क्रिकेट के दीवानों के लिए अच्छी खबर, एक बार फिर साथ दिख सकते हैं द्रविड़-तेंदुलकर

NewsCode | 8 June, 2018 10:00 AM
newscode-image

नई दिल्ली। विश्व के महानतम बल्लेबाजों में से एक सचिन तेंदुलकर के पुत्र अर्जुन जल्द ही टीम इंडिया की नीली जर्सी दिखेंगे। अर्जुन तेंदुलकर का चयन श्रीलंका दौरे के लिए भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम में हुआ है। भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम को जुलाई में दो चार दिवसीय और पांच एक दिवसीय मुकाबला खेलने के लिए श्रीलंका का दौरा करना है। आॅलराउंडर अर्जुन तेंदुलकर का चयन चार दिवसीय मैचों के लिए किया गया है।

इस टीम की कमान दिल्ली के विकेटकीपर बल्लेबाज अनुज रावत के हाथों में सौंपी गई है। वहीं, श्रीलंका दौरे के लिए चुनी गई एक दिवसीय अंडर-19 टीम की कमान उत्तर प्रदेश के आर्यन जुयाल के हाथों में सौंपी गई है।आईसीसी ने अर्जुन के चयन के बारे में जानकारी देते हुए लिखा “श्रीलंका में होने वाले चार दिवसीय मैचों के लिए राहुल द्रविड़ की अंडर-19 में सचिन के बेटे अर्जुन का चयन हो गया है।”


अर्जुन इस साल अप्रैल में धर्मशाला में लगे एक महीने लंबे कैम्प में हिस्सा लेने वाले 25 खिलाड़ियों में शामिल थे। उन्होंने ऊना में मैच भी खेले थे। अर्जुन ने 2016-17 में दिल्ली के लिए अक्टूबर में रणजी ट्रॉफी मुकाबले से प्रथम श्रेणी क्रिकेट में डेब्यू दिया था। इससे पहले वे 2017 में हुए अंडर 19 एशिया कप के लिए चुना गया था। ज्ञात हो कि भारतीय अंडर-19 स्तर पर आशीष कपूर, ज्ञानेंद्र पांडे और राकेश पारिख चनयकर्ता हैं।

पिता को नहीं, इन खिलाड़ियों को आदर्श मानते हैं अर्जुन

बता दें कि अर्जुन तेंदुलकर की उम्र अभी 18 साल है और उनका खेल अपने पिता से बिल्कुल अलग है। अर्जुन बाएं हाथ से मध्यम तेज गेंदबाजी करते हैं और बाएं हाथ से ही बल्लेबाजी भी करते हैं। अर्जुन तेंदुलकर की लंबाई 6 फीट से ज्यादा है। वह आॅस्ट्रेलिया के मिशेल स्टॉर्क और इंग्लैंड के बेन स्टोक्स को अपना रोल मॉडल मानते हैं।

सचिन के बेटे अर्जुन तेंदुलकर का भारत की अंडर-19 टीम में चयन Sachin Tendulkar's son Arjun Tendulkar selected for Indian U-19 Cricket Team | NewsCode - Hindi News

अर्जुन तेंदुलकर इस साल तब चर्चा में आए थे, जब उन्होंने आॅस्ट्रेलिया में आयोजित हुए ‘क्रिकेट ग्लोबल चैलेंज’ टी20 टूर्नामेंट में ‘क्रिकेटर्स क्लब आॅफ इंडिया’ की ओर से हांगकांग के खिलाफ खेलते हुए 27 गेंद में 48 रन की पारी खेली थी और 4 ओवर में 4 विकेट भी चटकाए थे। इसके अलावा कूच बिहार ट्रॉफी में भी उन्होंने अच्छी गेंदबाजी करते हुए एक पारी में 5 विकेट चटकाए थे।

फिर से दिखेगी द्रविड़-तेंदुलकर की जोड़ी

गौरतलब है कि इस समय अंडर-19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ हैं। तो ऐसे में क्रिकेट के दीवानों को एक बार फिर से द्रविड़ और तेंदुलकर की जोड़ी मैदान पर देखने को मिल सकती है। बेटे के चयन पर खुशी जाहिर करते हुए मास्टर ब्लास्टर सचिन ने कहा, अर्जुन के जीवन का यह खास पड़ाव है।

सचिन के बेटे अर्जुन तेंदुलकर का भारत की अंडर-19 टीम में चयन Sachin Tendulkar's son Arjun Tendulkar selected for Indian U-19 Cricket Team | NewsCode - Hindi News

चार दिवसीय मैचों के लिए भारत की अंडर-19 टीम: अनुज रावत (कप्तान/विकेटकीपर), अथर्व टाएडे, देवदत्त पाडिक्कल, आर्यन जुयाल (उप-कप्तान), यश राठौड़, आयुष बदोनी, समीर चौधरी, सिद्धार्थ देसाई, हर्ष त्यागी, वाई.डी. मांगवानी, अर्जुन तेंदुलकर, नेहाल वाधेरा, आकाश पांडे, मोहित जांगड़ा और पवन शाह।

सचिन तेंदुलकर के ये 9 रिकॉर्ड विराट कोहली क्या किसी के लिए भी तोड़ पाना नामुमकिन

रांची : दो फुटबॉल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस प्रारंभ किया जाएगा- मुख्यमंत्री

NewsCode Jharkhand | 13 November, 2018 11:54 AM
newscode-image

अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतिस्पर्धाओं में पदक विजेता खिलाड़ियों को नौकरी में 2 प्रतिशत का आरक्षण

रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री  रघुवर दास ने कहा कि राज्य में फुटबॉल खेल को बढ़ावा देने के लिए दो फुटबॉल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाया जाएगा। झारखंड खेल प्राधिकरण के द्वारा बिरसा मुंडा फुटबॉल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, रांची एवं सिदो-कान्हू फुटबॉल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस देवघर में प्रारंभ किया जाएगा।

राज्य सरकार ने वर्ष 2017 में ही झारखंड के सभी प्रखंडों में कमल क्लब का गठन किया है। कमल क्लब के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र की खेल प्रतिभा को राज्य स्तर पर निखारने का काम किया जा रहा है। झारखंड में फुटबॉल खेल को आगे ले जाना राज्य सरकार की प्राथमिकता है।

पंचायत, प्रखंड एवं जिला स्तर के मेधावी फुटबॉल खिलाड़ियों को ड्रेस, जूता, खेल कीट एवं फुटबॉल राज्य सरकार निशुल्क उपलब्ध कराएगी। खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने के लिए सरकार एक्सपर्ट कोच की भी व्यवस्था करेगी।

जनजातीय समाज के फुटबॉल खेलने वाले बच्चों को निशुल्क ड्रेस एवं खेल उपकरण दिया जाएगा।  मुख्यमंत्री सोमवार को रांची कॉलेज मैदान में मुख्यमंत्री आमंत्रण फुटबॉल टूर्नामेंट 2018 के समापन को संबोधित कर हरे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के वैसे खिलाड़ी जो अंतरराष्ट्रीय स्तर के प्रतिस्पर्धाओं में मेडल अथवा पुरस्कार जीत कर आएंगे उन्हें राज्य स्तरीय सरकारी नौकरी में 2 प्रतिशत का आरक्षण राज्य सरकार देगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड की बेटियों ने खेल के विभिन्न क्षेत्रों में बहुत ही अच्छा कार्य किया है. बेटियां निरंतर अच्छा खेलकर सुर्खियां बटोर रही हैं. राज्य सरकार ने यह निर्णय लिया है कि सभी प्रखंड एवं जिला स्तरों में लड़कियों का भी फुटबॉल टीम का गठन किया जाए।  लड़कियों की टीम को भी खेल से संबंधित सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. झारखंड की नारी शक्ति में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। इनकी प्रतिभा को राज्य स्तर पर पहचान देने का कार्य सरकार करेगी।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि फुटबॉल के क्षेत्र में भी अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी झारखंड से निकलें और राज्य एवं देश का प्रतिनिधित्व करें यह सरकार की सोच है. लक्ष्य को हमेशा आगे रखने की जरूरत है।

झारखंड खेल प्रतिभा का धनी राज्य रहा है। हॉकी, तीरंदाजी, क्रिकेट इत्यादि खेलों में झारखंड के कई खिलाड़ियों ने प्रसिद्धि प्राप्त की है और देश और दुनिया में झारखंड का नाम रोशन किया है। राज्य सरकार की यह सोच है कि फुटबॉल के क्षेत्र में भी ऐसे ही प्रसिद्ध खिलाड़ी उभर कर सामने आए और राज्य का मान बढ़ाएं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची : राजकीय कार्यक्रम में हंगामा करने पर 216 पारा शिक्षक बर्खास्त

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:20 PM
newscode-image

600 अन्य की बर्खास्तगी को लेकर कार्रवाई, गिरफ्तार कर पारा शिक्षकों को कैंप जेल में रखा गया

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस के दिन पूरे राज्य भर से राजधानी रांची में आए पारा शिक्षकों ने सरकारी कार्यक्रम को बाधा पहुंचाने की कोशिश की। साथ ही विधि व्यवस्था को अपने हाथ में लेकर पत्थरबाजी भी की।

विधि व्यवस्था में लगे  पुलिस प्रशासन के पदाधिकारियों, वरीय पुलिस अधीक्षक, सिटी पुलिस अधीक्षक  एवम् ड्यूटी पर तैनात पदाधिकारियों पर  पारा शिक्षकों  ने  हमला किया जिससे कई पुलिसकर्मी और  पदाधिकारी गंभीर रूप से जख्मी हुए।

पारा शिक्षकों द्वारा सरकारी कार्यक्रम में व्यवधान डालने, विधि व्यवस्था को तोड़ने एवम् सरकारी लोगो पर हमला करने की घटना को बेहद अशोभनीय एवम् गंभीर रूप से लेते हुए  वीडियो रिकॉर्डिंग एवम् कार्यक्रम स्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरा से  लिए फुटेज एवम् अन्य प्रमाणों के आधार पर  16 प्रखंड के कुल 216 पर शिक्षकों को बर्खास्त किया गया।

साथ ही लगभग 600 पारा शिक्षकों को जिला प्रशासन द्वारा बनाई गई खेलगांव एवम् रेड क्रॉस अस्थायी जेल में गिरफ़्तार कर रखा गया है। जिन पर सीसीटीवी कैमरा एवम्  वीडियो रिकॉर्डिंग से मिले प्रमाण के आधार पर बर्खास्त करने की कारवाई चल रही है।

अन्य जिलों के जिलाधिकारियों को भी यहां शामिल पारा शिक्षकों की सूची भेजी जा रही है जिसके आधार पर  चिन्हित कर अनुशासनात्मक कारवाई की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है।  स्थापना दिवस एक राजकीय दिवस है जी सम्पूर्ण राजवसियो के लिए सम्मान एवम् गौरव  का दिन है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

रांची : झारखंड स्थापना दिवस- संपूर्ण झारखंड खुले में शौच मुक्त घोषित, करीब 2100 को मिला नियुक्ति पत्र

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2018 7:02 PM
newscode-image

रांची। झारखंड राज्य स्थापना दिवस मना रहा है। राज्य स्थापना दिवस के मौके पर राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री ने संपूर्ण झारखंड को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की। समारोह में राज्य के तीन जिलों देवघर, हजारीबाग और लोहरदगा को पूर्ण विद्युतीकृत किये जाने की घोषणा की गयी।

इस मौके पर अरबों रुपये की योजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन के साथ ही परिसंपत्तियों का वितरण भी किया गया। समारोह में करीब 2100 लोगों को नियुक्ति पत्र का भी वितरण किया गया।

झारखंड स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य की जनता को कई सौगात दी। रांची में आयोजित मुख्य समारोह में उन्होंने राज्य को खुले में शौच से मुक्त किये जाने की घोषणा की।  उन्होंने कहा कि स्वच्छता को लेकर लोगों की आदतों में भी अब बदलाव आया है।

मुख्यमंत्री ने हर घर तक बिजली पहुंचाने के अपने वायदों को पूरा करते हुए राज्य के तीन जिलों देवघर, लोहरदगा और हजारीबाग को पूर्ण रूप से विद्युतीकृत होने का भी ऐलान किया। इस दौरान श्री दास ने कहा कि वर्तमान सरकार  पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से काम कर रही  है और अब तक इस पर एक भी भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे है।

इस दौरान राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि देश के विकास में झारखंड का अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि जनता को चुनी हुई सरकार से आकांक्षाएं होती है , जिसे पूरा करने में सरकार लगी है।

समारोह के दौरान अरबों रुपये की परिसंपत्तियों का वितरण किया गया और कई नई परियोजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन भी हुआ। करीब 2100 लोगों के बीच नियुक्ति पत्र का वितरण और झारखंड और देश के विकास में अपनी भूमिका निभाने वाले लोगों को सम्मानित भी किया गया। जिला मुख्यालयों में भी परिसंपत्तियों का वितरण हुआ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

More Story

more-story-image

विधानसभावार बूथ स्तर तक प्रोजेक्ट शक्ति में लोगों को जोड़ने...

more-story-image

रांची : आम आदमी पार्टी ने निकाली झारखंड नवनिर्माण संकल्प...

X

अपना जिला चुने