तेनुघाट : पुलिस पर हमला करने मामले में सजा, 20 अभियुक्त दोषी करार

newscode-image

भीड़ से युवक को बचाने गयी थी पुलिस

तेनुघाट(बोकारो)। व्यवहार न्यायालय तेनुघाट के जिला जज गुलाम हैदर ने नर्रा के चर्चित पुलिस पर हमला करने के मामले में पिंटू कोइरी महतो, सूरज बर्णवाल, नेमचंद साव, पवन सिंह, भुनेश्वर रविदास, डहरू महतो, जितेन्द्र महतो, बबलू रजक, सागर महतो, भोला महतो, चंदन दसौंधी, भीम नायक, हरि बर्णवाल, मोची ठाकुर उर्फ लालचंद ठाकुर, दीपू पंडित, केवल तुरी, महेंद्र महतो, सागर तुरी, मनोज तुरी एवं राजकुमार कोयरी को दोषी पाया।

यह था मामला

मालूम हो कि चन्द्रपुरा के निवर्तमान थाना प्रभारी द्वारिका राम ने चन्द्रपुरा थाना में 4 अप्रैल 2017 को बयान दर्ज कराया गया था जिसमें ग्राम नर्रा में ग्रामीणों ने बच्चा चोर कहकर एक युवक को पकड़ कर मारपीट कर रहे हैं। जानकारी प्राप्त होने के बाद सस्त्र दलबल के साथ नर्रा तुरी टोला पहुंचे तो देखे कि करीब तीन-चार सौ महिला पुरूषों की भीड़ एक युवक को घेर कर बच्चा चोर कह कर मारपीट कर रहे हैं, जिससे वह बुरी तरह से जख्मी हो गया है।

पूछने पर उसने अपना नाम समसुद्दीन अंसारी बताया। उक्त युवक को मारपीट कर रहे लोगों से बचा कर पुलिस इलाज के लिए ले जाना चाही तो भीड़ ने पुलिस बल को चारों ओर से घेर कर गाली गलौज करते हुए धक्का मुक्की करने लगी और जख्मी को इलाज हेतु ले जाने से रोक दिया और गाड़ी नम्बर JH09AD  2251 को लाठी से प्रहार कर छतिग्रस्त कर दिया।

भीड़ को बार बार कानून को हाथ में न लेने की बात समझाने एवं अनुरोध के बावजूद भी लोगों ने नहीं सुनी और उतेजित होकर पुलिस बल को जान से मारने की एवं सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की नियत से पथरबाजी करने लगे, जिससे मेरे सर एवं हाथ में पत्थर लगा, साथ ही पुलिस के उमाशंकर सिंह को पीठ पर, कर्ण कुमार को पैर में चोट लगा। सूचना मिलने पर बेरमो, नावाडीह, दुग्दा से सस्त्र बल वहां पहुंचे और भीड़ को खदेड़ दिया।

जख्मी को इलाज हेतु अस्पताल भेजा गया। पूछताछ के क्रम में स्थानीय ग्रमीण द्वारा सभी बीसों अभियुक्तों का नाम एवं अन्य 300-400 ग्रामीण ने भीड़ लगाकर घटना करने की बात बताया गया। उक्त बयान के आधार पर चन्द्रपुरा थाना में मामला दर्ज किया गया। आरोप पत्र समर्पित होने के बाद मामला स्‍थानान्तरित होकर श्री हैदर के न्यायालय में आया।

बोकारो : पत्नी हत्या मामले में दोषी करार, पानी में डुबो कर की थी हत्या

न्यायालय में उपलब्ध गवाह एवं दोनों पक्षों के अधिवक्ता के बहस सुनने के बाद सभी 20 अभियुक्तों को पुलिस बल पर हमला करने के मामले में दोषी पाया। दोषी पाने के बाद सभी अभियुक्तों को तेनुघाट जेल भेज दिया गया। सजा के बिंदु पर 7 मई को बहस के लिए रखा गया है। अभियोजन पक्ष की ओर से अपर लोक अभियोजक संजय कुमार सिंह ने बहस किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कोडरमा : महत्वपूर्ण विषयों पर पैनल अधिवक्ताओं को मिला प्रशिक्षण

newscode-image

कोडरमाझारखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार राँची झालसा के निर्देश के आलोक में जिला विधिक सेवा प्राधिकार कोडरमा के तत्वावधान में पैनल अधिवक्ताओं के लिए चल रहे तीन दिवसीय रिफ्रेसर प्रशिक्षण कार्यक्रम के दूसरे दिन रिसोर्स पर्सन द्वारा कई महत्वपूर्ण विषयों पर पैनल अधिवक्ताओं को प्रशिक्षण दिया गया।

कोडरमा : उपायुक्‍त ने ऑन स्‍पॉट कई समस्‍याओं का किया समाधान

प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला अधिवक्ता संघ कोडरमा के सचिव मोहन प्रसाद अम्बष्ठ ने बंदियों के अधिकारों से सम्बंधित कानून पर प्रकाश डाला। वहीँ कुटुम्ब न्यायालय कोडरमा के प्रधान न्यायाधीश सुनील कुमार सिंह ने महिलाओं को उनके कार्य स्थल पर यौन प्रताड़ना से सम्बंधित क़ानूनी प्रावधानों एवं महिलाओं से सम्बंधित कानूनों पर विस्तार पूर्वक बताया।

जिला जज द्वितीय संजय कुमार सिंह ने मोटर वाहन दुर्घटना अधिनियम से सम्बंधित कानूनों पर प्रकाश डाला। न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी मिसण् पूजा द्वारा घरेलु हिंसा अधिनियम के तहत महिलाओं की सुरक्षा से सम्बंधित कानूनों की जानकारी दी।

मौके पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव मिथिलेश कुमार सिंह, न्यायालायाकर्मी ओम प्रकाश सिंह, रणजीत कुमार सिंहए राज कुमार राउत, संतोष कुमार सिंह, अधिवक्ता रणजीत दुबे, महावीर राम, संतोष कुमार, सुरेश यादव, अंशुमन कुमार पाण्डेय, धीरज जोशी, कुमार रौशन, संजय पाण्डेय, जयराम पाण्डेय, मनीष कुमार सिंह, बचन देव नाथ आर्या, राम विनय सिंह, प्रदीप कुमार, नीरा जायसवाल, शांति कुमारी, संगीता रानी, शिवनन्दन कुमार शर्मा व राजेश्वर प्रसाद सिंह सहित कई अन्य पैनल अधिवक्ता मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

तमिलनाडु की अनुकृति वास बनीं मिस इंडिया 2018, फाइनल में पूछे गए थे ये सवाल

newscode-image

नई दिल्ली। तमिलनाडु की रहने वाली 19 वर्षीय अनुकृति वास ने ‘फेमिना मिस इंडिया 2018’ का खिताब अपने नाम कर लिया है। कॉलेज में पढ़ाई कर रहीं अनुकृति वास ने 29 प्रतिभागियों को हराकर मिस इंडिया का ताज अपने नाम किया है।

मुंबई में हुए इस प्रतियोगिता को करण जौहर और आयुष्मान खुराना ने होस्ट किया। इस इवेंट के जज पैनल में बॉलीवुड एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा, अभिनेता बॉबी देओल, कुनाल कपूर, क्रिकेटर इरफान पठान और के.एल राहुल शामिल थे। इनके अलावा साल 2017 में मिस वर्ल्ड रहीं मानुषी छिल्लर भी यहां मौजूद थीं। मानुषी ने ही अनुकृति को ताज पहनाया।

मिस इंडिया दिल्ली गायत्री भारद्वाज, मिस इंडिया हरियाणा मीनाक्षी चौधरी, मिस इंडिया झारखंड स्टेफी पटेल, मिस इंडिया तमिलनाडु अनुकृति वास और मिस इंडिया आंध्र प्रदेश श्रेया राव इस प्रतियोगिता के टॉप-5 कंटेस्टेंट बने। दिल्ली, हरियाणा, झारखंड और आंध्र प्रदेश की कंटेस्टेंट को हराकर तमिलनाडु की अनुकृति के सिर मिस इंडिया का ताज सजा। बता दें, मीनाक्षी चौधरी फर्स्ट रनर-अप और आंध्र प्रदेश की रहने वाली श्रेया राव सेंकड रनर-अप रहीं।

अनुकृति ने उस सवाल का सबसे स्‍मार्ट जवाब दिया, जिसने उन्‍हें देश की सबसे खूबसूरत युवती बना दिया। अनुकृति से फाइनल राउंड में पूछा गया था, “कौन बेहतर टीचर है? सफलता या असफलता?” अनुकृति ने जवाब में कहा- “मैं असफलता को बेहतर टीचर मानती हूं। क्‍योंकि जब आपको जिंदगी में लगातार सफलता मिलती है तो आप उसे पर्याप्‍त मान लेते हैं और आपकी तरक्‍की वहीं रुक जाती है।” लेकिन जब आप असफल होते हो तो तो आपको प्रेरणा मिलती है कि आप सफलता मिलने तक लगातार मेहनत करते रहें।”

अनुकृति ने कहा, “मेरी मां के अलावा कोई नहीं था, जो मेरे समर्थन में खड़ा हो, आलोचना और असफलता, जिसने मुझे इस समाज आत्‍मविश्‍वासी और स्‍वतंत्र बनाया।”

कौन हैं और क्या करती हैं अनुकृति ?

चेन्नई के लोयोला कॉलेज में पढ़ने वाली 19 साल की अनुकृति वास ख़ुद को एक सामान्य लड़की बताती हैं जिसे घूमना और डांस करना पसंद है।

अनुकृति अपने एक वीडियो में कहती हैं, “मैं तमिलनाडु के शहर त्रिची में पली-बढ़ी हूं जहां पर लड़कियों की ज़िंदगी बंधी हुई होती है। आप छह बजे के बाद घर से बाहर नहीं जा सकते। मैं इस माहौल के पूरी तरह ख़िलाफ़ हूं। मैं ये स्टीरियोटाइप तोड़ना चाहती थी। इसीलिए, मैंने मिस इंडिया प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का फ़ैसला किया। अब मैं जब यहां पहुंच चुकी हूं तो मैं कहना चाहती हूं कि आप लोग भी उस क़ैद को तोड़कर बाहर निकल आएं और वहां पहुंचें जहां पर आप पहुंचना चाहते हैं।”

हिमाचल प्रदेश घूमने का सपना

अनुकृति इस समय लोयोला कॉलेज से बीए सेकेंड ईयर में हैं और फ्रेंच साहित्य की पढ़ाई कर रही हैं। ख़ुद को एथलीट बताते हुए अनुकृति कहती हैं, “मुझे कभी भी दुनिया घूमने और उसे देखने का मौका नहीं मिला। लेकिन अगर मुझे ऐसा मौका मिला तो आप निश्चित रूप से मुझे घर में नहीं देखेंगे क्योंकि मैं एडवेंचर और घूमना इतना पसंद करती हूं।”

फैमिना मिस इंडिया 2018 के फिनाले में माधुरी दीक्षित, करीना कपूर खान और जैकलीन फर्नांडिस ने अपनी शानदार डांस परफॉर्मेंस दी। बता दें कि अनुकृति वास इस साल मिस यूनिवर्स कम्पिटिशन में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी।

‘धड़क’ का टाइटल ट्रैक हुआ रिलीज़, जाह्नवी और ईशान के इस गाने में प्यार के कई रंग

newscode-image

नई दिल्ली। श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर और ईशान खट्टर की फिल्म धड़क का टाइटल ट्रैक रिलीज़ कर दिया गया है, जिसमें बॉलीवुड की क्यारी में उग रही नई पौध का ये इश्क इस गाने में परवान चढ़ रहा है। फिल्‍म के ट्रेलर में जाह्नवी कूपर और ईशान खट्टर एक फ्रेश जोड़ी हैं और ट्रेलर के बाद लोगों को इस फिल्‍म से खासी उम्‍मीद बढ़ गई है।

इस गाने का संगीत अजय-अतुल ने कंपोज किया है। इस संगीतकार जोड़ी ने ही मराठी फिल्‍म सैराट के गानों को कंपोज किया था। इस गाने को गाया है श्रेया घोषाल और अजय गोगावाले ने और इसे गाया है अमिताभ भट्टाचार्य ने। ‘धड़क’ का यह नया गाना पूरी तरह नई कंपोजीशन है और एक रोमांटिक गाना है। यह गाना जाह्नवी और ईशान के बीच मासूम प्‍यार को दर्शाता है। आप भी देखें फिल्‍म ‘धड़क’ का यह टाइटल ट्रैक।

कैंसर से जंग लड़ रहे इरफान खान ने बयान किया अपना दर्द, लिखा- ‘मुझे नहीं पता मेरे पास कितना समय है, लेकिन…’

बता दें कि ‘धड़क’ का निर्देशन शशांक खेतान ने किया है। इस फिल्‍म के ट्रेलर के रिलीज के मौके पर जाह्नवी ने बताया कि खुद श्रीदेवी भी ‘सैराट’ जैसी फिल्‍म करना चाहती थी। यह फिल्‍म 20 जुलाई को रिलीज होने वाली है।

देखें वीडियो:

झांसी की रानी को कंगना का सलाम, सामने आया ‘मणिकर्णिका’ का फर्स्ट लुक

More Story

more-story-image

बोकारो : नावाडीह में योग दिवस मनाने को लेकर की...

more-story-image

बेरमो : बाहरी की उपेक्षा स्‍थानीय बेरोजगारों के लिए रोजगार...