रांची : 65 फीट लम्बा रावण, 60फीट का कुंभकरण व 55फीट के मेघनाथ के पुतला दहन की तैयारी  

NewsCode Jharkhand | 27 September, 2017 8:07 PM
newscode-image

रांची। राजधानी रांची के मोरहाबादी मैदान में 65फीट लम्बा रावण, 60फीट का कुंभकरण व 55फीट के मेघनाथ के पुतला दहन की तैयारी अंतिम चरण में है। इस बार पुतले को वाटरप्रूफ बनाया गया है, ताकि बारिश से कोई नुकसान नहीं हो सके। हर बार की तरह इस बार भी रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के पुतले को बनाने की जिम्मेवारी उन्हीं मुस्लिम कारीगरों पर है, जो खुद या उनके परिजन पुतला का निर्माण करते आये हैं।

बताया गया है कि विगत एक महीने से दिन-रात कर 20 कारीगरों की टीम इस कार्य में जुटी है, इनमें से 16 कारीगर मुस्लिम समुदाय के हैं और वे हिन्दू के पर्व में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निवर्हन कर अनोखो भाईचारा की मिसाल पेश कर रहे हैं।

1947 को जब देश का बंटवारा हुआ, तो पश्चिम पाकिस्तान से भारी संख्या में देश के विभिन्न शहरों में रिफ्यूजी कैंपों में शरणार्थियों को ठहराया गया। रांची तथा लोहरदगा में भी शरणार्थी शिविर बनाये गये। रांची में यह शरणार्थी शिविर रांची रेलवे स्टेशन जाने वाली सड़क पर खजुरिया तालाब के बगल में एमईएस के रेस्ट कैंप में था।

यहां नॉर्थ वेस्ट फ्रंटियर के बन्नू शहर से आये कई परिवारों को ठहराया गया। इन शरणार्थियों ने रांची में अपना पहला दहशरा मनाया और रावण दहन का आयोजन किया। समाज के मुखिया लाला खिलदा राम भाटिया ने अपने कुछेक सहयोगियों के साथ एक छोटे से रावण के पुतले का निर्माण कराया, जिसकी ऊंचाई 12 फुट थी। उस समय लाला कृष्ण लाल नागपाल, शादीराम भाटिया, कृष्ण लाल शर्मा, अमीरचंद सनीजा तथा अशोक नागपाल ने रावण के पुतले के निर्माण में अपनी भूमिका निभायी।

समाज के लोगों ने 2 से 3 सौ रुपये चंदा कर पुतले का निर्माण किया। शरणार्थी शिविर में आये सभी लोग शुरू-शुरू में बेकार थे, तब सभी शिविरों में सरकारी राशन मिलता था, वे वहीं खाते थे और जैसे-तैसे रावण का पुतला बना। पुतला बनने के बाद उस समय के डिग्री कॉलेज (बाद में रांची कॉलेज और अब रांची विश्वविद्यालय परिसर) में आसपास के दो-तीन सौ लोगों की मौजूदगी में रावण दहन किया गया। बन्नू समाज द्वारा रावण दहन का कार्यक्रम इसी मैदान में दो वर्षां तक चला। वर्ष 1949 में रावण के पुतले की लम्बाई(ऊंचाई) 18फुट थी। धीरे-धीरे आयोजन को देखने वालों की संख्या भी बढ़ती गयी।

बाद में 1950 से 1955 तक रावण दहन कार्यक्रम कचहरी रोड पर शिफ्टन पेवेलियन में संपन्न हुआ, क्योंकि डिग्री कॉलेज परिसर छोटा पड़ गया था और तब रावण के पुतले के निर्माण की लागत 15 से 18 हजार रुपये के बीच होने लगी।

इस बीच लाला खिलदा राम भाटिया के निधन के बाद दहशरे की कमान कृष्ण लाल नागपाल के हाथों में दी गयी। इनकी टीम खुद अपने हाथों से रावण के पुतलों का निर्माण करती थी। रावण के पुतले का निर्माण पहले रेस्ट कैंप और बाद में डोरंडा राममंदिर में किया जाने लगा। वहीं 1955 तक रावण का मुंह गणे का बना होता था, पर बाद में इसमें सुधार कर मानव मुखौटा बनाया जाने लगा।

निर्माण में खर्च बढ़ने के बाद बन्नूवाल समाज ने इसके निर्माण का भार पंजाबी हिन्दू बिरादरी के धीमान जी, लाल राधाकृष्ण बिरमानी, लाल ईश्वर दास आजमानी तथा लाला कश्मीरी लाल को सौंप दिया गया। तब से लेकर आज तक पंजाबी हिन्दू बिरादरी के पास से ही इसकी कमान है।

चतरा : TPC नक्सलियों की करतूत, ठेकेदार की हत्या, छह को किया घायल

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 11:06 AM
newscode-image

चतरा । नक्सली संगठन तृतीय प्रस्तुति कमेटी (टीपीसी) के हथियारबंद दस्ते ने बुधवार देर रात चतरा जिले के पत्थलगड्डा थाना क्षेत्र के मेराल गांव में एक ठेकेदार की पीट-पीट कर हत्या कर दी।

नक्सलियों ने मेराल गांव निवासी नागेश्वर गंझू पर पुलिस मुखिबिरी का आरोप लगाते हुए मनरेगा के नागेश्वर गंझू समेत कई लोगों से मारमीट की। इस मारपीट की घटना में छह लोग घायल हो गये। जिसमें नागेश्वर गंझू की इलाज के क्रम में मौत हो गयी। मारपीट से घायल आधा दर्जन लोगों की प्रथमिक उपचार स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में किया गया। बाद में उन्हें बेहतर इलाज के लिए हजारीबाग सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

बाघमारा :  दो पड़ोसी दुकानदार आपस में भिड़े, सात घायल

मृतक नागेश्वर गंझू के परिजनों ने बताया टीपीसी के उग्रवादी लेवी नहीं देने और पुलिस के लिए मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए उन्हें घर से उठा कर ले गये थे। घर के बाहर कुछ दूरी पर ले जाकर उनके साथ मारपीट की।  जिससे वह मरणासन्न हो गये और बाद में उनकी मौत हो गयी। नागेश्वर गंझू के साथ मारपीट करने के बाद उग्रवादियों ने गांव के दूसरे घरों से भी लोगों को निकाल कर मारपीट की। जिसमें छह लोग गंभीर रुप से घायल हुए हैं।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

चास : नगर विकास समिति की मासिक बैठक में समस्याओं पर चर्चा

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 10:52 AM
newscode-image

चास(बोकारो)। नगर विकास समिति की मासिक समीक्षा बैठक “बाबु कुंवर सिंह जोन” बुनियादी स्कूल चास अभय कुमार मुन्ना की अध्यक्षता तथा गौरी शंकर सिंह के संचालन में हुई। बैठक में आम लोगों के हित मे सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यो को लेकर वार्ड वार बिस्तार से चर्चा किया गया। बैठक को संबोधित करते हुए समिति के संरक्षक सदस्य अशोक जगनानी ने कहा कि सरकार की योजनाए आमजनता को केंद्र में रखकर ही बनाई जाती है।

बेरमो : युवक ने घर घुसकर लड़की का गला काटा, हालत नाजुक

 

लेकिन उसको कार्यान्वित करने वाली एजेंसी जबतक ईमानदारी पूर्वक अपने कर्तव्यों का पालन नही करती। तब तक शत प्रतिशत सफलता नहीं मिल पाता है। बिजली विभाग, आपूर्ति विभाग,नगर निगम,प्रखंड-अंचल सहित कई विभाग में विकास का कार्य असंतुलित एवं मनमाने ढंग से हो रहा है। कार्य करने वाली एजेंसियां सबको दरकिनार कर विकास का कार्य कर रही है,जिस कारण भ्रष्टाचार बेलगाम हो गया है। जो अत्यंत दुखद है।

चास : इंजीनियर के घर से 20 हजार नगद समेत लाखों की कीमती सामान चोरी

 

समिति अतीश कुमार सिंह ने कहा कि सरकारी योजनाओं को जोन स्तर पर आम जनता को अधिक से अधिक जागरूक करने के लिए समिति बैठके कर रही है। समिति एक जिम्मेवार संगठन के रूप में मनमानी को  रोकने के लिए कृतसंकल्पित है। समिति के अध्यक्ष अभय कुमार मुन्ना ने कहा कि विगत एक माह में समिति ने आम जनता की समस्याओं को लेकर उपायुक्त, बिजली विभाग,नगर निगम,रेलवे विभाग,खाद्य आपूर्ति विभाग सहित कई विभाग में स्थानीय स्तर पर हो रही समस्याओ से संबंधित मूद्दो से अधिकारियों को अवगत कराया है।

बोकारो : चास नगर निगम क्षेत्र से भारी मात्रा में अवैध पॉलीथिन बरामद

 

 जो आगे भी जारी रहेगा । अपेक्षित सुधार नहीं होने पर समिति आंदोलनात्मक कार्यक्रम भी चलाने का काम करेगी। इस अवसर पर मार्गदर्शक समिति के संरक्षक सदस्य अशोक जगनानी, वरिष्ठ सदस्य अतीश सिंह, गौरी शंकर सिंह,शिव कुमार श्रीवास्तव,रामभजन सिंह,लालमुनी देवी,नरोत्तम झा,बिनोद चौधरी,वार्ड अध्यक्ष राम किंकर माहथा,बिंदा मौजूद रहे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

रांची : डोरंडा के बेलदार में महावीर मंडल के उपाध्यक्ष की गोली मार कर हत्या

NewsCode Jharkhand | 19 July, 2018 10:39 AM
newscode-image

रांची । झारखंड की राजधानी रांची में बुधवार की सुबह डोरंडा थाना क्षेत्र के बेलदार मोहल्ला के डोम टोली में महावीर मंडल डोरंडा के उपाध्यक्ष धीरज राम की गोली मारकर हत्या कर दी गयी।  हमलावरों ने धीरज को पांच गोलियां मारी। धीरज के शव को पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया गया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है।

घटना उस वक्त घटी जब धीरज राम किसी काम के लिए अपने घर से निकले थे।  घात लगाये अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। धीरज को पांच गोलियां लगी जिससे घटनास्थल पर ही उन्होंने दम तोड़ दिया। महावीर मंडल के उपाध्यक्ष की हत्या करने के बाद अपराधी वहां से फरार हो गये। इधर गोली चलने की आवाज सुनते ही लोग सड़क पर आ गये।

पलामू : डायन-बिसाही के आरोप दंपत्ति की हत्या

उन्होंने लहूलुहान अवस्था में धीरज राम को मृत देखा तो उनका गुस्सा फूट पड़ा। लोग हंगामा करने लगे। बाद में पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर मामला को शांत कराया। लोगों ने अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग की है। डोरंडा पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और हत्या की जांच शुरू कर दी है। पुलिस संदिग्ध अपराधियों की तलाश में जुट गयी है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

खूंटी : खेत में काम करने के दौरान करंट लगने...

more-story-image

खूंटी : कोचांग गैंगरेप का पांचवा आरोपी गिरफ्तार