रांची: परमहंस योगानंद के अध्यात्म का संदेश सभी धर्मां को सम्मान व विश्व बंधु का नजरिया देता है-राष्ट्रपति

NewsCode Jharkhand | 15 November, 2017 5:47 PM

ईश्वर-अर्जुन संवाद का लोकार्पण

newscode-image

रांची। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि हर व्यक्ति के मन में एक युद्ध चल रहा होता है, इस कुरूक्षेत्र की लड़ाई स्वयं लड़नी है और खुद ही जीतना है, क्या करना है, क्या नहीं करना है और जीतने के लिए विद्वता की नहीं, बल्कि विवेक की जरूरत होती है, यह विवेक केवल और केवल अध्यात्मिकता से ही आती है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज रांची में योगदा सत्संग आश्रम में योगदा सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित गॉड टू टॉक विद अर्जुन के हिन्दी संस्करण ईश्वर-अर्जुन संवाद के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि सभी योग की विभिन्न पद्धतियों से परिचित है और गीता का आचरण लोगों को तमाम झंझावात में भी स्थिरता प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि सफलता-असफलता और जय-पराजय सभी में गीता का संदेश महत्वपूर्ण है। उन्होंने बताया गया कि गीता का अंतिम श्लोक व्यक्ति के कौशल विकास और विजय सुनिश्चित करने में समन्वय के रास्ते को बताता है।

उन्होंने कहा कि रांची के योगदा सत्संग आश्रम के वातावरण और प्राकृतिक दृश्य में अनूठा मेल दिखता है।  यहां आने से पहले उनके मन में आया था कि योगदा सत्संग कोई छोटा से मंदिर होगा, मेडिएशन सेंटर या छोटा से कंपाउंड होगा, लेकिन यहां आने पर उन्हें स्वामीजी ने बताया कि 18-20 एकड़ में यह परिसर फैला है। इस परिसर में जिस वृक्ष के नीचे स्वामी का चित्र लगा है, वह भी अलौकिकता को लेकर करीब 100 वर्ष से खड़ा है।

राष्ट्रपति ने देश-विदेश से आये  योगदा सत्संग के सदस्यों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि परमहंस योगानंद द्वारा योग पर लिखित पुस्तक का प्रकाशन समयानुकूल है। उन्होंने बताया कि गीता से संबंधित एक अन्य कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए उन्हें आमंत्रण मिला है, कुरूक्षेत्र को गीता ज्ञान का केंद्र बताया जाता है और वहां 25 से 30 नवंबर तक एक सप्ताह तक अंतरराष्ट्रीय गीता ज्ञान महोत्सव में भाग लेने का अवसर मिल रहा है। उन्होंने बताया कि 1995 में इस पुस्तक का अंग्रेजी, स्पेनिस, इटालियन समेत कई अन्य भाषाओं में प्रकाशन हो चुका है और अब हिन्दी में इसके प्रकाशन से लोगों को जीवनोयोगी ज्ञान मिल सकेगा, इसके लिए वे स्वामी नित्यानंद जी का आभार व्यक्त करते है।

उन्होंने बताया कि 1893 में जिस वर्ष शिकागो में स्वामी विवेकानंद ने अपने उदबोधन से भारतीय आध्यात्म से पश्चिमी सभ्यता को अवगत कराया, इसी वर्ष गोरखपुर में स्वामी परमहंस का जन्म हुआ। 1918 से 1920 तक स्वामी परमहंस ने रांची के इसी योगदा सत्संग आश्रम को अपनी कर्मभूमि बनाया, बाद में 1932 तक उन्होंने अमेरिका में क्रियायोग से लोगों को लाभाविंत कराया। उन्होंने बताया कि 1935 में वे फिर से भारत लौटे और इसी आश्रम से क्रियायोग का प्रसार किया। 1925 में इस आश्रम में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी भी आये थे। श्री कोविंद ने बताया कि  परमहंस योगानंद के अध्यात्म का संदेश सभी धर्मां को सम्मान और विश्व बंधु का नजरिया देता है।

एकदिवसीय झारखंड दौरे पर आये राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने योगदा सत्संग द्वारा गरीबों के कल्याण और समाज के अन्य क्षेत्रों में किये जा रहे कार्यां की सराहना की।  इस मौके पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास और योगदा सत्संग के कई स्वामी, राज्य सरकार के कई मंत्री, सांसद, विधायक और प्रबुद्ध जन उपस्थित थे।

रांची : डोरंडा के बेलदार में महावीर मंडल के उपाध्यक्ष की गोली मार कर हत्या

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 10:39 AM
newscode-image

रांची । झारखंड की राजधानी रांची में बुधवार की सुबह डोरंडा थाना क्षेत्र के बेलदार मोहल्ला के डोम टोली में महावीर मंडल डोरंडा के उपाध्यक्ष धीरज राम की गोली मारकर हत्या कर दी गयी।  हमलावरों ने धीरज को पांच गोलियां मारी। धीरज के शव को पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया गया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है।

घटना उस वक्त घटी जब धीरज राम किसी काम के लिए अपने घर से निकले थे।  घात लगाये अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। धीरज को पांच गोलियां लगी जिससे घटनास्थल पर ही उन्होंने दम तोड़ दिया। महावीर मंडल के उपाध्यक्ष की हत्या करने के बाद अपराधी वहां से फरार हो गये। इधर गोली चलने की आवाज सुनते ही लोग सड़क पर आ गये।

पलामू : डायन-बिसाही के आरोप दंपत्ति की हत्या

उन्होंने लहूलुहान अवस्था में धीरज राम को मृत देखा तो उनका गुस्सा फूट पड़ा। लोग हंगामा करने लगे। बाद में पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर मामला को शांत कराया। लोगों ने अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग की है। डोरंडा पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और हत्या की जांच शुरू कर दी है। पुलिस संदिग्ध अपराधियों की तलाश में जुट गयी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

खूंटी : खेत में काम करने के दौरान करंट लगने से दो महिला मौत

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 10:21 AM
newscode-image

खूंटी । एसपी ऑफिस कार्यलय के पीछे कामंता गांव के खेत में बिचड़ा निकाल रही दो महिला करेंट की चपेट में आ गई। दोनों महिला की घटनास्थल पर हीं मौत हो गई।  बताया जा रहा है कि खेत में दो महिला और एक बच्चा धान का बिचड़ा निकालने का काम कर रही थी। खेत से महज एक फीट की ऊंचाई पर बिजली का तार गुजर रही थी जिसे एक बच्चे ने छू लिया और तड़पने लगा ।

पलामू : यात्री बस व ट्रैक्टर में सीधी टक्कर, एक की मौत, आधा दर्जन लोग घायल

खेत में काम कर रही बच्चे की मां बचाने गई और करेंट की चपेट में आ गई। उसी दौरान महिला की सास को भी बिजली ने अपने चपेट में ले लिया। दोनों महिला की मौत घटनास्थल पर हीं हो गई जबकि मासूम बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल बच्चे को इलाज़ के लिए अस्पताल रेफर कर दिया है।  वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस और प्रशासन ने जांच कर कार्रवाई की बात कही है। मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा देने का आश्वाशन दिया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

खूंटी : कोचांग गैंगरेप का पांचवा आरोपी गिरफ्तार

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 9:47 AM
newscode-image

खूंटी ।  खूंटी के कोचांग में 18 जून को हुए गैंगरेप की घटना के एक मुख्य आरोपी जुनास मुंडू को रनिया के सरबो गांव से गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली है। पीएलएफ़आई का एरिया कमांडर और गैंगरेप का मुख्य आरोपी बाजी समद उर्फ़ टकला के गिरफ़्तारी के बाद ये दूसरी बड़ी गिरफ़्तारी है। टकला के निशानदेही पर ही गिरफ्तार किया जा सका है । गिरफ्तार जुनास मुंडू के पास से गैंगरेप घटना में शामिल बाईक भी पुलिस ने बरामद किया ।

चतरा : नक्सली संगठन टीपीसी समर्थक वीरेंद्र गंझू गिरफ्तार

बता दें कि गैंगरेप घटना में अब तक फादर अल्फांसो आईंद, आजूब सांडी पूर्ति, आशीष लोंगो, बाजी समद उर्फ़ टकला पहले हीं गिरफ्तार किया जा चुका है और आज जुनास मुंडू को गिरफ्तार किया गया । घटना में शामिल बच्चा (नाम ही बच्चा है) और पत्थलगड़ी नेता व गैंगरेप की साजिशकर्ता की गिरफ़्तारी के लिए अभियान जारी है । एसपी ने दावा किया है जल्द ही फरार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा ।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

रांची : सजिश के तहत हमला कराया गया, न्यायिक जांच...

more-story-image

कैसा रहेगा आज आपका दिन ? जानें आज दिनांक 19-07-2018...