सिमडेगा : जंगली हाथी ने एक को कुचलकर मारा, रेंजर ने दिया 10 हजार रु. मुआवजा

NewsCode Jharkhand | 7 July, 2018 8:47 PM
newscode-image

सिमडेगा। जलडेगा प्रखंड के ओड़गा रामजड़ी पहाड़ टोली में जंगली हाथी ने एक व्यक्ति को कुचलकर  मार डाला। बुधवार को भी उसी हाथी ने बेंदोसेरा भालुगुटरा गांव मे भिनसारी देवी को मौत की नींद सुला दिया था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मुगल बडाईक (40 वर्ष)  शुक्रवार की रात  घर से बाहर निकला था। इसी बीच एक जंगली हाथी वहां आ धमका और मुगल बड़ाईक को कुचलकर मार डाला।  रेंजर विनोद कुमार ने बताया कि मृतक के परिजनों को 10 हजार रुपए की आर्थिक मदद दी गई है। मुआवजे की बाकी राशि  का भुगतान कागजी कार्रवाई के बाद किया जायेगा।

सिमडेगा : जंगली हाथी ने एक को कुचलकर मारा, रेंजर ने दिया 10 हजार रु. मुआवजा

उन्होंने बताया कि बांकुड़ा से हाथी भगाने के लिए 16 सदस्यीय टीम ओड़गा पहुंच गयी है। टीम के लोग, हाथी के आने जाने वाले रास्ते की रेकी कर रहे हैं। इसके बाद हाथी भगाने का काम प्रारंभ हो किया जायेगा। ओड़गा  ओपी की पुलिस ने शव को  अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए सिमडेगा सदर अस्पताल भेज दिया।

सिमडेगा : सड़क दुर्घटना में हुई युवक की मौत

ग्रामीणों ने बताया कि हाथी अकेला है और शायद अपनी टोली से बिछड़ कर गुस्से में है।  मालूम हो कि पिछले दो सप्ताह से उक्त हाथी रामजड़ी, परबा और बेंदोसेरा इलाके में उत्पात मचा रहा है। एक सप्ताह का भीतर उसने  दो लोगों की जान ले ली है। वहीं उसने कई घरों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

जामताड़ा : ट्रक और बाइक में जोरदार टक्कर, तीन घायल

Tarun Kumar Choubey | 26 September, 2018 10:03 AM
newscode-image

जामताड़ा। मंगलवार शाम करीब पांच बजे नारायणपुर थाना क्षेत्र के पबिया बाजार में गोविंदपुर-साहेबगंज हाइवे पर सीमेंट लदा ट्रक (जेएच 10 ओ 6365) से बाइक का आमने सामने टक्कर हो जाने से तीन लोग घायल हो गए। ट्रक धनबाद से सीमेंट लादकर जामताड़ा जा रही थी।

तीनों के सिर  व शरीर पर काफी चोटें लगी है। मौके पर ट्रक चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया। भीड़ ने ट्रक को अपने कब्जे में कर लिया। जानकारी के अनुसार  मोटरसाइकिल में तीन व्यक्ति सवार थे। चालक लबसन हेम्ब्रम (27), जितेंद्र टुडू (65) व महिला पकलु टुडू (35) तीनों की स्थिति नाजुक बताई जा रही है।

जामताड़ा : संतुलन बिगड़ने से किरासन तेल का टैंकर पलटा, तेल लेने जुटी भीड़

जामताड़ा : ट्रक और बाइक में जोरदार टक्कर, तीन घायल

सभी घायल नारायणपुर थाना क्षेत्र के मझलाड़ीह पंचायत के बरमसिया गांव का रहने वाले हैं। बजरंग दल के जिला संयोजक सोनू सिंह व भाजपा के मंडल अध्यक्ष सुधीर मंड़ल ने तीनों घायलों को बेहतर इलाज के लिए जामताड़ा सदर अस्पताल लाया। चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए धनबाद भेज दिया।

स्थानीय लोगों ने किया सड़क जाम

स्थानीय लोगों ने दुर्घटना के बाद मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया गया। सूचना मिलते ही घटना स्थल पर नारायणपुर थाना प्रभारी अजय कुमार सिंह व एसआई बीके सिंह पुलिस बल के साथ पहुंचे। लोगों ने सरकारी मुआवजे की मांग कर रहे थे।

जामताड़ा : चार शातिर साइबर अपराधियों के ठिकानों पर ईडी का छापा

थाना प्रभारी ने सड़क जाम कर रहे लोगों को समझा बुझाकर जाम हटाया। प्रभारी ने कहा कि सरकारी सहायता घायलों को जरूर मिलेगा। स्थानीय लोगों ने पबिया में अक्सर हो रहे दुर्घटना पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस बेरिकेड लगाने की मांग की। थाना प्रभारी ने उक्त व्यवस्था करने का आश्वासन दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : छुुुुट्टी मांगी, न‍हीं मिली, गर्भावस्‍था के पांंचवें माह में ड्यूूटी करने को मजबूर सुरक्षाकर्मी

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 3:58 PM
newscode-image

एमजीएम अस्पताल की संवेदनहीनता

जमशेदपुर। जमशेदपुर का एमजीएम अस्पताल इन दिनों फिर से सुर्खियों में है। वैसे इस बार यह अस्पताल अलग ही तरह के कारनामों को लेकर सुर्खियों में है।

इस अस्पताल की लापरवाही की खबरें तो आम बात है, लेकिन इस बार इस अस्पताल में काम कर रही महिला सुरक्षाकर्मियों की क्या स्थिति है, यह बता रहे हैं।

किस तरह 8 महीने की गर्भवती महिला सुरक्षाकर्मी ड्यूटी करने को मजबूर है। ऐसा नहीं है कि उस महिला कर्मी ने छुट्टी के लिए गुहार नहीं लगाई थी।

इस महिला ने प्रेगनेंसी लीव का आवेदन दिया था, लेकिन अस्पताल प्रबंधन या होमगार्ड  के वरीय अधिकारी इस महिला के आवेदन को निरस्त करते हुए इतना ही कहा कि जब तुम्हें परेशानी होगी तो तुम्हें छुट्टी दे दी जाएगी।

ठीक से खड़ी नहीं हो पा रही महिला ड्यूूटी करने को मजबूर

अब सवाल यह उठता है कि आखिर 8 महीने की गर्भवती महिला को क्या परेशानी नहीं हो रही होगी ?  क्या एमजीएम अस्पताल प्रबंधन और झारखंड सरकार का गृह रक्षा वाहिनी विभाग इतना संवेदनहीन हो गया है कि जो महिला अपने पैरों पर खड़ी नहीं हो पा रही, उसे अस्पताल की सुरक्षा में लगा दिया गया।

वैसे यह कोई पहली महिला नहीं है, जो गर्भवती होने के बाद भी ड्यूटी बजा रही है, बल्कि इनकी जैसी और भी एक महिला सुरक्षाकर्मी यहां ड्यूटी पर तैनात है।

पांचवें माह से ही प्रेगनेंसी लीव दिए जाने का है प्रावधान

ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर सरकारी योजना जिसके तहत महिलाओं को पांचवें माह से ही प्रेगनेंसी लीव दिए जाने का प्रावधान है, उसका उल्‍लंघन हो रहा है। यदि महिला होमगार्ड की जवान के साथ कुछ अनहोनी हो जाए तो उसके लिए कौन जिम्मेवार होगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 3:19 PM
newscode-image

लोहरदगा। शहर के बड़ा तालाब, जामा मस्जिद आदि क्षेत्रों में नगर परिषद की ओर से अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। अभियान में लोहरदगा सदर अंचलाधिकारी परमेश्वर कुशवाहा, सदर थाना प्रभारी पुलिस निरीक्षक शैलेश प्रसाद, नगर परिषद के सिटी मैनेजर आफताब आलम सहित कई अधिकारी और पुलिस बल के जवान मौजूद थे। अतिक्रमण अभियान के दौरान किसी भी प्रकार की स्थिति से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था। अतिक्रमण का दोषी पाए जाने पर, ऑन द स्‍पॉट कई दुकानदारों पर जुर्माना भी लगाया गया। नगर परिषद के इस अभियान से दुकानदारों में भी डर का माहौल देखा जा रहा है।

लोहरदगा : अतिक्रमण हटाओ अभियान से दुकानदारों में हड़कंप

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अतिक्रमण को लेकर महत्वपूर्ण निर्देश दिए जाने के बाद से नगर परिषद अतिक्रमण हटाने को लेकर अभियान चला रहा है। इस दौरान क्षेत्र के अलग-अलग हिस्सों में दुकानदारों द्वारा अतिक्रमण किए जाने का मामला सामने आने पर, अतिक्रमण हटाने को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। इससे पहले नगर परिषद ने कई बार दुकानदारों को चेतावनी देते हुए अतिक्रमण नहीं करने का निर्देश दिया था। बावजूद इसके अतिक्रमण होने की वजह से सड़कें संकरी हो गई थी और आए दिन दुर्घटनाएं हो रही थी। जिसकी वजह से नगर परिषद और अंचल प्रशासन ने अतिक्रमण हटाने को लेकर जोरदार अभियान चलाया।

लोहरदगा : टेबल-कुर्सी ही संभालते हैं कार्यालय, मत्स्य अधिकारी रहते हैं गायब 

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चाईबासा : शहर का होगा सौंदर्यीकरण, मनोरंजन से लेकर खेल-कूद...

more-story-image

चाईबासा : स्वच्छता ही स्वस्थ्य जीवन का मूल मंत्र है-रामनारायण...