रांची : राज्य में भूख से हो रही मौत को बीमारी बता रही सरकार – सुबोधकांत सहाय

NewsCode Jharkhand | 22 October, 2017 3:57 PM
newscode-image

रांची। कांग्रेस सरकार में पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे सुबोध कान्त सहाय ने रघुवर सरकार पर जनता का शोषण करने का आरोप लगाया है। सुबोधकांत ने अपने आवास में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि मुख्यमंत्री में जरा सी भी संवेदना नहीं बची है। राज्य की गरीब जनता भूख से मर रही है और रघुवर दास की सरकार मौत का कारण बीमारी बताती है।

सीएनटी-एसपीटी एक्ट के खिलाफ व धर्मांतरण बिल की बदौलत राज्य सरकार आदिवासी समाज को बांटना व कुचलना चाहती है। भाजपा झारखण्ड के 17 साल के कार्यकाल में लगभग 14 वर्ष शासन की है, फिर भी यहां कि जनता भूख से मरती है। भाजपा सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वालों को जेल के भीतर डाल दिया जाता है।

जेवीएम के विधायक प्रदीप यादव व बड़कागांव के विधायका निर्मला देवी उदाहरण है। रघुवर सरकार हजार दिन राज काज का सेलिब्रेशन ऐसे करती है, जैसे हजार साल शासन कर लिया हो। उन्होंने कहा कि पहले जमीन को गुंडे, जमींदार, दबंग लोग किसानों से छिनते थे, पर अब वक्त ऐसा आ गया है कि किसानों की जमीन को केंद्र सरकार और झारखण्ड की सरकार मिल कर छीन रही है।

सिमडेगा मामले पर पूर्व केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि केंद्र से आयी टीम को सिमडेगा जाने ही नहीं दिया गया। उस टीम को गुमला, नगड़ी घुमाकर वापस भेज दिया गया। मृत बच्ची के परिवारों को बयान बदलने के लिए दबाव बनाने व उनके साथ मारपीट करने वाले भाजपा के ही लोग हैं।
आगे उन्होंने कहा कि राज्य की तमाम विपक्षी पार्टियां आदिवासी मूलवासी संगठन व सामाजिक संगठन सहित 400 संगठनों के साथ कल संवाद कार्यक्रम रखा गया है। राज्य में फैले अराजकता में सभी दल एक साथ आवाज उठाएंगे।

 बड़कागांव : “न्यूज़कोड” के द्वारा शिक्षक को किया गया सम्मानित

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 10:30 AM
newscode-image

बड़कागांव। बड़कागांव प्रखंड के प्लस टू हाई स्कूल के  प्राचार्य राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित डॉ. बालेश्वर राम एवं इंदिरा गांधी मेमोरियल कॉलेज के शिक्षक संजय सागर  को शिक्षा योगदान  में “न्यूज़कोड” की तरफ से मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया।

 बड़कागांव : "न्यूज़कोड" के द्वारा शिक्षक को किया गया सम्मानित

वहीं प्राचार्य डॉ. बालेश्वर राम ने बताया कि मैं  बच्चों को शिक्षा देने में भरपूर सहयोग करते हैं और करते रहेंगे। शिक्षा एक ऐसा गुण हैं जो लोगों को अपने मंजिल तक पहुंचाता है। वहीं इंदिरा गांधी मेमोरियल कॉलेज के शिक्षक संजय सागर ने कहां की शिक्षा के बिना जीवन अधूरा है। शिक्षा मानव के लिए बेहतर से बेहतर कार्य करने में अहम भूमिका निभाती है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जामताड़ा : ट्रक और बाइक में जोरदार टक्कर, तीन घायल

Tarun Kumar Choubey | 26 September, 2018 10:03 AM
newscode-image

जामताड़ा। मंगलवार शाम करीब पांच बजे नारायणपुर थाना क्षेत्र के पबिया बाजार में गोविंदपुर-साहेबगंज हाइवे पर सीमेंट लदा ट्रक (जेएच 10 ओ 6365) से बाइक का आमने सामने टक्कर हो जाने से तीन लोग घायल हो गए। ट्रक धनबाद से सीमेंट लादकर जामताड़ा जा रही थी।

तीनों के सिर  व शरीर पर काफी चोटें लगी है। मौके पर ट्रक चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया। भीड़ ने ट्रक को अपने कब्जे में कर लिया। जानकारी के अनुसार  मोटरसाइकिल में तीन व्यक्ति सवार थे। चालक लबसन हेम्ब्रम (27), जितेंद्र टुडू (65) व महिला पकलु टुडू (35) तीनों की स्थिति नाजुक बताई जा रही है।

जामताड़ा : संतुलन बिगड़ने से किरासन तेल का टैंकर पलटा, तेल लेने जुटी भीड़

जामताड़ा : ट्रक और बाइक में जोरदार टक्कर, तीन घायल

सभी घायल नारायणपुर थाना क्षेत्र के मझलाड़ीह पंचायत के बरमसिया गांव का रहने वाले हैं। बजरंग दल के जिला संयोजक सोनू सिंह व भाजपा के मंडल अध्यक्ष सुधीर मंड़ल ने तीनों घायलों को बेहतर इलाज के लिए जामताड़ा सदर अस्पताल लाया। चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए धनबाद भेज दिया।

स्थानीय लोगों ने किया सड़क जाम

स्थानीय लोगों ने दुर्घटना के बाद मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया गया। सूचना मिलते ही घटना स्थल पर नारायणपुर थाना प्रभारी अजय कुमार सिंह व एसआई बीके सिंह पुलिस बल के साथ पहुंचे। लोगों ने सरकारी मुआवजे की मांग कर रहे थे।

जामताड़ा : चार शातिर साइबर अपराधियों के ठिकानों पर ईडी का छापा

थाना प्रभारी ने सड़क जाम कर रहे लोगों को समझा बुझाकर जाम हटाया। प्रभारी ने कहा कि सरकारी सहायता घायलों को जरूर मिलेगा। स्थानीय लोगों ने पबिया में अक्सर हो रहे दुर्घटना पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस बेरिकेड लगाने की मांग की। थाना प्रभारी ने उक्त व्यवस्था करने का आश्वासन दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बाघमारा : प्रखण्ड में आयोजित दिव्यांग शिविर में नहीं पहुंचे अधिकारी

NewsCode Jharkhand | 26 September, 2018 9:10 AM
newscode-image

बाघमारा। प्रखण्ड में आयोजित दिव्यांग शिविर में को भी अधिकारी नहीं पहुंचा। बाघमारा प्रखण्ड में दिव्यांगों के सर्टीफिकेट बनाने के लिये शिविर का आयोजन की गई थी और साथ ही दिव्यांगों को पेंशन कार्ड भी बनाया जाना था। आयोजित शिविर में अधिकारी के नहीं पहुँचने पर दिव्यांग लोग बेहाल रहे।

 बाघमारा : पूना महतो फुटबॉल टूर्नामेंट में पहुंचेगें सीएम

सुबह 10 बजे से ही दिव्यांग प्रखण्ड मुख्यालय पहुँच गये थे। तपती गर्मी में लाचार लोग तडपते रहे।  इस शिविर के लिये प्रचार-प्रसार किया गया था। ऐसे में अधिकारी का समय पर शिविर में न पहुँचना सरकार से लोगों का विस्वास तोड़ने का काम कर रहे  है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

जमशेदपुर : दुकानों में लगी आग, लाखों रूपये का हुआ...

more-story-image

चास : टेलर की चपेट में आने से महिला हुई...