रांची : टेंडर के दो साल बाद भी रिम्स में नहीं ठीक हुआ लिफ्ट

NewsCode Jharkhand | 12 May, 2018 8:33 PM
newscode-image

मरीजों को हो रही है परेशानी

रांची। सूबे का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल रिम्स में प्रबंधन और बिजली विभाग के उदासीन रवैया के कारण दूर दराज से आए मरीजों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है। लिफ्ट की मुक्कमल व्यवस्था नहीं होने के कारण पिछले कई महीनों से मरीजों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।

रिम्स के बहुमंजिला इमारत में मरीजों को विभिन्न वार्डो में ले जाने की लिए 11 लिफ्ट की व्यवस्था की गई है लेकिन वर्तमान में सिर्फ तीन ही लिफ्ट काम कर रहा है। लिफ्ट की कमी के कारण आए दिन मरीजों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है।

दिनों रातू की गर्भवती महिला को लेबर रूम ले जाने के लिए 25 मिनट तक लिफ्ट का इंतजार करना पड़ा था। इस कारण महिला की मौत हो गई थी। बावजूद इसके  रिम्स प्रबंधन की नींद नहीं खुली है। लिफ्ट की मरम्मती का काम 2016 से ही चल रहा है।

रांची : श्री साईं महोत्सव 20  मई को, पोस्टर और आमंत्रण पत्र का विमोचन 

लिफ्ट की समस्या पर रिम्स प्रभारी निदेशक डॉ आरके श्रीवास्तव ने कहा कि छह लिफ्ट के नवीकरण का काम चल रहा है। रिम्स निदेशक ने खुद स्वीकार किया कि लिफ्ट के मरम्मती में काफी विलंब हो रहा है. लिफ्ट मरम्मती में विलंब होने के कारण विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता से स्पष्टीकरण भी मांगा गया है. लेकिन विभाग की ओर से अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप  .में फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

चाईबासा : जिले के चार प्रखंडों में लगाए गए जनता दरबार

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:01 PM
newscode-image

 चाईबासा । पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल के निदेशानुसार गुरूवार को जिले के चार प्रखण्डों में जनता दरबार का अयोजन किया गया। नोवामुंडी प्रखण्ड मुख्यालय जनता दरबार में विभिन्न विभागों के द्वारा शिविर का लगाया गया।

जिसमें मुख्य रूप से वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन,विकलांग पेंशन, दिव्यांग पेंशन, जाति, आवासीय, आय प्रमाण पत्रों, स्वास्थ्य, चिकित्सा, कृषि, पशुपालन, समाज कल्याण सहित अन्य विभागों के प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों ने लोगों के समस्या का समाधान किया।

जनता दरबार में बच्चों का आधार पंजीकरण भी कराया गया। जनता दरबार का आयोजन प्रखण्ड विकास पदाधिकारी नोवामुण्डी समरेश प्रसाद भण्डारी, तथा अंचलाधिकारी गोपी उरॉव के निर्देशन में सम्पन्न हुआ। वहीं जगन्नाथपुर प्रखंण्ड कार्यालय में लगे जनता दरबार में सूचना के अभाव में लोग नहीं पहुंचे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं

sun

320C

Clear

क्रिकेट

Jara Hatke

Read Also

गावां (गिरिडीह) : विभिन्न विभागों में झंडोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का दिखा अभाव

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:12 PM
newscode-image

 स्वतंत्रता दिवस समारोह पर दिखी अनुशासनहीनता

गावां गिरिडीह। गावां में स्वतंत्रता दिवस समारोह में इस बार पूर्वाभ्यास की पूरी कमी देखी गई। नतीजतन विभिन्न विभागों में झंझोत्‍तोलन को लेकर तालमेल का अभाव दिखा। इस कारण प्रखंड मुख्यालय में झंडोत्‍तोलन के वक्त झंडे को सलामी देने के लिए पुलिस जवान मौजूद नहीं रहे।

जबकि बीडीओ मोनी कुमारी सलामी दल को बुलाने के लिए थाना में फोन करती रहीं। वहीं गावां थाना द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में दिये गये समय सारणी से एक घंटा पूर्व ही ध्‍वजारोहण कर दिया गया।

बोकारो : खेल के मामले में सरकार का रवैया उदासीन : मयूर शेखर झा

इस कारण थाना परिसर में झंडोत्‍तोलन देखने से लोग चूक गये। बता दें कि थानेदार द्वारा निर्गत आमंत्रण पत्र में झंडोत्‍तोलन का समय दिन के 10:10 बजे निर्धारित था, लेकिन तय समय से एक घंटा 4 मिनट पूर्व ही 09:06 बजे ही थाना में झंडोत्‍तोलन कर दिया गया। इस कारण तय समय पर थाने में झंडोत्तोलन में शामिल होने पहुंचे लोगों को मायूस होना पड़ा।

बैंक प्रबंधक को झंडोत्‍तोलन के बजाय घर भागना आया रास

वैसे तो तिरंगा फहराना गर्व की बात मानी जाती है और इसके लिए लोग लालायित भी रहते हैं, लेकिन समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो स्वतंत्रता दिवस को महज एक सरकारी बंदिशों वाला कार्यक्रम मान लेते हैं। ऐसा ही नजारा गावां के इलाहाबाद बैंक में देखने को मिला।

प्रबंधक ने झंडोत्‍तोलन करने के बजाए 15 अगस्त को घर भागना ज्यादा मुनासिब समझा। फलत: गावां इलाहाबाद बैंक में एक आम सीनियर सिटीजन उमाशंकर अवस्थी ने झंडोत्‍तोलन किया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

पाकुड़ : अज्ञात वाहन की चपेट में आने एक की मौत

NewsCode Jharkhand | 16 August, 2018 7:00 PM
newscode-image

पाकुड़। डांगापाड़ा-डुमरिया मुख्य सड़क पर दराजमाट गिरजाघर के समीप अज्ञात वाहन की चपेट में आने से शेषनाथ पंडित की मौत हो गयी। मृतक के भाई रामलखण पड़ित ने थाना में लिखित आवेदन में कहा है कि मेरे भाई पाकुड़ गया था,  देर रात घर नहीं लौटकर नहीं आया।

पाकुड़ : उप मुखिया के घर धमाका, छानबीन में जुटी पुलिस

अगले सुबह दराजमाट के एक व्यक्ती ने कहा कि एक अज्ञात शव दराजमाट के सड़क किनारे पड़ा हुआ है। खबर सुनते ही घटना स्थल में पहुँचकर शव का पहचान किया। उसे किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मारकर फरार हो गया।

पाकुड़ : मैराथन दौड़ का आयोजन, विजेताओं को किया गया पुरस्कृत

सूचने मिलते ही लिट्टीपाड़ा पुलिस घटनास्थल पहुँचकर शव को कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। थाना प्रभारी विमल सिंह ने बताया कि कांड 56/18 धारा 279,304 दर्ज कर घटना की जांच की जा रही है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

More Story

more-story-image

धनबाद : एनडीए सरकार में श्रम मंत्री रही रीता वर्मा...

more-story-image

गोड्डा : सांस्कृतिक संध्या पर रंगारंग प्रस्तुतियों ने मोहा