सिमडेगा : मोतियाबिंद मरीजों का हुआ नि:शुल्‍क ऑपरेशन

newscode-image

सिमडेगा: भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी एवं जिला अंधापन नियंत्रण समिति के संयुक्त तत्वाधान में 100 मरीजों का  नि:शुल्क मोतियाबिंद आपरेशन सह लेंस प्रत्यारोपण  किया गया। ऑपरेशन के बाद सभी  मरीजों को  भारतीय रेडक्रॉस सोसाईटी जिला इकाई के अध्यक्ष सह उपायुक्त जटाशंकर चौधरी  द्वारा दवाई एवं चश्मा वितरण किया गया।

READ MORE # बोकारो : फूड प्‍वाइजनिंग से 22 छात्र-छात्राएं बीमार

श्री चौधरी ने मरीजों से मिल कर उनके  स्वास्थ्य की मंगलकामना की।  ऑपरेशन के बाद सभी मरीजों को नगर भवन में रखा गया है।  19 फरवरी को भी  रांची के नेत्र सर्जन डॉक्टर दीपक लकड़ा के द्वारा सदर अस्पताल में लेंस प्रत्यारोपण पद्धति द्वारा मोतियाबिंद ऑपरेशन किया जा रहा है। आज के कार्यक्रम को सफल बनाने में मुख्य रूप से डॉ दीपक लकड़ा के साथ सहायिका गोड लकड़ा एवं रितु रानी टोप्पो, सोसाइटी के सचिव मोहन सिंह, नेत्र सहायक पंकज कुमार, मो दानिश, हेमा महतो, सिस्टर मार्था,  सिस्टर कुसुम सोके, रामधन गोप, निपुन, सोसाइटी के नरेश कुमार अग्रवाल, खुबैब शाहिद, प्रेम गिरि, चक्रधर प्रसाद, धीरज कुमार सिंह, रीतेश अग्रवाल, राहुल अग्रवाल, सुलेंद्र साहु तथा एसएस स्कूल के एनसीसी के 15 कैडेट्स  का सराहनीय योगदान रहा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : दिव्यांग को हर संभव मदद करेगी सरकार : सतीश चंद्रा

newscode-image

रांची । दिव्यांगजनों के आर्थिक व सामाजिक सशक्तिकरण को लेकर राजधानी के प्रेस क्लब में दो दिवसीय कार्यशाला मंगलवार से शुरु हुई है। साईटसेवर्स व झारखंड राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के संयुक्त तत्वाधान में उक्त कार्यशाला यूरोपियन यूनियन के सहयोग से आयोजित की गयी है।

इस दौरान राज्य निःशक्तता आयुक्त सतीश चंद्र, मिशन के राज्य कार्यक्रम प्रबंधक श्रीमंत पात्रा, साईटसेवर्स झारखंड के कार्यक्रम अधिकारी जीतेंद्र कुमार, यूरोपियन यूनियन के राष्ट्रीय कार्यक्रम प्रबंधक रवि शंकर बेहरा सहित कई लोग उपस्थित थे।

दिव्यांग को कार्यक्रम में दी जा रही प्राथमिकता : श्रीमंत पात्रा

झारखंड राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के कार्यक्रम प्रबंधक श्रीमंत पात्रा ने दिव्यांगों की उपयोगिता की बात करते हुए कहा कि मिशन द्वारा चलाये जा रहे कई कार्यक्रमों में दिव्यांगों को प्राथमिकता दी जा रही है ताकि दिव्यांगो के समूह को सामाजिक व आर्थिक सशक्तिकरण किया जा सके।

इसी उद्देश्य से साईटसेवर्स द्वारा राज्य के चार जिलों ( दुमका, जामताड़ा, हजारीबाग, रांची) में राज्य सामाजिक समावेश कार्यक्रम कार्य चलाया जा रहा है। वहीं जीतेंद्र कुमार ने बताया कि परियोजनाओं का मुख्य उद्देश्य यह है कि दिव्यांगजनों का जीवन कैसे गुणवत्तापूर्ण बनाया जा सके।

हरसंभव मदद देगी  सरकार :  आयुक्त

कार्यक्रम की सफलता की बात करते हुए आयुक्त सतीश चंद्रा ने कहा कि दिव्यांगों के कल्याण के लिए सरकार ने कई कार्यक्रम चला रखा है। इस दौरान उन्होंने भरोसा दिलाया कि कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सरकार की तरफ से हरसंभव मदद दिया जाएगा।

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

तमिलनाडु की अनुकृति वास बनीं मिस इंडिया 2018, फाइनल में पूछे गए थे ये सवाल

newscode-image

नई दिल्ली। तमिलनाडु की रहने वाली 19 वर्षीय अनुकृति वास ने ‘फेमिना मिस इंडिया 2018’ का खिताब अपने नाम कर लिया है। कॉलेज में पढ़ाई कर रहीं अनुकृति वास ने 29 प्रतिभागियों को हराकर मिस इंडिया का ताज अपने नाम किया है।

मुंबई में हुए इस प्रतियोगिता को करण जौहर और आयुष्मान खुराना ने होस्ट किया। इस इवेंट के जज पैनल में बॉलीवुड एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा, अभिनेता बॉबी देओल, कुनाल कपूर, क्रिकेटर इरफान पठान और के.एल राहुल शामिल थे। इनके अलावा साल 2017 में मिस वर्ल्ड रहीं मानुषी छिल्लर भी यहां मौजूद थीं। मानुषी ने ही अनुकृति को ताज पहनाया।

मिस इंडिया दिल्ली गायत्री भारद्वाज, मिस इंडिया हरियाणा मीनाक्षी चौधरी, मिस इंडिया झारखंड स्टेफी पटेल, मिस इंडिया तमिलनाडु अनुकृति वास और मिस इंडिया आंध्र प्रदेश श्रेया राव इस प्रतियोगिता के टॉप-5 कंटेस्टेंट बने। दिल्ली, हरियाणा, झारखंड और आंध्र प्रदेश की कंटेस्टेंट को हराकर तमिलनाडु की अनुकृति के सिर मिस इंडिया का ताज सजा। बता दें, मीनाक्षी चौधरी फर्स्ट रनर-अप और आंध्र प्रदेश की रहने वाली श्रेया राव सेंकड रनर-अप रहीं।

अनुकृति ने उस सवाल का सबसे स्‍मार्ट जवाब दिया, जिसने उन्‍हें देश की सबसे खूबसूरत युवती बना दिया। अनुकृति से फाइनल राउंड में पूछा गया था, “कौन बेहतर टीचर है? सफलता या असफलता?” अनुकृति ने जवाब में कहा- “मैं असफलता को बेहतर टीचर मानती हूं। क्‍योंकि जब आपको जिंदगी में लगातार सफलता मिलती है तो आप उसे पर्याप्‍त मान लेते हैं और आपकी तरक्‍की वहीं रुक जाती है।” लेकिन जब आप असफल होते हो तो तो आपको प्रेरणा मिलती है कि आप सफलता मिलने तक लगातार मेहनत करते रहें।”

अनुकृति ने कहा, “मेरी मां के अलावा कोई नहीं था, जो मेरे समर्थन में खड़ा हो, आलोचना और असफलता, जिसने मुझे इस समाज आत्‍मविश्‍वासी और स्‍वतंत्र बनाया।”

कौन हैं और क्या करती हैं अनुकृति ?

चेन्नई के लोयोला कॉलेज में पढ़ने वाली 19 साल की अनुकृति वास ख़ुद को एक सामान्य लड़की बताती हैं जिसे घूमना और डांस करना पसंद है।

अनुकृति अपने एक वीडियो में कहती हैं, “मैं तमिलनाडु के शहर त्रिची में पली-बढ़ी हूं जहां पर लड़कियों की ज़िंदगी बंधी हुई होती है। आप छह बजे के बाद घर से बाहर नहीं जा सकते। मैं इस माहौल के पूरी तरह ख़िलाफ़ हूं। मैं ये स्टीरियोटाइप तोड़ना चाहती थी। इसीलिए, मैंने मिस इंडिया प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का फ़ैसला किया। अब मैं जब यहां पहुंच चुकी हूं तो मैं कहना चाहती हूं कि आप लोग भी उस क़ैद को तोड़कर बाहर निकल आएं और वहां पहुंचें जहां पर आप पहुंचना चाहते हैं।”

हिमाचल प्रदेश घूमने का सपना

अनुकृति इस समय लोयोला कॉलेज से बीए सेकेंड ईयर में हैं और फ्रेंच साहित्य की पढ़ाई कर रही हैं। ख़ुद को एथलीट बताते हुए अनुकृति कहती हैं, “मुझे कभी भी दुनिया घूमने और उसे देखने का मौका नहीं मिला। लेकिन अगर मुझे ऐसा मौका मिला तो आप निश्चित रूप से मुझे घर में नहीं देखेंगे क्योंकि मैं एडवेंचर और घूमना इतना पसंद करती हूं।”

फैमिना मिस इंडिया 2018 के फिनाले में माधुरी दीक्षित, करीना कपूर खान और जैकलीन फर्नांडिस ने अपनी शानदार डांस परफॉर्मेंस दी। बता दें कि अनुकृति वास इस साल मिस यूनिवर्स कम्पिटिशन में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी।

‘धड़क’ का टाइटल ट्रैक हुआ रिलीज़, जाह्नवी और ईशान के इस गाने में प्यार के कई रंग

newscode-image

नई दिल्ली। श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर और ईशान खट्टर की फिल्म धड़क का टाइटल ट्रैक रिलीज़ कर दिया गया है, जिसमें बॉलीवुड की क्यारी में उग रही नई पौध का ये इश्क इस गाने में परवान चढ़ रहा है। फिल्‍म के ट्रेलर में जाह्नवी कूपर और ईशान खट्टर एक फ्रेश जोड़ी हैं और ट्रेलर के बाद लोगों को इस फिल्‍म से खासी उम्‍मीद बढ़ गई है।

इस गाने का संगीत अजय-अतुल ने कंपोज किया है। इस संगीतकार जोड़ी ने ही मराठी फिल्‍म सैराट के गानों को कंपोज किया था। इस गाने को गाया है श्रेया घोषाल और अजय गोगावाले ने और इसे गाया है अमिताभ भट्टाचार्य ने। ‘धड़क’ का यह नया गाना पूरी तरह नई कंपोजीशन है और एक रोमांटिक गाना है। यह गाना जाह्नवी और ईशान के बीच मासूम प्‍यार को दर्शाता है। आप भी देखें फिल्‍म ‘धड़क’ का यह टाइटल ट्रैक।

कैंसर से जंग लड़ रहे इरफान खान ने बयान किया अपना दर्द, लिखा- ‘मुझे नहीं पता मेरे पास कितना समय है, लेकिन…’

बता दें कि ‘धड़क’ का निर्देशन शशांक खेतान ने किया है। इस फिल्‍म के ट्रेलर के रिलीज के मौके पर जाह्नवी ने बताया कि खुद श्रीदेवी भी ‘सैराट’ जैसी फिल्‍म करना चाहती थी। यह फिल्‍म 20 जुलाई को रिलीज होने वाली है।

देखें वीडियो:

झांसी की रानी को कंगना का सलाम, सामने आया ‘मणिकर्णिका’ का फर्स्ट लुक

More Story

more-story-image

बोकारो : नावाडीह में योग दिवस मनाने को लेकर की...

more-story-image

बेरमो : बाहरी की उपेक्षा स्‍थानीय बेरोजगारों के लिए रोजगार...