रांची : मौसम ने ली करवट राजधानी में हुई जोरदार बारिश

NewsCode Jharkhand | 29 April, 2018 8:13 PM
newscode-image

रांची। राजधानी में रविवार को जमकर बारिश हुई। ओले भी गिरे। गर्मी से परेशान लोगों के लिए बारिश काफी सुकुन देकर गई। उमस और गर्मी झेल रहे लोगों को बारिश से राहत मिली। मौसम सुहावना हो गया है। आने वाले कुछ घंटों में फिर मौसम बदलने के संकेत हैं।

मौसम विज्ञान विभाग ने इसकी चेतावनी जारी की है। विभाग के अनुसार इसका असर राज्‍य के कई जिलों में पड़ने की आशंका है। खासकर बोकारो, रामगढ़, रांची, सरायकेला, पूर्वी सिंहभूम, साहेबगंज, पाकुड़, गोड्डा, दुमका, देवघर, धनबाद और जामताड़ा जिले प्रभावित होंगे।

बुद्ध पूर्णिमा विशेष : चतरा स्थित इटखोरी के कण-कण में बसे हैं शान्ति दूत भगवान बुद्ध

इन जिलों में एक-दो स्‍थानों पर बादल गर्जन के साथ आंधी चलने की संभावना है। हवा 30 से 40 किलोमीटर की गति से चलने की आशंका है। कुछ इलाकों में बारिश भी हो सकती है। बताते चलें कि विभाग ने शनिवार को भी मौसम में बदलाव की चेतावनी जारी की थी। इसका असर कई जिलों में देखने को मिला था। बोकारों में बज्रपात से एक महिला की मौत तक हो गई थी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मानसून ने दी दस्तक, अगले 48 घंटे में इन राज्यों में तेज बारिश के आसार

NewsCode | 24 June, 2018 4:40 PM
newscode-image

नई दिल्ली। करीब 12 दिनों तक सुस्त रहने के बाद शनिवार को मानसून फिर से सक्रिय हो गया है। मौसम विभाग ने 48 घंटों के भीतर झारखंड एवं बिहार में मानसून के पहुंचने की भविष्यवाणी की है। उत्तरी पश्चिमी राज्यों उत्तर प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा आदि के लिए राहत यह है कि 27 जून से यहां जोरदार प्री मॉनसून बारिश शुरू होगी।

मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार को मानसून ने फिर से जोर पकड़ लिया है। यह अरब सागर, महाराष्ट्र, गुजरात के कई हिस्सों में सक्रिय हो गया है। दो दिनों के अंदर यह ओडिशा, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल के बाकी हिस्सों, सौराष्ट्र, झारखंड, बिहार तथा मध्य प्रदेश में सक्रिय हो जाएगा। इन राज्यों में मानसून के आगमन में करीब दस दिनों का विलंब हो चुका है। लेकिन विभाग का कहना है कि कृषि के हिसाब से यह देरी बहुत ज्यादा नहीं है। अगले कुछ दिनों में हालात सुधर जाएंगे।

इस बीच विभाग ने कहा कि अगले कुछ दिनों में मॉनसून तेजी से सक्रिय होगा और देश के अन्य हिस्सों की ओर बढ़ेगा। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड में भी मानसून के आने में देरी हो चुकी है। लेकिन विभाग ने 27 से समूचे उत्तर पश्चिम भारत में प्री-मानसून बारिश की संभावना जताई है। प्री-मानसून बारिश के तुरंत बाद मानसूनी बारिश होने का रुझान रहा है। इसलिए उम्मीद की जा रही है कि महीने के अंत में मानसून उत्तर भारत में भी छा जाएगा। विभाग ने अगले दो-तीन दिनों में पूर्वोत्तर में भारी बारिश की चेतावनी भी जारी की है। पूर्वोत्तर में मॉनसून पहले ही सक्रिय हो चुका है।

अब तक 10 फीसदी कम बारिश

देश में हालांकि इस बार सामान्य मॉनसून की बात कही गई है। लेकिन पहले 23 दिनों के आंकड़ों को देखें तो बारिश में दस फीसदी की कमी है। अब तक 110 मिमी बारिश होनी चाहिए लेकिन 99.5 मिमी बारिश ही दर्ज की गई है। उत्तर पश्चिम भारत में 24, पूर्वोत्तर में 29 और मध्य भारत में 9 फीसदी कम बारिश दर्ज की गई है। जबकि दक्षिणी हिस्से में सामान्य से 29 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है।

किसानों के लिए अच्छी खबर, इस साल सामान्य रहेगा मानसून, जानें किस माह में कितनी होगी बारिश

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

कोडरमा : कला की धरा पर कलाकृतियों की बारीकियां बच्चों को सिखा रहे हैं अमर घोष

NewsCode Jharkhand | 24 June, 2018 5:47 PM
newscode-image

कोडरमा। कला की धरा पर कलाकृतियां बिखेरना 68 वर्षीय अमर घोष की खासियत है। अब तक कोडरमा जिले के तकरीबन 500 बच्चों (छात्र-छात्राओं) को ये पेंटिंग, ड्राइंग, मूर्तिकला, पेपरमसवर्क, थर्मोकोल वर्क, पलास्टर ऑफ़ पेरिस, हैंडीक्राफ्ट के क्षेत्र में सभी स्तर की बारिकियों से परिपूर्ण बना उस क्षेत्र में दक्ष बना चुके है। इनका यह अभियान अनवरत जारी है।

कोडरमा : प्रतिदिन सड़क दुर्घटना में जा रही है लोगों की जान, यह है कारण

मौजूदा समय में कला क्षेत्र के धनी अमर घोष तिलैया शहर में रेलवे क्रांसिग के निकट मधुबन काप्लेक्स परिसर में चित्रलिपि के नाम से एक प्रशिक्षण संस्थान चला रहे है। जहाँ सप्ताह में तीन दिन बच्चों को आर्ट क्लास के दौरान उन्हें जानकारियां देकर गढने का काम करते हैं। जिले के कई निजी स्कूलों में भी वे बतौर आर्ट शिक्षक बच्चों को जानकारी देते हैं। ये छात्रों को रिजेक्टेड वाटर बोतल से घर सजाने के हैंडीक्राफ्ट की जानकारी भी देते हैं।

बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि बचपन से ही उनके भीतर आर्ट की बारिकियों को समझने की ललत थी। इस सफर के दौरान उन्होंने इंडियन आर्ट कालेज पश्चिम बंगाल के गोल्ड मेडल प्राप्त प्रध्यापक अजय दास से भी इसके गुर सीखे, बाद के दिनों में 1974-75 में रविन्द्र भारती बंगीय संगीत परिषद धनबाद से उन्होंने आर्ट में डिप्लोमा भी प्राप्त किया है।

मौजूदा समय में उनकी इच्छा है वे ज्यादा से ज्यादा बच्चों को आर्ट की बारिकियां सिखा सके। वे कहते है खासतौर पर छोटे-छोटे नौनिहालों की प्रतिभा निखारने में उन्हें ज्यादा खुशी मिलती है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : पानी-बिजली की किल्‍ल्‍त से परेशान ग्रामीण उतरे सड़क पर

Baidyanath Jha | 24 June, 2018 5:45 PM
newscode-image

धनबाद। जिले में पानी व बिजली की समस्या से परेशान आम लोग अब सड़क पर उतरकर प्रशासन का विरोध करने लगे हैं। ताजा मामला धनबाद केंदुआ का है जहां लोगों ने आज एनएच 32 को घंटों जाम कर पानी व बिजली की मांग की।

मिली जानकारी के अुनसार एनएच 32 सड़क का निर्माण कार्य चल रहा है, जिसके कारण रोड निर्माण कंपनी द्वारा पाईप लाइन क्षतिग्रस्त कर दिए जाने के कारण केंदुआ, करकेंद और कुसुंडा क्षेत्र में घोर पानी की किल्लत कई दिनों से बनी हुई है।

धनबाद : क्विक रिस्पांस टीम करेगी बिजली व पानी की समस्‍या का समाधान

पानी नहीं मिलने से परेशान स्‍थानीय महिलाओं ने हाथ में बर्तन लेकर एनएच 32 को जाम कर पानी देने की मांग करने लगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

दिल्ली : सेना के अफसर की पत्नी की हत्या, आरोपी...

more-story-image

दुमका : ताइक्‍वांडो व कुश्‍ती प्रतियोगिता आयोजित, प्रतिभागियों ने दिखाया...