रांची : पिछड़े गांव के उत्थान के लिए सरकार ने लाया ग्राम स्वराज अभियान

NewsCode Jharkhand | 11 April, 2018 11:42 AM

रांची : पिछड़े गांव के उत्थान के लिए सरकार ने लाया ग्राम स्वराज अभियान

14 अप्रैल से 5 मई तक देश में चलेगा ग्राम स्वराज अभियान 

रांची। झारखंड के 21 जिलों के अनुसूचित जाति बाहुल्य 252 गांवों को चिन्हित किया गया है, जिसमें ग्राम स्वराज अभियान चलाया जायेगा। राज्य के मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने सभी जिलों के उपायुक्तों को इस अभियान में पूरी गम्भीरता से भाग लेने तथा शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने का निर्देश दिया।

देशभर के 21058 गांवों में यह अभियान चलेगा। झारखण्ड के 252 गांव जिनमें मुख्य रूप से पलामू के 70, चतरा के 38, गढ़वा के 32, धनबाद के 18, लातेहार के 17, हजारीबाग के 14, बोकारो के 13, देवघर के 13, गिरिडीह के 12 गांव सम्मिलित हैं।

शतप्रतिशत लोगों को मिले इन योजनाओं का लाभ

अनुसूचित जाति बाहुल्य 252 गांवों में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, सौभाग्य (प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना), उजाला योजना, प्रधानमंत्री जन-धन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना तथा मिशन इंद्रधनुष योजना से शतप्रतिशत लाभुकों तक अच्छादित करने का निदेश दिया गया है।

मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने कहा कि इन योजनाओं में चिन्हित गांवों की वर्तमान स्थिति का आंकलन कर 14 अप्रैल से 5 मई तक अभियान चलाकर शतप्रतिशत अच्छादित करें।

इस अभियान का उद्देश्य है

सामाजिक समन्वय स्थापित करना, सबसे गरीब परिवार तक अपनी पहुंच बनाना तथा उनके मनोभावों को समझना।

मुख्य सचिव ने यह भी निर्देश दिया है कि राज्य के सभी 24 जिलों में निम्नांकित कार्यक्रम तिथिवार चलाये जाएं। 14 अप्रैल को सामाजिक न्याय दिवस, 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस, 20 अप्रैल को उज्जवला दिवस, 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस, 28 अप्रैल को ग्राम स्वराज दिवस, 30 अप्रैल को  आयुष्मान भारत दिवस, 2 मई को किसान कल्याण दिवस, 5 मई को आजीविका दिवस।

 14 अप्रैल को सामाजिक न्याय दिवस

मुख्य सचिव ने निदेश दिया कि 14 अप्रैल को भारत रत्न डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयन्ती सामाजिक न्याय दिवस के  रूप में मनायी जाए। देश के प्रधानमंत्री समस्त राष्ट्र को सम्बोधित करेंगे जिसका सीधा प्रसारण किया जाएगा।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

गढ़वा : हवलदार की गोली मारकर हत्या, छुट्टी नहीं मिलने से नाराज जवान ने दिया अंजाम

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 10:10 AM

गढ़वा : हवलदार की गोली मारकर हत्या, छुट्टी नहीं मिलने से नाराज जवान ने दिया अंजाम

गढ़वा। जिले में आज एक लोमहर्षक घटना घटित हुई। एक पुलिस जवान ने खुद के कंपनी के हवलदार की गोली मार कर हत्या कर दी। घटना के बाबत आपको बताएं कि निकाय चुनाव कराने आये आईआरबी की एक कंपनी जो नामधारी कॉलेज स्थित मतगणना केंद्र की सुरक्षा में तैनात थी।

हवलदार अफ़रोज़ शमद की गई जान

कल मतगणना समाप्त होने के साथ आज कंपनी यहां से कूच करने की तैयारी में थी कि अहले सुबह सभी को गोली चलने की आवाज सुनायी देती है। सभी उस आवाज की दिशा में दौड़ते हैं तो वहां देखते हैं कि उनके कंपनी का हवलदार मुंगेर निवासी अफ़रोज़ शमद मृत पड़े हुए हैं।

पलामू : अपराधी हुए बेखौफ, एक घंटे के भीतर दो जगहों पर की गोलीबारी

IRB जवान गोली मारकर फरार

जवान और अधिकारियों ने मालूम किया तो जानकारी मिली कि मझिआंव थाना क्षेत्र निवासी आईआरबी जवान मुक्ति नारायण सिंह द्वारा उक्त हवलदार को गोली मारी गयी है और उसे हथियार ले कर भागते देखा गया है।

छुट्टी नहीं मिलने से नाराज था मुक्ति नारायण

एक जवान द्वारा हत्या क्यों कि गयी इसका कारण बताया गया कि उक्त जवान द्वारा लगातार छुट्टी मांगा जा रहा था। छुट्टी नहीं मिलने से नाराज जवान द्वारा हवलदार की हत्या जैसी घटना को अंजाम दिया गया।

 

Read Also

रांची : कोयला मंत्रालय ने चेयरमैन को दी जानकारी

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 9:07 AM

रांची : कोयला मंत्रालय ने चेयरमैन को दी जानकारी

रांची। कोयला मंत्रालय ने कोल इंडिया चेयरमैन को अप्‍वाइंटमेंट कमेटी ऑफ द कैबिनेट के निर्णय की जानकारी दी है। इसके अनुरूप व्‍यवस्‍था करने का निर्देश दिया है। मंत्रालय के अवर  सचिव संजीब भट्टाचार्य ने इस बाबत 20 अप्रैल को पत्र लिखा था। उन्‍होंने कहा है कि मंत्रालय के अपर सचिव सुरेश कुमार को तत्‍काल प्रभाव से कोल इंडिया चेयरमैन का प्रभाव सौंपा गया है। वह अगले आदेश या इस पद पर नियमित नियुक्ति होने तक बने रहेंगे। जानकारी हो कि 19 अप्रैल को मंत्रीमंडल नियुक्ति समिति सचिवालय ने इस संबंध में आदेश जारी किया था। कुमार अब वर्तमान प्रभारी चेयरमैन गोपाल सिंह से इस पद का प्रभार लेंगे।

रांची : सीसीएल के तकनीकी निदेशक सहित 95 कर्मी हुये सेवानिवृत्‍त

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 

रांची : बैंकों द्वारा छोटे नोट/सिक्के नहीं लेने से व्यापारी परेशान

NewsCode Jharkhand | 21 April, 2018 8:17 AM

रांची : बैंकों द्वारा छोटे नोट/सिक्के नहीं लेने से व्यापारी परेशान

रांची।  बैंकों द्वारा छोटे नोट व सिक्के स्वीकार नहीं किये जाने से व्यापारियों के बीच उत्पन्न समस्याओं को देखते हुए चेंबर ने आरबीआई के क्षेत्रीय कार्यालय से कार्रवाई का आग्रह किया। चैंबर के एफएमसीजी ट्रेड उप समिति चेयरमेन संजय अखौरी ने पत्र में कहा कि रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया के अधिकारिक निर्देश के बाद भी बैंकों द्वारा छोटे नोट व सिक्के स्वीकार नहीं किये जा रहे हैं। सार्वजनिक एवं निजी बैंकों द्वारा केवल सीमित संख्या में ही सिक्के एवं छोटे नोट स्वीकार किये जाते हैं। जबकि मार्केट में कलेक्शन के रूप में काफी सिक्के व छोटे नोट व्यापारियों द्वारा अपने ग्राहकों से स्वीकार किये जाते हैं।

रांची : एक पखवाड़े में दाल पांच रुपये महंगी, चीनी और घी में नरमी

पूंजी की समस्या

बैंकों द्वारा सीमित मात्रा में सिक्के/छोटे नोट ही स्वीकार करने के कारण राजधानी में व्यवसायियों के पास सिक्कों व छोटे नोटों की संख्या अधिक हो गई है। जिससे परेशानी हो रही है। यह भी कहा कि इस संबंध में आरबीआई को कई पत्राचार किये गये किंतु आरबीआई की ओर से कार्रवाई नहीं होने से व्यापारियों के बीच कठिनाईयां बनी हुई हैं। उन्होंने यह भी कहा कि एफएमसीजी व्यवसाय में हर दिन काफी संख्या में सिक्के छोटे-छोटे व्यापारियों से कलेक्ट किये जाते हैं। जिस कारण से इन व्यापारियों की पूंजी ब्लॉक हो गई है। उनके समक्ष पूंजी की समस्या भी बनी हुई है। आरबीआई को इस ओर त्वरित कार्रवाई की आवश्यकता है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

© Copyright 2017 NewsCode - All Rights Reserved.