रांची : जेएमएम और कांग्रेस में गठबंधन महज सौदेबाजी- प्रवीण प्रभाकर

NewsCode Jharkhand | 6 March, 2018 9:03 PM
newscode-image

रांची। प्रदेश भाजपा प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने झामुमो-कांग्रेस गंठबंधन पर सवाल उठाते हुए कहा है कि राज्यसभा चुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाद झामुमो ने कांग्रेस के साथ सौदेबाजी तय हो गया है। प्रवीण प्रभाकर ने मांग किया कि चुनाव आयोग इस सौदेबाजी पर संज्ञान ले क्योंकि यह गठबंधन नहीं बल्कि शुद्ध सौदेबाजी है।

रांची : कांग्रेस-जेएमएम के गठबंधन पर गुरुजी का बयान, लिखित समझौता जरुरी

प्रवीण प्रभाकर ने आरोप लगाया कि झामुमो का अवसरवादी चरित्र खुलकर सामने आया है। थैलीशाहों के प्रभाव में आकर झामुमो ने अपनी ही सीट की सौदेबाजी कर ली। झामुमो इस डील का जनता के सामने खुलासा करे। प्रभाकर ने कहा कि अभी तक झामुमो महागठबंधन का राग अलाप रहा था, लेकिन हेमंत सोरेन ने चुपचाप दिल्ली जाकर सौदेबाजी कर लिया। ये कैसा गंठबंधन है जहाँ झाविमो, राजद और वाम दलों को किनारे लगा दिया गया।

साथ ही कहा कि पिछली बार अपने भाई बसंत सोरेन की जिद के चलते हेमंत सोरेन थैलीशाहों के साथ राज्यसभा सीट की सौदेबाजी नहीं कर पाए थे, इसलिए उन्होंने चुपचाप पहले ही दिल्ली जाकर डील कर ली। कहा कि पिछली बार भाजपा ने राज्यसभा की दोनों सीटों पर कब्जा जमाया था। इस बार भी दोनों सीटों पर भाजपा ही जीतेगी। झामुमो-कांग्रेस की सौदेबाजी कोई काम नहीं आएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

पाकुड़ : भाजपा की बैठक आयोजित, हुल दिवस को लेकर हुई चर्चा

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 9:16 PM
newscode-image

पाकुड़। लिट्टीपाड़ा प्राखण्ड दामिन डाक बंगला परिषर में भाजपा की बैठक प्रखण्ड अध्यक्ष राम मंडल की अध्यक्षता में आहुत किया गया। जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश उपाध्यक्ष सह पूर्व मंत्री हेमलाल मुर्मू उपस्थित हुये। बैठक में  मुख्य रूप से 30 जून को  हूल दिवस को लेकर चर्चा की गयी। मंडल इकाई के लोगों को 30 जून को पांच कठिया से भोगनाडीह ले जाने के बातें हुई।

पाकुड़ : भूमिगत कोयला में आग लगने से ग्रामीण दहशत में, प्रशासन से लगाई गुहार

साथ ही प्रदेश उपाध्यक्ष मुर्मू ने बताया कि भूमि अधिग्रहण अधिनियम बिल आदिवासियों के हित के लिए बनाया गया है। इसको लेकर विपक्ष दुष्प्रचार कर रहे है लेकिन सभी से अपील किया  हर आदिवासी गांव गांव एवं  घर-घर  जाकर सभी को भूमि  अधिग्रहण अधिनियम बिल के बारे में सरकार की उप्लब्धि आदिवासियों एवं जनजातियों को स्पस्ट रूप से बताया जाएगा। यह कानून सरकारी जनहित के  कार्यो लिया बनाया गया है जिसके तहत सरकारी स्कूल, कॉलेज , हॉस्पिटल, सड़क, रेलवे के अच्छे काम में आएगे।

साथ ही भाजपा नेता साहेब हाँसदा ने कहा कि बूथ स्तर पर संगठन मजबूती करने, गाँव-गाँव में जाकर सरकार  कि उपलब्धी के बारे में जानकरी देने के लिए कार्यकर्त्ताओं  से अनुरोध किया । इस बैठक के मौके पर एस टी मोर्चा प्रखंड अध्यक्ष भोला हेम्ब्रम, प्रखंड प्रभारी सुलेमान मुर्मू, दिनेश मुर्मू, जिला कार्यकारणी सदस्य बबलू सोरेन, पंचायत प्रभारी मंझला सोरेन, प्रखंड उपाध्यक्ष मुंशी मुर्मू, प्रखंड मंत्री रेंगटा किस्कू सहित दर्जनों कार्यकार्ता उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

जमशेदपुर : महाधरना तो ट्रेलर है, पूरी फिल्म 5 जुलाई को दिखेगी- विपक्ष

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 9:03 PM
newscode-image

भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में विपक्ष का महाधरना

जमशेदपुरभूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के विरोध में सम्पूर्ण विपक्ष द्वारा आहूत राज्य-व्यापी जिला मुख्यालयों पर महाधरना के आलोक में पूर्वी सिंहभूम जिला मुख्यालय के समक्ष भी विपक्षी दलों की एकता देखने को मिली। बिल के विरोध में विपक्षी गठबंधन द्वारा चलाये जा रहे विरोध प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने यहां विधि-व्यवस्था को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे। विपक्षी दलों के नेताओं धरना के माध्यम से एक स्वर से राज्य सरकार से बिल को अविलंब निरस्त करने की मांग की है।

जमशेदपुर : तीन साल के बच्‍चे को पिकअप वैन मारा धक्‍का, हुई मौत

भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल को लेकर पूरे सूबे की गरमाई सियासत के बीच विपक्षी दलों का आंदोलन अब तीखा हो चला है। आंदोलन के क्रम में विपक्षी दलों ने पूर्वी सिंहभूम जिला मुख्यालय पर महा धरना देकर राज्य सरकार तक संदेश दिया कि बिल के मौजूदा स्वरूप को किसी भी सूरत में स्वीकार नही किया जाएगा।

विपक्षी दल जेएमएम, कांग्रेस, जेवीएम, आरजेडी और वाम दलों और संगठनों के लोगों ने बिल के विरोध में एकजुटता दिखाते हुए राज्य सरकार को कठघरे में खड़ा किया और कहा कि झारखंडी आवाम के हितों के विपरीत लाये गए भूमि अधिग्रहण बिल पूंजीपतियों के फायदे के लिए है न कि यहां के निवासियों के लिए।

महाधरना के माध्यम से सरकार को चेतावनी दी गई कि यदि तमाम विरोध के बावजूद बिल को लागू किया जाता है तो आने वाले चुनावों में भाजपा को मुँह की खानी पड़ेगी। विपक्षी नेताओं ने राष्ट्रपति द्वारा बिल को मंजूरी दिए जाने पर कहा कि दरअसल इस मुद्दे पर राष्ट्रपति को भी अंधेरे में रख कर बाइक डोर से बिल पास कराया गया है, जो किसी भी सूरत में स्वीकार नही किया जाएगा। बिल के विरोध में महाधरना तो एक फ़िल्म का ट्रेलर है, बाकी पूरी फिल्म 5 जुलाई को आहत झारखंड बन्द के दौरान दिखेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

दुमका : राज्य में सरकार एक और हूल लाना चाहती है- हेमंत सोरेन

NewsCode Jharkhand | 25 June, 2018 8:54 PM
newscode-image

धरना-प्रर्दशन के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा गया स्मार-पत्र

दुमका। समाहरणालय परिसर के समीप झारखंड मुक्ति मोर्चा, झारखंड विकास मोर्चा, कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल सहित अन्य विपक्षी पार्टियों ने संयुक्त रूप से भूमि अधिग्रहण बिल पारित करने के विरोध में एक दिवसीय धरना-प्रर्दशन किया। धरना-प्रर्दशन में  नेता प्रतिपक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी शामिल हुए।

दुमका : ताइक्‍वांडो व कुश्‍ती प्रतियोगिता आयोजित, प्रतिभागियों ने दिखाया जलवा

शिकारीपाड़ा विधायक नलिन सोरेन की अध्यक्षता में धरना-प्रर्दशन किया गया। धरना-प्रर्दशन के माध्यम से झामुमो ने एक स्मार पत्र उपायुक्त के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा गया। स्मार-पत्र में विनाशकारी भूमि अधिग्रहण विधेयक पारित करने से झारखंड का एक मात्र भूमि को हड़प कर सरकार उद्योगपतियों को लाभ देना चाहता है। राज्य के जनता को विस्थापित करने की मंशा सरकार बना चुकी है। स्मार-पत्र में भूमि अधिग्रहण विधेयक 2017-18 को वापस लेने की बात उल्लेख किया गया है।

धरना-प्रर्दशन में झामुमो के केन्द्रीय महासचिव विजय कुमार सिंह, कांग्रेस जिलाध्यक्ष श्यामल किशोर सिंह, राष्ट्रीय जनता दल के जिलाध्यक्ष अमरेन्द्र कुमार यादव, झाविमो के जिलाध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार सिंह सहित सभी प्रखंड अध्यक्ष, सभी सचिव और कार्यकर्ता शामिल हुए।

धरना-प्रर्दशन को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भाजपा सरकार को आड़े हांथों लेते हुए कहा कि सरकार ने अब राज्य के जनता को विस्थापित करने का ठान लिया है। यहां की संस्कृति और समाज जल, जंगल जमीन के बदौलत जिन्दा है।

भूमि अधिग्रहण बिल लाकर सरकार जमीन को लूटने का कार्य करेगी- नलिन सोरेन

शिकारीपाड़ा विधायक नलिन सोरेन ने कहा कि भाजपा की सरकार राज्य की जनता को लूटने का कार्य किया है। राज्य सरकार एक तरफ विकास के नाम पर लूट रही है तो दूसरी तरफ भूमि अधिग्रहण बिल लाकर जमीन को लूटने का कार्य करेगी। यहां के जमीन को विदेश के पुंजिपंतियों को बेचना चाहती है। जनता को विस्थापित कर हर जगह कंपनी प्लांट लगाएगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

बोकारो : उपायुक्त ने अप्रेंटिस चयन प्रक्रिया को पारदर्शी रखने...

more-story-image

बोकारो : उपायुक्त ने कार्यालयों का किया औचक निरीक्षण, सफाई...