SSC Exam Scam : पेपर लीक को लेकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे छात्रों से मिलने पहुंचे अन्ना हजारे

NewsCode | 4 March, 2018 11:31 AM

एसएससी द्वारा आयोजित सीजीएल 2017 के टियर-2 की परीक्षा के प्रश्न पत्र और आंसर की लीक हो गई थी, जिसके बाद छात्रों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।

newscode-image

दिल्ली के सीजीओ कॉम्प्लेक्स में कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) दफ्तर के बाहर पेपर लीक मामले को लेकर छात्र पिछले एक हफ्ते से विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बाद छात्रों के इस प्रदर्शन को अन्ना हजारे का साथ भी मिल गया है। रविवार को अन्ना हजारे सीजीओ कॉम्प्लेक्स पहुंचे और विरोध प्रदर्शन में शामिल अभ्यर्थियों से मुलाकात की।

ज्ञात हो कि एसएससी द्वारा आयोजित सीजीएल 2017 के टियर-2 की परीक्षा के प्रश्न पत्र और आंसर की लीक हो गई थी, जिसके बाद छात्रों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। छात्रों ने पेपर लीक होने पर आरोप लगाते हुए एसएससी की परीक्षा में व्यापक स्तर पर हो रही गड़बड़ी की सीबीआई जांच कराने की मांग की है ताकि पेपर लीक में जो भी दोषी शामिल हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो सके।

हालांकि, हजारों की संख्या में प्रदर्शन कर रहे छात्रों का कहना है कि परीक्षा में धांधली से उनका भविष्य चौपट हो रहा है और ऐसे में मोदी सरकार की यह चुप्पी चुभ रही है। शुक्रवार को देश भर के अलग-अलग हिस्सों से आए छात्रों ने काली होली मनाई और अपना विरोध दर्ज कराया।

इधर, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने शनिवार को छात्रों से मुलाकात की और छात्रों के दुख को अपना दुख बता कर सीबीआई जांच की मांग की।

छात्रों ने मांग रखी कि जब तक इस मामले की सीबीआई जांच के आदेश नहीं दिए जाते हैं, तब तक वह लोग यहां से नहीं हटेंगे। इस मद्देनजर जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम मेट्रो को भी बंद कर दिया गया है।

मोदी की भ्रष्टाचार खत्म करने की मंशा नहीं : अन्ना हजारे

क्या है मामला

गौरतलब है कि इसी साल फरवरी में हुई SSC-CGL परीक्षा में कथित तौर पर सवाल और आंसरशीट लीक होने के आरोप लग रहे हैं। स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की ये परीक्षा 17 फरवरी से 22 फरवरी के बीच आयोजित हुई थी। ये ऑनलाइन परीक्षा थी, लेकिन छात्रों का आरोप है कि परीक्षा शुरू होने के कुछ देर बाद ही सवालों और जवाबों के स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो गए थे।

SSC-CGL 2018 परीक्षा में हुई धांधली, CBI जांच की मांग को लेकर प्रदर्शन में जुटे हजारों छात्र

पांच साल में भाजपा की तिजोरी में आया 80,000 करोड़ : अन्ना हजारे

PHOTOS: मन से भावुक कवि, कर्म से राजनेता अटल बिहारी वाजपेयी की ये दुर्लभ तस्वीरें नहीं देखी होंगी आपने

NewsCode | 16 August, 2018 6:29 PM
newscode-image

पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी अब इस दुनिया में नहीं रहे। नई दिल्ली के एम्स में लंबे इलाज के दौरान 93 साल की उम्र में उनका निधन हो गया है। वाजपेयी के निधन की खबर के साथ ही पूरे देश में शोक की लहर है। भारतीय जनता पार्टी ने देश में अपने सभी कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है।

12 नवंबर 1973 में अटल बिहारी वाजपेयी बैलगाड़ी से संसद पहुंचे थे। वो पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने का विरोध कर रहे थे इसलिए वो बैलगाड़ी से पहुंचे।


2. यह तस्वीर जनता पार्टी के शपथ ग्रहण समारोह की है। जिसे जयप्रकाश नारायण संबोधित कर रहे हैं। इस तस्वीर में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी भी नजर आ रहे हैं।


3. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को कुत्तों से बेहद लगाव था। वह अक्सर पालतू कुत्तों के साथ खेलते नजर आ जाते थे।


4. सोशल मीडिया पर ये तस्वीर काफी वायरल हो रही है। जिसमें वो प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से बात करते नजर आ रहे हैं।


5. यह तस्वीर 8 जनवरी 1978 की है जब अटल बिहारी वाजपेयी जनता पार्टी की सरकार में विदेश मंत्री थे। वह ताजमहल में ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधानमंत्री जेम्स कलाहन के साथ मौजूद हैं।


6. माधव सदाशिव गोलवालकर, पंडित दील दयाल उपाध्याय और अटल बिहारी वाजपेयी एक साथ बैठे नजर आ रहे हैं। ये तस्वीर भी काफी शेयर की जा रही है।


7. एक आंदोलन के दौरान सुषमा स्वराज और मदनलाल खुराना के साथ सड़कों पर उतरे अटल बिहारी वाजपेयी की तस्वीर।


8. ये दुर्लभ तस्वीर भी काफी शेयर की जा रही है। इस तस्वीर में अटल बिहारी वाजपेयी, लाल कृष्ण आडवाणी और भैरों सिंह शेखावत नजर आ रहे हैं। ये तस्वीर जन संघ दिनों की है।


बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी बीते 11 जून से एम्स में भर्ती थे। बुधवार को उनकी हालत गंभीर हो गई और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था। वाजपेयी को गुर्दा (किडनी) की नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण आदि के बाद 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था। मधुमेह पीड़ित 93 वर्षीय भाजपा नेता का एक ही गुर्दा काम करता था।


नहीं रहे पूर्व पीएम अटलबिहारी वाजपेयी, 93 साल की उम्र में निधन

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के निधन से पूरे देश में शोक की लहर, मोदी बोले- निःशब्द हूँ

रांची : वाजपेयी राजनीति के अजातशत्रु, अपराजेय वक्ता- रघुवर दास

अटल जी की इन 5 कविताओं को पढ़कर जीवन में उतार लिया तो हर मैदान फ़तह कर लेंगे आप

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गावां (गिरिडीह) : विभिन्न विभागों में झंडोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का दिखा अभाव

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:12 PM
newscode-image

 स्वतंत्रता दिवस समारोह पर दिखी अनुशासनहीनता

गावां गिरिडीह। गावां में स्वतंत्रता दिवस समारोह में इस बार पूर्वाभ्यास की पूरी कमी देखी गई। नतीजतन विभिन्न विभागों में झंझोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का अभाव दिखा। इस कारण प्रखंड मुख्यालय में झंडोत्‍तोलन के वक्त झंडे को सलामी देने के लिए पुलिस जवान मौजूद नहीं रहे।

जबकि बीडीओ मोनी कुमारी सलामी दल को बुलाने के लिए थाना में फोन करती रहीं। वहीं गावां थाना द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में दिये गये समय सारणी से एक घंटा पूर्व ही ध्‍वजारोहण कर दिया गया।

बोकारो : खेल के मामले में सरकार का रवैया उदासीन : मयूर शेखर झा

इस कारण थाना परिसर में झंडोत्‍तोलन देखने से लोग चूक गये। बता दें कि थानेदार द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में झंडोत्‍तोलन का समय दिन के 10:10 बजे निर्धारित था, लेकिन तय समय से एक घंटा 4 मिनट पूर्व ही 09:06 बजे ही थाना में झंडोत्‍तोलन कर दिया गया। इस कारण तय समय पर थाने में झंडोत्तोलन में शामिल होने पहुंचे लोगों को मायूस होना पड़ा।

बैंक प्रबंधक को झंडोत्‍तोलन के बजाय घर भागना आया रास

वैसे तो तिरंगा फहराना गर्व की बात मानी जाती है और इसके लिए लोग लालायित भी रहते हैं, लेकिन समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो स्वतंत्रता दिवस को महज एक सरकारी बंदिशों वाला कार्यक्रम मान लेते हैं। ऐसा ही नजारा गावां के इलाहाबाद बैंक में देखने को मिला।

प्रबंधक ने झंडोत्‍तोलन करने के बजाए 15 अगस्त को घर भागना ज्यादा मुनासिब समझा। फलत: गावां इलाहाबाद बैंक में एक आम सीनियर सिटीजन उमाशंकर अवस्थी ने झंडोत्‍तोलन किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

चाईबासा : जिले के चार प्रखंडों में लगाए गए जनता दरबार

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:01 PM
newscode-image

 चाईबासा । पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल के निदेशानुसार गुरूवार को जिले के चार प्रखण्डों में जनता दरबार का अयोजन किया गया। नोवामुंडी प्रखण्ड मुख्यालय जनता दरबार में विभिन्न विभागों के द्वारा शिविर का लगाया गया।

जिसमें मुख्य रूप से वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन,विकलांग पेंशन, दिव्यांग पेंशन, जाति, आवासीय, आय प्रमाण पत्रों, स्वास्थ्य, चिकित्सा, कृषि, पशुपालन, समाज कल्याण सहित अन्य विभागों के प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों ने लोगों के समस्या का समाधान किया।

जनता दरबार में बच्चों का आधार पंजीकरण भी कराया गया। जनता दरबार का आयोजन प्रखण्ड विकास पदाधिकारी नोवामुण्डी समरेश प्रसाद भण्डारी, तथा अंचलाधिकारी गोपी उरॉव के निर्देशन में सम्पन्न हुआ। वहीं जगन्नाथपुर प्रखंण्ड कार्यालय में लगे जनता दरबार में सूचना के अभाव में लोग नहीं पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

More Story

more-story-image

पाकुड़ : अज्ञात वाहन की चपेट में आने एक की...

more-story-image

धनबाद : एनडीए सरकार में श्रम मंत्री रही रीता वर्मा...