रांची : एचईसी मुद्दे को लेकर भाजपा सांसद जल्द प्रधानमंत्री से करेंगे मुलाकात

NewsCode Jharkhand | 13 February, 2018 4:12 PM
newscode-image

रांचीभारी अभियंत्रण निगम (एचईसी) निजीकरण के विरोध में एचईसी में कार्यरत सभी श्रमिक संगठन एकजुट होकर संघर्ष करने का ऐलान किया है, वहीं सत्तारुढ़ भाजपा के सांसदों ने भी एचईसी के पुनरुद्धार के मुद्दे को लेकर जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने का निर्णय लिया है।

रांची के भाजपा सांसद रामटहल चौधरी के लिए एचईसी का मुद्दा राजनीतिक रुप से अहम बन गया है, वहीं यह विषय सत्तारुढ़ भाजपा सांसदों के लिए काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि यदि नीति आयोग की सिफारिश को आधार मान कर एचईसी का निजीकरण किया जाता है, तो इससे भाजपा को आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव में राजनीतिक रुप से भी नुकसान उठाना पड़ता सकता है, यही कारण है कि जैसे ही केंद्रीय उद्योग मंत्री से सांसद रामटहल चौधरी को एचईसी के निजीकरण का संकेत मिला, उन्होंने तुरंत पार्टी के अन्य सांसदों से मिलकर एक ज्ञापन प्रधानमंत्री कार्यालय को सौंपा। इन भाजपा सांसदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विदेश यात्रा के पहले उनसे मुलाकात के लिए समय भी मांगा था, लेकिन व्यस्तता के कारण भाजपा सांसदों की उनसे बात नहीं हो सकी।

रांची : विधायकों के साथ दिल्ली में जमे हेमंत सोरेन, लगने लगे कयास

 

इधर, एचईसी का निजीकरण रोकने के लिए कंपनी की छह यूनियन एक मंच पर आ गयी है। इसका नाम एचईसी बचाओ मंच दिया गया। इस मंच की 14फरवरी को एचईसी मुख्यालय में पहली सभा होगी। मंच में हटिया प्रोजेक्ट वर्कर्स यूनियन, हटिया कामगार यूनियन, हटिया मजदूर यूनियन, हटिया लोक मंच, एचईसी श्रमिक कर्मचारी यूनियन और जनता मजदूर यूनियन शामिल है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

रांची : आदिवासी सम्मेलन में भोपाल प्रदेश कांग्रेस के रखे सुझावों का झारखंड कांग्रेस का मिला समर्थन

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 5:09 PM
newscode-image

रांची। झारखंड कांग्रेस ने, भोपाल में आयोजित प्रदेश-स्तरीय कांग्रेस के आदिवासी सम्मेलन में आदिवासी समाज और किसानों के लिए स्थानीय विधायक उमंग सिंगर द्वारा रखे सुझावों का समर्थन किया है, जिसमें कई सुझाव शामिल हैं।

रांची : रिम्स के कैदी वार्ड में सुरक्षा के नए प्रबंध, फरार होना होगा मुश्किल

विधायक उमंग ने अपने सुझावों में, केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लिये घोषित समर्थन मूल्य के आधार पर किसानों को दी जाने वाली फसल खरीद की गारंटी की मांग की है। आदिवासी सम्मेलन में आदिवासी धर्म को मान्यता दी जाने एवं 9 अगस्त को कांग्रेस पार्टी की ओर से विश्व आदिवासी दिवस मनाये जाने का भी विधायक ने सुझाव दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

sun

320C

Clear

क?रिकेट

Jara Hatke

Read Also

निरसा : स्वास्थ्य केंद्र ने निकाली जागरूकता रैली

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 5:07 PM
newscode-image

मिजल्स व रूबेला टीकाकरण के बारे में लोगों को कराया अवगत

निरसा (धनबाद)। निरसा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ने सोमवार को मिजल्स व रूबेला टीकाकरण को लेकर जागरूकता रैली निकाली। रैली में स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों ने मिजल्स व रूबेला टीकाकरण की जानकारी देते हुए लोगों को बताया कि इसका नौ महीने के बच्चों से लेकर पंद्रह साल तक के बच्चों को दिया जाता है। यह एक संक्रामक बीमारी है। सही समय पर टीका लगाकर इससे बचाव किया जा सकता है।

धनबाद : नियोजन की मांग को लेकर जमसं का 25 जुलाई को आंदोलन

इस रोग का लक्षण शरीर में बुखार, मांसपेशी में खिंचाव, नाक का बहना है। लक्षण महसूस होने पर तुरंत चिकित्‍सक से परामर्श लेना चाहिए।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

गिरिडीह : आदिवासी छात्रा के साथ गैंगरेप मामला सुलझा

NewsCode Jharkhand | 23 July, 2018 5:05 PM
newscode-image

गिरिडीह। महज 4 दिनों में ही गिरिडीह पुलिस ने गांडेय गैंग रेप कांड को सुलझा लिया है। बीते 19 जुलाई को गांडेय के धरमपुर गांव में एक आदिवासी युवती के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई थी। जांच पड़ताल में जुटी पुलिस ने इस उलझे हुए मामले को सुलझाते हुए कांड में संलिप्त कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

इस बाबत एसपी सुरेन्द्र झा ने बताया कि पिछले दिनों धनबाद जिला के टुंडी थाना क्षेत्र की रहने वाली एक नाबालिग आदिवासी युवती के साथ गैंगरेप की घटना गांडेय के धरमपुर गांव में घटित हुई थी। पीड़ित धरमपुर अपने नाना के घर घूमने आई थी।

गिरिडीह : हाथियों ने जम कर किया तांडव, कई घरों को किया क्षतिग्रस्त  

रात के वक्त शौच के लिए बाहर निकली थी। तभी आरोपी विकाश उर्फ खुड़िया मरांडी, राजेश हांसदा, छोटे हांसदा, प्रमोद हेम्ब्रम और राजेन हेम्ब्रम ने पीड़िता को दबोच लिया और रात भर एक घर में रखकर उसके साथ बारी बारी से दुष्कर्म किया।

घटना के बाद गांडेय थाना में पीड़िता अपने परिजनों के साथ पहुँची और मामला दर्ज करवाया। बाद में एसडीपीओ मनीष टोप्पो के नेतृत्व में एक टीम गठित कर मामले की पड़ताल शुरू हुई। कांड सत्यापित होने के बाद पुलिस ने एक – एक कर सभी आरोपियों को दबोच लिया। इस तरह महज 48 घंटे में एक गैंग रेप का उद्भेदन पुलिस ने करते हुए आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुँचा दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

More Story

more-story-image

चक्रधरपुर : महादेवशाल धाम के श्रावणी मेला  को लेकर हुई...

more-story-image

लोहरदगा : छात्रा के साथ छेड़खानी पड़ी मंहगी, आरोपी दर्जी...