देश के मौजूदा माहौल में सभी खामोश : शत्रुघ्न सिन्हा

NewsCode | 12 November, 2017 7:02 PM
newscode-image

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद और अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने मौजूद राजनीतिक हालात पर कहा कि देश में जो माहौल चल रहा है, उसमें सभी ‘खामोश’ हैं। अपने ‘खामोश’ डायलॉग पर सिन्हा ने कहा ‘अब लगता है कि हम सब खामोश हो गए हैं।’ साहित्य आजतक के तीसरे और अंतिम दिन शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, “मैंने अपनी किताब सबसे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इसलिए नहीं दे सका, क्योंकि तब तक यह आई नहीं थी।”

शत्रुघ्न ने कहा कि वह लालकृष्ण आडवाणी के कहने पर राजनीति में आए और आडवाणी के आदेश पर ही मध्यावधि चुनाव में राजेश खन्ना के खिलाफ चुनाव लड़कर राजनीतिक पारी की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में हारने के बाद किन हालात में उन्होंने अशोक रोड स्थित भाजापा कार्यालय नहीं जाने की कसम खाई।

फिल्मों में खलनायकी की अपनी पहचान पर शत्रुघ्न ने कहा, “मैंने विलेन के रोल में होकर कुछ अलग किया। मैं पहला विलेन था, जिसके परदे पर आते ही तालियां बजती थीं। ऐसा कभी नहीं हुआ। विदेशों के अखबारों में भी यह आया कि पहली बार हिन्दुस्तान में एक ऐसा खलनायक उभरकर आया, जिस पर तालियां बजती हैं। अच्छे-अच्छे विलेन आए, लेकिन कभी किसी का तालियों से स्वागत नहीं हुआ। ये तालियां मुझे निर्माताओं-निर्देशकों तक ले गईं। इसके बाद निर्देशक मुझे विलेन की जगह हीरो के तौर पर लेने लगे।”

उन्होंने कहा, “एक फिल्म आई थी ‘बाबुल की गलियां’, जिसमें मैं विलेन था, संजय खान हीरो और हेमा मालिनी हीरोइन थीं। इसके बाद जो फिल्म आई ‘दो ठग’, उसमें हीरो मैं था और हीरोइन हेमा मालिनी थीं। मनमोहन देसाई को कई फिल्मों में अपना अंत बदलना पड़ा। भाई हो तो ऐसा, रामपुर का लक्ष्मण ऐसी ही फिल्में हैं।”

सिन्हा ने कहा, “मैंने रोल को कभी विलेन के तौर पर नहीं, रोल की तरह ही देखा। मैं विलेन में सुधरने का स्कोप भी देखा करता था। मैं यंग जनरेशन को एक मंत्र देता हूं कि अपने आप को सबसे बेहतर साबित करके दिखाओ, यदि ऐसा नहीं कर सकते तो सबसे अलग साबित करके दिखाएं। आज खामोश सिग्नेचर टोन बन गया है। पाकिस्तान जाता हूं तो बच्चे कहते हैं -एक बार खामोश बोलकर दिखाओ।”

उन्होंने कहा, “अपनी वास्तविकता को मत खोओ।”

सिन्हा ने कहा कि फिल्म ‘शोले’ और ‘दीवार’ ठुकराने के बाद ये फिल्में अमिताभ बच्चन ने कीं और वह सदी के महानायक बन गए। शत्रु ने कहा कि ये फिल्में न करने का अफसोस उन्हें आज भी है, लेकिन खुशी भी है कि इन फिल्मों ने उनके दोस्त को स्टार बना दिया।

शत्रुघ्न के मुताबिक, ये फिल्में न करना उनकी गलती थी और इस गलती को ध्यान में रखते हुए उन्होंने कभी भी इन दोनों फिल्मों को नहीं देखा।

साहित्य आजतक के तीसरे दिन तीसरे सत्र में शत्रुघ्न सिन्हा और पूर्व पत्रकार व लेखक भारती प्रधान ने शिरकत की। इस सत्र का संचालन पुण्य प्रसून वाजपेयी ने किया। भारती प्रधान ने शत्रुघ्न की किताब ‘एनीथिंग बट खामोश’ पर चर्चा की।

(आईएएनएस)

रांची : सोमवारी के मौके पर मुख्यमंत्री कांवरियों से करेंगे सीधा संवाद

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:50 PM
newscode-image

रांचीश्रावणी मेला के चौथी एवं आखिरी सोमवारी को मुख्यमंत्री  रघुवर दास रांची से देवघर लाईव संवाद श्रद्धालुओं से करेंगे। कार्यक्रम के लिए देवघर के उपायुक्त  राहुल कुमार सिन्हा द्वारा रविअर को मेला क्षेत्र का भ्रमण कर कार्यक्रम से संबंधित तैयारियों का जायजा लिया गया।

रांची : भाजपा बड़े-बड़े कॉरपोरेट घरानों के लिए करती है राजनीति- बाबूलाल मरांडी

इस दौरान उनके द्वारा बताया गया कि कल श्रावणी मेला के चौथी एवं अंतिम सोमवारी को मुख्यमंत्री रघुवर दास कांवरियों से सीधा संवाद कार्यक्रम हेतु कार्यक्रम स्थल के रूप में कोठिया टेन्ट सिटी को चिन्ह्ति किया गया है एवं माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा यहां आगन्तुक कांवरियों से सीधा संवाद कल कोठिया टेन्ट सिटी से किया जायेगा।

इसके पूर्व में पहली सोमवारी को बाघमारा टेन्ट सिटी, दूसरी सोमवारी को शिवलोक परिसर एवं तृतीय सोमवारी को कांवरिया पथ (सरासनी) से मुख्यमंत्री के कांवरियों से सीधा संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कल होने वाले इस कार्यक्रम हेतु ओबी वैन के अलावा लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

दुमका : सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने से आएं बाज, वरना पुलिस करेगी कार्रवाई

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:58 PM
newscode-image

दुमका। नगर थाना परिसर में आयोजित शांति समिति की बैठक की अध्यक्षता बीडीओ संजय कुमार दास ने की। इस अवसर एसडीपीओ पूज्य प्रकाश भी उपस्थित रहे। सभा को संबोधित करते हुए एसडीपीओ पूज्य प्रकाश ने बकरीद पर्व शांतिपूर्ण ढंग से मनाने को लेकर सभी से सहयोग का अपील किया। उन्होंने लोगों से खासतौर पर सोशल मीडिया पर अफवाह नहीं फैलाने का आग्रह किया। अफवाह फैलाने के स्थिति में व्हाटस एप ग्रुप एडमिन सहित मैसेज डालने वाले के विरूद्ध न्यायसंगत कार्रवाई की हिदायत भी उन्‍होंने दी।

दुमका : अज्ञात वाहन की चपेट में आकर दो सगेे भाई गंभीर रूप से घायल

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

कटकमसांडी : शांति समिति की बैठक आयोजित, सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में मनेगी बकरीद

NewsCode Jharkhand | 19 August, 2018 9:44 PM
newscode-image

कटकमसांडी(हजारीबाग)। पेलावल ओ.पी. परिसर में बकरीद पर्व को लेकर शांति समिति की बैठक हुई। बैठक की अध्‍यक्षता में भूमि सुधार उपसमाहर्ता मो. शब्बीर अहमद ने की। बैठक में प्रखंड विकास पदाधिकारी अखिलेश कुमार, पुलिस उपाधीक्षक ग्रामीण  दिनेश गुप्ता उपस्थित थे। बैठक का संचालन थाना प्रभारी समीर तिर्की ने की। बैठक में दोनों समुदाय के लोग उपस्थित हुए और  हर साल की भांति इस वर्ष भी बकरीद का त्योहार शांति और सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाने का निर्णय लिया गया। भूमि उपसमाहर्ता ने कहा कि पर्व के दौरान किसी तरह का अफवाह फैलाने वाले लोगों के ऊपर कड़ी निगरानी रखी जाएगी।

कटकमसांडी : मां के शव के साथ सोती रही अबोध, दो दिन बाद पड़ोसियों को चला पता

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

बेरमो : झाकोमयू की बैठक संपन्न, प्रबंधन से समस्याओं की...

more-story-image

पाकुड़ : धड़ल्‍ले से फल-फूल रहा है अवैध मोटरसाईकिल खरीद-फरोख्‍त...