रांची : आम आदमी पार्टी का 10 सितंबर को राँची में “झारखंड किसान न्याय महासम्मेलन”

NewsCode Jharkhand | 5 September, 2017 4:18 PM
newscode-image

रांची। आम आदमी पार्टी झारखण्ड द्वारा आज होटल पार्क स्ट्रीट, कचहरी में प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। वार्ता में ये घोषणा की गई कि आगामी 10 सितंबर 2017 को झारखंड सहित पूरे देश में चलाए जा रहे किसान न्याय आंदोलन के तहत “किसान न्याय महासम्मेलन” का आयोजन डी ए वी कपिलदेव मैदान, न्यू ए जी कॉलोनी, कडरू, राँची में किया जा रहा है।

इस सम्मेलन में  दिल्ली के राष्ट्रीय नेता सह प्रवक्ता संजय सिंह एवं दिल्ली के विधायक सह झारखंड-बिहार प्रभारी संजीव झा शामिल होंगे। सम्मेलन में झारखंड के सभी जिलों से हज़ारों की संख्या में किसान प्रतिनिधि समम्मिलित होंगे। झारखंड के प्रत्येक प्रखंड स्तर पर किसानों को गोलबंद किया जा रहा है। दुर्भाग्य है कि झारखंड में 80 % ग्रामीण आबादी के खेती पर निर्भरता के बावजूद  भ्रष्ट राजनीतिक दलों  और कुछ भ्रष्ट पूंजीपतियों ने झारखंड के खनिजों और जमीनों की लूट के लिए झारखंड को  सिर्फ़ एक औद्योगिक राज्य के रूप में पेश किया है और आज तक राज्य की कृषि नीति नहीं बनी।

आम आदमी पार्टी, झारखंड में 11 मांगों को लेकर  “झारखंड किसान न्याय महासम्मेलन” करने जा रही है। इनमें किसानों का कर्ज माफ करके किसानों द्वारा झारखंड में शुरू हुई आत्महत्या का सिलसिला रोकने की मांग प्रमुख है। साथ ही, स्वामीनाथन आयोग के अनुसार किसानों की फ़सल की लागत में 50% मुनाफ़ा जोड़कर दाम तय किये जायें और स्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिशें सह शब्द लागू  हो, प्रत्येक खेत को पानी और बिजली सुनिश्चित हो,  झारखण्ड में  कृषि नीति लागू कर कॉरपोरेट तथा सरकार द्वारा  किसानों एवं आदिवासियों के जल-जंगल-जमीन की लूट अविलंब रोकी जाए, नकली खाद -बीज पर रोकथाम, उपज की खरीदारी में दलाली एवं कृषि लोन तथा फसल बीमा में घपला और कृषि तथा सिंचाई विभाग में भ्रष्टाचार का खात्मा हो।

दिल्ली के केजरीवाल सरकार के तर्ज पर प्रत्येक गांव को 2 करोड़ रुपया सीधा कृषि विकास के लिए दिया जाए तथा फसल बर्बादी पर कम से कम 50 हज़ार रु प्रति हेक्टेयर का मुवाज़ा दिया जाए, देश तथा झारखंड के विभिन्न इलाकों में किसानों द्वारा अपने ज़मीन बचाने के लिए आंदोलनरत किसानों पर हुए  गोलीकांड  के दोषियों को सख्त सजा दी जाए, कृषि आयात-निर्यात नीति को किसान हित में बनाया जाए, कृषि आधारित उद्योगों को प्रोत्साहन मिले तथा कृषि उत्पाद के भंडारण एवं मंडियों की समुचित व्यवस्था हो। प्रेस वार्ता को राज्य किसान न्याय समिति के संयोजक जय शंकर चौधरी ,केंद्रीय पर्यवेक्षक पवन पांडेय एवं संजीत कुमार तथा राज्य नेता  आलोक शरण और कुणाल मिश्रा ने  संबोधित किया।

देवघर : श्रावणी मेला की तैयारी को लेकर डीआरएम ने जसीडीह स्टेशन का किया दौरा

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 9:55 PM
newscode-image

देवघर। विश्‍व प्र‍सिद्ध श्रावणी मेला तैयारी को लेकर आसनसोल रेलवे डिवीजन के डीआरएम पीके मिश्रा सहित अन्‍य अधिकारियों ने जसीडीह स्टेशन का दौरा किया। दौरा के दौरान डीआरएम ने मेला शुरु होने से पहले स्‍टेशन का सौन्‍दर्यीकरण व यात्री सुविधाओं को पूरा कर लेने का आदेश रेलवे अधिकारियों को दिया।

गौरतलब है कि स्‍टेशन सौन्‍दर्यीकरण का काम पहले से चल रहा है तथा मेला आरंभ होने से पहले पूरा कर लिया जाना है। डीआरएम ने पत्रकारों से कहा कि इस दौरा का मकसद मकसद जसीडीह रेलवे स्‍टेशन में श्रावणी मेला को लेकर चल रहे कार्यों का जायजा लेना है।

देवघर : आजसू स्थापना दिवस, सुदेश को मुख्यमंत्री बनाने का लिया संकल्प

उन्‍होंने कहा कि सौन्‍दर्यीकरण का काम मेला शुरु होने से पहले शुरु हुआ था जिसे बहुत जल्‍द पूरा कर लिया जाएगा। जो काम बांकी रह गया है उसे जल्‍द से जल्‍द पूरा करने का निर्देश रेलवे अधिकारियों को दिया गया है। कुछ कार्यों के मेला से पहले पूरा होने पर उन्‍होंने संतोष व्‍यक्‍त किया। डीआरएम ने कहा कि यात्रियों की सुविधा के लिए जसीडीह स्टेशन में एलईडी हाई मास्ट टावर तीन लगाये गए हैं।

फुटओवर ब्रिज रैंप का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है, इससे मेला में आनेवले वयस्‍क लोगों को सुविधा होगी। स्टेशन के बाहरी परिसर का समतलीकरण किया जा रहा है। यह जगह पहले काफी संकरी थी लेकिन समतलीकरण के बादखुला विशाल परिसर यात्रियों को मिलेगा। एक पड़ाव एरिया बनाया जाएगा जिसमें बरसात के समय लगभग 2500 लोग बैठ सकेंगे और आराम कर पाएंगे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

कोडरमा : खदान में मजदूर के सिर पर गिरा पत्थर का टुकड़ा, मौके पर मौत

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 9:22 PM
newscode-image

कोडरमा। जिले के नवलशाही थाना क्षेत्र अन्तर्गत बच्छेडीह पंचायत के जमडीहा मौजा में संचालित पत्थर खदान में कार्यरत मजदूर के सिर पर पत्थर का टुकड़ा धंसकर गिरने से मौके पर उसकी मौत हो गई, जबकि एक अन्य मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गया। मृतक की पहचान पवन दास (24 वर्ष) व घायल की पहचान अनिल कुमार दास (28 वर्ष) के रूप में की गई है। दोनों थानाक्षेत्र के जमडीहा के रहनें वाले हैं।

कोडरमा : विकास योजनाओं की समीक्षा, उपायुक्त ने दिए कई निर्देश

घटना शुक्रवार की सुबह सात बजे की बताई गई है। जानकारी अनुसार दोनों मजदूर सुबह खदान में पहुंच कर ड्रिल किये गये होल में ब्लास्टिंग के लिए मशाला भरने का कार्य कर रहे थे। इसी दौरान ऊपर करीब पैंतीस से चालीस फिट की ऊँचाई से एक बड़ा पत्थर का हिस्सा सीधा पवन के सिर पर गिर गया जिससे सिर पूरी तरह जख्मी हो गया, जिससे पवन ने मौके पर दम तोड़ दिया, जबकि अनिल गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

घटना के बाद नवलशाही थाना प्रभारी मो शाहीद रजा व एसआई राम कृत प्रसाद मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए कोडरमा भेज दिया। तत्पश्चात पुलिस मामले की जांच में जुट गयी।

नहीं था सेफटी का इंतजाम

खदान में कार्यरत मजदरों के सुरक्षा और बचाव के उपाय के इंतजाम नहीं थे। अशोक कुमार गुप्ता और सुरेश चन्द्र साव की उक्त खदान में कार्यरत मजदूरों को न तो खदान संचालक द्वारा सेफटी किट दिये गये थे और ना हीं वहां फस्ट एड की व्यवस्था थी। खदान में बेतरतीब तरीके से कार्य करवाये जा रहे थे और सेफटी नियमों का पूरी तरह उल्लंघन किया जा रहा था। अधिकांश संचालित पत्थर खदानों में यही स्थिति है। जब कोई दुर्घटना होती है तो पत्थर खदान के मालिक या संचालक लाश की सौदेबाजी में जुट जाते हैं और पुलिस को मेल में लेकर मामले को रफा दफा करवा देते है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

कोडरमा : विकास योजनाओं की समीक्षा, उपायुक्त ने दिए कई निर्देश

NewsCode Jharkhand | 22 June, 2018 9:01 PM
newscode-image

कोडरमा। समाहरणालय सभा कक्ष में उपायुक्त भुवनेश प्रताप सिंह ने शुक्रवार को विभिन्न विकास योजनाओं की समीक्षा की गई। समीक्षा में उपायुक्त ने सभी पदाधिकारियों को विकास से संबंधित कार्य को लेकर आपस में समन्वय स्थापित करने का निदेश दिया। उन्होंने सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचल अधिकारी को पिछले बैठक में निदेश दिया था कि अपने क्षेत्र से संबंधित ऐसे मुखिया का नाम चिन्हित करें, जो विकास के कार्यों में रोडा अटका रहा हो या जो विकास कार्यो में रूची नहीं ले रहा हो।

कोडरमा : स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक, उप विकास आयुक्त ने दिए कई निर्देश

इस पर उपायुक्त ने नाराजगी जाहीर करते हुए सख्त निदेश दिया कि जो मुखिया विकास का कार्य में रूची नहीं ले रहा है, उसकी सूची अगली बैठक में उपलब्ध कराने का निदेश दिया। मनरेगा के तहत बनने वाले आंगनबाडी केन्द्रों की सूची उपलब्ध कराने का निदेश सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को दिया गया।

उपायुक्त ने कहा कि सरकारी स्कूल में कहीं जमीन खाली हो तो आंगनबाडी बनाने हेतु स्थल को चिन्हित कर आवश्यक कार्रवाई करने का निदेश दिया। लधु सिचाई विभाग की ओर से जिन जिन योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है, उसकी जांच कर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निदेश उप विकास आयुक्त को दिया गया।

पूतो से दूरगुनिया के रोड को ग्रामीणों द्वारा अडचन किये जाने पर उपायुक्त ने निदेश दिया कि अगर विकास कार्यो में ग्रामीणों के द्वारा विरोध किया जाता है तो उन सभी पर एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई करें।

उपायुक्त ने विभाग से रजिस्टर्ड संवेदकों के साथ सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, रोजगार सेवक, पंचायत सेवक को समन्वय स्थापित कर कार्य में तेजी लाने का निदेश दिया गया। जियो टैगिंग को लेकर उपायुक्त ने सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारीयों को एक सप्ताह के अंदर जियो टैग पूर्ण करने का निदेश दिया गया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चाईबासा : कांग्रेस के वयोवृद्ध नेता बागुन सुम्ब्रुई का निधन,...

more-story-image

रांची : धर्म परिवर्तित करने वालों को आरक्षण का लाभ...