रांची : पुलिस खेलकूद प्रतियोगिता शुरू, 15 सौ खिलाड़ी ले रहे है हिस्सा

NewsCode Jharkhand | 8 June, 2018 1:32 PM
newscode-image

राज्यपाल प्रतियोगिता का करेंगी उदघाटन

रांची।  शुक्रवार से झारखंड पुलिस खेलकूद प्रतियोगिता शुरू हो गई।  पहले दिन हॉकी का लीग मैच खेला गया। 8 से 12 जून तक चलने वाली इस प्रतियोगिता का विधिवत उद्घाटन शनिवार को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू करेंगी। इस प्रतियोगिता में करीब 15 सौ पुलिस खिलाड़ी अगले पांच दिनों तक अपनी खेल प्रतिभा का जौहर दिखाएंगे।

यह खेलकूद प्रतियोगिता पुलिसकर्मियों के बीच बेहतर टीम स्पिरिट और प्रतिस्पर्धा विकसित करने के साथ फिजिकल फिटनेस के उद्देश्य से हर साल आयोजित की जाती है। इसमें राज्य पुलिस की सभी 9 रेंज की टीमें खेल के विभिन्न स्पर्धाओं में शिरकत कर रही हैं।

प्रतियोगिता के बारे में नेतरहाट जंगल वार फेयर के कमांडेंट रवि शंकर ने कहा कि इसका विधिवत उद्घाटन शनिवार को किया जाएगा।  हालांकि खेलकूद प्रतियोगिता की शुरुआत आज से हो गई है। शुक्रवार को सुबह हॉकी के लीग मैच के साथ और भी भिन्न स्पर्धाओं का आयोजन हुआ है. शाम में भी कुछ स्पर्धाएं आयोजित की जाएंगी।

वहीं रांची के ट्रैफिक एसपी संजय रंजन सिंह ने कहा कि झारखंड पुलिस खेलकूद प्रतियोगिता का विधिवत उद्घाटन शनिवार को होगा। आउटडोर गेम्स के तहत वॉलीबॉल, फुटबॉल, हॉकी, कबड्डी की स्पर्धाएं होंगी. हॉकी का टूर्नामेंट शुरू हो गया है।इसमें नौ टीमें भाग ले रही हैं. इसी तरह इंडोर गेम्स के भी आयोजन होंगे जिसमें कुश्ती का भी आयोजन होगा।

रातू : तीन दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता में बच्‍चे ले रहे बढ़ चढ़ कर हिस्‍सा

ट्रैफिक एसपी ने कहा कि चार दिनों तक चलनेवाली इस प्रतियोगिता का समापन 12 जून को होगा। उनके अनुसार प्रतियोगिता के आयोजन का सबसे बड़ा उद्देश्य लोगों को एकता के सूत्र में बांधना है। लोगों के मनोबल को बढ़ाए रखने के साथ ही लोगों में फाइटिंग स्पिरिट पैदा करना है। साथ ही इस प्रतियोगिता के माध्यम से ऐसे खिलाड़ियों को भी तैयार करना है जो राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलें और भारत का नाम रोशन करें।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

धनबाद : केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता में मची है त्राहिमाम-रणविजय सिंह 

NewsCode Karnataka | 21 September, 2018 9:47 PM
newscode-image

रेल मंत्री पीयूष गोयल का किया गया पुतला दहन

धनबाद। धनबाद के रणधीर वर्मा चौक पर शुक्रवार को कांग्रेस के प्रदेश सचिव रणविजय सिंह एवं जागो प्रमुख चुना यादव के नेतृत्व में रेल मंत्री पियूष गोयल का पुतला दहन किया गया। इस अवसर पर रणविजय सिंह ने कहा कि किसी भी कीमत पर डीसी रेल लाइन को उखाड़ने नहीं दिया जायेगा।

निरसा : पेड़ में फांसी लगाकर वृद्ध ने की आत्महत्या

उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण प्रदेश की जनता त्राहिमाम कर रही है, जिस प्रकार आग का हवाला देकर डीसी रेल लाइन को बंद कर दिया गया, इससे 2 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। अगर इस भ्रष्ट सरकार ने रेल की पटरी उखाड़ने की कोशिश की तो पूरे बीसीसीएल का चक्का जाम कर दिया जायेगा।
धनबाद : केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता में मची है त्राहिमाम-रणविजय सिंह 

उन्होंने कहा कि यहां की जनता को हर हाल में डीसी रेल लाइन चाहिए, यह उनका अधिकार है। सिंह ने कहा कि डीसी रेल लाइन के बंद होने से बिजली उत्पादन करने वाली कंपनियों को कोयला नहीं मिल पा रही है, जिसके कारण पूरे कोयलांचल में बिजली की व्यवस्था काफी चरमरा गई है।

कोयलांचल की जनता बिजली एवं पानी के कारण परेशान है। सिंह ने कहा कि यह लड़ाई सिर्फ धनबाद तक ही सीमित नहीं रहेगी इसे दिल्ली लेकर जाएंगे और आगामी 3 अक्टूबर को दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना देकर राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपेंगे।

धनबाद : ट्रांसफार्मर लगने से खुश ग्रामीणों ने विधायक ढुल्लू महतो को पहनाया 51 किलो का माला

इस मौके पर उपस्थित जागो के प्रमुख चुन्ना यादव ने कहा कि रेल बंदी के खिलाफ अंतिम लड़ाई लड़ी जा रही है, इसके लिए कोई भी कीमत क्यों ना चुकानी पड़ी, इसके लिए कतरास की जनता पूरी तरह तैयार है।

उन्होंने कहा कि इस आंदोलन को कतरा से लेकर दिल्ली की सड़कों तक लड़ा जायेगा। इस अवसर पर भिखारी पासी, जी. मुरलीधरण, रमेश सिंह, बलराम हरिजन ,कुंदन यादव, सुधीर सिंह, छोटू रवानी, शहजादा हुसैन, सनी भगत, सोनू राय, मनोज सिंह ,भोलू यादव, शिवम सिंह, दिनेश प्रमाणिक, गणेश गुप्ता, चंदन कसेरा, असलम चिक्की आदि मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

राफेल सौदे पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति का सनसनीखेज खुलासा, कहा- मोदी सरकार ने दिया था रिलायंस का नाम

NewsCode | 21 September, 2018 11:08 PM
newscode-image

नई दिल्ली। देश में राफेल डील पर छिड़ी सियासी समर के बीच एक नया मोड़ आ गया है। भारत और फ्रांस सरकार के बीच हुए डील में अनिल अंबानी की कंपनी को भागीदार बनाने पर कांग्रेस लगातार सवाल उठाती रही है, और अब एक नए खुलासे ने विवाद को फिर से हवा दे दी है। फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने कहा है कि राफेल सौदे के लिए भारत सरकार ने अनिल अंबानी की रिलायंस का नाम प्रस्तावित किया था और दैसॉ एविएशन कंपनी के पास दूसरा विकल्प नहीं था। फ्रांस की एक पत्रिका में छपे इंटरव्यू के मुताबिक ओलांद ने कहा कि भारत सरकार की तरफ से ही रिलायंस का नाम दिया गया था। इसे चुनने में दैसॉ एविएशन की भूमिका नहीं है।

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अनिल अंबानी को राफेल डील में शामिल किए जाने पर लगातार केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लगातार सवाल पूछते रहे हैं। एक फ्रेंच वेबसाइट ने फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के हवाले से लिखा है कि भारत सरकार की तरफ से ही रिलायंस का नाम दिया गया था। इसे चुनने में दसॉ की भूमिका नहीं है। पूरा विवाद फ्रेंच न्यूज वेबसाइट मीडियापार्ट में शुक्रवार को छपे लेख के बाद आया। फ्रेंच भाषा में छपे इस लेख में राफेल डील को लेकर नए खुलासा किया गया।

बढ़ते विवाद पर रक्षा मंत्रालय ने भी ट्वीट करते हुए सफाई दी है। उसकी ओर से कहा गया है कि व्यवसायिक मामले में भारत सरकार की कोई भूमिका नहीं है। पार्टनर चुनने में न भारत सरकार की कोई भूमिका है और न फ्रेंच सरकार की।

केजरीवाल ने पूछा – अनिल अंबानी से प्रधानमंत्री जी का क्या रिश्ता?

रक्षा मंत्रालय की सफाई पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सवाल दागते हुए लिखा है कि प्रधान मंत्री जी सच बोलिए। देश सच जानना चाहता है। पूरा सच। रोज़ भारत सरकार के बयान झूठे साबित हो रहे हैं। लोगों को अब यक़ीन होने लगा है कि कुछ बहुत ही बड़ी गड़बड़ हुई है, वरना भारत सरकार रोज़ एक के बाद एक झूठ क्यों बोलेगी?

एक अन्य ट्वीट में केजरीवाल ने कहा है कि राफेल डील के अहम तथ्यों को छुपाकर मोदी सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में नहीं डाल रही ? फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति के खुलासे से मोदी सरकार के सारे कथन विरोधाभासी साबित होते हैं। क्या देश को और भी गुमराह किया जा सकता है ?

PM ने धोखा दिया- राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस खुलासे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री ने बंद दरवाजे के पीछे निजी तौर राफेल डील पर बात की और इसमें बदलाव कराया। फ्रांस्वा ओलांद को धन्यवाद, हम अब जानते हैं कि उन्होंने दिवालिया हो चुके अनिल अंबानी के लिए बिलियन डॉलर्स की डील कराई। प्रधानमंत्री ने देश को धोखा दिया है। उन्होंने हमारे सैनिकों की शहादत का अपमान किया है।’

दूसरी ओर, कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने इस लेख को रीट्वीट करते हुए ओलांद से डील की कीमत बताने का आग्रह करते हुए कहा, ‘आप यह भी बताएं कि राफेल की 2012 में 590 करोड़ रुपए की कीमत 2015 में 1690 करोड़ कैसे हो गई। करीब-करीब 1100 करोड़ की वृद्धि। मैं जानता हूं कि यूरो की वजह से यह कैलकुलेशन की दिक्कत नहीं है।’

वहीं फ्रेंच भाषा में लिखे लेख को पढ़ने के लिए गूगल ट्रांसलेशन का सहारा लेने के बीच नई दिल्ली में फ्रेंच अखबार ल मॉन्द के दक्षिण एशियाई पत्रकार जुलियन वोयूसो ने ट्वीट करते हुए लोगों को हिदायत दी है कि यह फ्रेंच भाषा में लिखा गया लेख है और इसे गूगल ट्रांसलेशन पर अनुवाद न किया जाए।

उन्होंने इस रिपोर्ट को ट्रांसलेट करते हुए ट्वीट किया कि फ्रांस्वा ओलांद ने भारतीय सरकार के बयान का खंडन किया है। ओलांद के मुताबिक, अनिल अंबानी (रिलायंस डिफेंस) को दसॉ ने नहीं चुना था: ‘हमारे पास विकल्प नहीं था। हमने उसी को अपना पार्टनर चुना जो हमें दिया गया।’

इससे पहले हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) के पूर्व प्रमुख टी एस राजू की ओर से राफेल डील को लेकर किए गए दावों के बाद कांग्रेस ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण से इस्तीफा मांगा था। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी के मुताबिक रक्षा मंत्री ने बुधवार को जो बयान दिया वो बहुत परेशान करने वाला है।

साथ ही कांग्रेस प्रवक्ता ने सरकार से सभी फाइलों को सार्वजनिक करने की मांग की। कांग्रेस राफेल मामले की संयुक्त संसदीय समिति से जांच कराने की मांग पहले ही कर चुकी है। इस मामले में कांग्रेस CAG का दरवाजा खटखटा चुकी है और अब इसे CVC तक भी ले जाने वाली है। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस संदर्भ में ट्वीट कर निर्मला पर ‘झूठ बोलने’ का आरोप लगाया था।


राफेल, एनपीए के मुद्दे पर अरुण जेटली का पलटवार, राहुल गांधी को बताया ‘मूर्ख राजकुमार’

राहुल ने रक्षा मंत्री को बताया ‘राफेल मंत्री’, बोले- झूठ आया सामने, इस्तीफा दें

राफेल सौदे पर मोदी सरकार को घेरने में जुटी कांग्रेस, CAG में शिकायत लेकर पहुंची

कांग्रेस का दावा- अडानी ने किया 29 हजार करोड़ का कोयला घोटाला, सिंगापुर में मौजूद हैं सबूत

पीएम मोदी पर फिर हमलावर हुए राहुल गांधी, कहा- अगले कुछ हफ्तों में बड़े बम गिराने वाला है राफेल

हजारीबाग : आरंभ वैक्वेंट में शराब के नशे में चाकूबाजी, एसपी का बॉडीगार्ड निलंबित

NewsCode Jharkhand | 21 September, 2018 10:10 PM
newscode-image

हजारीबाग। नेशनल हाईवे पर स्थित आरंभ वैंंक्वेट रिसोर्ट में गुरूवार की रात आयोजित आर्केस्ट्रा पार्टी में हंगामा हो गया। पार्टी के दौरान शराब के नशे में हुई मार-पीट और चाकूबाजी की घटना में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। मार-पीट करने का आरोप एसपी कोठी के गार्ड नितेश कुमार सिंह व होटल संचालक प्रफुल्ल सिंह व उसके भाई पर लगा है। इस बाबत फर्द बयान के आधार पर लोहसिंघना थाने में प्राथमिकी दर्ज करने की कवायद की गयी थी। फर्द बयान में होटल संचालक प्रफुल्ल सिंह ने हंटरगंज चतरा के मंटू सिंह नामक व्यक्ति द्वारा होटल आर्केस्ट्रा के लिए बुक कराने की बात कही।

हजारीबाग : आरंभ वैक्वेंट में शराब के नशे में चाकूबाजी, एसपी का बॉडीगार्ड निलंबित

इस दौरान वहां बार गर्ल से डांस भी करवाया गया। डीजे बंद कराने को लेकर अहले सुबह उसके भाई और स्वयं के साथ एसपी के बॉडीगार्ड ने मारपीट की। वही एसपी कोठी का गार्ड नितेश कुमार सिंह ने अपने फर्द बयान में होटल संचालक द्वारा पार्टी के नाम पर रात करीब साढ़े नो बजे फोन कर बुलाने की बात कहीं गई। इस दौरान पार्टी में शराब पीने को लेकर उसके साथ प्रफुल्ल सिंह, उसका भाई पुष्कल सिंह व उनके कर्मियों ने चाकू, रड व छोलनी से हमला कर दिया। हजारीबाग सदर डीएसपी मंगल सिंह जामुदा के अनुसार SP के बॉडीगार्ड नितेश सिंह को निलंबित कर दिया गया है। मामले की गहन जांच की जा रही है।

कटकमसांडी : गगनचुंबी आलम और रंग-बिरंगे ताजिया ने लोगों को किया आकर्षित

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चाईबासा : राज्य सरकार ने हाईटेक प्रखंड कार्यालय का शुरू...

more-story-image

चांडिल : घायल को झावियुमो प्रखंड उपाध्यक्ष ने पहुँचाया अस्पताल