रांची : ग्राम विकास समिति के गठन के विरोध में पंचायत प्रतिनिधि

NewsCode Jharkhand | 17 April, 2018 11:19 AM

रांची : ग्राम विकास समिति के गठन के विरोध में पंचायत प्रतिनिधि

रांची। सरकार ने ग्राम पंचायतों के विकास के लिए ग्राम विकास समिति का गठन करने का निर्णय लिया है। इसका का पंचायत प्रतिनिधियों ने विरोध शुरू कर दिया है। इस मामले पर पंचायत प्रतिनिधियों का प्रतिनिधिमंडल 17 अप्रैल को ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा से मिलकर ज्ञापन सौपेंगा।

सरकार के निर्णय पर सोमवार को रांची जिला मुखिया संघ के अध्यक्ष सोमनाथ मुंडा की अध्यक्षता में कांके प्रखंड के पंचायत भवन में बैठक हुई। इसमे जिला परिषद् सदस्य मोजिबुल अंसारी, डॉ जया भगत, एतवा उरांव, अनुराधा चौरया, रामेश्वर महली, ज्योति निशा नाग, मुन्नी देवी, राजेश मुंडा, लालमणि उरांव, ठानो मुंडा, फलिन्द्र मुंडा सहित अन्य शामिल हुए।

Read More:- सरायकेला : ग्राम विकास समिति का विरोध जारी, राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन

अंसारी ने कहा कि वार्ड सदस्य, पंचायत समिति सदस्य और जिला परिषद सदस्यों को सरकार वित्तीय अधिकार नहीं दे रही है। उनके साथ छलावा कर रही है। पंचायत के सर्वांगीण विकास के लिए सरकार इनको पहले वित्तीय अधिकार दे।

मुखिया संघ के जिलाध्यक्ष मुंडा ने कहा कि ग्राम विकास समिति गठन का औचित्य नहीं है। चुनाव लड़कर आये हुए प्रतिनिधियों को पहले सरकार हक अधिकार दे। ग्राम विकास समिति के गठन का विरोध किया जाएगा। इसके खिलाफ चरणबद्ध आंदोलन किया जायेगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

डुमरी : कुरमी समाज ने निकाला मशाला जुलूस, एसटी में शामिल करने की मांग

23 अप्रैल को झारखंड बंद का किया एलान

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 10:01 PM

डुमरी : कुरमी समाज ने निकाला मशाला जुलूस, एसटी में शामिल करने की मांग

डुमरी (गिरिडीह)। रविवार शाम अपने बहुप्रतीक्षित मांग कुरमी जाति को अनुसूचित जाति में शामिल करने के को लेकर कुरमी विकास मोर्चा ने मशाल जुलूस निकाला। मशाल जुलूस डुमरी वनांचल चौक से लेकर इस्री बाजार का नगर वरली बाजार नगर भ्रमण करते हुए सभा में तब्दील हो गई।

इस दौरान अगुआई कर रहे कुरमी समाज के नेता रामचंद्र महतो ने बताया कि  झारखंड सरकार कुरमी जाति के साथ छल कपट कर रही है। संवैधानिक रूप से सरकार से कुरमी जाति को अनुसूचित जाति में शामिल करने के लिए कई बार मांग की गई, लेकिन राज्य सरकार ने इसमें तत्परता नहीं दिखाई। अगर राज्‍य सरकार तत्‍परता दिखाई होती तो केंद्र सरकार द्वारा अनुशंसा करवा कर अब तक कुरमी जाति को अनुसूचित जाति का दर्जा मिल चुका होता। हमारी मांगों पर राज्य सरकार कोई ठोस निर्णय नहीं ले रही है।

रांची : एसटी में शामिल करने की मांग को लेकर कुरमी समाज गोलबंद

अगुवाओं ने कहा कि‍ जो कुरमी हितों को ध्यान रखेगा वही पार्टी झारखण्ड में राज करेगा। अगर राज्य की रघुवर सरकार हमारी मांग को तरजीह नहीं देती है तो इसका खमियाज़ा अगला चुनाव में भाजपा को भुगतना पड़ेगा।

सड़क से सदन तक बुलंद करेंगे आवाज

सड़क से सदन तक अपनी मांग के संदर्भ में आवाज बुलंद करने के लिए 23 अप्रैल को झारखण्ड बन्द रहेगा। इसके लिए डुमरी में कुरमी समाज के लोगों ने बन्दी को सफल बनाने हेतु जनता से  सहयोग की अपील की है।

मौके पर  कुरमी समाज के वरिष्ठ नेता बैजनाथ महतो, कुरमी विकास मोर्चा के गिरिडीह जिला अध्यक्ष थानेश्वर महतो, रूपलाल महतो, कैलाश महतो, निरंजन महतो, भोला महतो, खेमलाल महतो, अर्जुन महतो, सुरेश महतो, डीलचन्द महतो, अमृत महतो, सहित दर्जनों कुरमी समाज के लोग शामिल थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

सिंदरी : लीज की मांग को लेकर आंदोलन होगा तेज, धनबाद नवनिर्माण संघ का गठन

नेताओं पर लूटने का लगाया आरोप

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 9:16 PM

सिंदरी : लीज की मांग को लेकर आंदोलन होगा तेज, धनबाद नवनिर्माण संघ का गठन

सिंदरी (धनबाद)। सिंदरी शहर के उभरते युवा नेता वेद प्रकाश ओझा ने रविवार को पृथ्वी दिवस के मौके पर ‘धनबाद नवनिर्माण संघ’ का गठन किया है। उनको सर्वसम्मति से जिलाध्यक्ष चुना गया। बहुत ही जल्द जिलाध्यक्ष संघ के जिला के अन्य पदाधिकारियों का चयन कर समिति बनाएंगे।

ओझा ने कहा कि शहर में रह रहे क्वार्टर के लोगों को 99 साल का लीज की मांग सरकार से किया जाएगा। इसके लिए निर्णायक लड़ाई लड़ी जाएगी, ताकि लोग निर्भीक होकर जीवन-यापन कर सके और मृत शहर जिंदा हो सके। झुग्गी झोपड़ी बनाकर रह रहे लोगों के लिए भी उसी जमीन पर रहने के लिए लीज की मांग की जाएगी। संघर्ष करके लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाया जाएगा।

ओझा ने यह भी कहा कि सिंदरी में बाहर से जो कंपनी आई है। उन्हें बाहरी और स्थानीय नेता लूटने का कार्य कर रहे हैं। उन्हें चेतावनी देते हुए कहा कि सुधर जाओ, लूटना बंद करो वर्ना अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहो। साथ ही कंपनियों को भी चेतावनी दिया कि स्थानीय लोगों को रोजगार दो वर्ना बोरिया बिस्तर बांधने की तैयारी करो। यहाँ जो लोग अपने आप को गुंडा साबित करना चाहते हैं। शहरवासी उन्हें पहचान रहे हैं।

धनबाद : सिंदरी युवा कांग्रेस का गठन, संजय राय बने अध्यक्ष

उन्होंने कहा कि सिन्दरी शहर की धड़कन पीडीआईएल बंद करने का फरमान सरकार ने सुनाई है। उसका पुरजोर विरोध करते हैं एवं उसे बचाने के लिए संघ आंदोलन करेगा और पीडीआईएल को बचाएगा। सरकार द्वारा चलाई जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं में हो रही धांधली, कालाबाजारी के विरुद्ध संघ निर्णयात्मक लड़ाई लड़ा जाएगा।

इस बैठक में मुख्य रुप से उपस्थित मिथिलेश दुबे, अरविंद पाठक, ललित चौबे, श्रीराम दुबे, कर्मवीर सिंह, कमलेश दुबे, राधाकृष्ण दुबे, अभिषेक तिवारी, मुन्ना सिंह, रवि सिंह, विजय साव, शैलेंद्र खरवार, अमित सिंह आदि संघ के सैकड़ों सदस्य उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : कुर्मी जाति को एससी में शामिल करने की मांग को लेकर 23 को झारखंड बंद

NewsCode Jharkhand | 22 April, 2018 8:55 PM

रांची : कुर्मी जाति को एससी में शामिल करने की मांग को लेकर 23 को झारखंड बंद

मोर्चा ने निकाला मशाल जुलूस, सरकार को दी चेतावनी

रांची। कुर्मी जाति को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने की मांग को लेकर कुर्मी विकास मोर्चा का आंदोलन तेज होता जा रहा है। इसी कड़ी में मोर्चा ने 23 अप्रैल को झारखंड बंद का आह्वान किया है। बंद को सफल बनाने के लिए रविवार को मोर्चा द्वारा मशाल जुलूस निकाला गया।

निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मशाल जुलूस जयपास सिंह स्टेडियम से निकलकर अलबर्ट एक्का चौक पहुंचकर एक सभा में तब्दील हो गया। सभा को संबोधित करते हुए मोर्चा के अध्यक्ष शीतल ओहदार ने कहा कि सोमवार को झारखंड बंद रहेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अविलंब कुर्मी महतो को अनुसूचित जनजाति सूची में सूचिबद्ध करने को लेकर प्रस्ताव पारित करे।

रांची : निकाय चुनाव में जीत पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने दी जनता को बधाई

उन्होंने कहा कि वर्ष 1931 को आधार मानकार भारत सरकार को प्रस्ताव भेजे। अगर सरकार इस दिशा में कदम नहीं बढ़ाती है तो आगे चलकर आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि बंदी से आवश्यक सेवाओं को मुक्त रखा गया है। प्रेस वाहन, दवा दुकान, एबुलेंस, फायर ब्रिग्रेड आदि को बंद से मुक्त रखा गया है। इस अवसर पर मोर्चा के सचिव रामकोदो महतो, राजेश महतो, सखी चंद महतो, ओमप्रकाश महतो सहित कई सदस्यों ने अपने विचार रखे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.