IND vs ENG: हेल्स के बल्ले निकली इंग्लैंड की जीत, 5 विकेट से हारी टीम इंडिया

NewsCode | 7 July, 2018 3:04 AM
newscode-image

कार्डिफ। इंग्लैंड ने टीम इंडिया को सोफिया गार्डन्स मैदान पर खेले गए दूसरे टी-20 मैच में 5 विकेट से हरा दिया है। इस जीत के साथ ही मेजबान टीम ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज 1-1 से बराबर कर ली है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने 20 ओवर में 5 विकेट गंवा कर 148 रन बनाए और इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 149 रनों का लक्ष्य रखा।

इस आसान से लक्ष्य को इंग्लैंड ने पांच विकेट खोकर दो गेंद शेष रहते हुए हासिल कर लिया। इंग्लैंड की तरफ से एलेक्स हेल्स ने सबसे ज्यादा नाबाद 58 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में 41 गेंदों का सामना करते हुए चार चौके और तीन छक्के लगाए। उनके अलावा जॉनी बेयरस्टॉ ने 28 रनों का योगदान दिया। शुरुआत में भारत ने अच्छी गेंदबाजी करते हुए इंग्लैंड का शीर्ष क्रम झकझोर दिया और स्कोर तीन विकेट पर 44 रन कर दिया था।

लेकिन छठे ओवर में क्रीज पर कदम रखने वाले हेल्स एक छोर पर डटे रहे और टीम को जीत दिला दी। इंग्लैंड को आखिरी ओवर में 12 रन की दरकार थी। हेल्स ने भुवनेश्वर के इस ओवर में पहली दो गेंदों पर छक्का और चौका लगाकर अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की। हेल्स को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया।

खराब शुरुआत के बाद कोहली और धोनी ने टीम इंडिया को संभाला

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने 20 ओवर में 5 विकेट गंवा कर 148 रन बनाए और इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 149 रनों का टारगेट रखा। भारतीय टीम के लिए कप्तान विराट कोहली ने सबसे ज्यादा 47 रन बनाए जबकि एमएस धोनी ने 32 रनों की पारी खेली। इसके अलावा सुरेश रैना ने 27 रनों का योगदान दिया।

टीम इंडिया की शुरुआत बेहद खराब रही। दूसरे ही ओवर में रोहित शर्मा को जेक बॉल ने विकेटकीपर जोस बटलर के हाथों कैच आउट करा कर भारतीय टीम को पहला झटका दिया। इस तरह रोहित शर्मा के रूप में डेब्यू कर रहे बॉल को अपना पहला टी-20 इंटरनेशनल विकेट मिला। रोहित शर्मा 5 रन बना कर पवेलियन लौटे। उन्होंने अपनी 9 गेंदों की पारी में सिर्फ एक चौका लगाया।

रोहित के बाद उनके जोड़ीदार शिखर धवन भी 10 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। जब पांचवें ओवर में इंग्लैंड के कप्तान इयोन मॉर्गन और जेसन रॉय की जुगलबंदी ने धवन को रन आउट कर भारत को दूसरा झटका दे दिया। उसी ओवर में भारत को तीसरा झटका भी लग गया, जब इंग्लिश गेंदबाज लियाम प्लंकेट ने राहुल को बोल्ड कर दिया। पिछले मैच में शतक जमाने वाले राहुल इस मैच में 6 रन बनाकर आउट हो गए।

13वें ओवर में सुरेश रैना के तौर पर टीम इंडिया को चौथा झटका लगा, जब आदिल रशीद ने उन्हें जोस बटलर के हाथों स्टंप आउट करा दिया। रैना 27 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने अपनी 20 गेंदों की पारी में 2 चौके हुए और एक छक्का लगाया। आउट होने से पहले सुरेश रैना ने विराट कोहली के साथ 57 रनों की पार्टनरशिप की थी। यह साझेदारी तब आई जब टीम इंडिया ने अपने तीन विकेट 22 रन के कुल स्कोर पर गंवा दिए थे।

कोहली को 21 रन के निजी स्कोर पर जीवनदान मिला। राशिद की गेंद पर जेसन रॉय ने कैच करने का अच्छा प्रयास किया, लेकिन गेंद उनके हाथ से लगकर सीमा रेखा के पार गिर गई और भारतीय कप्तान को छक्का मिल गया। भारत का स्कोर 16 ओवर के बाद चार विकेट पर 101 रन था। कोहली ने क्रिस जॉर्डन की फुलटॉस पर स्क्वॉयर लेग पर छक्का लगाया, लेकिन विली की गेंद पर जो रूट ने फाइन लेग बाउंड्री पर खूबसूरत कैच से उनकी पारी का अंत कर दिया।

धोनी ने भी एक दो अवसरों पर अपने शॉट का प्रदर्शन किया जबकि हार्दिक पंड्या (नाबाद 12) ने जॉर्डन पर छक्का जमाया। बॉल के आखिरी ओवर में धोनी ने तीन चौके जमाए। इस ओवर में कुल 22 रन बने जिससे भारत सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पाया।

कुलदीप के ‘पंच’ और राहुल के शतक से जीता भारत, इंग्लैंड को 8 विकेट से दी मात

अपना ही रिकॉर्ड तोड़ एरॉन फिंच ने रचा इतिहास, T20 में बनाया सबसे बड़ा स्कोर

राहुल द्रविड़ को क्रिकेट का सबसे बड़ा सम्मान, ‘आईसीसी हॉल ऑफ फेम’ में हुए शामिल

10 रन पर 8 विकेट, झारखण्ड के स्पिनर शाहबाज नदीम ने तोड़ा 21 साल पुराना विश्व रिकॉर्ड

NewsCode | 20 September, 2018 2:08 PM
newscode-image

नई दिल्ली। झारखण्ड के खब्बू स्पिनर शाहबाज नदीम ने नया कीर्तिमान रच दिया है। नदीम ने विजय हजारे ट्रॉफी में राजस्थान के खिलाफ खेलते हुए सिर्फ 10 रन पर 8 विकेट चटकाकर लिस्ट-ए क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का दो दशक पुराना विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया है।आईपीएल की दिल्ली डेयरडेविल्स टीम का हिस्सा शाहबाज नदीम की स्पिन के जाल में फंसकर राजस्थान की टीम 28.3 ओवर में केवल 73 रनों पर ढेर हो गई। नदीम ने 10 ओवर में 4 मेडन फेंकते हुए 10 रन देकर 8 विकेट हासिल किए और टीम इंडिया में जगह बनाने की मजबूत दावेदारी पेश कर दी है।

बता दें कि लिस्ट-ए क्रिकेट में इससे पहले का विश्व रिकॉर्ड भी भारत के ही बाएं हाथ के स्पिनर राहुल सांघवी के नाम था, जिन्होंने 1997-98 में हिमाचल प्रदेश के खिलाफ दिल्ली की ओर से खेलते हुए 15 रन देकर 8 विकेट चटकाए थे। सांघवी भारत की ओर से एकमात्र टेस्ट 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले।

लिस्ट-ए क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग प्रदर्शन

8/10 शाहबाज नदीम, 2018

8/15 राहुल सांघवी, 1997/98

8/19 चामिंडा वास, 2001/02

8/20 थारका कोटेहेवा 2007/08

8/21 माइकल होल्डिंग, 1988

गौरतलब है कि 29 साल के नदीम ने अब तक 99 प्रथम श्रेणी मैचों में 29.74 की औसत से 375 विकेट चटकाए हैं। उन्होंने 87 लिस्ट ए मैचों में 124 विकेट, जबकि 109 टी-20 मैचों में 89 विकेट हासिल किए हैं।

लिस्ट-ए क्रिकेट में वनडे इंटरनेशनल के अलावा विभिन्न घरेलू मुकाबले शामिल होते हैं। वैसे अंतर्राष्ट्रीय मैच भी लिस्ट-ए के अंतर्गत आते हैं, जिनमें खेल रही टीमों को वनडे इंटरनेशनल का दर्जा प्राप्त नहीं है। लिस्ट-ए के तहत 40 से 60 ओवरों तक की एक पारी होती है।


Asia Cup: भारत ने पाकिस्तान को 8 विकेट से दी पटखनी, रविवार को फिर होगी भिड़ंत

IND vs PAK : पाक के खिलाफ ‘महाबली’ माही के आंकड़े हैं बेजोड़

महेंद्र सिंह धोनी को लेकर सौरव गांगुली का बड़ा बयान, कहा- काश मेरी 2003 वर्ल्‍डकप टीम में होते

सिर्फ 3 ओवर में जड़ दिया था शतक, क्रिकेट के ‘डॉन’ को समर्पित आज का गूगल डूडल

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चक्रधरपुर : 292 बच्चों का भविष्य अंधकारमय, उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

NewsCode Jharkhand | 20 September, 2018 2:21 PM
newscode-image

 चक्रधरपुर(मंझगांव)। एक तरफ केंद्र व राज्य सरकार शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई प्रकार की योजनाएं चला रही है, एवं लगातार घोषणा कर रही है। पर सरकार के नीति के कारण ही आज मंझगांव  प्रखंड के खुड़पोस  गांव के दो 292  बच्चों का भविष्य अंधकार में दिखाई पड़ रहा है।

चक्रधरपुर : उत्क्रमित मध्य विद्यालय खड़पोस का विलय हुआ तो करेंगे उग्र प्रदर्शन – ग्रामीण

उत्क्रमित मध्य विद्यालय खड़पोस  का विलय बीएमसी मकतब में किए जाने का जोरदार विरोध जारी है। साथ ही स्कूल भी  बच्चे नहीं जा रहे हैं इसको लेकर नाराजगी भी सड़क पर उतर आई है। लोग अब धरना प्रदर्शन सड़क जाम जैसे कार्य भी कर विरोध जता रहे हैं। इसी कड़ी के तहत प्रखंड कार्यालय घेराव व प्रदर्शन भी स्कूली बच्चे एवं अभिभावकों के द्वारा किया गया।

इसके बावजूद भी अब तक किसी प्रकार की सुनवाई नहीं होने से ग्रामीणों में एवं अभिभावकों में आक्रोश देखा जा रहा है। अब उग्र आंदोलन की चेतावनी भी अभिभावक के द्वारा दी जा रही है। बच्चे भी कहते है कि इसके लिए भले ही स्कूल नहीं जाएंगे पर इसको स्वीकार नहीं करेंगे पूरे इलाके में इस बात की चर्चा ही नहीं इसको कई प्रकार की चर्चाएं से जोड़कर लगातार आक्रोश देखा जा रहा है।

चक्रधरपुर : पारंपरिक नृत्य के साथ करमा उत्‍सव मनाया गया

स्थानीय ग्रामीणों ने कहा कि एक साजिश के तहत इसे बिलाई किया गया है।इसको हर हाल में रद्द होना चाहिए प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी को पर भी आरोप लगाया गया कि बिना ग्रामीणों की सहमति या स्थिति को नजाकत को जानकारी लिए बिना ही इस को स्वीकृति दे दी।

अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

गिरीडीह : गांधी जयंती से पहले ओडीएफ करने की तैयारी ,युद्ध स्तर पर कार्य जारी 

NewsCode Jharkhand | 20 September, 2018 2:11 PM
newscode-image

 गिरिहीह। महात्मा गांधी के स्वच्छता के संकल्पना को जल्द ही गिरिडीह में भी आकर मिल जाएगा। जिले भर में युद्ध स्तर पर काम चल रहा है। गांधी जयंती पर पूरा जिला खुले में शौच जैसे अभिशाप से मुक्त होने की राह पर निकल पड़ने वाला है।

गिरिडीह : केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए स्‍कूल ने दी सहायता राशि

जिला भी खुले में शौच मुक्ति की ओर अग्रसर है। आगामी 02 अक्टूबर तक हर हाल में इस जिले को ओडीएफ करना है। इसको लेकर जिले भर की शेष  पंचायत जो अब तक ओडीएफ नहीं हुई हैं, उनमें दिन रात एक कर सभी पदाधिकारी, कर्मी, स्वयंसेवी एवं जनप्रतिनिधि सभी छूटे घरों में शौचालय का निर्माण करावाने में लगे हैं और निर्माण करने के लिए ग्रामीणों को भी प्रेरित कर रहें हैं।

गिरिडीह : हथियारबंद अपराधियों ने पेट्रोल पंप में दिया वारदात को अंजाम

फिलवक्त इसको लेकर जिले के वरीय अधिकारी भी गंभीर हैं। स्वच्छता ही सेवा है अभियान को सफल बनाने को लेकर सभी नोडल पदाधिकारी व संबंधित लोग पूरी तन्मयता से लगे हुए हैं। इस बाबत डीसी डॉ नेहा अरोड़ा ने कहा कि पूरा झारखंड राज्य ही 2 अक्टूबर को ओडीएफ होगा। ऐसे में किसी भी सूरत में गिरिडीह को भी गांधी जयंती से पहले खुले में शौच मुक्त क्षेत्र घोषित कर देना है।

वहीं ओडीएफ की तैयारी पर बात करते हुए उपायुक्त ने कहा कि ग्रास रुट लेवल के तमाम टास्क पूरे कर लिए गए हैं। सभी वेंडरों के साथ टाइम टू टाइम मीटिंग की गई है। उन्हें रॉ मेटेरियलस भी समय पर उपलब्ध कराए गए हैं। वहीं इसकी मोनिटरिंग का जिम्मा प्रखंड स्तर के पदाधिकारियो को दिया गया है।

गिरिडीह : मुहर्रम को लेकर मुकम्मल तैयारी, सीसीटीवी और ड्रोन से होगी निगहबानी

असल में गिरिडीह में शौचालय निर्माण में पूर्व में भी अच्छा काम हुआ है। उपायुक्त डॉ नेहा अरोड़ा ने कहा कि फाइनल स्टेज का टाइम फ्रेम तय किया गया है। ज्यादातर प्रखंडों में निर्माण कार्य आखरी चरण में है। तयसुदा वक्त में निश्चित ही सारे काम पूरे कर लिए जाएंगे।  कुलमिलाकर, ओडीएफ को लेकर गिरिडीह पूरी तरह कमर कस चुका है। देखना होगा प्रशासन की उम्मीद कितनी कसौटी पर खरी उतर पाती है।

अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

साहेबगंज : अनिय‍मित बिजली आपूर्ति से लोगों का फूटा गुस्‍सा

more-story-image

झरिया : अखिल भारतीय किसान सभा व डीवाईएफआई की संयुक्त...