स्मृति ईरानी के साथ ‘दुर्व्यवहार’ पर 4 के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल

NewsCode | 17 April, 2018 2:28 PM

स्मृति ईरानी के साथ ‘दुर्व्यवहार’ पर 4 के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल

नई दिल्ली| केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी के साथ वर्ष 2017 में हुए दुर्व्यवहार के एक मामले में दिल्ली विश्वविद्यालय के चार छात्रों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया गया है। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

दिल्ली के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, “चारों के खिलाफ ‘पीछा करने, शराब पीकर गाड़ी चलाने और महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाने’ के आरोपों के तहत सोमवार को आरोपपत्र दाखिल किया गया।”

3 साल बाद बस 12 घंटे में दिल्ली से पहुंचेंगे मुंबई, नितिन गडकरी का ये है ‘मास्टरप्लान’

दिल्ली विश्वविद्यालय के चार छात्रों को अप्रैल 2017 में दिल्ली के चाणक्यपुरी इलाके में नशे में धुत होकर स्मृति ईरानी की कार का ‘पीछा करने, दुर्व्यवहार करने और उनकी कार को ओवरटेक करने’ के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

इन लोगों को मंत्री के सुरक्षा कर्मियों की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया था।

मक्का मस्जिद केस में फैसला सुनाने के बाद जज रवींद्र रेड्डी ने आखिर क्यों दिया इस्तीफा ?

आईएएनएस

गढ़वा : हवलदार की गोली मारकर हत्या, छुट्टी नहीं मिलने से नाराज जवान ने दिया अंजाम

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 10:10 AM

गढ़वा : हवलदार की गोली मारकर हत्या, छुट्टी नहीं मिलने से नाराज जवान ने दिया अंजाम

गढ़वा। जिले में आज एक लोमहर्षक घटना घटित हुई। एक पुलिस जवान ने खुद के कंपनी के हवलदार की गोली मार कर हत्या कर दी। घटना के बाबत आपको बताएं कि निकाय चुनाव कराने आये आईआरबी की एक कंपनी जो नामधारी कॉलेज स्थित मतगणना केंद्र की सुरक्षा में तैनात थी।

हवलदार अफ़रोज़ शमद की गई जान

कल मतगणना समाप्त होने के साथ आज कंपनी यहां से कूच करने की तैयारी में थी कि अहले सुबह सभी को गोली चलने की आवाज सुनायी देती है। सभी उस आवाज की दिशा में दौड़ते हैं तो वहां देखते हैं कि उनके कंपनी का हवलदार मुंगेर निवासी अफ़रोज़ शमद मृत पड़े हुए हैं।

पलामू : अपराधी हुए बेखौफ, एक घंटे के भीतर दो जगहों पर की गोलीबारी

IRB जवान गोली मारकर फरार

जवान और अधिकारियों ने मालूम किया तो जानकारी मिली कि मझिआंव थाना क्षेत्र निवासी आईआरबी जवान मुक्ति नारायण सिंह द्वारा उक्त हवलदार को गोली मारी गयी है और उसे हथियार ले कर भागते देखा गया है।

छुट्टी नहीं मिलने से नाराज था मुक्ति नारायण

एक जवान द्वारा हत्या क्यों कि गयी इसका कारण बताया गया कि उक्त जवान द्वारा लगातार छुट्टी मांगा जा रहा था। छुट्टी नहीं मिलने से नाराज जवान द्वारा हवलदार की हत्या जैसी घटना को अंजाम दिया गया।

 

Read Also

UP: बीजेपी विधायक की दादागिरी, सरकारी कर्मचारी को ‘मुर्गा’ बनाया, फिर बेहोश होने तक कराई उठक-बैठक

NewsCode | 21 April, 2018 10:07 AM

UP: बीजेपी विधायक की दादागिरी, सरकारी कर्मचारी को ‘मुर्गा’ बनाया, फिर बेहोश होने तक कराई उठक-बैठक

बांदा। उत्तर प्रदेश में भाजपा विधायकों और नेताओं की दबंगई के नमूने लगातार सामने आ रहे हैं। बांदा के सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी ने पेयजल संकट के बहाने जल संस्थान के टैंकर प्रभारी को सरेआम पहले ‘मुर्गा’ बनाया, फिर तब तक उठक-बैठक करवाई, जब तक वह बेहोश होकर जमीन पर गिर न गया।

गुरुवार को हुआ यह था कि बांदा शहर में पेयजल संकट को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेता व सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी जल संस्थान के अभियंताओं के साथ कई मुहल्लों का दौरा किया, जहां लोगों ने टैंकरों से पानी उपलब्ध कराने में गड़बड़ी की शिकायत की। लोगों की शिकायत से ‘माननीय’ का पारा चढ़ गया और जल संस्थान के टैंकर प्रभारी/लिपिक को अधिकारियों और आम जनता के सामने पहले मुर्गा बनाया, फिर बेहोश होने तक उठक-बैठक करवाई।

पीड़ित लिपिक नरेंद्र कुमार ने शुक्रवार को बताया, “अधिकारी समय से टैंकर में पानी नहीं उपलब्ध करवाते, जिससे पानी वितरण में बाधा आती है। लेकिन, गुरुवार को विधायक जी ने पहले सरेआम मुझे मुर्गा बनाकर झुकाए रहे, बाद में तब तक कड़ी धूप में उठा-बैठक लगवाई, जब तक मैं बेहोशर होकर जमीन पर नहीं गिर गया।”

उसने कहा, “मेरे साथ बुरा बर्ताव किया गया है, जिससे मैं बेहद आहत हूं।”

भाजपा विधायक प्रकाश द्विवेदी ने शुक्रवार को एक बार फिर दोहराया, “अभी मुर्गा बनाया है और उठा-बैठक करवाई है। शहर का पेयजल संकट दूर न किया गया तो जनता अधिकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटेगी, मैं जनता के साथ हूं।”

उत्तर प्रदेश में महज पांच रुपये के लिए युवक की पीट-पीट कर हत्या

क्या उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी चमक खोते जा रहे हैं?

आईएएनएस

सामान्य मॉनसून की आहट से शेयर बाजार गुलजार

NewsCode | 21 April, 2018 9:40 AM

सामान्य मॉनसून की आहट से शेयर बाजार गुलजार

मुंबई। बीते सप्ताह शेयर बाजारों में तेजी का रुख रहा, जिसमें भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) द्वारा इस साल सामान्य मॉनसून के अनुमान लगाने का प्रमुख योगदान रहा। साथ ही मार्च में खाद्य कीमतों में नरमी के कारण थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) आधारित मुद्रास्फीति में भी गिरावट दर्ज की गई और यह 2.47 फीसदी रही। इससे भी निवेशकों के हौसले बुलंद हुए। साथ ही सकारात्मक वैश्विक संकेतों का भी निवेशकों के मनोबल को बढ़ाने में प्रमुख योगदान रहा। बीते सप्ताह साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 222.93 अंकों या 0.65 फीसदी की तेजी के साथ 34,415.58 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 83.45 अंकों या 0.80 फीसदी की तेजी के साथ 10,564.05 पर बंद हुआ। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 121.18 अंकों या 0.73 फीसदी की तेजी के साथ 16,798.94 पर तथा स्मॉलकैप सूचकांक 196.04 अंकों या 1.09 फीसदी की तेजी के साथ 18,178.03 पर बंद हुआ।

सोमवार को शेयर बाजारों की सकारात्मक शुरुआत हुई। सेंसेक्स 112.78 अंकों या 0.33 फीसदी की तेजी के साथ 34,305.43 पर तथा निफ्टी 47.75 अंकों या 0.46 फीसदी की तेजी के साथ 10,528.35 पर बंद हुआ। मंगलवार को सेंसेक्स 89.63 अंकों या 0.26 फीसदी की तेजी के साथ 34,395.06 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 20.35 अंकों या 0.19 फीसदी की तेजी के साथ 10,548.70 पर बंद हुआ।

बुधवार को शेयर बाजारों में पिछले 9 लगातार सत्रों की बढ़ोतरी के बाद सुधार देखा गया और सेंसेक्स 63.38 अंकों या 0.18 फीसदी की गिरावट के साथ 34,331.68 पर बंद हुआ तथा निफ्टी 22.50 अंकों या 0.21 फीसदी की गिरावट के साथ 10,526.20 पर बंद हुआ।

गुरुवार को एक बार फिर बाजार में तेजी आई और सेंसेक्स 95.61 अंकों या 0.28 फीसदी की तेजी के साथ 34,427.29 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 39.10 अंकों या 0.37 फीसदी की तेजी के साथ 10,565.30 पर बंद हुआ। शुक्रवार को सेंसेक्स 11.71 अंकों या 0.03 फीसदी की गिरावट के साथ 34,415.58 पर तथा निफ्टी 1.25 अंकों या 0.01 फीसदी की गिरावट के साथ 10,564.05 पर बंद हुआ।

बीते सप्ताह सेंसेक्स के तेजी वाले शेयरों में प्रमुख रहे – टीसीएस (8.11 फीसदी), इंफोसिस (0.79 फीसदी), विप्रो (1.70 फीसदी), हिन्दुस्तान यूनीलीवर (3.96 फीसदी), रिलायंस इंडस्ट्रीज (1.15 फीसदी) और महिद्रा एंड महिंद्रा (1.57 फीसदी)।

सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे – एक्सिस बैंक (6.53 फीसदी), स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (3.90 फीसदी), आईसीआईसीआई बैंक (2.17 फीसदी), इंडसइंड बैंक (2.01 फीसदी), मारुति सुजुकी (1.11 फीसदी), टाटा मोटर्स (5.72 फीसदी), एचडीएफसी (0.49 फीसदी) और अडानी पोर्ट्स (0.51 फीसदी)।

व्यापक आर्थिक मोर्चे पर, भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने अनुमान लगाया है देश में इस साल मॉनसून सामान्य रहेगा और औसत बारिश 97 फीसदी होने की संभावना है।

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को यह घोषणा की है। इस मौसम अनुमान में बताया गया है कि इसमें दीर्घकालिक औसत (एलपीए) से पांच फीसदी कम-ज्यादा तक की गलती हो सकती है।

इन आंकड़ों में 96 से 104 फीसदी तक को सामान्य मॉनसून माना जाता है।

इससे पहले, चार अप्रैल को निजी मौसम अनुमान एजेंसी स्काईमेट ने भी सामान्य मॉनसून का अनुमान लगाया था और 100 फीसदी बारिश होने की संभावना जताई थी, जबकि इसमें पांच फीसदी की गलती की गुंजाइश बताई गई थी।

आईएमडी ने हालांकि कहा कि बारिश को लेकर स्पष्ट तस्वीर जून में ही सामने आएगी। बारिश का मौसम एक जून से 30 सितंबर तक होता है।

किसानों के लिए अच्छी खबर, इस साल सामान्य रहेगा मानसून, जानें किस माह में कितनी होगी बारिश

आईएएनएस

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.