घाटशिला : सरेंडर नीति पर उठे सवाल, नक्सली रहे चुन्नू मुंडा ने लगाया छलने का आरोप

Prasenjit Mishra | 11 May, 2018 6:39 PM

घाटशिला : सरेंडर नीति पर उठे सवाल, नक्सली रहे चुन्नू मुंडा ने लगाया छलने का आरोप

सरेंडर नीति के तहत नहीं मिली सुविधायें- चुन्नू मुंडा

घाटशिला (पूर्वी सिंहभूम)। डेढ़ साल पहले गुड़ाबांधा में नक्सलियों की तूती बोला करती थी। तोती जियान गांव में आम आदमी तो दूर पुलिस भी नहीं पहुंच पाती थी। आज इलाके में शांति का माहौल है तो इसका कारण है। नक्सलियों के सरेंडर नीति के बाद कई नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया। आज 8 नक्सली जेल में बंद हैं इनके ऊपर केस चल रही है। इसमें से एक नक्सली चुन्नू मुंडा सरकार की सरेंडर नीति से नाराज है और आरोप लगाया कि सरकार छलने का काम कर रही है।

चुन्नू का कहना था कि नक्सली दस्ता की पूरी टीम ने सरेंडर किया। कुछ आशा के साथ कि सरकार सहयोग करेगी तो आम जनजीवन जी सकते हैं। अब चुन्नू मुंडा को लग रहा है कि सरकार ने छलने का काम कर रहा है। नौकरी मिलेगी, पैसा मिलेगा. जिससे कारोबार कर सकेंगे लेकिन आज डेढ़ साल गुजरने के बाद भी चुन्नू मुंडा खुद को छला हुआ महसूस कर रहा है।

ढाई लाख का मिला था आश्वासन- चुन्नू मुंडा

उसने कहा कि सरेंडर के समय 10,000 दिया गया था उसके बाद से सरेंडर नीति के तहत एक पैसा भी नहीं दिया गया। हमें कहा गया था ढाई लाख रूपय दिया जाएगा. लेकिन हमें एसपीओ बनाया गया। एसपीओ के तहत 27,000 यानी कुल 9 महीने का पैसा दिया गया है।

उसने आरोप लगाया कि 1 साल 7 महीना में सरकार ने अनेक कार्यक्रम यहां दिखावे के लिए किए, लेकिन जियान गांव और फोकस एरिया में कुछ नहीं हुआ। पुलिस प्रशासन ने कृषि के लिए प्रयास किया लेकिन पानी के साधन जुटाने में सफल नहीं हो सकी।

धनबाद : “रेवेन्यू प्रोटेक्शन एक्ट” का विरोध, झामुमो ने मुंख्यमंत्री का फूंका पुतला

चुन्नू के पिता आज 20-25 साल से मानसिक रोग से पीड़ित हैं। उनका इलाज का वादा पुलिस प्रशासन ने किया था। लेकिन वह भी नहीं किया गया। रोजी-रोटी के लिए मां को बंगाल जाना पड़ा है। वहां धान काटने गई है जहां प्रतिदिन ढाई सौ रुपए मिलते हैं। सप्ताह में एक बार आती है घर में पैसे देकर जाती है।

“परिवार का खर्चा नहीं उठा पा रहा”

चुन्नू मुंडा ने कहा कि पत्नी को ठीक से खिला नहीं पा रहा हूं और आगे परिवार के लिए सोच पा रहा हूं। सरकार ने सिर्फ 4 कट्ठा जमीन दी है। जिस जगह जमीन दी है वहां घर बना कर ही रहा जा सकता है। कोई धंधा पानी नहीं किया जा सकता।

अब दिन भर पति-पत्नी मट्टी काटते हैं तो अपना पेट भरते हैं। सरकार द्वारा पुलिस के माध्यम से चना जोताई का कार्य किया था लेकिन पानी नहीं होने के कारण वह भी असफल रहा। उज्जवला योजना का लाभ तक नहीं मिला है। ना ही राशन कार्ड मिला है और ना ही पेंशन और न घर।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

सिल्ली : जनता से सीधा संवाद कर चुनावी प्रचार में लगे सुदेश महतो

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 4:27 PM

सिल्ली : जनता से सीधा संवाद कर चुनावी प्रचार में लगे सुदेश महतो

रांची। सिल्ली विधानसभा के उपचुनाव को लेकर आजसू पार्टी के प्रत्याशी सुदेश कुमार महतो जनता के बीच सीधे जाकर बातचीत कर रहे हैं। चुनाव के माहौल में सुदेश महतो ने की न्यूज़कोड से खास बातचीत…

सिल्‍ली : सभी बुनियादी सुविधायें जल्द बहाल होंगे – सुदेश महतो

Read Also

दुमका : दुष्कर्म का आरोपी 60 वर्षीय बुजुर्ग गया जेल, पुलिस ने दिखायी तत्परता

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 4:20 PM

दुमका : दुष्कर्म का आरोपी 60 वर्षीय बुजुर्ग गया जेल, पुलिस ने दिखायी तत्परता

दुमका। जिले के मुफस्सिल थाना पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपी 60 वर्षीय बुजुर्ग को गिरफ्तार कर बुधवार को जेल भेज दिया। गिरफ्तार आरोपी शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के झुरकु गांव निवासी फुचा उर्फ प्रफुल मांझी है। आरोपी घटना को बीते 17 मई को मुफस्सिल थाना क्षेत्र में अंजाम दिया।

जानकारी के अनुसार आरोपी मुफस्सिल थाना क्षेत्र में राजमिस्त्री का काम करता था। दर्ज प्राथमिकी के अनुसार रोज की तरह आरोपी काम करने पहुंचा। जहां देर शाम अकेले देख पीड़िता को दबोच लिया। शोर मचाने पर अपने ही लुंगी से मुंह बांध पीड़िता के साथ मुंह काला किया।

दुमका : कैद कर बलात्कार का आरोपी गया जेल, पुलिस ने दिखायी तत्परता

बाद में मां के आने पर पीड़िता ने आप बीती सुनायी। किसी प्रकार लोकलाज छोड़ पीड़िता के परिजनों ने इसकी लिखित शिकायत थाना में की। पुलिस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं पीड़िता का मेडिकल करवा अनुसंधान में जुट गई है। यहां बता दें कि पीड़िता शारीरिक रूप से भी अपंग है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

कटकमसांडी : 12 लाख की लागत से होगा तालाब का जीर्णोद्धार

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 4:20 PM

कटकमसांडी : 12 लाख की लागत से होगा तालाब का जीर्णोद्धार

कटकमसांडी (हजारीबाग)। सदर विधायक  मनीष जायसवाल ने अपने कटकमसांडी दौरा के क्रम में  ग्राम पंचायत कटकमसांडी स्थित अस्पताल के समक्ष अवस्थित बडकी आहर तालाब जीर्णोद्धार कार्य का विधिवत शिलान्यास किया। शिलापट्ट का अनावरण किया गया। मौके पर इन्होंने कहा कि सरकार का मकसद हैैकि  किसानों के हर खेत तक पानी पहुंचे।

भूगर्भ जल स्तर में बढ़ोत्‍तरी

विधायक ने कहा कि विधान सभा क्षेत्र के हर खेत में हरियाली हो। इसी कड़ी में कटकमसांडी तालाब का गहरीकरण कार्य किया जा रहा है। साथ ही पानी का संरक्षण भी होगा। जिससे भूगर्भ जल स्तर में बढ़ोत्‍तरी होगी। इस तालाब का जीर्णोद्धार भूमि संरक्षण सर्वे विभाग के बंजर भूमि  के तहत करीब 12 लाख की लागत से किया जायेगा।

Read More:- कटकमसांडी : सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने वाले मुख्य आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

मौके पर मौजूद सदस्‍य

मौके पर  20 सूत्री अध्यक्ष रामकुमार मेहता विधायक प्रतिनिधि किशोरी राणा सांसद प्रतिनिधि मनीष ठाकुर मंडल अध्यक्ष रीतलाल प्रसाद यादव जीवन मेहता अशोक राणा महावीर, प्रकाश कुशवाहा नारायण साव, बीरेंद्र कुमार बीरू, मुकेश कुमार सरैयार लीलू सिंह भोक्ता कटकमसांडी पैक्स चेयरमैन कपिल देव सिंह, सरजू सिंह, प्रहलाद राणा कटकमसांडी उप मुखिया अरुण शर्मा सहित दर्जनों भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने