रांची : रेलवे आरक्षण फार्म एक फरवरी से बदलेगा… जानिए क्या है बदलाव

NewsCode Jharkhand | 25 January, 2018 2:52 PM
newscode-image

दिव्यांगों के लिए अलग से कॉलम

रांचीभारतीय रेलवे का आरक्षण फॉर्म एक फरवरी से बदल जायेगा। यात्रा के लिए भरे जानेवाले नये फॉर्म में अब दिव्यांगों के लिए अलग से कॉलम की सुविधा होगी। इसके अलावा दृष्टिहीन और मूकबधिर की जगह पर पूर्ण दृष्टिबाधिक और पूर्ण श्रवण क्षमताविहीन लिखा होगा।

रांची : एक तस्वीर ने उड़ाई सत्तापक्ष की नींद, कयासों के दौर शुरू

 

इसके अलावा पुरुष और महिला के साथ-साथ किन्नरों के लिए भी एक कॉलम होगा। फरवरी महीने से भरे जानेवाले इस नये फॉर्म में राष्ट्रीयता बताने के लिए भी अलग से एक कॉलम का प्रावधान किया जा रहा है।

यात्री सुविधाओं में सुधार के लिए भारतीय रेलवे ने इससे पहले भी छह बार आरक्षण फॉर्म में बदलाव किया है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

गोमिया : मुहर्रम पर साड़म में लाठी खेल प्रतियोगिता का आयोजन

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:43 PM
newscode-image

गोमिया(बोकारो)।  प्रखण्ड के साड़म में मुहर्रम के अवसर पर शुक्रवार को मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा लाठी खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें दर्जी मुहल्ला होसिर के भोलू को प्रथम, चांद मोहम्मद को द्वितीय व हाजी सरोवर को तृतीय पुरस्कार दिया गया।

बोकारो : कंपनीकर्मी के साथ दबंगो ने नंगाकर किया मारपीट

वहीं राय मुहल्ला साड़म के मनोवर राय को चतुर्थ व सरताज राय को पंचम पुरस्कार दिया गया। पुरस्कार वितरण गोमिया के पूर्व विधायक माधवलाल सिंह, गोमिया सर्किल के पुलिस इंस्पेक्टर राधेश्याम प्रसाद व गोमिया थानेदार आशुतोष कुमार ने संयुक्त रूप से किया।

मौके पर मुखिया रामलखन प्रसाद, रविशंकर प्रसाद,नसीम अंसारी,जमालुद्दीन, नुरुल अंसारी,रियाजुद्दीन, मिराज,बशीरुद्दीन आदि उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

रांची : अन्य राज्यों से झारखंड में सस्ता है डीजल और पेट्रोल- बीजेपी

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:42 PM
newscode-image

रांची । पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों पर बीजेपी ने सफाई दी है कहा महत्वपूर्ण योजनाओं के लिए फंड की आवश्यकता होती है जो टैक्स के रूप में है सरकार जनता के लिए कई जनकल्याण योजनाएं चल रही है। पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों के बावजूद झारखंड की जनता सरकार के साथ खड़ी है।

रांची : 11 लाख शेष बचे परिवारों को भी स्वास्थ्य बीमा का लाभ देने पर विचार- स्वास्थ्य मंत्री

पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता दीनदयाल बर्णवाल ने शुक्रवार को कहा कि प्रदेश में भले ही पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स के दर में बढ़ोत्तरी हुई हो, लेकिन इसका असर बाजार में बिकने वाले सामान की कीमत पर नहीं पड़ा है। उन्होंने कहा कि विकासशील अर्थव्यवस्था का हिस्सा होने की वजह से राज्य में आधारभूत संरचना विकसित करना जरूरी है। यही वजह है कि टैक्स से राजस्व प्राप्ति भी एक अहम मुद्दा है। उन्होंने कहा कि पिछले साल 3060 करोड़ रुपए टैक्स के रूप में सरकार को पेट्रोलियम से प्राप्त हुआ था।

झारखंड में 22% लिए जाते है टैक्स, बावजूद तेल का रेट नय राज्यों से कम है

बर्णवाल ने कहा कि राज्य में पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स पर पहले एक रुपये सेस लगता है और फिर 22 प्रतिशत वैट के बावजूद इसकी कीमत पड़ोसी राज्यों से कम है। उन्होंने कहा कि विपक्षी दल इस मुद्दे पर भ्रम की स्थिति पैदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ओडिशा, बिहार और छत्तीसगढ़ की तुलना में झारखंड में पेट्रोल की कीमत कम है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

गिरिडीह : या अली या हुसैन के नारों से गूंज उठा इलाका, मुहर्रम पर याद किये गए नवासा-ए-रसूल इमाम हुसैन

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 7:41 PM
newscode-image

गिरिडीह। इस्लामिक नए साल की दस तारीख को नवासा-ए-रसूल इमाम हुसैन अपने 72 साथियों और परिवार के साथ मजहब-ए-इस्लाम को बचाने, हक और इंसाफ कोे जिंदा रखने के लिए शहीद हो गए थे।

इमाम हुसैन के शहादत की याद में गिरिडीह में भी मोहर्रम मनाया गया। इस दौरान या अली या हुसैन के नारों से पूरा इलाका गूंज उठा। जिले भर में मुहर्रम पर ताजिया निकाला गया गया और जगह जगह घूम कर गमजदगी का एहतराम किया गया।

गिरिडीह : या अली या हुसैन के नारों से गूंज उठा इलाका, मुहर्रम पर याद किये गए नवासा-ए-रसूल इमाम हुसैन

मौके पर जुलूस  की शक्ल में अखाड़ा खेल का प्रदर्शन भी किया गया। शहरी क्षेत्र के बरवाडीह, भण्डारीडीह, पचम्बा आदि क्षेत्रों में सुबह से लेकर शाम तक कई तरह की गतिविधियां संचालित की गई।

इस क्रम में सभी इमामबाड़ों में नजरोनियाज व दुआ की गई। साथ ही कर्बला में फातिहा  की गई।मुहर्रम को लेकर जिले भर में सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया गया था । जगह जगह मजिस्ट्रेट के साथ सुरक्षा बल तैनात किए गए थे।

गिरिडीह : पूर्व चीफ जस्टिस के घर से चुराए गए जेवरात व रूपये बरामद, छह गिरफ्तार

जुलूस  की वजह से यातायात बाधित न हो इसका भी ध्यान रखा गया था। बताया गया कि हजरत इमाम हुसैन को उस वक्त के मुस्लिम शासक यजीद के सैनिकों ने इराक के कर्बला में घेरकर शहीद कर दिया था।

लिहाजा, 10 मोहर्रम को पैगंबर-ए-इस्लाम के नवासे हजरत इमाम हुसैन की शहादत की याद ताजा हो जाती है। दरअसल, कर्बला की जंग में हजरत इमाम हुसैन की शहादत हर धर्म के लोगों के लिए मिसाल है। यह जंग बताती है कि जुल्म के आगे कभी नहीं झुकना चाहिए, चाहे इसके लिए सिर ही क्यों न कट जाए, लेकिन सच्चाई के लिए बड़े से बड़े जालिम शासक के सामने भी खड़ा हो जाना चाहिए।

गिरिडीह : हर्षोल्लास व शांतिपूर्ण माहौल में निकला मुहर्रम का जुलूस

हुसैन हक की आवाज बुलंद करने के लिए ही शहीद हुए थे। बताया गया कि कर्बला के इतिहास को पढ़ने के बाद मालूम होता है कि यह महीना कुर्बानी, गमखारी और भाईचारगी का महीना है, क्योंकि हजरत इमाम हुसैन ने अपनी कुर्बानी देकर पूरी इंसानियत को यह पैगाम दिया है कि अपने हक को माफ करने वाले बनो और दूसरों का हक देने वाले बनो।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

जमशेदपुर : सफाई की बाट जोह रही कचरे से भरी...

more-story-image

सिमडेगा : मुहर्रम का पर्व शांतिपूर्वक संपन्‍न, अखाड़ों ने दिखाए...