपचुनाव होगा।
पंचायत उपचुनाव में मतपेटियों का इस्तेमाल किया जाएगा। जबकि नगर निकायों के लिए ईवीएम  से संपन्न कराया जाएगा। आयोग की ओर से सभी महत्वपूर्ण चुनाव प्रक्रियाओं की वीडियोग्राफी कराने का निर्देश भी दिया गया है, वहीं विधि व्यवस्था और सुरक्षा बलों की तैनाती की गयी है। आयोग की ओर से उपचुनाव पर नजर रखने के लिए 24 सामान्य प्रेक्षकों की प्रतिनियुक्ति की गयी है, वहीं निकाय चुनाव के लिए भी अलग से सामान्य प्रेक्षकों की नियुक्ति की गयी है। इसके अलावा पंचायत उपचुनाव के 24 व्यय प्रेक्षक और नगर निकाय उपचुनाव के लि 2 व्यय प्रेक्षक नियुक्त किये गये है।

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची: भापुसे के 17 अधिकारियों का तबादला,कई जिलों के एसपी बदले

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 2:20 PM
newscode-image

रांची। झारखंड सरकार ने भारतीय पुलिस सेवा (भापुसे) के 17 अधिकारियों का स्थानांतरण और पदस्थापन किया है। इसके साथ ही कई जिलों के पुलिस अधीक्षकों का तबादला हो गया है। इस संबंध में गृह कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा मंगलवार देर शाम अधिसूचना जारी कर दी गयी।

गृह विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार डीआईजी उ.छो. क्षेत्र हजारीबाग पंकज कंबोज को डीआईजी एसीबी का भी अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। जबकि पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा के एसपी क्रांति कुमार गदिदेसी को एसपी विशेष शाखा बनाया गया है। विशेष शाखा के एसपी शैलेंद्र कुमार सिन्हा को जामताड़ा का एसपी बनाया गया है,वहीं रांची के यातायात पुलिस अधीक्षक संजय रंजन सिंह को समादेष्टा जैप-2 के पद पर पदस्थापित किया गया है, वहीं धनबाद के एसएसपी चोथे मनोज रतन को एसपी सीआईडी, सीआईडी के एसपी वाईएस रमेश को एसपी दुमका, विशेष शाखा के एसपी आलोक को खूंटी का एसपी, खूंटी के एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा को गुमला का एसपी, राज्यपाल के परिसहाय चंदन कुमार झा को चाईबासा का एसपी, जामताड़ा की एसपी जया राय को सीआईडी का एसपी, दुमका के एसपी किशोर कौशल को धनबाद का एसएसपी, एसटीएफ के एसपी अंजनी कुमार झा को विशेष शाखा का एसपी, गुमला के एसपी अंशुमन कुमार को राज्यपाल का परिसहाय, रांची के सिटी एसपी अमन कुमार को ग्रामीण एसपी धनबाद, जैप-5 की समादेष्टा सुजाता कुमारी वीणापानी को रांची का सिटी एसपी, धनबाद के ग्रामीण एसपी आशुतोष शेखर को रांची का ग्रामणी एसपी और रांची के ग्रामीण एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग को रांची यातायात का एसपी बनाया गया है।

 

रांची: अन्तराष्ट्रीय व्यापार मेले में भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा बढ़ा रही है कौतुहल

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 2:07 PM
newscode-image

रांची।भगवन बिरसा मुंडा धरती आबा देश के प्रथम स्वतंत्रता सेनानियों में माने जाते हैं। झारखण्ड प्रदेश में भगवान माने जाने वाले इस महान पुरुष को भारतीय जनजातीय स्वतंत्रता सेनानी धार्मिक पुरुष और लोक नायक के रूप में मान्यता प्राप्त है।जिनका जन्म झारखण्ड के खूँटी ज़िले में 15 नवम्बर 1875 को हुआ था। 19 के दशक के शुरूआती सालो में ही अपनी युवा अवस्था 25 वर्ष में उन्होंने ब्रिटिश सरकार के विरुद्ध जो आंदोलन बनाया उसको जनजातीय प्रजातियों में सबसे महत्त्वपूर्ण माना जाता है। उन्होंने अपने समूदाय के लोगो को धार्मिक क्रिया की तरह सोचने को तैयार किया और अपने अधिकारों को मांगने के लिए ब्रिटिश सरकार से लडे। भगवान् बिरसा मुंडा झारखण्ड प्रदेश में किसी भी काम के पहले याद किये जाते हैं। जिस कड़ी में 38वें भारतीय अन्तराष्ट्रीय मेले के झारखण्ड पवेलियन में उनकी विशाल प्रतिमा स्थापित की गई है। मेले में आने वाले लोग इस प्रतिमा को देख उत्सुकता से इनके विषय और कार्य की चर्चा कर रहे है। भगवान बिरसा मुंडा पर देश ही नहीं दुनिया को भी गर्व होता है। उनके जीवन पर कई साहित्य और फिल्मे भी बनाई जा चुकी हैं।

झारखण्ड पवेलियन में उद्योग विभाग के संयुक्त निदेशक श्री अलोक कुमार ने बताया कि मेले में झारखण्ड पवेलियन 22 नवम्बर को प्रगति मैदान स्थित हंसध्वनी थिएटर में झारखण्ड दिवस का आयोजन करेगा जिसमें झारखण्ड के लोक नृत्य कला एवं संस्कृति प्रदर्शित किया जायगा इस अवसर पर झारखण्ड प्रदेश के राजस्व और भूमि सुधार ए कला संस्कृति खेल और युवा मंत्री श्री अमर कुमार बाऊरी उपस्थित रहेंगे साथ ही उद्योग विभाग के अन्य पदाधिकारी भी इस अवसर पर मौजूद रहेंगे

इसके अलावा झारखण्ड पवेलियन से निकले के बाद लोग हॉल नं 7 के सामने लगे फ़ूड स्टाल में झारखण्ड के फ़ूड स्टाल में झारखण्ड के व्यंजन का भी लुफ्त उठा रहे हैं लोगों को लिट्टी चोखा मालपुआ एवं कुल्हड़ चाय काफी पसंद आ रहे हैं स्टाल के संचालक राजेश तिवारी ने बताया कि लोगों की भारी भीड़ झारखण्ड के व्यंजन को पसंद कर रहे है

 

More Story

more-story-image

रांची : पंकज तिवारी आजसू केंद्रीय समिति के सदस्य मनोनीत

more-story-image

जमशेदपुर : पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा ने लाठी चार्ज और...

X

अपना जिला चुने