सरायकेला : सिटी स्टाइल के मैनेजर की दबंगई, मेडिकल स्टोर मालिक को किया घायल

प्रचार का विरोध करने पर जताया आक्रोश

NewsCode Jharkhand | 18 February, 2018 11:54 AM

सरायकेला : सिटी स्टाइल के मैनेजर की दबंगई, मेडिकल स्टोर मालिक को किया घायल

सरायकेला। आदित्यपुर थानान्तर्गत शेर-ए-पंजाब चौक पर देर रात सिटी स्टाइल के नए शो रूम में प्रचार के लिए गाना बजाए जाने का सामने के दवा दुकानदार ने विरोध किया। वहीं दवा दुकानदार जब विरोध करने सिटी स्टाइल पहुंचे तभी अचानक सिटी स्टाइल के मैनेजर और कर्मचारी बालाजी मेडिकल स्टोर के मालिक पर टूट पड़े और उन्हें घायल कर दिया।

आदित्यपुर पुलिस ने आरोपी मैनेजर और कर्मचारी को पकड़कर अपने साथ थाना ले गई। गौरतलब है कि सिटी स्टाइल के नए शोरूम द्वारा प्रचार-प्रसार के लिए आए दिन तेज आवाज में डीजे बजाया जाता है।

जिससे आने-जाने वाले राहगीरों के साथ-साथ आस-पास के दुकानदारों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। सबसे बड़ी बात है कि ठीक सिटी स्टाइल के पीछे सहाय नर्सिंग होम है जहां मरीजों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

रांची : शहीद बुधु भगत की क्रांति के रास्ते पर चलने की जरूरत- डॉ देवशरण भगत

वहीं सिटी स्टाइल के सामने टाटा-कांड्रा हाई स्पीड रोड है जहां शाम के वक्त जाम की स्थिति बन जाती है। वैसे सिटी स्टाइल का ये दबंगई दिनभर चलता रहता है लेकिन दिनभर ड्यूटी पर तैनात पुलिस मूक दर्शक बन सबकुछ देखती रहती है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बोकारो : झारखंड सरकार के आदेश के बिना जमीन का सर्वे नही- योगेन्द्र कुमार

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 6:59 PM

बोकारो : झारखंड सरकार  के आदेश के बिना जमीन का सर्वे नही- योगेन्द्र कुमार

बोकारो। मुखिया संघ नावाडीह प्रखंड के कार्यकारी अध्यक्ष सह कंजकीरो पंचायत के मुखिया ने कहा  झारखंड सरकार के आदेश के बिना प्रखंड में कहीं भी जमीन का सर्वे नही होने दिया जायेगा।

योगेन्द्र कुमार रंजन ने कहा कि गत 24 मई को अंचल अधिकारी नावाडीह ने सर्वे विभाग के अमीनों के द्वारा जमीन सर्वे का काम करने में सहयोग करने को कहा था।

लेकिन प्रखंड के मुखिया गण द्वारा झारखण्ड राज्य सरकार के किसी प्रकार के हालिया आदेश या दिशा निर्देश के बिना सहयोग करने से इंकार कर दिये। बिहार सरकार के  पैतीस-चालीस साल पुराने आदेश के आलोक में जमीन सर्वे के किसी प्रकार के काम में सहयोग नही किया जा सकता है। इसमें किसी तरह की जन समस्या खड़ी होने पर कोई जवाबदेही नही लेगा।

पाकुड़ : गुणवत्ता को लेकर लपारवाही बरतने पर होगी कार्रवाई – उपायुक्त

इस लिए यहां के सांसद, विधायक, प्रमुख, उप प्रमुख, जिप सदस्य, मुखिया गण, पंचायत समिति के सदस्य गण और अन्य गणमान्य लोगों से राय परामर्श लिया जायगा। हो सकता है उपायुक्त बोकारो या माननीय मंत्री भू राजस्व विभाग झारखंड सरकार से दिशा-निर्देश लेने के बाद ही जमीन का सर्वे का कार्य आगे बढ़ाया जा सकेगा।

 (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Read Also

सरायकेला : सर्वे रिपोर्ट से खुलासा, दलमा वाइल्डलाइफ सेंचुरी में जानवरों की कमी

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 6:24 PM

सरायकेला : सर्वे रिपोर्ट से खुलासा, दलमा वाइल्डलाइफ सेंचुरी में जानवरों की कमी

सरायकेला। नेशनल वाइल्डलाइफ सर्वे 2018 की अगर मानें तो झारखंड के सरायकेला-खरसांवा जिला स्थित दलमा वन्य प्राणी अभ्यारण्य में बेहद ही चौंकाने वाले परिणाम सामने आए हैं। बता दें पिछले दिनों राष्ट्रीय वन्य पशु जनगणना का काम पूरा हुआ, जिसमें दलमा सेंचुरी में निवास करने वाले जानवरों में कमी देखी गई। वही दलमा सेंचुरी को हाथियों के लिए अनुकूल माना जाता है। यहां बंगाल और उड़ीसा से भी हाथी आकर प्रवास करते हैं।

सरायकेला : निपाह वायरस का खौफ, लेकिन अंजान है यहाँ के लोग

जानकारी के अनुसार हाल के दिनों में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ के बाद लगातार हाथियों का जाना शुरू हो गया है। एक समय हुआ करता था जब दलमा सेंचुरी में 100 से भी ज्यादा हाथी और जंगली जानवर प्रवास करते थे, वही अब महज 25 से 30 की संख्या में हाथी बचे हैं। आशंका यह जताई जा रही है कि बारुद के गंध से पूरा दलमा अभयारण्य दमक रहा है। जिसकी भनक हाथियों को लगते ही हाथियों ने दलमा से जाना शुरू कर दिए है।

इधर राष्ट्रीय वाइल्डलाइफ सर्वे के अनुसार दूसरे जंगली जानवर भी धीरे-धीरे दलमा सेंचुरी से जा रहे हैं। राष्ट्रीय पशु सुरक्षा सर्वेक्षण की दृष्टिकोण से यह एक बेहद ही गंभीर मामला माना जा रहा है। वही पिछले कुछ दिनों दलमा के कांकादशा और बिजली घाटी में लगातार नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है। रुक-रुक कर दोनों ओर से फायरिंग की जा रही है, जिससे दलमा में जंगली जानवरों के लिए खतरा बढ़ गया है। वही वन विभाग इसको लेकर काफी चिंतित है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लोहरदगा : अब नहीं हो सकती है राजस्‍व की चोरी – उपायुक्‍त

NewsCode Jharkhand | 26 May, 2018 6:17 PM

लोहरदगा : अब नहीं हो सकती है राजस्‍व की चोरी – उपायुक्‍त

लोहरदगा। अब कोई भी राजस्व की चोरी नहीं कर पाएगा। इसे लेकर खनन टास्क फोर्स ने कमर कस ली है। लोहरदगा में उपायुक्त विनोद कुमार ने अवैध खनन को लेकर कड़े तेवर अख्तियार करते हुए खनन टास्क फोर्स के अधिकारियों का स्पष्ट निर्देश दिया है कि कहीं पर भी अवैध खनन की जानकारी मिलती है तो तुरंत छापेमारी कर दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करें।

किसी भी हाल में राजस्व का नुकसान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। डीसी ने स्पष्ट तौर पर कहा कि लीज एरिया से ज्यादा क्षेत्र में किसी भी प्रकार का खनन करना अवैध है। इस मामले में यदि किसी सरकारी पदाधिकारी या कर्मचारी की संलिप्तता भी पाई जाती है तो उसके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

रांची : राजकीयकृत मध्य विद्यालय के समर कैंप में बच्चों ने की जमकर मस्ती

बालू के अवैध उठाव को लेकर भी डीसी ने सख्ती दिखाया, उन्होंने कहा कि जब तक बालू का लिज निर्धारण नहीं होता है तब तक अवैध रूप से बालू का उठाव नहीं होना चाहिए। साथ ही शिकायतें मिल रही है कि बॉक्साइट माइंस में जंगली औऱ वन क्षेत्र से बॉक्साइट का खनन किया जा रहा है।

इन मामलों पर संज्ञान लेते हुए तत्काल जांच कर कार्रवाई करें। पत्थर के अवैध खनन को लेकर भी डीसी ने स्पष्ट निर्देश दिए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

X

अपना जिला चुने