रांची : एक सार्थक कल की शुरूआत परिवार नियोजन के साथ को सफल बनाने का संकल्प

NewsCode Jharkhand | 12 July, 2018 8:59 AM

विश्व जनसंख्या दिवस’ के उपलक्ष्य में राज्य स्तरीय जनसंख्या स्थिरता पखवारा का उद्घाटन

newscode-image

रांची । आई पी एच प्रेक्षागृह  नामकुम रांची में ‘विश्व जनसंख्या दिवस’ के उपलक्ष्य में राज्य स्तरीय जनसंख्या स्थिरता पखवारा का उद्घाटन किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता रामचन्द्र चन्द्रवंशी, माननीय मंत्री, स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग के द्वारा किया गया।

माननीय मंत्री ने प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि विभाग के कार्यो से संतुष्ट हूं। पिछले तीन वर्षों में 341529 महिला बंध्याकरण एवं पुरूष नसंबदी कराई गई। पिछले वित्तीय वर्ष 2017-18 में 1586 पुरूष नसबंदी तथा 99820 महिला बंध्याकरण तथा 1,30,000 आईयूसीडी लगाये गये हैं। राज्य सरकार ने विगत वर्षों में इस दिशा में अनेक कदम उठाये हैं। परन्तु इन्हें सार्थक बनाने के लिए और भी अधिक कठोर कदम उठाना आवश्यक है। देश के स्वर्णिम भविष्य के लिए हमें कुछ ऐसे निर्णय भी लेने होंगे जिसका दुरगामी परिणाम सुखद हो।

यदि समय रहते इस दिशा में देश व्यापी जागरूकता उत्पन्न होती है तो निसंदेह हम विश्व के अग्रणी देशों में अपना स्थान बना सकते है। जनसंख्या में वृद्धि के कई कारण हैं जिसे दूर करने की आवश्यकता है। गरीबी, अशिक्षा रूढ़िवादिता तथा संकीर्ण विचार आदि भी जनसंख्या वृद्धि के अन्य कारण है। बढ़ती हुई जनसंख्या पर अंकुश लगाना देश की चहुमुखी विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है। यदि इस दिशा में सार्थक कदम नहीं उठाए गए तो वह दिन दूर नहीं जब स्थिति नियंत्रण से बाहर हो जाएगी। इस उपलक्ष्य में स्वास्थ्य विभाग ने इस वर्ष दिनांक 27 जून से 10 जुलाई 2018 तक ‘‘दम्पत्ति सम्पर्क पखवारा’’ एवं 11 जुलाई से 24 जुलाई  तक जनसंख्या स्थिरता पखवारा मनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने जनसंख्या स्थिरता पखवारा का मंत्र ‘‘एक सार्थक कल की शुरूआत परिवार नियोजन के साथ’’ को सफल बनाने का संकल्प लिया गया।

देवघर : कृषि विभाग द्वारा किसानों को नए योजनाओं से जोड़ने को लेकर दिए गए टिप्स

निधि खरे, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग, झारखण्ड ने कहा कि झारखण्ड का आर्थिक वृद्धि दर भारतवर्ष में प्रथम स्थान रखता है परन्तु इसका लाभ राज्य के आम जनता तक नहीं पहुंच पा रहा है उनके जीवन स्तर में आवश्यक बदलाव नहीं आ रहे हैं इसका मुख्य कारण जनसंख्या का वृद्धि दर है। अतः जनसंख्या स्थिरता की बात करना समय की मांग है। उनके विशेष सचिव के रूप में पूर्व के कार्यकाल में झारखण्ड राज्य ने पूरे भारत वर्ष में पुरूष नसबंदी में प्रथम स्थान प्राप्त किया था उस समय स्वास्थ्य विभाग में संसाधनो की कमी थी जिसके कारण अधिक संख्या में आने वाले बंध्याकरण के मरीजों को वापस जाना पड़ता था। जबकि संसाधनों की उपलब्धता के बावजूद हमारे उपलब्धि में लगातार गिरावट आ रही है। जो कि चिन्ता का विषय है। उनके द्वारा सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देश दिया गया कि सभी गर्भवती महिलाओं का चार तथा छः जांच सुनिश्चित की जाय तथा उनका सक्रिय परिवार नियोजन से संबंधित परामर्श की जाय।

प्रधान सचिव द्वारा भी हाल के दिनों में सदर अस्पताल रांची तथा रिम्स रांची में अपने द्वारा मैटरनीटि वार्ड में किये गये भ्रमण के दौरान दो, तीन, चार और चार से ज्यादा बच्चों वाली माताओं से मुलाकात कर दुख व्यक्त किया तथा सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों को सख्त निर्देश दिया कि प्रत्येक संस्थागत प्रसव की माताओं को सक्रिय परामर्श की सेवा दी जाय तथा उसका उचित फॉलोअप किया जाय। प्रधान सचिव ने राज्य में लगभग  18 वर्ष से कम उम्र के लड़कियों  की होने वाली शादी पर चिन्ता प्रकट की। उन्होंने सभी सहियाओं को निर्देश की अपने कार्य क्षेत्र में अभियान चलाकर जागरूकता पैदा करें जिससे की कम उम्र की किशोर-किशारियों की शादी पर रोक लगे। इसे अपनी सामाजिक जिम्मेवारी समझे तथा आवश्यकता पड़ने पर अपने उच्चाधिकारियों को इसकी सूचना दें।

उन्होंने सहिया तथा एएनएम को सभी योग्य दम्पत्तियों का सर्वे घर-घर जाकर करने का निदेश दिया तथा इस पखवारे में प्रत्येक सहिया को 10 एवं प्रत्येक एएनएम को 50 नये परिवार नियोजन संबंधी लाभुक तैयार करने की जिम्मेवारी दी। जिससे की परिवार नियोजन के कार्यक्रम में गतिशालता आये। उन्होंने परिवार नियोजन कोषांग को निर्देश दिया कि आवश्यकता अनुसार चिकित्सा पदाधिकारीयों एवं एएनएम की प्रशिक्षण की व्यवस्था करें जिससे उनके कार्यो की गुणवत्ता में सुधार हो। पखवारा का निरंतर अनुश्रवण करने का निदेश दिया। उन्होंने विश्व जनसंख्या दिवस के मेला पखवारा का मंत्र ‘‘जोड़ी जिम्मेदार जो प्लान करे परिवार’’ को सफल बनाने का संकल्प लिया गया। पखवारा का अनुश्रवण, ब्लॉक स्तर, जिला स्तर तथा राज्य स्तर पर करने को निर्देश दिया जिससे की वांछित लक्ष्य की प्राप्ति की जा सके।

इस अवसर पर कृपानन्द झा, अभियान निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, झारखण्ड, डॉ राजेन्द्र पासवान, निदेशक प्रमुख स्वास्थ्य सेवाएं, डॉ जेपी सिंह, निदेशक, स्वास्थ्य सेवाएं डॉ. शिवशंकर हरिजन, सिविल सर्जन, रांची तथा डॉ. आरके  सिंह राज्य नोडल पदाधिकारी, परिवार नियोजन कोषांग उपस्थित थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 पलामू : भू-माफियाओं से परेशान ग्रामीण अनिश्चितकालीन आमरण अनशन पर

NewsCode Jharkhand | 20 July, 2018 9:34 PM
newscode-image

पलामू। सरकार द्वारा भूमिहीनों को  जमीन दिया गया था मगर भूमाफियाओं द्वारा गलत तरीके से जमीन को हड़पने का काम किया गया है जिसके विरोध में पाटन प्रखंड के सोले गांव के 20 दलित परिवार पिछले 17 जुलाई से कचहरी परिसर में आमरण अनशन पर हैं। ग्रामीणों की  मांग है कि प्रशासन भूमाफियाओं से उनके जमीन को मुक्त कराएं। दरअसल 1987 में भूमिहीन परिवारों को सरकार ने ही भूदान दिया था जिसका ग्रामीण लगातार लगान भी जमा कर रहे थे।

पाटन प्रखंड के सोले गांव के 20 दलित परिवार को 31 साल पहले 40 एकड़ जमीन सरकार ने भूमिहीन होने के नाते दिया था मगर बाद में सीओ कार्यालय के कर्मियों की मिलीभगत से भूमाफियाओं ने इनकी जमीन को फर्जी कागज बनाकर हड़प लिया, जिसका विरोध में यह ग्रामीणअनिश्चितकालीन आमरण अनशन पर हैं।

पलामू : लूट का 4 लाख 75 हजार रुपये बरामद

इनके समर्थन में मजदूर संगठन के नेताओं ने भी साथ दिया है।उनका कहना है कि पिछले कई सालों से यहां के दलित परिवार प्रखंड और जिला मुख्यालय का चक्कर काट कर थक चुके हैं मगर इनको न्याय नहीं मिला। इधर धरना पर बैठे पीड़ित ग्रामीणों का भी कहना है कि जान दे देंगे मगर जब तक सरकार व प्रशासन मांग पूरी नहीं करेगी तब तक आमरण अनशन जारी रहेगा ।वहीं इधर आमरण अनशन पर बैठे परिवारों से मिलने आये सदर सीओ शिव शंकर पांडे का कहना है कि जल्द ही इन ग्रामीणों की समस्याएं प्रशासन दूर करेगी।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

अविश्वास प्रस्ताव LIVE: पीएम मोदी ने कहा- खड़ा भी हूं, अड़ा भी हूं, विपक्ष का नारेबाजी- ‘वी वांट जस्टिस’

NewsCode | 20 July, 2018 9:39 PM
newscode-image

संसद के मॉनसून सत्र का तीसरा दिन है और आज लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराई जाएगी. बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था.

संसद के मॉनसून सत्र का तीसरा दिन है और आज लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराई जाएगी. बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था.

अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने भी भाषण दिया. राहुल गांधी अपना भाषण खत्‍म करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास गए और उनके गले लगकर हाथ मिलाया.

LIVE UPDATES:

पीएम मोदी ने बोलना शुरू किया-

प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान लोकसभा में जमकर हंगामा,  विपक्षी नेताओं लगा रहे वी वांट जस्टिस के नारे

मोदी ने कहा – अविश्‍वास प्रस्‍ताव के बहाने अपने कुनबे को जमाने की कोशिश की गई है.

– राहुल गांधी के गले मिलने पर पीएम मोदी बोले- कुर्सी पर पहुंचने की जल्‍दबाजी है.

– पीएम मोदी ने कहा , संसद में बहुमत नहीं फिर भी अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाया गया है.

 तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी ने कहा, “आप राम पर भी अपनी मनॉपली (एकाधिकार) करना चाहते हैं.”

हमें रूस-अमेरिका नहीं, हिन्दू-मुस्लिम के बीच फैल रही नफरत मारेगी : नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद फारुक अब्दुल्ला

– मॉब लिंचिंग सिर्फ 1984 में नहीं हुई थी, वह 2002 में भी हुई : AIMIM के सांसद असदुद्दीन ओवैसी

दुमका : मामूली विवाद को लेकर शिक्षक ने छात्र को बेहरमी से पीटा

NewsCode Jharkhand | 20 July, 2018 9:37 PM
newscode-image

दुमका। शहर के डॉन बास्को स्कूल में एक छात्र का पीटाई करने का मामला नगर थाना पहुंचा। जहां स्कूल के वर्ग-6 में पढ़ाई करने वाले कृष्ण कुमार वर्मा और उसके पिता विजय कुमार वर्मा ने आरोपी शिक्षक के विरूद्ध लिखित शिकायत किया है।

दुमका : सहकारिता सह प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को घूस लेते ACB ने दबोचा

मामले में पीड़ित छात्र के पिता और छात्र ने बताया कि एक सहपाठी से मामूली विवाद को लेकर सहपाठी के शिकायत पर शिक्षक प्रकाश मुर्मू ने बेहरमी से पीटाई कर दिया है। शिक्षक रूल टूटने तक पिटाई करते रहा। जब इसकी जानकारी पिता विजय वर्मा को छात्र के दोस्तों ने दी।

दुमका : हंसडीहा थाना का छत जर्जर होकर गिरा, हवलदार गंभीर रूप से घायल

 

मामले में अभिभावक द्वारा प्राचार्य रोज मेरी हेम्ब्रम ने कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद पीड़ित छात्र घर पहुंचा। जहां स्कूल ड्रेस चेंज करते समय उसकी मां और दादी देख मामले में आरोपी छात्र को सजा दिलाने को लेकर नगर थाना पहुंचे। नगर थाना पुलिस देवव्रत पोद्दार ने अभिभावक के शिकायत पर आरोपी शिक्षक को बुलाने का निर्देश दिया।

समाचार लिखे जानते तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हो पायी है। इधर मामले में प्राचार्या रोज मेरी हेम्ब्रम ने सफाई देते हुए कहा कि यह पहली घटना है, शिक्षक के विरूद्ध आवश्यक कार्रवाई की जायेगी। शिक्षक की वैसे कोई मंशा नहीं थी, जिससे छात्र और उसके परिवार को किसी प्रकार की क्षति पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

कोडरमा : मुनगा के पत्ते का करें सेवन, ब्लड प्रेशर...

more-story-image

लोहरदगा : भूमि विवाद में वृद्ध को मारी गोली, हालत...