ताज महल पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को लगाई फटकार, कहा- देखभाल नहीं कर सकते तो ढहा दो

NewsCode | 11 July, 2018 4:04 PM
newscode-image

नई दिल्ली। दुनिया के सात अजूबों में शामिल आगरा के ताजमहल को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को जमकर फटकार लगाई है। बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने संरक्षण और रखरखाव पर सरकारी उदासीनता पर कहा कि अगर इसे संभाल नहीं सकते हैं तो ढहा दीजिए।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि एफ़िल टॉवर को देखने 80 मिलियन लोग आते है, जबकि ताजमहल के लिए मिलियन। आप लोग ताजमहल को लेकर गंभीर नहीं है और न ही आपको इसकी परवाह है। हमारा ताज ज्यादा खूबसूरत है और आप टूरिस्ट को लेकर गंभीर नहीं है। ये देश का नुकसान है, ताजमहल को लेकर घोर उदासीनता है।

अदालत ने सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि केवल एक स्मारक देश की समस्या का समाधान कर सकता था। क्या आपको अपनी उदासीनता के चलते देश को कितना नुकसान हुआ है इसका अहसास है?

उल्लेखनीय है कि इससे दो दिन पहले उच्चतम न्यायालय ने ताजमहल में नमाज पढ़ने पर रोक लगा दी थी। शीर्ष अदालत ने कहा था कि ताजमहल दुनिया के सातवें अजूबों में से एक है। इसलिए यह ध्यान रखना होगा कि ताजमहल के परिसर में नमाज पढ़ने की इजाजत नहीं दी जा सकती है। कोर्ट ने यह भी कहा कि यहां कई और जगहें हैं जहां नमाज पढ़ी जा सकती है फिर ताजमहल परिसर ही क्यों?

न्यायमूर्ति एमबी लोकुर और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने कहा कि ताजमहल के संरक्षण के बारे में संसद की स्थायी समिति की रिपोर्ट के बावजूद सरकार ने कोई ठोस कदम नहीं उठाए हैं। केंद्र ने पीठ को बताया कि आईआईटी-कानपुर ताजमहल और उसके आसपास वायु प्रदूषण के स्तर का आकलन कर रहा है और चार महीने में अपनी रिपोर्ट देगा।

इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ताजमहल की सुरक्षा को लेकर किए जा रहे उपायों का जिक्र करते हुए केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार को सुस्त बताया। गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से ताज की चमक फीकी पड़ती जा रही है जिसको लेकर सुप्रीम कोर्ट लगातार सख्ती दिखा रहा है।

तलाक के बाद बीवी ने घर नहीं छोड़ा तो बंद कमरे में एक महीने रखा भूखा-प्यासा, इलाज के दौरान हुई मौत

अभी कुछ दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि ताज महल सात अजूबों में शामिल है, यहां नमाज नहीं पढ़ सकते हैं। नमाज किसी और जगह भी पढ़ सकते हैं। हालांकि, स्थानीय नमाजी अभी भी नमाज पढ़ सकते हैं। जिसके बाद बाहरी लोगों के नमाज पढ़ने पर पाबंदी हो गई थी।

केंद्र सरकार ने काटी कन्नी, कहा- सुप्रीम कोर्ट तय करे समलैंगिकता अपराध है या नहीं

लाठी डंडे और भय दिखा कर सत्ता पर बने रहना चाहती है  भाजपा

Om Prakash | 18 November, 2018 6:45 PM
newscode-image

रांची :  महानगर कांग्रेस कमिटी ओबीसी विभाग के द्वारा किशोरगंज, बड़ा तालाब स्थित मोमिन हॉल, रांची में जनसमस्यओं को लेकर एक बैठक मुहल्ला समस्या निदान चैपाल आहूत की गई। बैठक में आमलोगों की जनसमस्याओं से अवगत होते हुए समाधान हेतु विचार-विमर्श किया गया। बैठक में कांग्रेस पार्टी नेता आदित्य विक्रम जयसवाल, पार्टी कार्यकर्तागण एवं मुहल्ला के समाजसेवी मुख्य रूप से उपस्थित थे।

बैठक में मुहल्ला वासियों ने बताया कि पानी सप्लाई समय पर नहीं होने से पेयजल की भारी किल्लत है, मुहल्ले में समुचित साफ सफाई नहीं होने से गंदगी का अम्बार है, सरकारी योजनाओं का लाभ सही लाभुक को नही मिल रहा है। भाजपा की सरकार में महंगाई चरम पर है, रोजगार की आशा में  मारें फिर रहे हैं।

इस मौके पर  जयसवाल ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार, राज्य के रघुवर की सरकार और भाजपा शासित रांची नगर निगम कभी अच्छी सोच के साथ गरीबों के उत्थान के लिएकार्य नही की है। भाजपा का जन आरोग्य योजना, मुद्रा लोन, जनधन योजना, स्वच्छ भारत योजना, मेक इन इंडिया सभी विफल साबित हुई है। भाजपा की सभी योजनाएं सिर्फ गरीब का परिवारों को लुभाने और ठगने का काम की है, यह भाजपा की सरकार बाहरी लोगों को लाभ पहुँचाती है और झारखंडियों की आवाज को लाठी डंडे के सहारे दबाना चाहती है। जो इनकी मंसूबे को जनता समझ चुकी है। आने वाले चुनाव में वोट देकर भाजपा को चोट पहुँचायगी। राजधानी के युवा साथी बदलाव की और अग्रसारित है।

प्रदेश कांग्रेस के योजना एवम रणनीति के सदस्य अमिताभ रंजन ने कहा कि भाजपा की नियत और नीति दोनों गरीबों के खराब है। लाठी डंडे और भय दिखा कर सत्ता पर बने रहना चाहती है, भाजपा का विकास खोखला है।

पुरानी रांची निवासी शमशेर ने कहा कि रोजगार के लिये नवयुवक दर दर भटक रहे हैं, महिला, बच्चें असुरक्षित महसूस कर रहे हैं, ब्यवसायिक वर्ग अपराधी के भय से जिय रहे हैं, राजधानी के लोग भय की साया में लिप्त हैं।

महानगर कांग्रेस नेता किशन अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हमेशा गरीबों की उत्थान, दुख सुख की बात करती है , और अपनी राज्य लोकतांत्रिक तरीके से चलाने पर विश्वास करती है। कांग्रेस पार्टी ही राज्य का सही विकास करेगी, आंकड़े और दिखावे का काम सिर्फ भाजपा की झूठी सरकार करती है। कांग्रेस गरीबों के चेहरों पर भय नही मुस्कान भरने पर विश्वास करती है।

बैठक के अंत मोमिन हॉल में युवाओं के बीच क्रिकेट किट का वितरण किया गया था। श्री जायसवाल ने अपनी टीम के साथ मुहल्ला में पदयात्रा कर कांग्रेस की नीति और संदेश को जन जन को बताया और मोहल्ला की समस्या निदान का हर सम्भव मदद की आश्वाशन दिया।

बैठक की अध्यक्षता कांग्रेस ओ बी सी नेता नंद किशोर साहू  ने की तथा संचालन आसिफ जियाउल ने किया। वहीं धन्यवाद ज्ञापन अनिल सिंह ने की

इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से पुरानी रांची के सदर हाफिजुर रहमान ,नईम भाई ,रमजान अंसारी, शमशेर आलम, किशन अग्रवाल, अमिताभ रंजन, उमेश कुमार ,आसिफ जियाउल, तमन ,फैयाज, टीपू ,पिंटू ,इफ्तेखार ,आसिफ नंद किशोर साहू ,मेराज आलम, सदाब, अमरजीत सिंह, अनिल सिंह, चिंटू चौरसिया, प्रेम कुमार,रमजान, साद, फैयाज, रमीज, मिनटु, इफ्तिखार, मोकिम, बिक्की, तस्लीम, तमन्ना, सददाब, इसरार, मौसिन आदि उपस्थित थे।

 

 (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

झारखण्ड प्रदेश चुनाव कमिटी की सदस्य गुंजन सिंह

Om Prakash | 18 November, 2018 5:46 PM
newscode-image

रांची:  रॉंची  महानगर  जिला  कांग्रेस  कमिटी  की  कार्यकारी  अध्यक्ष  विनीता  पाठक  ने  झारखण्ड प्रदेश  महिला  कांग्रेस  कमिटी  की अध्यक्ष  गुंजन सिंह  को  ऑल इंडिया  कांग्रेस  कमिटी  द्वारा झारखण्ड प्रदेश चुनाव कमिटी की सदस्य बनाए जाने पर बधाई  दी  है। साथ हीं साथ  इसके  लिए सोनिया  गॉंधी, अखिल  भारतीय  कांग्रेस  कमिटी  के  अध्यक्ष  राहुल  गॉंधी,  झारखण्ड  प्रभारी आर. पी. एन. सिंह  एवं  प्रदेश  कांग्रेस  अध्यक्ष  डा0  अजय कुमार  के  प्रति  आभार  प्रकट  किया  है।

महानगर  अध्यक्ष  ने  कहा  कि  कांग्रेस  पार्टी  की  एक  ऐसी  पार्टी  है,  जिसने  महिलाओं  को  मान-सम्मान  दिया  है  और  महिलाओं  के  हितों  के  लिए  काम  करती  है।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी नेहीं  पंचायतों  में  महिलाओं  को  पचास  प्रतिशत  आरक्षण  दिलाया  और  समय-समय  पर महिलाओं को सम्मान  देने  से  नहीं चुकती है।

लोहरदगा : अपने हजारों समर्थकों के साथ जेएमएम में शामिल होंगे अफसर कुरैशी

NewsCode Jharkhand | 18 November, 2018 5:38 PM
newscode-image

लोहरदगा। जिले के समाजसेवी अफसर कुरैशी अपने हजारों समर्थकों के साथ झारखंड मुक्ति मोर्चा में शामिल होंगे। इसका निर्णय रविवार को उनके न्यू रोड स्थित आवास पर हुए बैठक में लिया गया।

बैठक में राज्य के 6 जिलों के उनके सैकड़ों समर्थक शामिल हुए। जहां राज्य स्थापना के 18 वर्ष बाद भी राज्य व जिले में अब भी मूलभूत समस्याओं तथा शिक्षा और रोजगार के लिए लोगों के पलायन करने को लेकर चर्चा की गई।

जिले व राज्य के विकास तथा युवाओं को रोजगार व राज्य के संपूर्ण विकास को लेकर रणनीति तय की गई। उनके समर्थकों ने एक स्वर में अफसर कुरैशी के अगुवाई में झारखंड मुक्ति मोर्चा पार्टी में शामिल होने की बात कही।

मौके पर अफसर कुरैशी ने कहा कि पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन केंद्रीय कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन व बसंत सोरेन के समक्ष वह तथा उनके हजारों समर्थक जेएमएम में शामिल होंगे। जिसके बाद अब अफसर कुरैशी अपने हजारों समर्थकों के साथ जल्द ही झारखंड मुक्ति मोर्चा में शामिल होंगे।

बैठक में गुमला, सिमडेगा, रांची, लातेहार, पलामू, डालटेनगंज, व लोहरदगा के समर्थक शामिल हुए। जिनमें गुप्तेश्वर प्रसाद गुप्ता, गुमला अंजुमन के नाजिमे आला हाजी खलील अहमद, सदर इरशाद खान, सेक्रेटरी खुर्शीद आलम, सिमडेगा अंजुमन के मोहम्मद शरीफ खान, जहीर खान, अब्दुल जब्बार, शमीम अख्तर, हाफिज खालिद अंसारी, डॉ खान, महेश सोनी, मनोज कुमार, प्रमोद कुमार, शिवा उरांव, मनोज उरांव, रोपा उरांव, नेहाल कुरैशी, कमरूज्जमा कुरैशी, इकबाल खलीफा, रहमत अंसारी, रौनक अंसारी, मुस्तफा अंसारी, रउफ अंसारी सहित सैकड़ों की संख्या में लोग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

रांची : लायंस इंटरनेशनल डिस्ट्रिक्ट द्वारा निकाली गई मेगा डायबिटीज...

more-story-image

आम आदमी पार्टी का एक दिवसीय उपवास सह धरना प्रदर्शन

X

अपना जिला चुने