रांची : पीएचडी चेम्बर ऑफ़ कामर्स एंड इंडस्ट्री  एवं साईनाथ यूनिवर्सिटी के बीच करार

NewsCode Jharkhand | 7 July, 2018 9:50 PM
newscode-image

रांची । शनिवार  को पीएचडी चेम्बर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री  एवं साईनाथ यूनिवर्सिटी के बीच एकरारनामा पर हस्ताक्षर हुए। साईनाथ यूनिवर्सिटी झारखंड की पहली प्राइवेट यूनिवर्सिटी है । जिसने अपनी ज़मीन पर स्वयं का कैम्पस तैयार  करके  झारखंड के विद्यार्थियों  के  लिए नयें एवं जॉब ऑरीएंटेड कोर्सेज़ लेकर आया है।

विद्यार्थी अब नहीं जायेंगे पढाई के लिए दूर

जिससे विद्यार्थीयों को अब पुणे बैंगलोर जाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी ।पीएचडी चेम्बर का गठन 1905 ईसवी में लाहौर में हुआ।  भारत के विभाजन के बाद चेम्बर का कार्यालय न्यू दिल्ली में स्थान्तरित हो गया। 
यह भारत की सबसे पुरानी चेम्बर है जो मध्यम वर्गीये व्यापारियों के ऊपर विशेष ध्यान देती है । चेम्बर झारखंड के अलवा 22   और राज्यों में कार्यरत है । चेम्बर का झारखंड के अध्यक्ष ने बताया कि  चेम्बर ने  झारखंड में भी अब अपनी गतिविधियाँ तेज़ कर दी है।  भारी तादाद में व्यापारी चेम्बर  से जुड़ रहे हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

जमशेदपुर : पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा ने लाठी चार्ज और गिरफ़्तारी का किया विरोध

NewsCode Jharkhand | 20 November, 2018 5:59 PM
newscode-image

जमशेदपुर। समान काम समान वेतन और रांची में पारा शिक्षकों पर हुए लाठी-चार्ज और 280 पर टीचरों को होटवार जेल ने बन्द कर दिए जाने के विरोध में आंदोलनरत राज्यभर के पारा शिक्षकों ने मंगलवार से जेल भरो अभियान शुरू कर दिया है।

इसी क्रम में पूर्वी सिंहभूम जिला एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा के बैनर तले जिला के पारा शिक्षक एकजुटता दिखाने हुए रैली निकाल साकची थाना गिरफ्तारी देने पहुंचे। तकरीबन 400 सौ की संख्या में थाना पहुंचे पारा शिक्षकों ने अपनी मांगों के समर्थन में नारे लगाए।

सभी पर शिक्षकों को साकची पुलिस ने सांकेतिक तौर पर गिरफ्तार कर थाना परिसर में रखा। पारा शिक्षकों के आंदोलन का नेतृत्व कर रहे मोर्चा के जिला अध्यक्ष ने बताया कि छतीसगढ़ और बिहार की तर्ज पर झारखण्ड में पारा शिक्षकों की सेवा स्थायी की जाय और समान काम का समान वेतन दिया जाए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

sun

320C

Clear

Jara Hatke

Read Also

रांची: भापुसे के 17 अधिकारियों का तबादला,कई जिलों के एसपी बदले

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 2:20 PM
newscode-image

रांची। झारखंड सरकार ने भारतीय पुलिस सेवा (भापुसे) के 17 अधिकारियों का स्थानांतरण और पदस्थापन किया है। इसके साथ ही कई जिलों के पुलिस अधीक्षकों का तबादला हो गया है। इस संबंध में गृह कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा मंगलवार देर शाम अधिसूचना जारी कर दी गयी।

गृह विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार डीआईजी उ.छो. क्षेत्र हजारीबाग पंकज कंबोज को डीआईजी एसीबी का भी अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। जबकि पश्चिमी सिंहभूम चाईबासा के एसपी क्रांति कुमार गदिदेसी को एसपी विशेष शाखा बनाया गया है। विशेष शाखा के एसपी शैलेंद्र कुमार सिन्हा को जामताड़ा का एसपी बनाया गया है,वहीं रांची के यातायात पुलिस अधीक्षक संजय रंजन सिंह को समादेष्टा जैप-2 के पद पर पदस्थापित किया गया है, वहीं धनबाद के एसएसपी चोथे मनोज रतन को एसपी सीआईडी, सीआईडी के एसपी वाईएस रमेश को एसपी दुमका, विशेष शाखा के एसपी आलोक को खूंटी का एसपी, खूंटी के एसपी अश्विनी कुमार सिन्हा को गुमला का एसपी, राज्यपाल के परिसहाय चंदन कुमार झा को चाईबासा का एसपी, जामताड़ा की एसपी जया राय को सीआईडी का एसपी, दुमका के एसपी किशोर कौशल को धनबाद का एसएसपी, एसटीएफ के एसपी अंजनी कुमार झा को विशेष शाखा का एसपी, गुमला के एसपी अंशुमन कुमार को राज्यपाल का परिसहाय, रांची के सिटी एसपी अमन कुमार को ग्रामीण एसपी धनबाद, जैप-5 की समादेष्टा सुजाता कुमारी वीणापानी को रांची का सिटी एसपी, धनबाद के ग्रामीण एसपी आशुतोष शेखर को रांची का ग्रामणी एसपी और रांची के ग्रामीण एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग को रांची यातायात का एसपी बनाया गया है।

 

रांची: अन्तराष्ट्रीय व्यापार मेले में भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा बढ़ा रही है कौतुहल

NewsCode Jharkhand | 21 November, 2018 2:07 PM
newscode-image

रांची।भगवन बिरसा मुंडा धरती आबा देश के प्रथम स्वतंत्रता सेनानियों में माने जाते हैं। झारखण्ड प्रदेश में भगवान माने जाने वाले इस महान पुरुष को भारतीय जनजातीय स्वतंत्रता सेनानी धार्मिक पुरुष और लोक नायक के रूप में मान्यता प्राप्त है।जिनका जन्म झारखण्ड के खूँटी ज़िले में 15 नवम्बर 1875 को हुआ था। 19 के दशक के शुरूआती सालो में ही अपनी युवा अवस्था 25 वर्ष में उन्होंने ब्रिटिश सरकार के विरुद्ध जो आंदोलन बनाया उसको जनजातीय प्रजातियों में सबसे महत्त्वपूर्ण माना जाता है। उन्होंने अपने समूदाय के लोगो को धार्मिक क्रिया की तरह सोचने को तैयार किया और अपने अधिकारों को मांगने के लिए ब्रिटिश सरकार से लडे। भगवान् बिरसा मुंडा झारखण्ड प्रदेश में किसी भी काम के पहले याद किये जाते हैं। जिस कड़ी में 38वें भारतीय अन्तराष्ट्रीय मेले के झारखण्ड पवेलियन में उनकी विशाल प्रतिमा स्थापित की गई है। मेले में आने वाले लोग इस प्रतिमा को देख उत्सुकता से इनके विषय और कार्य की चर्चा कर रहे है। भगवान बिरसा मुंडा पर देश ही नहीं दुनिया को भी गर्व होता है। उनके जीवन पर कई साहित्य और फिल्मे भी बनाई जा चुकी हैं।

झारखण्ड पवेलियन में उद्योग विभाग के संयुक्त निदेशक श्री अलोक कुमार ने बताया कि मेले में झारखण्ड पवेलियन 22 नवम्बर को प्रगति मैदान स्थित हंसध्वनी थिएटर में झारखण्ड दिवस का आयोजन करेगा जिसमें झारखण्ड के लोक नृत्य कला एवं संस्कृति प्रदर्शित किया जायगा इस अवसर पर झारखण्ड प्रदेश के राजस्व और भूमि सुधार ए कला संस्कृति खेल और युवा मंत्री श्री अमर कुमार बाऊरी उपस्थित रहेंगे साथ ही उद्योग विभाग के अन्य पदाधिकारी भी इस अवसर पर मौजूद रहेंगे

इसके अलावा झारखण्ड पवेलियन से निकले के बाद लोग हॉल नं 7 के सामने लगे फ़ूड स्टाल में झारखण्ड के फ़ूड स्टाल में झारखण्ड के व्यंजन का भी लुफ्त उठा रहे हैं लोगों को लिट्टी चोखा मालपुआ एवं कुल्हड़ चाय काफी पसंद आ रहे हैं स्टाल के संचालक राजेश तिवारी ने बताया कि लोगों की भारी भीड़ झारखण्ड के व्यंजन को पसंद कर रहे है

 

More Story

more-story-image

रांची : पंकज तिवारी आजसू केंद्रीय समिति के सदस्य मनोनीत

more-story-image

रांची: पंचायत व नगर निकायों के रिक्त पदों के लिए...

X

अपना जिला चुने