रांची : टेंडर के दो साल बाद भी रिम्स में नहीं ठीक हुआ लिफ्ट

NewsCode Jharkhand | 12 May, 2018 8:33 PM

रांची : टेंडर के दो साल बाद भी रिम्स में नहीं ठीक हुआ लिफ्ट

मरीजों को हो रही है परेशानी

रांची। सूबे का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल रिम्स में प्रबंधन और बिजली विभाग के उदासीन रवैया के कारण दूर दराज से आए मरीजों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है। लिफ्ट की मुक्कमल व्यवस्था नहीं होने के कारण पिछले कई महीनों से मरीजों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।

रिम्स के बहुमंजिला इमारत में मरीजों को विभिन्न वार्डो में ले जाने की लिए 11 लिफ्ट की व्यवस्था की गई है लेकिन वर्तमान में सिर्फ तीन ही लिफ्ट काम कर रहा है। लिफ्ट की कमी के कारण आए दिन मरीजों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है।

दिनों रातू की गर्भवती महिला को लेबर रूम ले जाने के लिए 25 मिनट तक लिफ्ट का इंतजार करना पड़ा था। इस कारण महिला की मौत हो गई थी। बावजूद इसके  रिम्स प्रबंधन की नींद नहीं खुली है। लिफ्ट की मरम्मती का काम 2016 से ही चल रहा है।

रांची : श्री साईं महोत्सव 20  मई को, पोस्टर और आमंत्रण पत्र का विमोचन 

लिफ्ट की समस्या पर रिम्स प्रभारी निदेशक डॉ आरके श्रीवास्तव ने कहा कि छह लिफ्ट के नवीकरण का काम चल रहा है। रिम्स निदेशक ने खुद स्वीकार किया कि लिफ्ट के मरम्मती में काफी विलंब हो रहा है. लिफ्ट मरम्मती में विलंब होने के कारण विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता से स्पष्टीकरण भी मांगा गया है. लेकिन विभाग की ओर से अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप  .में फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बोकारो : डीडीसी ने की समीक्षा बैठक, तीन पंचायत सेवकों का रोका वेतन

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 7:55 PM

बोकारो : डीडीसी ने की समीक्षा बैठक, तीन पंचायत सेवकों का रोका वेतन

रोजगार सेवकों  को शो कॉज

चंदनकियारी(बोकारो)। प्रखंड स्थित सभागार में बोकारों जिला के उपविकास आयुक्त रवि रंजन मिश्रा के अध्यक्षता में प्रखंड में चल रहीं विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का समीक्षात्मक बैठक किया। जहां उपविकास आयुक्त ने बैठक के दौरान कर्मियों द्वारा उनके सवालों का सकारात्मक जवाव नहीं दिए जाने पर कई कर्मियो को फटकार लगाई।

मौके पर डीडीसी श्री मिश्रा ने कहा कि जनकल्याणकारी योजनाओं में लापरवाही किसी भी हाल में बर्दास्त नहीं की जाएगी। बरसात के पहले सभी कच्चा कार्य को समय रहते हुए 15 दिनों के अंदर पूर्ण करें। उन्होंने एक एक पंचायत का मासिक प्रगति प्रतिवेदन का जांच किया।

इस अवसर पर अद्रकुड़ी, महाल पूर्वी व बोरियाडीह में योजनाओ का संतुष्ट जवाव नहीं मिलने पर उक्त तीनों पंचायत के पंचायतों के सचिव का वेतन अगले आदेश तक के लिए रोक लगाने का बीडीओ ने दिया आदेश।

वहीं उक्त पंचायत के रोजगार सेवकों को शो कॉज किया। साथ ही रूर्बन मिशन के तहत आबंटन प्राप्त 107 करोड़ रुपया के अनुसार रूप रेखा तैयार करने को भी कहा गया।

बोकारो : सरकार खेल एवं खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास के लिए संकल्पित- अमर बाउरी

इस अवसर पर प्रधानमंत्री आवास, स्वच्छ भारत मिशन, मनरेगा, विभिन्न प्रकार के पेंशन समेत कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा किया गया। मौके पर बीडीओ चंदनकियारी रविन्द्र प्रसाद गुप्ता समेत सभी पंचायत के पंचायत सेवक कान रोजगार सेवक मौजूद थे।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Read Also

टुंडी : प्‍यास बुझाने के लिए जूझती हैं महिलाएं, जंगल पार कर के करती हैं व्‍यवस्‍था

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 7:32 PM

टुंडी : प्‍यास बुझाने के लिए जूझती हैं महिलाएं, जंगल पार कर के करती हैं व्‍यवस्‍था

विकास के नाम पर सिर्फ बिजली पहुंची

टुंडी (धनबाद)। टुंडी प्रखंड के नक्‍सल प्रभावित क्षेत्र रूपन पंचायत अंतर्गत धनारंगी गांव में लोगों को पेयजल की समस्या से जुझना पड़ रहा है। आलम यह है कि गांव की महिलाओं और बच्चियों को जंगलों के बीच जोरिया एवं डाड़ी से पानी की व्यवस्था करनी पड़ती है।

बुधवार को न्यूज़कोड के सहयोगी जब गांव पहुंचे तो ग्रामीण श्रीलाल मुर्मू ने बताया कि गांव में पेयजल की बहुत समस्या है। दो टोलों में बंटा यह गांव पहाड़ की तराई में बसा हुआ है। जिसमें से एक टोले में कुआं और चापानल है जबकि पहाड़ की तराई में सटे टोले में मात्र एक चापानल है। जिससे ग्रामीणों की प्यास नहीं बुझती है।

धनबाद : कोचिंग सेंटर पर पैसे ऐंठने का आरोप, छात्र मोर्चा ने किया प्रदर्शन

इस कारण ग्रामीणों को अपनी प्यास बुझाने के लिए गांव से लगभग एक किलोमीटर दूर जंगलों के रास्ते होते हुए सोनापानी जोरिया में बहने वाली पानी लाते हैं। गर्मी के दिनों में यह जोरिया भी सूख जाता है। ग्रामीणों की मदद से खेतों में बने एक डाड़ी चुआं से पानी लाकर अपनी प्यास बुझाते हैं। विकास के नाम पर गांव में सिर्फ बिजली पहुंची है और कुछ पीसीसी बनी है, परंतु गांव जाने वाली मुख्य सड़क बिल्कुल जर्जर हालत में है।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

पाकुड़ : उज्जवला योजना गैस वितरण के लिए विशेष कैंप का आयोजन

NewsCode Jharkhand | 23 May, 2018 7:26 PM

पाकुड़ : उज्जवला योजना गैस वितरण के लिए विशेष कैंप का आयोजन

लिट्टीपाड़ा(पाकुड़)। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना का प्रखंड स्तरीय गैस वितरण के लिए विशेष कैंप का आयोजन प्रखंड परिसर में किया जाएगा, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में जिला से वरीय पदाधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित  रहेंगे।

गिरिडीह : जिला बीस सूत्री की बैठक, उज्ज्वला योजना की गति बढ़ाने का निर्देश

इस गैस वितरण समारोह में लगभग 400 चिन्हित लाभुको के बीच गैस सलेन्डर,चुल्हा का वितरण किया जाएगा साथ ही जो नये लाभुक गैस लेना चाहते है उसके लिए स्टॉल की व्यवस्था की गई है आवेदन फर्म के लिए वह आवेदन कर सकते है। इसका जानकारी बीडीओ सत्यवीर रजक ने दिया।

(अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

X

अपना जिला चुने